खुजलाहट के बाद त्वचा से खून आना है डायबिटीज का संकेत

Medically reviewed by | By

Update Date फ़रवरी 13, 2020
Share now

डायबिटीज यानी शुगर या मधुमेह की बीमारी पूरी दुनिया में तेजी से अपने पैर पसार रही है। कई बार कुछ लोगों को इस बीमारी का तब पता चलता है, जब इससे शरीर के कई अंगों (आंखों, किडनी, हार्ट) को नुकसान पहुंचना शुरू हो जाता है। इसी वजह से बीमारी का समय पर पता करना बहुत जरूरी है। डायबिटीज का किडनी पर बहुत बुरा प्रभाव पड़ता है। किडनी का खराब होना जानलेवा हो सकता है। इसी वजह से अगर आपको भी अपने शरीर में निम्नलिखित लक्षण नजर आ रहे हैं तो आप शुगर टेस्ट जरूर करवाएं। शुरू में ही इस समस्या पर ध्यान दे दिया जाए तो आप बाकी हेल्थ प्रॉब्लम से बच सकते हैं। आज हैलो हेल्थ के इस आर्टिकल में हम आपको कुछ ऐसे शारीरिक संकेतों के बारे में बताएंगे जो डायबिटीज का संकेत हो सकते हैं। जानिए इन लक्षणों के बारे में :

यह भी पढ़ें : Barium Swallow: बेरियम स्वालो टेस्ट क्या है?

नोट: यहां दी गई जानकारी किसी भी स्वास्थ्य परामर्श का विकल्प नहीं है। हमेशा डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

अगर शरीर में दिखें ये 10 लक्षण तो आप हो सकते हैं इस बीमारी का शिकार :

खुजली करते ही ब्लीडिंग होना:alarming diabetes symptoms

जब कभी शरीर के किसी भी भाग पर खुजली हो और मात्र खुजली करने से उस जगह पर जख्म बन जाए और खून बहने लगे तो ये अत्यधिक शुगर लेवल बढ़ने की निशानी है। ऐसी स्थिति में आपको तुरंत इलाज की जरूरत है। अगर आपको अपने शरीर में कुछ इस तरह के लक्षण दिखाई देते हैं, तो हो सकता है कि ये डायबिटीज के संकेत हो सकते हैं। ऐसा महसूस होने पर आप इसे अनदेखा न करें और तुरंत डॉक्टर की सलाह लें।

थकावट महसूस करना:

अगर आप सारा दिन आलसी बने रहते है और थोड़ा-सा काम करने पर थकावट महसूस करने लगते हैं या फिर पूरी रात सोने के बाद भी आपको स्फूर्ति महसूस नहीं होती तो एक बार अपना शुगर टेस्ट अवश्य कराएं। अगर आपको अपने शरीर में कुछ इस तरह के लक्षण दिखाई देते हैं, तो हो सकता है कि ये डायबिटीज के संकेत हो सकते हैं। ऐसा महसूस होने पर आप इसे अनदेखा न करें और तुरंत डॉक्टर की सलाह लें।

यीस्ट इंफेक्शन होना:

शुगर से प्रभावित महिला और पुरुष दोनों को ही अत्यधिक ग्लूकोज की वजह से यीस्ट इंफेक्शन हो सकता है। ये इंफेक्शन अंगुलियों के बीच में, ब्रेस्ट के नीचे या सेक्स ऑर्गन्स के आसपास हो सकता है। अगर आपको अपने शरीर में कुछ इस तरह के लक्षण दिखाई देते हैं, तो हो सकता है कि ये डायबिटीज के संकेत हो सकते हैं। ऐसा महसूस होने पर आप इसे अनदेखा न करें और तुरंत डॉक्टर की सलाह लें।

बार-बार पेशाब आना:

जब शरीर में ब्लड शुगर लेवल बढ़ जाता है तो बार-बार पेशाब आने लगता है। शरीर में इकट्ठा हुआ शुगर पेशाब के जरिए शरीर से बाहर आने लगता है। इसी वजह से इससे प्रभावित व्यक्ति को बार-बार पेशॉब जाने की इच्छा होती है। अगर आपको अपने शरीर में कुछ इस तरह के लक्षण दिखाई देते हैं, तो हो सकता है कि ये डायबिटीज के संकेत हो सकते हैं। ऐसा महसूस होने पर आप इसे अनदेखा न करें और तुरंत डॉक्टर की सलाह लें।

यह भी पढ़ें : Blood Culture Test : ब्लड कल्चर टेस्ट क्या है?

नजर कमजोर होना:

डायबिटीज का आंखों पर बहुत जल्दी बुरा प्रभाव पड़ता है। इससे आपको दिखना कम हो सकता है। शुगर के कारण आंखों के पर्दो को नुकसान होता है। शुगर के कारण खत्म हुई नजर दोबारा ठीक नहीं होती। अगर आपको अपने शरीर में कुछ इस तरह के लक्षण दिखाई देते हैं, तो हो सकता है कि ये डायबिटीज के संकेत हो सकते हैं। ऐसा महसूस होने पर आप इसे अनदेखा न करें और तुरंत डॉक्टर की सलाह लें।

घाव जल्दी न भरना:

सब्जी काटते हुए हाथ पर कट लगने और शेविंग करते कट लगने पर घाव जल्दी ठीक नहीं होता या फिर बहुत धीरे-धीरे ठीक होता है तो यह भी शुगर के लक्षण हो सकते हैं। अगर आपको अपने शरीर में कुछ इस तरह के लक्षण दिखाई देते हैं, तो हो सकता है कि ये डायबिटीज के संकेत हो सकते हैं। ऐसा महसूस होने पर आप इसे अनदेखा न करें और तुरंत डॉक्टर की सलाह लें।

बार-बार भूख लगना:alarming diabetes symptoms weight loss

शरीर में शुगर लेवल बढ़ने पर व्यक्ति को अत्यधिक और बार-बार भूख लगने लगती है अगर आप पहले से ज्यादा खाना खा रहे हैं और फिर भी पेट भरा नहीं लगता तो आप मधुमेह का शिकार हो सकते हैं। इसलिए इन लक्षणों को कभी भी अनदेखा न करें। अनदेखा करने पर डायबिटीज की समस्या और बढ़ सकती है।

वजन का कम होना:

भूख बढ़ने के बाद  खाना खाने के साथ वजन भी बढ़ना चाहिए लेकिन शुगर लेवल बढ़ने पर लोग खाना भी बहुत खाते हैं पर वजन कम ही रहता है। ऐसा महसूस हो, तो आप इसे इग्नोर न करें। डायबिटीज के संकेत हो सकते हैं।

स्किन प्रॉबल्म:

शुगर लेवल बढ़ने पर स्किन से जुड़ी समस्याएं सामने आने लगती है। फेस पर मुहांसे और ब्लैकहेड्स बहुत तेजी से बढ़ने लगते हैं। अगर ऐसा हो तो आप तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं।

मसूड़ों से खून बहना:

दांतों की सफाई करते समय मसूड़ों से खून निकलना या फिर मसूड़ों में सूजन रहने का कारण भी डायबिटीज हो सकती है। अगर आपको यह लक्षण लगातार नजर आ रहा है तो आपको शुगर चैकअप कराना चाहिए। ये डायबिटीज के संकेत को सकते हैं।

निष्कर्ष

अव्यवस्थित जीवनशैली की वजह से डायबिटीज की बीमारी तेजी बढ़ रही है। ऐसे में उपरोक्त लक्षण अगर आपमें नजर आएं तो बिना देर किए डॉक्टर से परामर्श लें क्योंकि ये बीमारी कई और बीमारियों को आमंत्रण देती है और घातक रूप भी ले सकती है।

अगर आपको अपनी समस्या को लेकर कोई सवाल हैं, तो कृपया अपने डॉक्टर से परामर्श लेना न भूलें।

उम्मीद करते हैं आपको हमारा ये आर्टिकल पसंद आया होगा और आपके लिए ये जानकारियां काफी यूजफुल साबित हो सकती हैं। अगर आपको हमारा ये आर्टिकल पसंद आया है, तो इसे ज्यादा से ज्यादा लोगों के साथ शेयर करें। ताकि उन्हें भी इसकी सही जानकारियां हो सके और सही समय रहते सतर्क होकर सही उपचार कर सकें।

हैलो हेल्थ ग्रुप Hello Health Group किसी भी तरह के चिकित्सा परामर्श और इलाज नहीं देता है।

और पढ़ें:-

Estradiol : एस्ट्राडिओल क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

डायबिटीज के साथ बच्चे के जीवन को आसांन बनाने के

डायबिटीज से छुटकारा पाने के लिए यह है गोल्डन पीरियड

क्या डायबिटीज से हो सकती है दिल की बीमारी ?

संबंधित लेख:

    क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
    happy unhappy"

    शायद आपको यह भी अच्छा लगे

    क्या ब्राउन शुगर से ज्यादा हेल्दी है स्टीविया? जानें स्टीविया के फायदे और नुकसान

    स्टीविया के फायदे क्या है, स्टीविया के फायदे in Hindi, इसके नुकसान क्या हैं, वजन घटाने के लिए शुगर, ब्राउन शुगर कितना हेल्दी है, Benefits of stevia vs brown sugar.

    Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
    Written by Shayali Rekha

    पेरेंट्स आपके काम की बात, जानें शिशु में अत्यधिक चीनी के सेवन को कैसे करें कंट्रोल

    जानिए शिशु में अत्यधिक चीनी के सेवन का प्रभाव in Hindi, शिशु में अत्यधिक चीनी के सेवन की आदत कैसे छुड़ाएं, बच्चों में शुगर की आदत।

    Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
    Written by Ankita Mishra

    Voglibose: वॉगलीबोस क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

    वॉगलीबोस के उपयोग की जानकारी in hindi. वॉगलीबोस का इस्तेमाल, voglibose के फायदे, नुकसान और सेवन का तरीका, कितनी खुराक लें, डोज, सावधानियां और साइड इफेक्ट्स।

    Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
    Written by Anoop Singh

    मेडिकल न्यूट्रिशन थेरिपी क्या होती है? जानिए इसके बारे में

    मेडिकल न्यूट्रिशन थेरिपी हेल्थ कंडीशन के हिसाब से अपनाई जाती है, किस बीमारी के लिए कौन-सी मेडिकल न्यूट्रिशन थेरेपी अपनाई जाएगी, ये डायटीशियन तय करता है।

    Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
    Written by Bhawana Awasthi