home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

इस दशहरे इन 8 बुरी आदतों को करें स्वाहा

इस दशहरे इन 8 बुरी आदतों को करें स्वाहा

कई बार हम अपनी कुछ बुरी आदतों से परेशान रहते हैं और जानते हुए भी इनको छोड़ नहीं पाते। दशहरे का त्यौहार बुराई पर अच्छाई की जीत को दर्शाता है, तो फिर क्यों न रावण के पुतले को जलाने के साथ ही अपने में से कोई ऐसी बुराई को निकाल बाहर करें जिसे आप छोड़ना तो चाहते हैं, लेकिन छोड़ नहीं पा रहे। यहां हम कुछ ऐसी आदतों के बारें में बताएंगे जिनको बदलकर आप एक बेहतरीन लाइफस्टाइल जी सकते हैं। बदलते समय के साथ कम समय में ज्यादा काम करने की होड़ है और यह जल्दबाजी कई बार बुरी आदतों में बदल जाती है। इसलिए दशहरा फेस्टिवल और हेल्थ टिप्स आपको रखेगा फिट।

दशहरा फेस्टिवल और हेल्थ के लिए कुछ खास टिप्स:

दशहरा फेस्टिवल और हेल्थ टिप्स: 1. सेहत का ध्यान रखना

बढ़ते काम और भागदौड़ की वजह से लोगों की प्राथमिकताओं में सेहत बहुत पीछे हो गई है। जो लोग पेरेंट्स के साथ रह रहे उनकी आधी देखभाल तो घर का खाना खाने से हो जाती है लेकिन, जो घर से दूर रहते हैं उनके लिए परेशानियां बढ़ जाती है। कई बार ऐसा होता है कि बीमार पड़ने पर हम समय से डॉक्टर के पास नहीं जाते हैं जो आगे चलकर खतरनाक साबित हो सकता है। अक्सर छोटी बीमारियों को टालने की वजह से वे बड़ा रुप ले लेती हैं और सेहत पर इसका असर नकारात्मक होता है। तो अगली बार से बीमार होने पर तुरंत डॉक्टर के पास जाएं और अपना इलाज समय से करवाएं और इस दशहरे के त्यौहार इस बुरी आदत को छोड़ दें।

और पढ़ें: टीबी से राहत दिलाएंगे लाइफस्टाइल में ये मामूली बदलाव

दशहरा फेस्टिवल और हेल्थ टिप्स: 2. सिगरेट और शराब को अत्याधिक सेवन

भागदौड़ की जिंदगी और काम का अधिक प्रेशर होने की वजह से युवा पीढ़ी स्मोकिंग और शराब का इस्तेमाल ज्यादा से ज्यादा करने लगी है। शुरुआत कम से होने के बाद इसकी लत लग जाती है और आगे चलकर यह आदत में बदल जाती है। कभी-कभार स्मोकिंग और शराब की बात अलग है लेकिन, हर रोज ज्यादा मात्रा में इसका सेवन स्वास्थ के लिए बेहद हानिकारक है। इसके बारे में जब हमने बीडीएस, डॉ पूजा सिंह (आरकेडीएफ डेंटल कॉलेज एंड रिसर्च सेंटर,भोपाल) से बात की तो उन्होंने हमें बयाता कि ”हम ज्यादातर सिगरेट और शराब का फेफड़ों और गुर्दो पर होने वाले असर के बारे में बात करते हैं लेकिन सिगरेट पीने से मुंह की दूसरी परेशानियां जैसे कि दांतो पर निशान या चक्कते आना, मसूड़ों में तकलीफ,दांतों का सड़ना आदि परेशानियां होती है। वहीं शराब पीने से दांतों में दुर्गध, पायरिया और प्लेक की समस्याएं बढ़ जाती हैं।” तो इस दशहरे आप खुद से यह प्रण ले सकते हैं कि सिगरेट और शराब से दूरी बना लेंगे।

और पढ़ें: स्मोकिंग (Smoking) छोड़ने के बाद शरीर में होते हैं 9 चमत्कारी बदलाव

दशहरा फेस्टिवल और हेल्थ टिप्स: 3. हमेशा जंक फूड खाना

ऑनलाइन फूड ऐप के बढ़ते चलन के कारण कम मेहनत और कम समय में जंक फूड खाने की आदत होना आम बात है। जंक फूड से जहां एक तरफ मोटापा बढ़ता है वहीं उसके दूसरे नुकसान भी हैं। जब इसके बारे में हमने डॉ सुशीला तिवारी सरकारी अस्पताल हल्दवानी उत्तराखंड में रेजिडेंट डॉ सौम्या सिंह से बात की तो उन्होंने कहा कि, ”जंक फूड के अनगिनत नुकसान है लेकिन, इस वक्त जो सबसे ज्यादा प्रचलित है वह है सेंट्रल ओबेसिटी यानि की कमर पर बहुत सारा फैट इकट्ठा होना। जो लोग इस परेशानी से ग्रसित हैं उन महिलाओं में पीसीओडी और पीसीओएस होने की संभावनाएं बढ़ जाती हैं। इसलिए जितना हो सके जंक फूड को अवॉइड करें और शुद्ध और घर का खाना खाने की कोशिश करें। खानपान की आदतें भी बीते कुछ वर्षों में काफी तेजी से बदली हैं। सपरफूड से लेकर जंक फूड ना केवल शहरों बल्कि ग्रामीण इलाकों में भी लोकप्रिय हैं।” साल 2018 में आई क्लिंट की एक रिपोर्ट के मुताबिक, 35 फीसदी भारतीय सप्ताह से भी कम समय में एक बार फास्ट फूड खाते हैं। तो अगली बार जब भी आपको भूख लगे कोशिश करें कि कुछ पौष्टिक खाएं और जितना हो सके जंक फूड को अवॉइड करें।

और पढ़ें: कैसे बनाएं हेल्दी फूड हैबिट्स? जानिए कुछ आसान तरीके

दशहरा फेस्टिवल और हेल्थ टिप्स: 4. नींद पूरी न करना

बदलती और शहरी लाइफस्टाइल कम नींद का एक प्रमुख कारण है। काम का बोझ, शिक्षा का दबाव, रिश्तों में आती खटास, तनाव और अन्य समस्याओं के कारण लोगों को नींद नहीं आती है। युवा ज्यादातर समय मूवी देखने और रात में पार्टी करने में बिताते हैं। विशेषज्ञ बताते हैं कि नींद की कमी से तनाव के हार्मोन रिलीज होते हैं। यह टेस्टोस्टेरोन कम करता है। कम नींद से हृदय रोग और मोटापे बढ़ने का खतरा बना रहता है। कम नींद की वजह से शरीर को और भी ज्यादा एनर्जी की जरूरत होती है। ऐसे में वसा का संचय होता है, जिससे मधुमेह यानी डायबिटीज का खतरा कई गुना तक बढ़ जाता है। तो इस दशहरे पर खुद से वादा करें कि रात का समय पार्टियों में नहीं ब्लकि घर पर सोने में बिताएंगे।

दशहरा फेस्टिवल और हेल्थ टिप्स: 5. एक्सरसाइज न करना

अगर आप स्वस्थ शरीर और दिमाग चाहते हैं तो संतुलित आहार पर्याप्त नहीं है। शारीरिक फिटनेस और अभ्यास के लिए कोई विकल्प नहीं है। शारीरिक रूप से निष्क्रिय होने से हृदय रोग, कोलेस्ट्रॉल की समस्याएं, गठिया, मोटापा आदि हो सकता है। इसलिए एक्सरसाइज करें और फिट रहें। एक्सरसाइज हमारी मांसपेशियों को स्वस्थ रखती है, और शरीर में खून के बहाव को भी बेहतर बनाती है, जिससे आप स्वस्थ तो रहते ही हैं, सही ब्लड सप्लाई मिलने से दिमाग भी सक्रिय रूप से कार्य करता है, और नई ब्रेन सेल्स बनने में भी मदद मिलती है।

और पढ़ें: बेहतर नींद के लिए नहाना है कितना फायदेमंद ?

दशहरा फेस्टिवल और हेल्थ टिप्स: 6. ऐसी आदतें जिनसे छुटकारा पाना है आसान

खाने-पीने की बुरी आदतों के साथ कुछ लोगों को ऐसी आदतें लग जाती हैं जो सेहत को नुकसान पहुंचाने के साथ ही इमेज को खराब कर देती हैं। जैसे कि कुछ लोगों को नाखून कुतरने की आदत होती है, तो कुछ को चुगली करने की, किसी को फिजूलखर्ची, तो किसी को साफ-सफाई न करने की। ये आदतें भी हमारी हेल्थ को इनडायरेक्टली इफेक्ट करती हैं।

दशहरा फेस्टिवल और हेल्थ टिप्स: 7. एक बार में करे एक काम

हम में से कई लोग एक साथ बहुत सारे काम करते है। ऐसा करने वालों को मल्टीटास्कर भी कहा जाता है लेकिन ज्यादातर ऐसा करने वाले निर्धारित काम ठीक से नहीं कर पाते। जैसे की कभी-कभी फोन में इंटरनेट चल रहा है, गाने सुन रहे हैं, सामने टीवी भी चल रहा है, गैस पर चाय उबलने के लिए रखी गई है, ऐसे में कोई काम आप ठीक से नहीं कर पाएंगे। बेहतर होगा कि आप एक समय में एक ही काम करें वर्ना कोई काम ढंग से नहीं होगा। इससे आप स्ट्रेस में आ जाएंगे इसका असर आपकी मेंटल हेल्थ पर होगा।

हम सबके लिए दशहरे से अच्छा मौका भला और कौन-सा होगा, जब अपनी ऐसी ही किसी लत या आदत को, जिससे आप बहुत परेशान हैं, रावण के पुतले के साथ स्वाहा कर दें और एक हेल्दी लाइफ जिएं। दशहरा फेस्टिवल और हेल्थ का ध्यान रखकर हमेशा रहें फिट।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

By Doctor Saumya Singh ( RKDF Dental College and Research Center Bhopal)

By Doctor Pooja Singh (Doctor Sushila Tiwari Government Hospital Haldwani Uttarakhand)

Navratri 2019: Strictly avoid these 9 things during Navratri Accessed on 5/12/2019

Do’s and Don’ts during the auspicious days of Navratri Accessed on 5/12/2019

Dos and Don’ts on the 9 blissful days of Navratri Accessed on 5/12/2019

Navratri 2019: Dos and Donts for Devotees Who Want To Keep Fast Accessed on 5/12/2019

Do’s and Don’ts Of Navratri Accessed on 5/12/2019

 

 

 

लेखक की तस्वीर
Dr. Radhika apte के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Lucky Singh द्वारा लिखित
अपडेटेड 08/10/2019
x