आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

डेयरी प्रोडक्ट क्या कम कर देते हैं हार्ट संबंधित बीमारियों का खतरा?

    डेयरी प्रोडक्ट क्या कम कर देते हैं हार्ट संबंधित बीमारियों का खतरा?

    बच्चे के जन्म के बाद उसे 6 माह तक केवल मां का दूध दिया जाता है। जैसे जैसे बच्चा बड़ा होता है, वैसे ही उसे पौष्टिक आहार भी देना शुरू कर दिया जाता है लेकिन आजकल के समय में वयस्क या बुजुर्गों को आधिक डेयरी प्रोडक्ट खाने के लिए मना किया जाता है। इसका सीधा-सीधा एक कारण है कि यह शरीर में अतिरिक्त मात्रा में वसा जमा करते हैं और हार्ट संबंधी बीमारियों को पैदा करते हैं। आपके मन में भी यह सवाल आ रहा होगा कि डेयरी प्रोडक्ट का अधिक इस्तेमाल दिल के लिए खतरा पैदा कर सकता है? लेकिन इस संबंध में एक शोध हुआ है जो आपके चेहरे पर खुशी ला सकता है। जी हां! अगर लो फैट डेयरी प्रोडक्ट या विदआउट फैट डेयरी प्रोडक्ट का इस्तेमाल किया जाए, तो यह आपके हार्ट के लिए बेहतर रहता है। हार्ट हेल्थ के लिए मिल्क और योगर्ट को बेहतर विकल्प माना जा सकता है। आपके मन में इस संबंध में बहुत से सवाल होंगे, तो आइए जानते हैं हार्ट हेल्थ के लिए मिल्क और योगर्ट (Milk and Yogurt for healthy heart) कैसे अहम भूमिका निभाते हैं।

    और पढ़ें: रेस्टेनोसिस (Restenosis): जानिए क्या है हार्ट आर्टरीज के तंग या ब्लॉक होने की यह डिजीज?

    हार्ट हेल्थ के लिए मिल्क और योगर्ट (Milk and Yogurt for healthy heart)

    द लांसेट (The lancet) जर्नल में प्रकाशित रिपोर्ट की मानें तो प्रॉस्पेक्टिव अर्बन रूरल एपिडेमियोलॉजी (Prospective Urban Rural Epidemiology) स्टडी के दौरान करीब 21 देशों के 135,000 को शामिल किया गया और लगभग नौ वर्षों तक रिचर्स फॉलो की गई। उन्होंने पाया कि जो लोग दिन में दो बार से अधिक दूध, पनीर या दही का सेवन करते हैं, उनमें हृदय रोग और मृत्यु की दर कम खाने वालों की तुलना में कम थी। यह उन लोगों के लिए भी सच था जो फुल फैट डेयरी प्रोडक्ट का सेवन करते थे।शोधकर्ताओं का मानना है कि डेयरी प्रोडक्ट (Dairy products) खाने से बचना नहीं चाहिए और कम इंकम वाले और मध्यम इंकम वाले देशों में भी डेयरी खपत को लेकर लोगों को प्रोत्साहित करना चाहिए।

    अधिक फैट वाले डेरी प्रोडक्ट खाने से शरीर में कोलेस्ट्रॉल (Cholesterol) की मात्रा बढ़ती है। यह खराब कोलेस्ट्रोल को बढ़ाने का काम भी करते हैं। अगर आप डेयरी प्रोडक्ट खाना ही चाहते हैं, तो आपको लो फैट डेयरी प्रोडक्ट को खाने में शामिल करना चाहिए। अगर आप अपने खाने से डेयरी प्रोडक्ट को पूरी तरीके से हटा देते हैं, तो यह भी आपके स्वास्थ्य के लिए अच्छा नहीं है। कुछ मात्रा में डेयरी प्रोडक्ट का इस्तेमाल वाकई आपके स्वास्थ्य को बेहतर बनाने का काम करता है। अगर आप रोजाना एक गिलास दूध के साथ ही कुछ मात्रा में योगर्ट का सेवन करते हैं, तो आपकी हार्ट हेल्थ (Heart health) बेहतर बनी रहती है। आप चाहे तो इस संबंध में अपने डॉक्टर से भी जानकारी ले सकते हैं। दूध का सेवन करने से पहले आपको यह तय कर लेना चाहिए कि आपको 1 दिन में कितनी मात्रा में दूध लेना है। आप खाली दूध पीने के बजाय दूध से बने प्रोडक्ट का इस्तेमाल भी कर सकते हैं, जिनमें कम मात्रा में फैट होता हो।

    और पढ़ें: हार्ट फेलियर वाले पेशेंट्स के लिए ये छोटी क्लिप कम कर सकती है मौंत के खतरे को!

    हार्ट हेल्थ के लिए मिल्क और योगर्ट: डेयरी प्रोडक्ट में कौन-से पोषक तत्व होते हैं?

    डेयरी प्रोडक्ट में कई पोषक तत्व होते हैं, जो हमारी हेल्थ के लिए अच्छे माने जाते हैं। डेयरी प्रोडक्ट में अमीनो अम्ल (Amino acids), विटामिन K-1 और K-2, कैल्शियम (calcium), प्रोबायोटिक्स (Probiotics) आदि स्वास्थ्य के लिए अच्छे माने जाते हैं। जो लोग लंबे समय से डेयरी प्रोडक्ट (Dairy products) का इस्तेमाल कर रहे हैं, उन्हें इस बात का ध्यान रखने की जरूरत है कि वो डेयरी प्रोडक्ट में किन चीजों को शामिल कर रहे हैं और साथ ही उसमें कितना फैट है। छह औंस वसा रहित दही 3/4 कप डेयरी के बराबर है। डेढ़ औंस चेडर 1 कप डेयरी के बराबर होता है। अगर आपको किसी प्रकार की हेल्थ कंडीशन है या फिर आप हार्ट संबंधी बीमारी का सामना कर रहे हैं, तो बेहतर होगा कि डॉक्टर से जानकारी लेने के बाद ही आप डेयरी प्रोडक्ट का चुनाव करें।

    स्वीडन से 2014 का एक अध्ययन किया गया था, जिसमें पाया गया कि जो महिलाएं एक दिन में तीन या अधिक गिलास दूध पीती हैं, उनकी मृत्यु की संभावना 93 प्रतिशत अधिक होती है। वहीं जो प्रति दिन एक गिलास से कम दूध पीते हैं, उनमें हृदय रोग (Heart disease) से मृत्यु की उच्च दर शामिल थी।अन्य अध्ययनों में अधिक डेयरी खाने और हड्डियों के फ्रैक्चर, स्तन कैंसर और प्रोस्टेट कैंसर (Prostate cancer) के बढ़ते जोखिम के बीच संबंध पाए गए हैं। इस स्टडी को कितना सही माना जाए या गलत, ये एक बहस का विषय हो सकता है।

    और पढ़ें: Sinus Rhythm: साइनस रिदम और हार्ट रेट में क्या है अंतर?

    हार्ट हेल्थ के लिए मिल्क और योगर्ट: तो डेयरी प्रोडक्ट लाभदायक है या नहीं?

    मन में यह सवाल आ रहा होगा की विभिन्न प्रकार की स्टडी में अलग-अलग रिजल्ट निकले हैं, जिससे यह तय करना मुश्किल है कि डाइट में डेयरी प्रोडक्ट को जोड़ना सही होगा या फिर नहीं? इस संबंध में यहीं कहा गया है कि आप डेयरी प्रोडक्ट का इस्तेमाल तो करें लेकिन सीमित तौर पर। कम वसा वाला दूध और दही का सेवन करना आपके स्वास्थ्य के लिए अच्छा है लेकिन वसा की अधिक मात्रा लेना आपके हार्ट को कमजोर करने का काम कर सकता है। आप दही के स्थान पर योगर्ट का इस्तेमाल कर सकते हैं। वहीं दूध भी ऐसा पिए, जिनमें बहुत कम मात्रा में वसा हो। यह आपके स्वास्थ्य को बेहतर बनाने का काम करेगा।

    डेयरी प्रोडक्ट (Dairy products) में पोषक तत्व पर्याप्त मात्रा में होते हैं। जिन लोगों को लैक्टोज इंटॉलरेंस (Lactose intolerant) की समस्या होती है, उन्हें दूध से दूरी बनानी चाहिए। यदि आपको डेयरी प्रोडक्ट से किसी प्रकार की समस्या हो रही है या अपच की समस्या है, तो ऐसे में दूध या अन्य प्रोडक्ट का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।

    और पढ़ें: टाइप 2 डायबिटीज डायट में आप शामिल कर सकते हैं ये हार्ट हेल्दी फूड्स!

    हार्ट हेल्थ के लिए मिल्क और योगर्ट के फायदों के बारे में आपको जानकारी मिल गई होगी। हार्ट हेल्थ को बेहतर बनाने के लिए आपको ना सिर्फ खाने में पौष्टिक आहार का सेवन करना चाहिए बल्कि बेहतर लाइफ स्टाइल भी अपनानी चाहिए। आपको रोजाना एक्सरसाइज करना चाहिए। साथ ही स्ट्रेस नहीं लेना चाहिए। इससे दूरी बनाने के लिए आपको मेडिटेशन करना चाहिए और साथ ही पूरी या पर्याप्त नींद लेनी चाहिए। पर्याप्त नींद न लेने से कई बीमारियां शरीर में घर कर जाती हैं। अगर आप को पहले से ही कोई हेल्थ कंडीशन है, तो बेहतर होगा कि उसका ट्रीटमेंट कराएं। जिन लोगों को पहले से डायबिटीज की समस्या होती है, अगर वह उसका ट्रीटमेंट नहीं कराते हैं, तो हार्ट संबंधी समस्याओं के बढ़ जाने का खतरा भी पैदा हो जाता है। कुछ बातों का ध्यान रख और बेहतर लाइफस्टाइल अपनाकर आप सिर्फ हार्ट ही नहीं बल्कि कई बीमारियों से छुटकारा पा सकते हैं।

    और पढ़ें: हार्ट अटैक और हार्टबर्न (Heart attack and Heartburn) दोनों में होता है सीने में अंतर, कैसे करें अंतर

    इस आर्टिकल में हमने आपको हार्ट हेल्थ के लिए मिल्क और योगर्ट (Milk and Yogurt for healthy heart) के बारे में अहम जानकारी दी है। उम्मीद है आपको हैलो हेल्थ की ओर से दी हुई जानकारियां पसंद आई होंगी। अगर आपको बेबी या पेरेंटिंग के संबंध में अधिक जानकारी चाहिए, तो हैलो हेल्थ की वेबसाइट में आपको अधिक जानकारी मिल जाएगी।

    health-tool-icon

    टार्गेट हार्ट रेट कैल्क्यूलेटर

    जानें अपना साधारण और अधिकतम रेस्टिंग हार्ट रेट,आपकी उम्र और रोजाना एक्टिविटीज और अन्य एक्टिविटीज के दौरान प्राभावित होने वाली हार्ट रेट के बारे में।

    पुरुष

    महिला

    क्या आप खोज रहे हैं?

    आपकी रेस्टिंग हार्ट रेट क्या है? (बीपीएम)

    60

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    लेखक की तस्वीर badge
    Bhawana Awasthi द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 20/04/2022 को
    डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
    Next article: