home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

जानिए किस तरह एंग्जायटी सेक्स लाइफ पर असर डाल सकती है

जानिए किस तरह एंग्जायटी सेक्स लाइफ पर असर डाल सकती है

एंग्जायटी हर व्यक्ति के जीवन मे होती है। किसी को करियर की चिंता, तो किसी को एग्जाम की चिंता। हर व्यक्ति को किसी न किसी प्रकार की चिंता होती है। यह एंग्जायटी तब तक ठीक होती है, जब तक यह आपके दिमाग पर हावी न हो। लेकिन, यदि यह आपको मानसिक पीड़ा देने लगे तो यह आपको कई तरह से इफेक्ट करती है, जिसे हम एंग्जायटी डिसऑर्डर भी कहते हैं। एंग्जायटी आपके रोजाना के काम या करियर को ही नहीं, बल्कि आपके सेक्स लाइफ पर असर भी डालती है। यदि आप स्ट्रेस्ड होते हैं, तो अपका मन सेक्स लाइफ से रुचि खोने लगता है और अपका रुझान आपके पार्टनर के प्रति कम होने लगता है। आप अपने पार्टनर से न तो कनेक्ट कर पाते हैं और न ही सेक्स प्लेजर को महसूस कर पाते हैं। एंग्याजटी का सेक्स लाइफ पर असर काफी ज्यादा पड़ सकता है।

सेक्स लाइफ हमेशा ही मजेदार, स्ट्रेस से मुक्त और प्लेजर से भरा होना चाहिए, न कि एंग्जायटी या स्ट्रेस से भरा। इसलिए, इस बात का ध्यान हमेशा रखें कि थोड़ी एंग्जायटी कभी भी हानिकारक नहीं होती लेकिन, यदि आपका स्ट्रेस आपके ऊपर हावी हो जाए, तो वह आपके लिए हर तरह से हानिकारक है। इसलिए इन सब चीजों को खुद पर इस तरह हावी न होने दें, जिससे सेक्स लाइफ पर असर पड़े।

यह भी पढ़ें : एंजायटी के उपाय चाहते हैं तो जरूर अपनाएं ये टिप्स

एंग्जायटी का सेक्स लाइफ पर असर क्या है?

ज्यादातर वक्त एंग्जायटी में रहने की वजह से स्ट्रेस आपके दिमाग पर पूरी हावी हो जाता है और आपका दिमाग सेक्स से संबंधित फीलिंग्स या उनके विचार नहीं आने देता। इसकी वजह से आपका मूड सेक्स की ओर नहीं जाता और आपके अंदर की सेक्स की इच्छा होने लगती है। एंग्जायटी या स्ट्रेस आपको शारीरिक रूप से भी हानि पहुंचाते हैं। अधिक स्ट्रेस होने से आपके अंदर स्ट्रेस हॉर्मोंस एड्रेनालाइन बढ़ने लगता है, जिसकी वजह से अपका शरीर सुस्त और थका हुआ महसूस करता है। इससे अपका मन सिर्फ बाकी बातों में ही फसा रह जाता है और आप अपनी सेक्स लाइफ से दूर होने लगते हैं।

एंग्जायटी से आपके अंदर और भी कई बदलाव आते हैं, जैसे कि आप अपने शरीर के प्रति आत्मविश्वास खोने लगते हैं। आप अपने आप को प्रेजेंटेबल नहीं समझते और यह खासकर महिलाओं के अंदर पाया जाता है। महिलाएं खुद को अपने पार्टनर के साथ सेक्स करन से बचती हैं। उनके भीतर स्ट्रेस होता है, अपनी शारीरिक खामियों को लेकर। वह शर्म महसूस करती हैं अपने बॉडी को दिखाने में। वह अंगों को लेकर कॉन्शियस होती है। इसकी वजह से वह अपने पार्टनर के साथ खुल नहीं पाती और सेक्शुअल प्लेजर को महसूस नहीं कर पाती। ऐसे भी सेक्स लाइफ पर असर पड़ सकता है।

यह भी पढ़ें : लर्निंग डिसेबिलिटी के उपचार : जानें इसके लक्षण और समय रहते करें रोकथाम

एंग्जायटी आपको ओर्गैस्म तक पहुंचने नहीं देता। ज्यादा स्ट्रेस आपके शरीर और दिमाग दोनों को कुछ भी महसूस करने के लायक नहीं छोड़ता, जिसकी वजह से आपका शरीर 100 प्रतिशत नहीं दे पाता। इस वजह से सेक्स लाइफ पर असर पड़ता है।

जब आपके मन में किसी भी तरह का भय या स्ट्रेस हो, तो आप अपने पार्टनर के साथ शारीरिक संबंध नहीं बनाना चाहेंगे और न ही आकर्षित महसूस करेगें। साथ ही साथ, आप अपने पार्टनर से अपनी दिल की इच्छा जाहिर नहीं करते, खासकर सेक्शुअल फैंटेसी से संबंधित।

सेक्स लाइफ पर असर कई चीजों से पड़ सकता है। एंग्जायटी की वजह से सेक्स लाइफ पूरी तरह खराब होने लगती है। इसका प्रभाव आपकी सेक्शुअल लाइफ के लिए बहुत ही खतरनाक है। कई बार आप अपने पार्टनर से बहुत दूर भी हो जाते हैं, जिसका प्रभाव आपके रिश्ते पर पड़ता है। इसलिए, समय रहते अपने एंग्जायटी को समझें और खुद को स्ट्रेस लेने से बचाएं। यह आपके और आपके पार्टनर दोनों के लिए लाभदायक रहेगा।

तो अगर आपको भी लगता है कि एंग्जायटी के कारण आपकी सेक्स लाइफ प्रभावित हो रही है, तो आपको एंग्जायटी दूर करने के उपाय अपनाने चाहिए, ताकि आपकी समस्या ज्यादा न बढ़े। एंग्जायटी सेक्स लाइफ पर असर न डाले, इसके लिए आप ये तरीके अपना सकते हैं :

सबसे पहले तो एंग्जायटी का परीक्षण होने के बाद आप अपने डॉक्टर से इसके इलाज को लेकर इस बारे में खुलकर बात करें। आपको बता दें कि एंग्जायटी के कई मामलों में मेडिकल ट्रीटमेंट की जरूरत नहीं पड़ती है। ऐसे मामलों में लाइफस्टाइल को बदलने भर से काम चल सकता है। वहीं अगर समस्या गंभीर हो गई है, तो मेडिकल हेल्प की मदद से रोजमर्रा की जिंदगी में सुधार किया जा सकता है।

नीचे जानिए कि ऐसे कौन से उपाय हैं जिनकी मदद से आप एंग्जायटी से राहत पा सकते हैं, जिससे इसके सेक्स लाइफ पर असर कम हो :

  • आपको यह तय करना होगा कि जिस भी बात को लेकर आप चिंतित हैं, उसका कोई समाधान है या नहीं। यदि है, तो उसके बारे में सोचना सही है, अन्यथा व्यर्थ है।
  • अपनी एंग्जायटी को कम करने के लिए आप मेडिटेशन भी कर सकते हैं, जिससे आपका दिमाग शांत और फ्रेश रहेगा। इसके लिए आप चाहें तो किसी मेडिटेशन के प्रॉपर जगह पर जाकर ध्यान लगा सकते हैं। अगर नहीं, तो आप घ में ही एक शांत जगह पर बैठें और करीब 10 से 15 मिनट तक मेडिटेशन करें। नियमित रूप से मेडिटेशन करने से आपको मानसिक शांति मिलेगी और धीरे-धीरे एंग्जायटी से भी राहत मिलेगी।
  • एंग्जायटी के उपाय चाहते हैं, तो आप जरूरत से ज्यादा चिंता न लें और अपने दिमाग को शांत रखें।
  • अपने आपको हर मुश्किल से लड़ने के काबिल समझें और दिमाग में नेगेटिव विचारों को न आने दें। इससे आपको बुरे और नेगेटिव ख्याल नहीं आएंगे और मन शांत रहेगा। हमेशा अपने आसपास के माहौल को पॉजिटिव बनाएं। इसके लिए आप चाहें तो कोई अच्छी किताब पढ़ सकते हैं। अगर आपका मन भक्ति में लगता है तो पूजा भी कर सकते हैं। आपको राहत महसूस होगी।
  • जब भी आपको बहुत ज्यादा चिंता या एंग्जायटी हो रही हो, तो गहरी सांस लें। इससे आपका मन और दिमाग दोनों शांत होंगे। गहरी सांस लेने से आपका आत्मविश्वास भी बढ़ता है और कई बार ध्यान केंद्रित करने में भी मदद मिलती है।
  • रिसर्च में पता चला है कि संगीत सुनने से दिमाग शांत होता है। इसलिए, एंग्जायटी को कम करने के लिए आप मधुर संगीत सुन सकते हैं। जरूरी नहीं कि आप दिमाग को उत्तेजित करने वाला संगीत सुनें। आप बासुरी की धुन, कुछ लोक संगीत, ट्रांस, नेचर साउंड जैसे पानी का बहना, चिड़ियों का चहकना जैसे साउंड या बैकग्राउंड साउंड को सुन कर खुद को रिलैक्स कर सकते हैं।

उम्मीद करते हैं ऊपर बताए गए तरीकों से एंग्जायटी का सेक्स लाइफ पर असर कम होगा और आप अपनी सेक्स लाइफ को बेहतर बना सकते हैं। तो आप ये तरीके अपनाएं और सेक्स लाइफ पर असर न पड़ने दें। उम्मीद करते हैं कि आपको हमारा ये आर्टिकल पसंद आया होगा। अगर पसंद आया है तो ज्यादा से ज्यादा लोगों के साथ शेयर करें ताकि एंग्जायटी लोगों की सेक्स लाइफ पर असर न डाले।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Shivani Verma द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 30/01/2020 को
डॉ. हेमाक्षी जत्तानी के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x