backup og meta

खजूर खाने के ये हैं फायदे, जानें क्यों रमजान में किया जाता है इसका सेवन?

के द्वारा मेडिकली रिव्यूड Dr. Pooja Bhardwaj


Nidhi Sinha द्वारा लिखित · अपडेटेड 23/04/2021

खजूर खाने के ये हैं फायदे, जानें क्यों रमजान में किया जाता है इसका सेवन?

रमज़ान के इस पाक महीने में रोज़ेदारों के लिए वैसे तो कई चीज़ें खास होती है लेकिन रोज़े के दौरान खजूर का अपना एक विशेष महत्व है। कहते हैं रोज़ा खोलने के वक़्त (इफ्तार) खजूर खाना चाहिए या पानी ही सबसे पहले पीना चाहिए। इसमें विटामिन-बी, विटामिन-सी, फाइबर, पोटैशियम और मैग्नेशियम मौजूद हैं, जो शरीर के लिए बेहद फायदेमंद होते हैं।

आज जानेंगे कैसे खजूर में मौजूद यह विटामिन्स और मिनरल्स शरीर के लिए फायदेमंद होते हैं :

खजूर खाने से होने वाला शाररिक लाभ:

  1. इसमें भरपूर मात्रा में प्रोटीन होता है जो खाने को अच्छी तरह से डाइजेस्ट करने में मदद करता है। इसके सेवन से एसिडिटी की समस्या दूर होती है।
  2. इसमें पर्याप्त पोटैशियम और सोडियम की कुछ मात्रा मौजूद होने के कारन ये नर्वस सिस्टम को ठीक रखने के साथ ही कोलेस्ट्रॉल को भी कम करने में मदद करता है जिससे दिल से जुड़ी बीमारियों का खतरा कम हो जाता है।
  3. इसमें मौजूद ग्लूकोज, सुक्रोज़ और फ्रुक्टोज़ कमज़ोरी, चक्कर आना, सिरदर्द या फिर थकावट जैसे समस्या को दूर करने में फायदेमंद साबित होता है।
  4. इसमें मौजूद कैल्शियम, मैग्नीज और कॉपर, हड्डियों को मजबूत बनाने में मुख्य भूमिका निभाते हैं।
  5. इसमें मौजूद मैग्नेशियम अल्जाइमर (Alzheimer) और गठिया जैसे रोगों से दूर रखने में मदद करता है।
  6. इस के नियमित सेवन से ब्लड प्रेशर कंट्रोल में रहता है।
  7. शरीर में खून की कमी होने पर नियमित रूप से खजूर का सेवन करने से हीमोग्लोबिन ठीक होता है और एनीमिया की समस्या भी ख़त्म होती है।
  8. यह आयरन से भरपूर होने की वजह से ये प्रेग्नेंट लेडी और बच्चे दोनों के लिए फायदेमंद है।
  9. इसमें मौजूद खनिज तत्व नाईट ब्लाइंडनेस (रतौंधी) जैसी समस्या को भी कम करने में सहायता करता है।
  10. इसमें मौजूद विटामिन-सी त्वचा की खूबसूरती बढ़ाता है।       
  • इसमें में मौजूद विटामिन-बी 5 बालों से जुड़ी समस्याओं, जैसे बालों का झड़ना, दो मुहें बाल और बालों का बेजान दिखाना ऐसी किसी भी समस्या के लिए सुरक्षा कवच का काम करता है।
  • इसमें मौजूद विटामिन-बी 6 ब्रेन को स्वस्थ रखता है। खजूर के सेवन से दिमाग तेज़ होता है।  
  • इसके सेवन से दांत मजबूत होते है। इसमें मौजूद फास्फोरस दांतों के साथ-साथ मसूड़ों को भी स्वस्थ रखने में मदद करता है।
  • महिलायें जिन्हें पैर और कमर दर्द की परेशानी है उन्हें इस का नियमित रूप से खाना चाहिए।
  • और पढ़ें : गर्भावस्था में मतली से राहत दिला सकते हैं 7 घरेलू उपचार

    खजूर का सेवन कैसे करें जिससे हेल्थ को बेनिफिट मिले:

    1. रोजाना तीन से चार खजूर खाएं।
    2. दूध में खजूर डाल दें और कुछ घंटे बाद खजूर और दूध का सेवन एक साथ कर सकते हैं।
    3. इसे फलों के साथ भी मिक्स करके खाया जा सकता है।
    4. दूध में इसको मिक्स करके दूध के साथ कुछ देर उबाल कर उतार लें और फिर इसे खाएं।
    5. सुबह ब्रेकफास्ट में खजूर का सेवन करना लाभदायक होता है।
    6.  जिन बच्चों की उम्र 4 से 5 की है उनको खजूर नियमित रूप से खिलाना चाहिए, इससे बच्चे का दिमाग तेज़ होगा और शरीर से स्वस्थ भी रहेगा।
    7. बढ़ते उम्र के बच्चे को खजूर का सेवन घी के साथ करना चाहिए।
    8. व्यस्कों या फिर बुज़ुर्गों को गर्म दूध के साथ इसका सेवन करना चाहिए।

    पाचन के लिए अच्छा होता है खजूर

    खजूर में भरपूर मात्रा फाइबर होता है। फाइबर आपके पाचन तंत्र के लिए बेहतर  माना जाता है और पेट साफ करने में मदद करता है। साथ ही यह भी जान लें कि अगर आपका पाचन ठीक रहेगा तो आपको कब्ज की भी शिकायत नहीं होगी।

    दिल को भी दुरुस्त रखता है खजूर

    खजूर में पाए जाने वाले फाइबर दिल के लिए बेहतर होते हैं। इसके साथ ही ये हार्ट के काम करने की क्षमता को बेहतर बनाता है। खजूर में मौजूद पौटेशियम हार्ट अटैक के खतरे को भी कम करता है।

    और पढ़ेंः प्रेग्नेंसी में रागी को बनाएं आहार का हिस्सा, पाएं स्वास्थ्य संबंधी ढेरों लाभ

    एनीमिया में भी फायदेमंद है खजूर

    लोगों में एनीमिया आयरन और रेड ब्लड सेल्स की कमी के कारण होता है। एनीमिया में लोगों में खून की कमी हो जाती है। वहीं खजूर खाने से इसमें फायदा हो सकता है। खजूर में काफी मात्रा में आयरन पाया जाता है, तो एनीमिया से बचने के लिए इसे एक अच्छा विकल्प माना जाता है। साथ ही खजूर को रेगुलर डायट में शामिल करने से यह शरीर में आयरन की कमी को पूरा करता है।

    और पढ़ेंः विशेष स्थिति के लिए आहार भी हो विशेष, ऐसा कहना हैं एक्सपर्ट का

    [mc4wp_form id=’183492″]

    नर्वस सिस्टम के लिए फायदेमंद है खजूर

    खजूर में पाए जाने वाले विटामिन्स नर्वस सिस्टम को ठीक से काम करने में मदद करते हैं। इन विटामिन्स को नर्वस सिस्टम के लिए जरूरी माना जाता है। साथ ही इसमें पाए जाने वाले पोटैशियम दिमाग को स्वस्थ और सक्रिय रखने में भी मदद करते हैं।

    त्वचा और बालों के लिए भी है लाभकारी

    खजूर को स्किन और बालों के लिए भी फायदेमंद समझा जाता है। खजूर में काफी मात्रा में विटामिन सी पाया जाता है, जो आपकी स्किन को हेल्दी और फ्लेक्सिबल बनाने में मदद करता है। इसके अलावा यह स्किन को सौम्य भी बनाए रखता है। साथ ही खजूर में विटामिन बी5 भी काफी मात्रा में पाया जाता है। यह स्ट्रेत मार्क्स को साफ करने में मदद करता है। इसके अलावा खजूर बालों को भी स्वस्थ रखने में मदद करता है। आप जान लें कि बालों का झड़ना और दोमुंहे होना विटामिन बी 5 के कारण ही होता है। ऐसे में खजूर के रेगुलर इस्तेमाल से आप हेल्ही बाल और स्किन भी पा सकते हैं।

    और पढ़ें : गर्भावस्था में शतावरी के सेवन से कम हो सकती है मिसकैरिज की संभावना!

    खजूर के नुकसान

    हालांकि इसके कई फायदें हैं लेकिन साथ ही इसके कई नुकसान भी हैं।  इसके फायदे जाननें के साथ-साथ इसके नुकसान जानना भी आपके लिए जरूरी हो जाता है। खजूर को ज्यादा मात्रा में खाने से इसके नुकसान देखने को मिल सकते हैं:

    • 100 ग्राम खजूर में लगभग 227 कैलोरीज होती हैं। ऐसे में इसका ज्यादा सेवन वजन बढ़ने का कारण भी बन सकता है।
    • इसको ज्यादा खाने से हाइपरकलीमिया भी हो सकता है। ऐसा रक्त में पोटैशियम की मात्रा ज्यादा होने के कारण होता है और इसमें पोटैशियम की मात्रा पर्याप्त होती है। हाइपरकलीमिया में मांसपेशियों में कमजोरी आने लगती है और कई बार लकवा (paralysis) भी हो सकता है। इसलिए, ज्यादा खजूर खाने से बचें।
    • छोटे बच्चों के लिए ज्यादा इसका सेवन थोड़ा हानिकारक साबित हो सकता है, क्योंकि यह काफी मोटा और सख्त होता है। शिशु की आंतें पूरी तरह से विकसित नहीं होती हैं, इसलिए वो इसको आसानी से पचा नहीं पाते हैं। यह उनके गले में भी अटक सकता है।

    इसके कई सारे फायदे हैं लेकिन ज़्यादा मात्रा में इसका सेवन करने से दस्त होने की संभावना बढ़ जाती है और डायबिटीज़ के मरीजों का इसका सेवन नहीं करना चाहिए।

    डिस्क्लेमर

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    के द्वारा मेडिकली रिव्यूड

    Dr. Pooja Bhardwaj


    Nidhi Sinha द्वारा लिखित · अपडेटेड 23/04/2021

    advertisement iconadvertisement

    Was this article helpful?

    advertisement iconadvertisement
    advertisement iconadvertisement