डिप्रेशन में हैं तो भूलकर भी न लें ये 6 चीजें

By Medically reviewed by Dr. Hemakshi J

अवसाद जैसे मानसिक विकार से कोई भी व्यक्ति पीड़ित हो सकता है और यह जीवन के लिए बड़ी ही कठिन स्थिति हो सकती है। हालांकि, डिप्रेशन के उपचार के लिए साइकोथेरेपी, सपोर्ट ग्रुप और कई एंटी-डिप्रेसेंट्स दवाएं मौजूद हैं। लेकिन जीवनशैली में कुछ अच्छे बदलाव लाकर अवसाद के लक्षणों को ठीक करने में जल्दी मदद मिल सकती है। इसलिए, अवसाद ग्रस्त लोगों को डॉक्टर्स मेडिकल ट्रीटमेंट के साथ खानपान में सुधार के साथ प्रतिदिन कुछ व्यायाम, योग, मेडिटेशन आदि की भी सलाह देते हैं। डिप्रेशन में खानपान कैसा है? यह डिप्रेशन के इलाज को प्रभावित कर सकता है। 

डॉक्टर विवेक अग्रवाल (केजीएमयू, लखनऊ) ने “हैलो स्वास्थ्य” से बातचीत के दौरान कहा कि “जीवनशैली में बदलाव, शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य दोनों के लिए महत्वपूर्ण है। खानपान में बदलाव अवसाद के उपचार की प्रक्रिया पर प्रभाव डालता है। दरअसल, कुछ खाद्य पदार्थ ऐसे होते हैं जिनमें मूड को बूस्ट करने की क्षमता होती है। वहीं, कुछ फूड्स ऐसे भी होते हैं जिनसे तनाव और थकान महसूस हो सकती है क्योंकि ऐसे खाद्य पदार्थ हमारे मस्तिष्क में रसायनों को असंतुलित करते हैं।” ऐसे में डिप्रेशन में खानपान के दौरान कुछ ऐसे फूड्स हैं जिनको खाने से अवसाद की स्थिति बिगड़ सकती हैं। जानते हैं ऐसे ही 6 फूड्स जिनको डिप्रेशन के दौरान खाना अवॉयड करना चाहिए-

कैफीन (Caffeine)

कैफीन को पूरी तरह से अपने आहार से निकाल देना कई लोगों के लिए मुश्किल हो सकता है। इससे नींद की समस्या, मूड, चिड़चिड़ापन, उत्तेजना और एंग्जायटी जैसी समस्याएं होने की संभावनाएं रहती है। साथ ही यह हमारी मनोदशा को भी प्रभावित करती है जिससे अवसाद के लक्षण बिगड़ सकते हैं। डिप्रेशन में खानपान के दौरान कैफीन का सेवन न के बराबर करें ताकि उपचार में जल्दी लाभ दिख सकें।

यह भी पढ़ें- जानिए किस तरह एंग्जायटी सेक्स लाइफ पर असर डाल सकती है

प्रोसेस्ड फूड्स (Processed foods)

फास्ट और जंक फूड कैलोरी में उच्च और पोषक तत्वों में कम होते हैं। स्टडीज की माने तो फ्रेश फूड्स खाने वालों की तुलना बहुत अधिक फास्ट फूड का सेवन करने वाले लोगों में अवसाद होने की संभावना ज्यादा होती है। प्रोसेस्ड फूड्स खासतौर से जो शुगर और रिफाइंड कार्बोहाइड्रेट्स में उच्च होते हैं, जो डिप्रेशन के दौरान उच्च जोखिम में योगदान कर सकते हैं। इसलिए डिप्रेशन में खानपान में फ्रेश और पोषक तत्वों से भरपूर खाना खाएं।

रिफाइंड शुगर (Refined sugar)

चीनी का ज्यादा सेवन शरीर में ब्लड शुगर लेवल को बढ़ा देता है, जिससे शुरुआत में तो ऊर्जा बढ़ती है लेकिन, लगातार इनके सेवन से थकान और उदासी जैसी समस्याएं देखने को मिलती हैं। साथ ही इससे स्लीप डिसॉर्डर की समस्याएं भी पैदा होती है। डिप्रेशन में खानपान के दौरान रिफाइंड चीनी को खाने से बचना आपके मूड को ठीक रखने में सहायक हो सकता है। शरीर में एनर्जी बनी रहे इसके लिए आप लीन प्रोटीन (lean protein), कॉम्प्लेक्स कार्बोहायड्रेट (जैसे-साबुत अनाज), ताजे फल और सब्जियों का सेवन करें।

यह भी पढ़ें- एंग्जायटी डिसऑर्डर के लक्षण, जिनके बारे में जानना जरूरी है

एल्कोहॉल (Alcohol)

शराब का ज्यादा सेवन शारीरिक और मानसिक दोनों समस्याएं पैदा कर सकता है। असल में केंद्रीय तंत्रिका तंत्र इंद्रियों के माध्यम से जानकारी लेने, मोटर फंक्शन को नियंत्रित करने, साथ ही सोचने, समझने और तर्क करने के लिए जिम्मेदार होता है। शराब के लगातार सेवन से यह तंत्र प्रभावित होता है जिससे अवसाद के लक्षण और बिगड़ सकते हैं। 

उच्च सोडियम वाले खाद्य पदार्थ (High sodium foods)

जिन खाद्य पदार्थों में सोडियम की मात्रा ज्यादा होती है। वे मानसिक स्वास्थ्य के लिए परेशानी पैदा कर सकते हैं। डिप्रेशन के दौरान ऐसे खाद्य पदार्थों को खाना अवॉयड करें। दरअसल, अतिरिक्त सोडियम की उपस्थिति तंत्रिका तंत्र के कार्य को प्रभावित कर सकती है जो डिप्रेशन और स्ट्रेस का कारण बन सकता है। यदि आप डिप्रेस्ड या चिड़चिड़ा महसूस नहीं करना चाहते हैं, तो फ्रोजेन फूड्स, सॉसेस, बेक्ड खाद्य पदार्थों का सेवन कम करना चाहिए।

यह भी पढ़ें- बच्चे की डिलिवरी पेरेंट्स के लिए खुशियों के साथ ला सकती है डिप्रेशन भी

ट्रांस फैट

डिप्रेशन से गुजर रहे लोगों के लिए ट्रांस फैट वाली चीजें जैसे फ्राय चिकन, फ्रेंच फ्राइज और तलीभुनी चीजें और नुकसानदायक होती हैं। यह ह्दय रोगों का कारण बनने के साथ-साथ डिप्रेशन का खतरा बढ़ा देती हैं।

ऐसा बिलकुल भी नहीं है कि ऊपर बताए गए इन खाद्य पदार्थों को खाने से सीधे डिप्रेशन हो जाता है लेकिन, अवसाद के दौरान खराब लाइफस्टाइल और अनहेल्दी खानपान से डिप्रेशन और अन्य मानसिक रोग की स्थिति बिगड़ने की संभावनाएं बढ़ जाती हैं। डिप्रेशन में खानपान में ताजे फल, एंटी-ऑक्सीडेंट्स, ओमेगा 3 फैटी एसिड्स आदि से भरपूर खाद्य पदार्थों को शामिल करें।

ये भी पढ़ें-

क्या हैं वह 10 सामान्य मेंटल हेल्थ प्रॉब्लम्स (Mental Health Problems) जिनसे ज्यादातर लोग हैं अंजान?

बिना दवा के कुछ इस तरह करें डिप्रेशन का इलाज

डिप्रेशन रोगी को कैसे डेट करें?

अभी शेयर करें

रिव्यू की तारीख अक्टूबर 17, 2019 | आखिरी बार संशोधित किया गया नवम्बर 4, 2019

सूत्र