home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

पटाखों से जल जाएं, तो अपनाएं ये टिप्स

पटाखों से जल जाएं, तो अपनाएं ये टिप्स

दिवाली को सिर्फ भारत में ही नहीं दुनिया के कोने-कोने में रहने वाले भारतीय धूम-धाम से मनाते हैं। यूं तो यह हिन्दू धर्म इस त्यौहार को मानते हैं, लेकिन हर धर्म के लोग इसमें शरीक होते हैं। दीपावली की रोशनी ही कुछ ऐसी है कि आप इससे अछूते नहीं रह सकते। दिवाली पर घरों और अन्य इमारतों को लाइटों से सजाने का चलन है। वहीं दिवाली पर आतिशबाजी की भी परंपरा है। ऐसे में कई बार लोग हादसों का शिकार हो जाते हैं। हर साल दिवाली के मौके पर लोगों के जलने की खबरें सामने आती हैं। दिवाली के समय अधिकांश मामलों में लोग पटाखे जलाते समय दुर्घटना का शिकार हो जाते हैं। ऐसे में पटाखे जलाते समय सावधानियां बरतनी जरूरी हैं और साथ ही पटाखों से जलने पर आपको पता होना चाहिए क्या करना सही रहेगा यानि जलने पर क्या करें यह आपको इस आर्टिकल में बताया जा रहा है।

जलने के तीन प्रकार होते है:

  1. फर्स्ट डिग्री (Superficial) – यह त्वचा की केवल ऊपरी परत पर होती है और लाल और सूखी होती है और इसमें ज्यादा जलन होती है। जलने वाले क्षेत्र में सूजन आ सकती है। ज्यादातर बर्न फर्स्ट डिग्री बर्न होते हैं।
  2. दूसरी डिग्री (Partial – Thickness) – यह त्वचा के दोनों एपिडर्मिस और डर्मिस लेयर पर होता है। जलने वाला एरिया लाल होता है और इसमें फफोले आ सकते हैं। इनमें से पानी भी निकल सकता है, जिससे त्वचा गीली दिखाई देती है। इस प्रकार के जलन आमतौर पर दर्दनाक होती है और इस क्षेत्र में अक्सर सूजन होती है।
  3. तीसरी डिग्री (Full Thickness) – यह त्वचा की दोनों परतों की मांसपेशियों, हड्डियां,ब्लड वेसेल और नसों को नुकसान पहुंचाता है। ये घाव भूरा दिखता है और ज्यादा जलने पर यह घाव सफेद दिखता है।

और पढ़ें : कैसे रखें इस दिवाली अपने घर को साफ और डस्ट फ्री

पटाखे जलाते समय कौन-कौन सी गलतियां नहीं करनी चाहिए?

पटाखे जलाते वक्त निम्नलिखित गलतियां न करें। जैसे:

  • पटाखो से जलने के बाद होने वाली जलन से बचने के लिए लोग बर्फ का उपयोग करते हैं जबकि ये गलत है। इससे ब्लड क्लॉट बन सकता है जो ब्लड फ्लो को प्रभावित करता है। ऐसे में बर्फ का इस्तेमाल करने से बचना चाहिए।
  • जलने के तुरंत बाद दवाई नहीं लगानी चाहिए। अक्‍सर लोग जलने के तुरंत बाद ऑइटमेंट या मक्खन लगा लेते हैं। जबकि ऐसा नही करना चाहिए।
  • जलने के बाद फफोले पड़ना आम बात है। अगर त्‍वचा पर फफोले पड़ गए हैं तो उसे फोड़े नहीं, ऐसा करने से जले हुए हिस्से में इंफेक्शन होने का खतरा और बढ़ जाता है।
  • जली हुई जगह पर रूई या कॉटन का इस्तेमाल करने से बचना चाहिए क्योंकि उस घाव पर चिपक सकती है। जिससे घाव को साफ करने के दौरान जलन कम होने के बजाए और बढ़ जाती है।
  • जले हुए व्‍यक्ति को पानी पिलाने की गलती कभी न करें। क्योंकि जलने के बाद पीड़ित की आंत कुछ देर के लिए काम करना बंद कर देती है और पानी सांस नली में फंस सकता है। इसलिए ऐसी हालत में पीड़ित को ओआरएस (ORS) का घोल थोड़ी-थोड़ी मात्रा में देना फायदेमंद रहेगा।
  • कभी-कभी ऐसा भी होता है कि जलने पर कपड़े त्‍वचा में ही चिपक जाते हैं। जिसे कभी भी डॉक्टर के पास न जाकर खुद हटाने की गलती न करें इससे त्‍वचा में और घाव होने का खतरा रहता है।

और पढ़ें: प्रदूषण से बचने के लिए आजमाएं यह हर्बल मैजिक लंग टी

जलने पर क्या करें?

जलने पर क्या करें टिप्स 1: पटाखों या किसी ज्‍वलनशील पदार्थ से जलने पर सबसे पहले उस पर ठंडा पानी डालें। किसी ठंडे पानी के बर्तन में भी जले हुए भाग को डूबाकर रख सकते हैं।

जलने पर क्या करें टिप्स 2: जले हुए घाव पर नारियल का तेल लगाना फायदेमंद रहेगा। नरिलय का तेल अधिक जलन को कम कर आपको आराम देगा।

जलने पर क्या करें टिप्स 3: जली हुई स्किन पर हल्‍दी का पानी भी लगा सकते हैं। इससे जलन काफी कम हो जाती है।

जलने पर क्या करें टिप्स 4: गाजर या कच्‍चे आलू को बारीक पीसकर जले हुई स्किन पर लगा दें। यह भी आपको जलन से राहत देगा।

जलने पर क्या करें टिप्स 5: जलने पर तुलसी के पत्‍तों का रस बहुत फायदेमंद होता है। रस को जली हुई जगह पर लगाने से जलन तो कम होगी ही साथ ही दाग पड़ने की संभावना भी कम हो जाती है।

और पढ़ें : शॉपिंग के फायदे शारीरिक और मानसिक दोनों तौर पर होते हैं, क्या आप जानते हैं?

दिवाली पर पटाखे जलाते समय किन-किन बातों का रखें ध्यान?

पटाखे जलाते वक्त निम्नलिखित बातों का रखें ध्यान। जैसे:

  • हमेशा खुली जगह या मैदान में ही पटाखे जलाएं
  • पटाखे जलाने से पहले अपने आसपास देख लें कि कोई आग फैलाने वाली या जल्दी आग पकड़ने वाली चीज तो नहीं है
  • जितनी दूर तक पटाखों की चिंगारी जा सकती है, उतनी दूरी तक किसी छोटे बच्चों को न आने दें
  • पटाखा जलाने के लिए स्पार्कलर, अगरबत्ती या बड़ी लकड़ी का इस्तेमाल करें ताकि आपके हाथ पटाखे से दूर रहें और जलने का खतरा न हो
  • रॉकेट जैसे पटाखे जलाते उसकी नोक खिड़की, दरवाजे किसी खुली बिल्डिंग की तरफ न रखें, यह दुर्घटना की वजह बन सकता है
  • जूते-चप्पल पहन कर ही पटाखें जलाए
  • पटाखे जलाते समय अपना चेहरा दूर रखें
  • किसी भी बड़ी आग की शुरुआत एक चिंगारी से होती है, ऐसे में आग की आशंका वाली जगह पर पानी डालकर ही दूर जाएं।

पटाखे जलाना एक मजेदार अनुभव होता है, लेकिन थोड़ी सी लापरवाही आपके लिए गंभीर समस्याओं का कारण बन सकती है। अगर आप सतर्क हैं, तो आप इन समस्याओं से आसानी से बच सकते हैं, तो सतर्कता अपनायें और अपनी दीपावली को सुरक्षित और सम्पन्न बनायें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Lucky Singh द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 06/11/2020 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x