home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

शिमला मिर्ची के फायदे जिनके बारे में आपको जरूर जानना चाहिए

शिमला मिर्ची के फायदे जिनके बारे में आपको जरूर जानना चाहिए

रंग-बिरंगी सब्जियां आकर्षक और पौष्टिक दोनों होती हैं। इन्हीं सब्जियों में शामिल शिमला मिर्च (Capsicum) सिर्फ दिखने में सुंदर और स्वाद में मजेदार नहीं है। बल्कि शिमला मिर्च के फायदे भी हैं। शिमला मिर्च हरे रंग के साथ-साथ लाल और पीले रंग की भी होती है। ताजी हरी शिमला मिर्च में विटामिन-ए, विटामिन-सी, विटामिन-के, फाइबर, कैरोटीनॉइड्स भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं और यही पौष्टिक तत्व शरीर के लिए लाभदायक होते हैं।

और पढ़ेंः बच्चों को सब्जियां खिलाना नहीं है आसान, यूज करें थोड़ी क्रिएटिविटी

शिमला मिर्च के फायदे जिनको जानना है जरूरी

शिमला मिर्च कई विटामिन और एंटीऑक्सिडेंट से भरपूर है विशेष रूप से विटामिन सी और अलग-अलग कैरोटीनोइड से भरपूर होती है। इस कारण से उनके कई स्वास्थ्य लाभ हो सकते हैं, जैसे आंखों की सेहत में सुधार और कई पुरानी बीमारियों के जोखिम का कम होना। शिमला मिर्च के फायदे बहुत से हैं। इसमें मिलने वाले विटामिन और मिनरल आपके पूरे स्वास्थ के लिए सही होते हैं। शिमला मिर्च के फायदे जानने के लिए आप नीचे बताई गई बातों को देखेंः

  1. शिमला मिर्च (Capsicum) के पौधे के फल का उपयोग दवा बनाने के लिए किया जाता है।
  2. शिमला मिर्च में एंटी ऑक्सीडेंट, एंटीइंफ्लेमेटरी तत्व एवं सल्फर, कैरोटीनॉइड लाइकोपीन की मात्रा भी भरपूर होती है। जिसके कारण यह कैंसर जैसी बीमारी से बचाने में लाभकारी है।
  3. शिमला मिर्च के सेवन से डायबिटीज को कंट्रोल किया जा सकता है। यह ब्लड में शुगर के लेवल को बनाए रखती है जो डायबिटीज के मरीजों के लिए फायदेमंद है।
  4. शिमला मिर्च में आयरन प्रचुर मात्रा में उपलब्ध है जो शरीर में खून की कमी नहीं होने देता और इससे एनीमिया का खतरा कम हो सकता है।
  5. शिमला मिर्च के फायदे के तहत मांसपेशियों और त्वचा में किसी वजह से हुई ऐंठन को दूर किया जा सकता है।
  6. अगर घुटनों या जोड़ों में परेशानी है, तो शिमला मिर्च का सेवन करना बेहद लाभकारी होगा। इसके प्रयोग से आर्थराइटिस में आराम मिल सकता है।
  7. विटामिन-सी से भरपूर होने की वजह से संक्रामक रोगों से लड़ने में मदद करती है। यह इम्यूनिटी को भी बढ़ाने में कारगर है। लंग इंफेक्शन, अस्थमा में भी ये फायदेमंद है।
  8. वजन कम करने में भी शिमला मिर्च बहुत फायदेमंद है। इसमें कैलोरी की मात्रा बहुत कम होती है। जो वजन घटाने में मददगार है। इससे मेटाबॉलिज्म की प्रॉसेस तेज होती है। कैलोरीज बर्न करने के साथ ही यह कोलेस्ट्राल को भी नियंत्रित करने में मददगार साबित हो सकती है।
  9. शिमला मिर्च में विटामिन्स और एंटीऑक्सिडेंट की पर्याप्त मात्रा में होने के कारण यह त्वचा को निखारती है, और बढ़ती उम्र को रोकने में मदद करती है।

और पढ़ेंः इन असरदार टिप्स को अपनाने के बाद दूर रहेंगी मौसमी बीमारी

शिमला मिर्च आंखों के लिए फायदेमंद

ज्यादातर दूसरे प्लांट फूड की तरह, शिमला मिर्च को एक स्वस्थ भोजन माना जाता है। फलों और सब्जियों की अधिक खपत को कई पुरानी बीमारियों जैसे कैंसर और हृदय रोग के कम जोखिम से जोड़ा गया है।

इसके अलावा शिमला मिर्च या बेल पेपर के कई दूसरे स्वास्थ्य लाभ हो सकते हैं।

नेत्र स्वास्थ्य

दृश्य हानि के सबसे सामान्य प्रकार में मैक्यूलर डिजनरेशन और मोतियाबिंद शामिल हैं जिनमें से मुख्य कारण उम्र बढ़ने और संक्रमण हैं। हालांकि न्यूट्रिशन इन रोगों को विकसित करने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है। ल्यूटिन और जेक्सैन्थिन – शिमला मिर्च में अपेक्षाकृत उच्च मात्रा में पाए जाने वाले कैरोटीनॉयड – पर्याप्त मात्रा में सेवन करने पर आंखों की सेहत में सुधार हो सकता है ।

शिमला मिर्च के फायदे में वास्तव में वे आपके रेटिना की रक्षा करते हैं। आपकी आंख की लाइट- सेंसिटिव आंतरिक दीवार ऑक्सीडेटिव नुकसान से।

कई अध्ययनों से संकेत मिलता है कि इन कैरोटेनॉइड से भरपूर खाद्य पदार्थों के नियमित सेवन से मोतियाबिंद और मैक्यूलर डिजनरेशन दोनों के जोखिम को कम कर सकता है। इस प्रकार अपने डायट में शिमला मिर्च को शामिल करने से आपके आंख की रोशनी कम होने का जोखिम कम हो सकता है।

और पढ़ेंः कीमोथेरेपी के साइड इफेक्ट से बचने के लिए करें ये उपाय

शिमला मिर्च के फायदे में एनीमिया से बचाव भी शामिल

ऑक्सीजन ले जाने के लिए एनीमियाआपके रक्त की कम क्षमता की विशेषता है। एनीमिया के सबसे आम कारणों में से एक आयरन की कमी है जिनमें से मुख्य लक्षण कमजोरी और थकान हैं। न केवल लाल शिमला मिर्च आयरन का एक अच्छा स्रोत हैं, वे विटामिन सी में असाधारण रूप से समृद्ध हैं, जो आपके आंत से आयरन के अवशोषण को बढ़ाता है । वास्तव में एक मीडियम साइज साइज की लाल शिमला मिर्च में विटामिन सी के लिए RDI का 169% हो सकता है।

जब आप विटामिन सी में फलों या सब्जियों का अधिक मात्रा में सेवन करते हैं तो आहार आयरन का अवशोषण बहुत बढ़ जाता है।

इस कारण से आयरन समृद्ध खाद्य पदार्थों जैसे कि मांस या पालक के साथ कच्ची शिमला मिर्च खाने से आपके शरीर के आयरन स्टोर बढ़ाने में मदद मिल सकती है जिससे आपके एनीमिया का खतरा कम हो सकता है।

और पढ़ेंः खुश रहने का तरीका क्या है? जानिए खुशी और सेहत का संबंध

शिमला मिर्च का सेवन कब नहीं करें

  • स्किन पर कटी हुई जगह या फिर जहां चोट लगी है वहां शिमला मिर्च का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।
  • शिमला मिर्च आहार में तब शामिल नहीं करना चाहिए जब कोई सर्जरी होने वाली हो। साथ ही सर्जरी के बाद भी कम से कम दो सप्ताह तक शिमला मिर्च को आहार में शामिल नहीं करना चाहिए। इससे ब्लीडिंग की समस्या हो सकती है।
  • गर्भावस्था के दौरान शिमला मिर्च आहार में शामिल नहीं करना चाहिए या फिर डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।

खासतौर से सब्जी, नूडल्स और गार्निशिंग के लिए इस्तेमाल होने वाली शिमला मिर्च को कई लोग सलाद के रूप में भी खाना पसंद करते हैं। शिमला मिर्च के फायदे में शायद आपको ये नहीं पता होगा कि इसमें कैलोरी न के बराबर होती है जिससे कोलेस्ट्रॉल बढ़ नहीं पाता है। इसलिए इसका सेवन फायदेमंद होता है लेकिन, शिमला मिर्च के साइड इफेक्ट्स भी हो सकते हैं जैसे-त्वचा में जलन या खुजली होना शामिल है। शिमला मिर्च के फायदे के साथ कुछ नुकसान भी हो सकता है। जिन लोगों को एलर्जी की परेशानी है उन्हें शिमला मिर्च से एलर्जी भी हो सकती है।

इसको काटते वक्त सेंसि​टिव स्किन वाले लोगों को जलन या एलर्जी भी हो सकती है। शिमला मिर्च के सेवन से कभी-कभी आंख, नाक या गले में परेशानी हो सकती है। अगर इसके उपयोग से कोई परेशानी समझ में आती है तो, इसको खाने से परहेज करें। डॉक्टर और डाइटीशियन से संपर्क करके परेशानी का हल निकालना बेहतर होगा। तो अगर आपको आंख की परेशानी है तो शिमला मिर्च के फायदे को समझें और इसे अपनी डायट में शामिल करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Capsicum. https://www.betterhealth.vic.gov.au/health/IngredientsProfiles/Capsicum. Accessed on 27th August, 2020.

Vitamin Variation in Capsicum Spp. Provides Opportunities to Improve Nutritional Value of Human Diets. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4988645/. Accessed on 27th August, 2020.

Sample records for capsicum frutescens fruit. https://www.science.gov/topicpages/c/capsicum+frutescens+fruit. Accessed on 27th August, 2020.

Vitamin Variation in Capsicum Spp. Provides Opportunities to Improve Nutritional Value of Human Diets. https://journals.plos.org/plosone/article/file?id=10.1371/journal.pone.0161464&type=printable. Accessed on 27th August, 2020.

Capsicum – Benefits, Dosage, Side Effects, and Dangers. https://fcer.org/capsicum/. Accessed on 27th August, 2020.

लेखक की तस्वीर
Dr. Pooja Bhardwaj के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Nidhi Sinha द्वारा लिखित
अपडेटेड 09/07/2019
x