home

आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

क्या सूखी अंजीर ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करने में निभाती हैं अहम भूमिका?

क्या सूखी अंजीर ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करने में निभाती हैं अहम भूमिका?

डायबिटीज की बीमारी होने पर मन में हमेशा यह शंका बनी रहती है कि किसी भी प्रकार के मीठे फ्रूट या फूड्स को खाने पर कहीं ब्लड में शुगर का लेवल न बढ़ जाए। डायबिटीज की बीमारी का मुख्य कारण ब्लड में शुगर लेवल कंट्रोल ना रह पाना है। ऐसा इंसुलिन हॉर्मोन के सही से ना बन पाने के कारण होता है। हमारे अग्नाशय से इंसुलिन हॉर्मोन निकलता है, जो ब्लड में शुगर के लेवल को कंट्रोल करने का काम करता है। जब किन्हीं कारणों से इंसुलिन का स्तर कम हो जाता है या फिर इंसुलिन बनना बंद हो जाता है, तो खून में ग्लूकोज का लेवल बढ़ता रहता है। इस कारण से डायबिटीज की बीमारी जन्म लेती है। अगर डायबिटीज की बीमारी के दौरान कोई मीठी चीज खाई जाए, तो डायबिटीज की गंभीरता अधिक बढ़ जाती है। लेकिन कुछ ऐसे फल भी होते हैं, जो भले ही मीठे जरूर हो लेकिन ब्लड में शुगर के लेवल को बढ़ाते नहीं है। उन्हीं में से एक है सूखा अंजीर। डायबिटीज में सूखे अंजीर खाने के कई फायदे हैं। आज इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको डायबिटीज में सूखी अंजीर (Dried figs in diabetes) या मधुमेह में सूखी अंजीर खाने के क्या फायदे होते हैं, इस बारे में जानकारी देंगे।

और पढ़ें: टाइप 2 डायबिटीज मैनेजमेंट हो सकता है आसान, अगर आप रखेंगे इन 7 बातों का ध्यान

डायबिटीज में सूखी अंजीर (Dried figs in diabetes)

डायबिटीज में सूखी अंजीर

साल 2011 में इंटरनेशनल जर्नल ऑफ फार्मटेक रिसर्च में प्रकाशित एक स्टडी के अनुसार, “अधिक मात्रा में पोटैशियम लेने से ब्लड में शुगर की मात्रा कंट्रोल में रहती है, इसलिए डायबिटीज के पेशेंट के लिए अंजीर का सेवन अच्छा माना जाता है।अंजीर शरीर के लिए पोषक तत्वों से भरा ड्राइ फ्रूट है। अंजीर में खनिज के साथ ही विटामिंस और अन्य पोषक तत्व होते हैं। डायबिटीज में सूखी अंजीर को इसीलिए बेहतर ऑप्शन माना जाता है।

अंजीर का फल सूखे मेवों में बेहद महत्वपूर्ण माना जाता है क्योंकि इसके एक नहीं बल्कि अनेक फायदे हैं। अगर कोई व्यक्ति डायबिटीज से पीड़ित है, तो उसे अपनी डायट में सूखी अंजीर जरूर शामिल करनी चाहिए क्योंकि ये डायबिटिक पेशेंट (Diabetic patient) को नुकसान नहीं पहुंचाता है। अंजीर का सेवन कई तरह से किया जा सकता है। इसे धूप में सुखाकर भी खाया जाता है। वहीं कुछ लोग इसे कच्चा भी खाते हैं। अंजीर को आप सूखे मेवे के रूप में सालों तक सुरक्षित रख सकते हैं। अंजीर का इस्तेमाल डेजर्ट या मिठाइयां बनाने में भी किया जाता है। जानिए अंजीर को खाने से क्या फायदे हो सकते हैं।

और पढ़ें: क्या एंटीबायोटिक्स के कारण टाइप 2 डायबिटीज का बढ़ जाता है जोखिम?

वेट मैनेजमेंट में करता है मदद (Helps in weight management)

जो लोग मोटे होते हैं, उनमें डायबिटीज का खतरा (Risk of diabetes) अधिक रहता है। जो लोग रोजाना कुछ मात्रा में अंजीर का सेवन करते हैं, उनका वेट मैनेज रहता है। अंजीर में फाइबर पर्याप्त मात्रा में पाई जाती है। अगर आप अंजीर खाते हैं, तो आपको पेट में भरेपन का एहसास होता है और जल्दी भूख भी नहीं लगती है। आप अंजीर को लाइट स्नैक के रूप में भी इस्तेमाल कर सकते हैं। एक बात का ध्यान रखें कि अंजीर को अधिक मात्रा में न खाएं। ऐसा करने से आपका वेट बढ़ेगा नहीं।

डायबिटीज में सूखी अंजीर: ब्लड में शुगर लेवल को रखती है कंट्रोल (Keeps blood sugar level under control)

डायबिटीज में सूखी अंजीर (Dried figs in diabetes) या या मधुमेह में सूखी अंजीर खाना इसलिए फायदेमंद होता है क्योंकि अंजीर में मौजूद क्लोरोजेनिक एसिड ( chlorogenic acid) ब्लड में शुगर के लेवल को कम करने का काम करता है। साथ ही अंजीर में पाया जाने वाला पोटैशियम (Potassium) भी ब्लड में शुगर के लेवल को कंट्रोल करने का काम करता है। इस कारण से डायबिटीज में सूखी अंजीर (Dried figs in diabetes) का सेवन फायदेमंद माना जाता है।

और पढ़ें: टाइप 2 डायबिटीज और आयोडीन डेफिशिएंसी में क्या संबंध है, जानिए यहां एक्सपर्ट से

कब्ज से भी राहत दिलाती है अंजीर

जैसा कि हम आपको आपको पहले ही बता चुके हैं कि अंजीर में फाइबर पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है, जिसके कारण पाचन ठीक रहता है। डायबिटीज में कब्ज की समस्या (Constipation problem in diabetes) से निपटने के लिए अंजीर फायदेमंद साबित होता है। अंजीर खाने से पेट में भरेपन का एहसास होता है।

अंजीर की सही खुराक क्या है, इस बारे में जानकारी कम ही उपलब्ध है। अगर आप अंजीर का सेवन कर रहे हैं, तो रोजाना एक अंजीर खा सकते हैं। बेहतर होगा कि आप इस बारे में डॉक्टर या एक्सपर्ट से जानकारी जरूर लें। डायबिटीज की बीमारी में खानपान या डायट पर ध्यान देना बहुत जरूरी है। अगर आप खाने में लो ग्लाइसेमिक फूड्स शामिल करते हैं, तो आपके ब्लड में शुगर का लेवल कंट्रोल में रहता है। अगर आपको अंजीर खाने के बाद समस्या महसूस होती है, तो आपको डॉक्टर से इस बारे में जरूर बताना चाहिए।

और पढ़ें: टाइप 2 डायबिटीज और GI इशूज : क्या है दोनों के बीच में संबंध, जानिए

अन्य बीमारियों में भी लाभकारी है सूखी अंजीर!

अंजीर का सेवन करने से जहां एक ओर डायबिटीज जैसी बीमारी से राहत मिलती है, वहीं दूसरी ओर अंजीर का सेवन कैंसर (Cancer) और हार्ट डिजीज (Heart disease) जैसी गंभीर समस्याओं से भी बचाने का काम करता है। अंजीर का सेवन करने से हड्डियां भी मजबूत होती हैं। सूखी अंजीर का सेवन प्रेग्नेंसी के दौरान भी बहुत अच्छा माना जाता है। अगर आपको डायबिटीज की समस्या है, तो आपको अंजीर का सेवन कितनी मात्रा में करना चाहिए, इस बारे में अपने डॉक्टर से परामर्श जरूर करें।

और पढ़ें: क्या टाइप 2 डायबिटीज होता है जेनेटिक? जानना है जवाब तो पढ़ें यहां

अगर आप डायबिटीज की मेडिसिंस के साथ ही अन्य मेडिसिंस का सेवन कर रहे हैं, तो अंजीर का सेवन करने से पहले डॉक्टर से जानकारी जरूर लें। जिन लोगों को लिवर संबंधित परेशानी है, उन्हें इसका सेवन डॉक्टर से जानकारी लिए बिना नहीं करना चाहिए। अधिक मात्रा में किसी भी चीज का सेवन करना लाभकारी नहीं होता है। अगर आपको लग रहा है कि ज्यादा अंजीर खाने से आपकी डायबिटीज जल्द ठीक हो जाएगी, तो यह गलत है। आपको अंजीर का सेवन बहुत ही सावधानी से करना चाहिए। अंजीर का सेवन करने से आपको किसी प्रकार की समस्या पैदा हो रही है, तो डॉक्टर को इस बारे में जरूर बताएं। बेहतर लाइफस्टाइल अपनाएं और रोजाना एक्सरसाइज को अपनी दिनचर्या में भी शामिल करें।

इस आर्टिकल में हमने आपको डायबिटीज में सूखी अंजीर (Dried figs in diabetes) या मधुमेह में सूखी अंजीर के बारे में बारे में जानकारी दी है। उम्मीद है आपको हैलो हेल्थ की दी हुई जानकारियां पसंद आई होंगी। अगर आपको इस संबंध में अधिक जानकारी चाहिए, तो हमसे जरूर पूछें। हम आपके सवालों के जवाब मेडिकल एक्स्पर्ट्स द्वारा दिलाने की कोशिश करेंगे।

health-tool-icon

बीएमआई कैलक्युलेटर

अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की जांच करने के लिए इस कैलक्युलेटर का उपयोग करें और पता करें कि क्या आपका वजन हेल्दी है। आप इस उपकरण का उपयोग अपने बच्चे के बीएमआई की जांच के लिए भी कर सकते हैं।

पुरुष

महिला

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Bhawana Awasthi द्वारा लिखित आखिरी अपडेट कुछ हफ्ते पहले को
Sayali Chaudhari के द्वारा मेडिकली रिव्यूड