backup og meta

Best Time For Workout: कौन सा है वर्कआउट करने का बेस्ट टाइम?

के द्वारा मेडिकली रिव्यूड डॉ. प्रणाली पाटील · फार्मेसी · Hello Swasthya


AnuSharma द्वारा लिखित · अपडेटेड 20/06/2022

Best Time For Workout: कौन सा है वर्कआउट करने का बेस्ट टाइम?

एक्सरसाइज करने के कई लाभ हैं। इन्हीं फायदों को पाने के लिए लोग नियमित व्यायाम करते हैं। कुछ लोग सुबह छह बजे उठ कर वॉक या एक्सरसाइज करने को प्राथमिकता देते हैं। जबकि, जिन लोगों को सुबह समय नहीं मिलता, वो दोपहर या शाम को वर्कआउट करते हैं। यही नहीं, रात को खाने के बाद वॉक करने को भी आवश्यक माना जाता है। लेकिन, क्या आप जानते हैं कि वर्कआउट करने का बेस्ट टाइम (Best Time For Workout) कौन सा है? वर्कआउट करने का बेस्ट टाइम क्या है, इससे पहले जानते हैं कि वर्कआउट के फायदे क्या हैं?

वर्कआउट के फायदे क्या हैं?

अगर आप नियमित रूप से वर्कआउट करते हैं, तो यह समझ जाएं कि आप एक बहुत महत्वपूर्ण काम कर रहे है। इससे न केवल आप एक्टिव रहते हैं, बल्कि आपको कई फिजिकल और मेंटल लाभ भी होते हैं। इसके लाभ इस प्रकार हैं:

यह लिस्ट केवल इतनी ही नहीं बल्कि इसके कई और फायदे भी हैं। इसलिए रोजना व्यायाम करें। अब जानते हैं वर्कआउट करने का बेस्ट टाइम (Best Time For Workout) कौन सा है?

और पढ़ें: Best Pregnancy Workouts and Exercises: बेस्ट प्रेग्नेंसी वर्कआउट और एक्ससाइज कौन-सी होती हैं?

वर्कआउट करने का बेस्ट टाइम (Best Time For Workout): पाएं पूरी इनफार्मेशन

अगर आप अधिकतर व्यस्त रहते हैं, तो हो सकता है कि आपको एक्सरसाइज के लिए समय न मिलता हो। लेकिन, जब भी आपको समय मिले आप व्यायाम अवश्य करें। वर्कआउट करने का बेस्ट टाइम (Best Time For Workout) क्या है, इसमें जान लेते हैं कि दिन के कौन से समय वर्कआउट करने से क्या लाभ होता है?

वर्कआउट करने का बेस्ट टाइम (Best Time For Workout): मॉर्निंग (Morning)

मॉर्निंग में वर्कआउट करने के कई लाभ हैं। दिन की शुरुआत वर्कआउट से करें। यह अपने आप में एक बेहतरीन फीलिंग है। इसके साथ ही इसके बाद आपको दोपहर और शाम की चिंता करने की जरूरत नहीं है। इस समय का आप अच्छे से सदुपयोग कर सकते हैं। आइए जानें क्या हैं इसके फायदे?

मॉर्निंग वर्कआउट और अच्छी नींद

एक्सरसाइज का हमारे सर्कैडियन रिदम ( Circadian rhythm) के साथ गहरा संबंध है। सर्कैडियन रिदम (Circadian rhythm) 24 ऑवर बॉडी क्लॉक है, जो अन्य कार्यों के साथ हमारे  खाने, सोने और जागने के समय को नियंत्रित करती है। फिजिकल एक्टिविटी हमारी सर्कैडियन रिदम (Circadian rhythm) का ट्रैक रखती है। इसके साथ ही हमारी सर्कैडियन रिदम (Circadian rhythm) हमारी फिजिकल परफॉर्मेंस को भी प्रभावित करती है। व्यायाम और ब्राइट डेलाइट दोनों ही शक्तिशाली सर्कैडियन के संकेत हैं। वे नींद के लिए जिम्मेदार हॉर्मोन्स मेलाटोनिन के रिलीज को शेड्यूल करने में मदद करते हैं। वर्कआउट करने का बेस्ट टाइम (Best Time For Workout) आपके लिए मॉर्निंग हो सकता है। आइए जानें इसके अन्य फायदों के बारे में।

और पढ़ें: Exercise For GERD: आसान हैं गर्ड के लिए एक्सरसाइज की लिस्ट में शामिल 5 वर्कआउट!

आपके दिन को बेहतर बनाए

एक्सरसाइज एड्रेनालाईन (Adrenaline) को बर्न करने में मददगार है, जो स्ट्रेस फ्यूल्ड हॉर्मोन है और हमें स्ट्रेस फ्री रहने में मदद करता है। कम एड्रेनालाईन (Adrenaline) से न केवल आप पूरा दिन शांत रहेंगे बल्कि आपको एंडोर्फिंस को प्रोड्यूज करने में भी मदद मिलेगी। एंडोर्फिंस वो एमिनो एसिड कंपाउंड है, जो दर्द से राहत पाने और अच्छी भावनाओं को प्रोड्यूज करने में मदद करता है। सुबह सबसे पहले वर्कआउट करने का मतलब है कि जैसे ही हम अपना दिन शुरू करते हैं, इससे मूड-रेगुलेट करने वाले हॉर्मोन्स को नियंत्रित किया जा सकता है। इससे आपको एक शांत, मोर प्रोडक्टिव डे के लिए तैयार होने में मदद मिल सकती है।

वर्कआउट करने का बेस्ट टाइम

और पढ़ें: पोस्ट वर्कआउट न्यूट्रिशन: कहीं इसको इग्नोर तो नहीं कर रहे जनाब? परफॉर्मेंस हो सकती है खराब

लो ब्लड प्रेशर

ऐसा माना जाता है कि सुबह वर्कआउट करने से ब्लड प्रेशर के लो रहने में भी हेल्प मिल सकती है। यही नहीं, इससे वजन भी कम हो सकता है। स्टडी के मुताबिक दिन के अन्य समय वर्कआउट करने की तुलना में सुबह वर्कआउट करने से वजन कम होता है।

वर्कआउट करने का बेस्ट टाइम (Best Time For Workout): दोपहर (Afternoon)

ऐसा माना जाता है कि दिन के बीतने के साथ ही आपकी एथलेटिक परफॉरमेंस बढ़ती है। अगर आप दोपहर को वर्कआउट करना चाहते हैं, तो आप इससे होने वाले लाभों के बारे में जान लें। यह हैं इसके लाभ:

बेहतर परफॉरमेंस

आफ्टरनून एक्सरसाइज से बेहतर परफॉरमेंस में मदद मिलती है। अगर आप अधिक दौड़ना चाहते हैं या अधिक वजन लिफ्ट करना चाहते हैं, तो आफ्टरनून में वर्कआउट करने से आपको इसमें लाभ होगा। क्योंकि इसे समय मेटाबॉलिज्म हाय होता है। दोपहर के बाद, हॉर्मोन्स जैसे कोर्टिसोल और टेस्टोस्टेरोन का लेवल, मसल्स की ऊर्जा को अधिक कुशलता से प्रोसेस करने में मदद करता है। इस दौरान शरीर का तापमान भी अधिक होता है, जिसे स्ट्रेंथ के बढ़ने से जोड़ा जा सकता है। जो लोग लेट सोते हैं, उनके लिए भी आफ्टरनून एक्सरसाइज को अच्छा माना जा सकता है।

और पढ़ें: स्ट्रेनेयस एक्सरसाइज और डायबिटीज : हाय इंटेंसिटी वर्कआउट से पहले इन बातों का रखें ध्यान!

वर्कआउट करने का बेस्ट टाइम (Best Time For Workout): इवनिंग (Evening)

कुछ लोग पूरे दिन में काम आदि के कारण शाम को अपनी एनर्जी कम कर चुके होते हैं। हालांकि, इस समय वर्कआउट करने से आपको वो लाभ भी प्राप्त होंगे जो आपको सुबह मिलेंगे। आइए, जानें इसके कुछ फायदों के बारे में।

एंड्यूरेंस बढे

ऐसा माना जाता है कि शाम को वर्कआउट करने से दिन के अन्य समय की तुलना में लोग कम ऑक्सीजन का इस्तेमाल करते हैं। लो ऑक्सीजन कंजंप्शन का अर्थ है, हार्ट रेट का कम होना। जिसे आपको एक्सरसाइज करना, कम इंटेंस फील होगा। ऐसे में, आपका शरीर रात के लिए अधिक एनर्जी एफिशिएंट होता है।

और पढ़ें: वर्कआउट के बाद मांसपेशियों के दर्द से राहत दिला सकते हैं ये फूड, डायट में कर लें शामिल

स्ट्रेस हो कम

दिन भर काम करने के बाद जब आप वर्कआउट करेंगे, तो आपको स्ट्रेस कम होने में मदद मिल सकती है। ऐसा भी कहा जाता है कि एक्सरसाइज करने से स्ट्रेस से छुटकारा मिलता है। यही नहीं, इससे एंग्जायटी भी कम हो सकती है। एंग्जायटी से सोने में समस्या या इंसोम्निया जैसी समस्याएं हो सकती हैं। इसलिए, स्ट्रेस से छुटकारा पा कर आपको अच्छी नींद में मदद मिल सकती है। लेकिन, सोने से पहले वर्कआउट न करें।

अच्छी नींद आए

अगर आप शाम को रिलेक्सिंग एक्टिविटी जैसे योग करते हैं तो इससे आपका दिमाग शांत होता है। स्ट्रेचिंग के साथ योग और डीप ब्रीदिंग एक्सरसाइज करने से दिमाग शांत और पीसफुल रहता है इससे भी नींद अच्छी आती है।

और पढ़ें: जब घर से न निकल पाये तब ट्राई करें यह होम वर्कआउट टिप्स

यह तो थी वर्कआउट करने का बेस्ट टाइम (Best Time For Workout) के बारे में जानकारी। किंतु, वर्कआउट करने के बेस्ट टाइम को लेकर साइंस और स्टडीज दोनों कॉन्ट्राडक्टरी हैं। सुबह, दोपहर और शाम को व्यायाम करने के अपने कई लाभ हैं। लेकिन, एक बात सच है कि समय चाहे कोई भी हो, वर्कआउट करना सबके लिए बहुत जरूरी है। जो सच के मैटर करता है, वो यह है कि आप दिन में कुछ समय वर्कआउट के लिए जरूर निकालें। अगर इस बारे में आपके मन में कोई भी सवाल है, तो डॉक्टर से अवश्य जानें।

आप हमारे फेसबुक पेज पर भी अपने सवालों को पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

डिस्क्लेमर

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

के द्वारा मेडिकली रिव्यूड

डॉ. प्रणाली पाटील

फार्मेसी · Hello Swasthya


AnuSharma द्वारा लिखित · अपडेटेड 20/06/2022

advertisement iconadvertisement

Was this article helpful?

advertisement iconadvertisement
advertisement iconadvertisement