home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

कोरोना वायरस से बचाने के लिए वरदान समान हैं ये जड़ी बूटियां, कुछ तो आपकी किचन में ही हैं मौजूद

कोरोना वायरस से बचाने के लिए वरदान समान हैं ये जड़ी बूटियां, कुछ तो आपकी किचन में ही हैं मौजूद

कोरोना वायरस से होने वाली बीमारी कोविड-19 के प्रकोप से इस समय पूरी दुनिया जूझ रही है। इस खतरनाक वायरस के कारण अब तक हजारों लोग अपनी जान गंवा बैठे हैं। पूरी दुनिया के वैज्ञानिक इसकी वैक्सीन बनाने में दिन रात जुटे हुए हैं। फिलहाल इसका कोई इलाज नहीं है। इससे बचने के लिए एक मात्र उपाय स्वास्थ्य दिशा निर्देशों का पालन करना है। नियमित तौर पर हाइजीन का ध्यान रखें। खासतौर से हाथों को धोते रहें। सोशल डिस्टेंसिंग मेंटेन करें। हाथों से चेहरे को टच न करें। इसके अलावा यदि आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होगी तो आप दूसरे लोगों की तुलने में इस वायरस से खुद को बचाने में सफल हो सकते हैं। आयुर्वेद में कई ऐसे उपाय हैं जिन्हें फॉलो कर आप इम्युनिटी को मजबूत बना सकते हैं। आज इस लेख में हम आपको कोरोना वायरस से बचाव के लिए जड़ी बूटियां से जुड़ी जानकारी देंगे। ये हर्ब्स आपके इम्यून सिस्टम को बेहतर बना सकती हैं। साथ ही ये आपको कोरोना वायरस से सुरक्षित रखने में भी मदद करेंगी।

यह भी पढ़ेंः कोरोना वायरस फैक्ट चेक: कोरोना वायरस की इन खबरों पर भूलकर भी यकीन न करना, जानें हकीकत

कोरोना वायरस से बचाव के लिए इन जड़ी बूटियों का करें सेवन

कोरोना वायरस से बचाव के लिए जड़ी बूटियां: आंवला (Amla)

आंवला एक फल है, जिसमें विटामिन सी, विटामिन बी कॉम्प्लेक्स, कैल्शियम, फास्फोरस, आयरन, कैरोटीन प्रचुर मात्रा में होते हैं। हजारों सालों से इसे आयुर्वेदिक मेडिसिन बनाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। यह बॉडी को स्वस्थ बनाने में मदद करता है। स्वास्थ्य विशेषज्ञ दैनिक रूप से इसका सेवन करने की सलाह देते रहे हैं। खासतौर पर इसलिए क्योंकि यह इम्यून सिस्टम को बढ़ाने में भी कारगर है। सिलेब्रिटी न्यूट्रिशनिस्ट रुजुता दिवेकर हर दिन एक आंवला खाने की सलाह देती हैं। इसका सेवन कच्चा, अचार के रूप में, मुरब्बा के रूप में या जूस के रूप में किया जा सकता है।

कोरोना वायरस से बचाव के लिए जड़ी बूटियां: तुलसी (Basil)

तुलसी के लाभकारी गुणों की वजह से आयुर्वेद में इसे जड़ी बूटियों की रानी कहा जाता है। इसमें एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-फंगल, एंटी-पायरेटिक, एंटी-सेप्टिक, एंटी-ऑक्सीडेंट और एंटी-कैंसर गुण होते हैं। कई स्वास्थ्य परेशानियों की दवा बनाने के लिए इसका प्रयोग किया जाता है। इसके जड़, पत्ते, तना तथा बीज सभी का प्रयोग आयुर्वेदिक औषधि के तौर पर किया जाता है। आप अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए पानी में तुलसी रस की कुछ बूंदें मिलाकर पी सकते हैं। ऐसा करना आपके इम्यून सिस्टम के लिए लाभकारी होगा।

यह भी पढ़ें: क्या हवा से भी फैल सकता है कोरोना वायरस, क्या कहता है WHO

कोरोना वायरस से बचाव के लिए जड़ी बूटियां: हल्दी और काली मिर्च (Turmeric And Black Pepper)

हल्दी और काली मिर्च दोनों ही अपने औषधीय गुणों के लिए जाने जाते हैं। लेकिन दोनों को साथ में मिलाकर लिया जाए तो ये जादू की तरह काम करती हैं। काली मिर्च में पिपेरिन की उपस्थिति में करक्यूमिन (हल्दी में शक्तिशाली यौगिक) सक्रिय होता है। एक्सपर्ट्स के अनुसार, ये दोनों मिलकर आपकी इम्यूनिटी को बढ़ा सकते हैं। कर्क्यूमिन में एंटीसेप्टिक, एंटी इंफ्लेमेटरी और जीवाणुरोधी गुण होते हैं। हाल ही में आयुष मंत्रालय ने इम्युनिटी बढ़ाने के टिप्स दिए थे। जिसमें से एक था गोल्डन मिल्क। गोल्डन मिल्क मतलब हल्दी वाला दूध। इसके लिए दिन में एक या दो बार हल्दी वाला दूध पीने के लिए कहा गया था। हल्दी वाला दूध बनाने के लिए 150 मिली लीटर गर्म दूध में करीब आधी छोटी चम्मच हल्दी मिलाकर पीएं। हल्दी वाले दूध पीने के बहुत सारे फायदे होते हैं। यही वजह है क‍ि इसे सुपर ड्रिंक कहा जाता है। यदि आप इस दूध को रात के समय पी रहे हैं तो आप इसमें चुटकीभर काली मिर्च भी मिलाकर पी सकते हैं।

कोरोना वायरस से बचाव के लिए जड़ी बूटियां: गिलोय (Giloy)

गिलोय का इस्तेमाल कई बीमारियों के लिए किया जाता है। ये इम्यून सिस्टम को बूस्ट करने में मदद करता है, जिसकी वजह से कई बीमारियों से सुरक्षा मिलती है। गिलोय में पत्त‍ियों में प्रोटीन, कैल्शि‍यम, फॉस्फोरस पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है। इसमें एंटी-लेप्रोटिक और मलेरिया-रोधी गुण भी मौजूद होते हैं। इसके अलावा इसके तनों में स्टार्च की भी अच्छी मात्रा होती है। यह एक शक्तिशाली इम्युनोमोड्यूलेटर है, जो इम्यून सिस्टम को सामान्य करने में मददगार है।

यह भी पढ़ेंः कोरोना वायरस से लड़ने में देश के सामने ये है सबसे बड़ी बाधा, कोराेना फेक न्यूज से बचें

कोरोना वायरस से बचाव के लिए जड़ी बूटियां: दालचीनी (Cinnamon)

इम्यूनिटी को बढ़ाने के लिए आप अपनी डायट में दालचीनी को शामिल कर सकते हैं। इसमें मौजूद पॉलिफेनॉल्स और प्लांट एंटीऑक्सिडें इम्यूनिटी दुरुस्त रखने में मदद करते हैं। इसमें सूजन कम करने, एंटीऑक्सीडेंट और बैक्टीरिया से लड़ने वाले गुण होते हैं। आप चाहे तो दालचीनी वाली चाय बना सकते हैं। गुड़ भी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में मदद करता है। आप दिन की शुरुआत गुड़ और दालचीनी की चाय से कर सकते हैं। ये चाय कोरोना वायरस से बचाव के लिए यह फायदेमंद साबिक हो सकती है।

कोरोना वायरस से बचाव के लिए जड़ी बूटियां: लौंग (Clove)

इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए लौंग भी वरदान समान है। लौंग खाने से कई रोगों से बचाव होता है। लौंग में एंटी बैक्टीरियल, एंटी इंफ्लेमेटरी, एंटीफंगल, एंटीऑक्सीडेंट और एंटीसेप्टिक गुण पाए जाते हैं। आप चाहे तो लौंग को सूखी अदरक, दालचीनी, काली मिर्च और तुलसी के पत्ते के साथ मिलाकर काढ़ा बनाकर पी सकते हैं।

यह भी पढ़ेंः कोरोना वायरस की वैक्सीन बनाने में भारत कितना है दूर? बाकी देशों का क्या है हाल, जानें यहां

कोरोना वायरस से बचाव के लिए जड़ी बूटियां: पुदीना (Mint)

पुदीना भी शरीर की इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए बहुत फायदेमंद है। रोग प्रतिरोधक क्षमता को बूस्ट करने के लिए आप पुदीने के रस को डायट में शामिल कर सकते हैं। पुदीना में एंटीऑक्सीडेंट्स और मेंथॉल भरपूर मात्रा में होता है, जो शरीर के लिए फायदेमंद होते हैं। यह शरीर से अनचाहे फैट्स और टॉक्सिन्स को बाहर करने में भी मददगार है। आप पुदीना ड्रिंक भी पी सकते हैं। इसके लिए कुछ पुदीने की पत्तियों को पानी से भरे गिलास में डुबोएं, आप इसमें नींबू का रस भी मिला सकते हैं। रात भर रखा रहने दें। सुबह सबसे पहले इस पानी का सेवन करें।

कोरोना वायरस से बचाव में ये घरेलू उपाय भी करेंगे आपकी मदद

  • आयुर्वेद में रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत बनाने के लिए कई तरह के काढ़ों के बारे में भी बताया गया है। जैसे अष्टादसांग काढ़ा, गुडूच्यादि काढ़ा, या सिरिशादी काढ़ा। ये तीनो काढ़े ही इम्यूनिटी को बढ़ाने में मदद करते हैं।
  • रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत करने के लिए आप चाहें तो तुलसी की 5 पत्तियों में 4 काली मिर्च. 3 लौंग और एक चम्मच अदरक का रस मिलाकर शहद के साथ ले सकते हैं। इसका नियमित सेवन करने से आपको फायदा मिलेगा।

कोरोना वायरस से बचने के लिए सावधानी बहुत जरूरी है। कोरोना के लक्षणों को अनदेखा न करें। अगर आपको खांसी, बुखार या जुकाम है तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Mona narang द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 03/06/2020 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड