Moringa: सहजन क्या है?

By Medically reviewed by Dr. Shruthi Shridhar

परिचय

सहजन क्या है?

सहजन के पेड़ के लगभग सभी हिस्सों का प्रयोग हर्बल दवाइयों में किया जाता है। औषधि बनाने के लिए इसके पत्ते, छाल, फूल, फल, बीज और जड़ का इस्तेमाल किया जाता है। इसकी पत्तियों को सबसे ज्यादा पोष्टिक माना जाता है। ये बीटा-कैरोटीन, मैग्नीजियम और प्रोटीन का महत्वपूर्ण स्त्रोत है। इसमें एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-ट्यूमर और एंटीडिप्रसेंट गुण पाए जाते हैं।

सहजन का उपयोग किस लिए किया जाता है?

इसमें 46 तरह के एंटी-ऑक्सीडेंट गुण, 92 तरह के मल्टी-विटामिन, 36 तरह के दर्द निवारक और 18 तरह के एमिनो एसिड पाए जाते हैं। इसके अलग-अलग हिस्सों में 300 से अधिक रोगों के रोकथाम के गुण हैं।

इन बीमारियों में मददगार है सहजन:

  • शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ाता है
  • मस्तिष्क और शरीर को पोषण प्रदान करता है
  • ऊर्जा को बढ़ावा देता है
  • घबराहट, अवसाद और नींद संबंधी विकार घट जाती है
  • शरीर की सेल संरचना को बढ़ावा देता है
  • एंटी-ऑक्सीडेंट  होते हैं
  • एक स्वस्थ संचार प्रणाली को बढ़ावा देता है
  • ऊर्जा को बढ़ावा देता है
  • सामान्य चीनी स्तरों का समर्थन करता है
  • शरीर की सेल संरचना को बढ़ावा देता है
  • मधुमेह को स्थिर करने में एड्स
  • सूजन को कम करने और गठिया से निजात दिलाता है
  • सेक्स ड्राइव बढ़ाने में
  • गर्भावस्था को रोकने 
  • इम्यून सिस्टम को बूस्ट करने में
  • ब्रेस्ट मिल्क के प्रोडक्शन को बढ़ाने में

कैसे काम करता है सहजन?

मेडिसनल गुणों से भरपूर सहजन की पत्तियों में कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, कैल्शियम, पोटैशियम, आयरन, मैग्नीशियम, विटामिन ए, सी और बी कॉम्पलैक्स प्रचुर मात्रा में होता है। इसमें मौजूद एंटीऑक्सिडेंट के रूप में, कोशिकाओं को नुकसान से बचाने में मदद करता है। जर्म्स को मारने के लिए इसे त्वचा पर सीधे लगाया जाता है। यह संक्रमण, रूसी, मसूड़े की सूजन, वार्टस और घावों के उपचार के लिए भी उपयोग किया जाता है। इसके बीजों के तेल का इस्तेमाल फुड प्रोडक्टस, इत्र और बालों की देखभाल करने वाले प्रोडक्टस में किया जाता है।

ये भी पढ़ें: हेजलनट क्या है?

उपयोग

कितना सुरक्षित है सहजन का उपयोग ?

उचित मात्रा में सहजन का प्रयोग संभवतः सुरक्षित है। सहजन की पत्तियां फल और बीज भोजन के रूप में खाए जाने पर सुरक्षित हो सकते हैं। हालांकिइसका रूट और अर्क के सेवन से बचना चाहिए। इन हिस्सों में एक प्वाइजनस सब्सटेंस हो सकता है जो पैरालिसिस और मृत्यु की वजह बन सकता है। हर दिन सहजन की 6 ग्राम की मात्रा का उपयोग, तीन हफ्ते तक सुरक्षित रूप से किया जा सकता है। 

अपने डॉक्टर्स या फार्मासिस्ट या हर्बलिस्ट से सलाह लें, यदि:

  • आप प्रेग्नेंट या ब्रेस्ट फीडिंग करा रही हैं। ऐसा इसलिए है, क्योंकि इस दौरान आपकी इम्यूनिटी वीक होती है तो आपको केवल डॉक्टर की सलाह पर दवाएं लेनी चाहिए।
  • आप कोई दूसरी दवा या फिर बिना डॉक्टर के प्रिसक्रिप्शन की दवाई ले रहे हैं।
  • आपको सहजन या दूसरी दवाओं या जड़ी बूटियों से एलर्जी है।
  • आपको कोई अन्य बीमारी, डिसऑर्डर या मेडिकल कंडीशंस हैं।
  • आपको किसी दूसरे तरह की एलर्जी है, जैसे कि फुड आइटम्स, डाय, प्रिजर्वेटिव्स और जानवर से।

दवाइयों की तुलना में हर्ब्स लेने के लिए नियम ज्यादा  सख्त नहीं हैं। बहरहाल यह कितना सुरक्षित है इस बात की जानकारी के लिए अभी और भी रिसर्च की जरूरत है। इस हर्ब को इस्तेमाल करने से पहले इसके रिस्क और फायदे को अच्छी तरह से समझ लें। हो सके तो अपने हर्बल स्पेशलिस्ट या डॉक्टर से सलाह लेकर ही इसे यूज करें। 

ये भी पढ़ें: पत्ता गोभी क्या है?

साइड इफेक्ट्स

सहजन से मुझे क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

औषधि के तौर पर सहजन सुरक्षित है या नहीं इस बात की पर्याप्त जानकारी उपलब्ध नहीं है। यदि आपको साइड इफेक्ट के बारे में कोई चिंता है, तो कृपया अपने हर्बलिस्ट या डॉक्टर से परामर्श करें।

ये भी पढ़ें: ग्रीन टी क्या है ?

डोसेज

सहजन को लेने की सही खुराक क्या है ?

आपकी पहले से चल रही दवाइयां या  मेडिकल कंडीशन पर निर्भर करता है कि आप सहजन खाएं या नहीं ? इसलिए सहजन खाने से पहले अपने हर्बलिस्ट या डॉक्टर्स से सलाह लें। इसकी खुराक हर मरीज के लिए अलग हो सकती है। आपके द्वारा ली जाने वाली खुराक आपकी उम्र, स्वास्थ्य और कई अन्य स्थितियों पर निर्भर करती है। जड़ी बूटी हमेशा सुरक्षित नहीं होती हैं। कृपया अपने उचित खुराक के लिए अपने हर्बलिस्ट या डॉक्टर से चर्चा करें।

ये भी पढ़ें: लैवेंडर क्या है?

उपलब्ध

किन रूपों में उपलब्ध है?

  • सहजन ओलीफेरा पत्ती पाउडर
  • इंकैप्सूललेटेड लीफ एक्स्ट्रैक्ट
  • लिक्विड एक्स्ट्रैक्ट

ये भी पढ़ें: इलायची क्या है?

अभी शेयर करें

रिव्यू की तारीख अक्टूबर 9, 2019 | आखिरी बार संशोधित किया गया अक्टूबर 9, 2019