आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

स्टडी: एंग्जाइटी के कारण ब्लड प्रेशर (Anxiety Cause High Blood Pressure) की समस्या दे सकती है दस्तक!

    स्टडी: एंग्जाइटी के कारण ब्लड प्रेशर (Anxiety Cause High Blood Pressure) की समस्या दे सकती है दस्तक!

    साल 2017 में नैशनल फेमली हेल्थ सर्वे (National Family Health Survey) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार भारत में हर 8 में से 1 व्यक्ति हायपरटेंशन (Hypertension) का शिकार है। रिसर्च रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि देश में होने वाले प्रिमेच्योर डेथ के कारणों में एक कारण हाय ब्लड प्रेशर (High blood pressure) भी है। हाय ब्लड प्रेशर के कई कारण हैं और एक कारण एंग्जाइटी (Anxiety) को भी माना गया है। ऐसे में सवाल ये उठता है कि क्या एंग्जाइटी के कारण ब्लड प्रेशर (Anxiety Cause High Blood Pressure) की समस्या हो सकती है? तो आज इस आर्टिकल में हाय ब्लड प्रेशर, एंग्जाइटी और एंग्जाइटी के कारण ब्लड प्रेशर से जुड़ी जानकारी शेयर करने जा रहें हैं।

    और पढ़ें : Sinus Arrhythmia: साइनस एरिथमिया क्या है? जानिए इसके लक्षण, कारण और इलाज।

    एंग्जाइटी के कारण ब्लड प्रेशर: क्या कहती है रिसर्च रिपोर्ट? (Study on Anxiety Cause High Blood Pressure)

    एंग्जाइटी के कारण ब्लड प्रेशर (Anxiety Cause High Blood Pressure)

    एंग्जाइटी और हाय ब्लड प्रेशर (Anxiety and Blood pressure) दो अलग-अलग शारीरिक एवं मानसिक परेशानी है, लेकिन कहते हैं न कि अगर एक शारीरिक परेशानी को इग्नोर किया जाए तो दूसरी परेशानी भी दस्तक दे देती है। इसलिए एंग्जाइटी और हाय ब्लड प्रेशर (Anxiety and Blood pressure) का भी यही आपसी तालमेल है। नैशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इन्फॉर्मेशन (National Center for Biotechnology Information) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार तनाव की वजह से एंग्जाइटी की समस्या शुरू होती है और धीरे-धीरे हाय ब्लड प्रेशर की समस्या (High Blood Pressure problem) भी शुरू हो सकती है। अगर एंग्जाइटी की समस्या काफी समय से चली आ रही है, तो ऐसी स्थिति में एब्डॉमेन एरिया में फैट जमा होने लगता है। इसके अलावा एंग्जाइटी की वजह से स्ट्रेस इटिंग (Stress eating) और डेली लाइफ में अनहेल्दी रूटीन फॉलो करने की वजह से हायपरटेंशन (Hypertension) की समस्या दस्तक दे सकती है। ऐसा नहीं है कि एंग्जाइटी या हाय ब्लड प्रेशर की समस्या बचा नहीं जा सकता है! किसी भी शारीरिक बीमारी या मानसिक परेशानी से बचने का सबसे पहला रास्ता है सही इलाज। इलाज के साथ-साथ हेल्दी रूटीन फॉलो किया जाए तो एंग्जाइटी और हाय ब्लड प्रेशर (Anxiety and Blood pressure) दोनों को दूर रखने में मदद मिल सकती है।

    चलिए सबसे पहले एंग्जाइटी के कारण ब्लड प्रेशर (Anxiety Cause High Blood Pressure) की समस्या शुरू ना हो, इसलिए सबसे पहले एंग्जाइटी के बारे महत्वपूर्ण जानकारी शेयर करते हैं।

    एंग्जाइटी क्या है और इसे कैसे समझें कि आप एंग्जाइटी के शिकार हो रहें हैं? (Anxiety and its symptoms)

    एंग्जाइटी जिसे आसान शब्दों में चिंता कहते हैं और इस बदलते वक्त और भाग दौड़ की जिंदगी में हर व्यक्ति कम या ज्यादा तनाव में रहते हैं, लेकिन यही तनाव एंग्जाइटी का कारण बनने लगती है और एंग्जाइटी के कारण ब्लड प्रेशर की समस्या (Anxiety Cause High Blood Pressure)। एंग्जाइटी की समस्या कई कारणों से हो सकती है जैसे पर्स्नल लाइफ, प्रोफेशनल लाइफ या कोई अन्य परेशानी भी एंग्जाइटी का कारण बन सकती है। ऐसे में एंग्जाइटी के लक्षणों को समझना जरूरी है।

    एंग्जाइटी के लक्षण (Symptoms of Anxiety)-

    • सांस फूलना
    • अत्यधिक मुंह सूखना।
    • हाथों या पैरों का ठंडा होना।
    • अत्यधिक पसीना आना
    • शरीर के किसी हिस्से का सुन्न पड़ना।
    • हमेशा कुछ न कुछ सोचते रहना।
    • नींद (Sleep) से जुड़ी समस्या होना।
    • डर और असहज महसूस होना।
    • मसल्स में तनाव आना।
    • चक्कर आना।
    • दिल की धड़कन तेज या असामान्य (Abnormal Heart beat) होना।
    • ध्यान न लगा पाना।
    • चिड़चिड़ापन महसूस होना।
    • शरीर कांपना।

    अगर ऐसे लक्षण महसूस हों, तो इस परेशानी को ठीक करने की जरूर है ना की इसे इग्नोर। अगर इन परेशानियों को नजरअंदाज किया जाए, तो ब्लड प्रेशर ही नहीं बल्कि कई अन्य बीमारियों का भी कारण बन सकती है।

    नोट: कई बार कुछ शारीरिक लक्षणों को नजरअंदाज कर दिया जाता है या मानसिक परेशानी की समस्या महसूस कर रहें व्यक्ति अकेला फील करने लगते हैं। ऐसी स्थिति में परिवार या करीबी लोगों को व्यक्ति का साथ देना चाहिए।

    और पढ़ें : Blood pressure and Heart attack: हार्ट अटैक में ब्लड प्रेशर कहीं किसी और गंभीर बीमारी का ना बन जाए कारण!

    हाय ब्लड प्रेशर की समस्या (High blood pressure problem) क्या है?

    एंग्जाइटी के कारण ब्लड प्रेशर (Anxiety Cause High Blood Pressure)

    उच्च रक्तचाप (High blood pressure), जिसे हायपरटेंशन (Hypertension) भी कहा जाता है। हायपरटेंशन की समस्या तब होता है जब शरीर में ब्लड का दवाब आर्टरी वॉल्स से अधिक दबाव पर होता है। कई बार हाय ब्लड प्रेशर के लक्षणों को भी समझना मुश्किल होता है। वहीं सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (Centers for Disease Control and Prevention) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार हाय ब्लड प्रेशर की समस्या भविष्य में दिल का दौरा (Heart attack) और स्ट्रोक (Stroke) का कारण बन सकती है। इसलिए ब्लड प्रेशर लेवल को कंट्रोल में रखना अत्यधिक जरूरी है।

    यहां हम एंग्जाइटी के कारण ब्लड प्रेशर (Anxiety Cause High Blood Pressure) की समस्या के बारे में जानकारी शेयर कर रहें हैं। इसलिए आगे समझेंगे कि एंग्जाइटी से बचने के तरीकों को।

    और पढ़ें : हाय कोलेस्ट्रॉल के लिए लाइफ स्टाइल में बदलाव लाना चाहते हैं, तो इन 8 बातों का रखें विशेष ध्यान!

    एंग्जाइटी के कारण ब्लड प्रेशर: एंग्जाइटी से कैसे दूर रहें? (Tips to avoid Anxiety)

    एंग्जाइटी के कारण ब्लड प्रेशर की समस्या या अन्य बीमारी दस्तक ना दे इसलिए निम्नलिखित टिप्स फॉलो किये जा सकते हैं। जैसे:

    1. कॉफी, चाय, कोला, एनर्जी ड्रिंक या चॉकलेट जैसे कैफीनयुक्त पदार्थों (Caffeinated products) का सेवन करने से बचें। इन खाद्य या पेय पदार्थों के सेवन से एंग्जाइटी की समस्या बढ़ सकती है।
    2. हेल्दी एवं न्यूट्रिशन से भरपूर डायट (Diet) फॉलो करें। इससे आपका शरीर और दिमाग स्वस्थ रहेगा।
    3. नियमित एक्सरसाइज (Workout), योगासन (Yogasan) या मेडिटेशन (Meditation) करें। रिसर्च रिपोर्ट के अनुसार एक्सरसाइज, योगासन या मेडिटेशन तनाव को कम करने में आपका साथ निभाते हैं।
    4. अपने आप को फिजिकली एक्टिव रखें।
    5. रोजाना 7 से 9 घंटे की नींद (Sleep) लें। ठीक से नहीं सोने के कारण भी आप बेचैनी महसूस कर सकते हैं।
    6. अगर आप किसी बात से परेशान हैं, तो अपनी प्रॉब्लेम अपने करीबियों से शेयर करें जो आपकी बात समझते हों।
    7. ऐसे लोगों से दूरी बनायें जिनसे मिलकर आप तनाव (Stress) महसूस करें।
    8. एल्कोहॉल (Alcohol) का सेवन कम से कम करें।
    9. स्मोकिंग (Smoking) से दूर रहें।

    इन नौ टिप्स को फॉलो कर आप स्वस्थ रहने के साथ-साथ शारीरिक या मानसिक परेशानियों (Physical and Mental health) से भी बच सकते हैं। इसलिए अपने डेली रूटीन को हेल्दी बनायें और अपने लिए कुछ वक्त जरूर निकालें।

    और पढ़ें : हार्ट अटैक के बाद डायट का रखें खास ख्याल! जानें क्या खाएं और क्या न खाएं

    नोट: एंग्जाइटी जैसी समस्याओं को अपने आप भी दूर किया जा सकता है। इसके लिए अपनी सोच पोसिटिव रखना बेहद जरूरी है।

    अगर आप हाय ब्लड प्रेशर की समस्या से पीड़ित हैं, तो बढ़े हुए ब्लड प्रेशर की समस्या होने पर लापरवाही ना बरतें। आपकी छोटी सी लापरवाही आपको गंभीर बीमारियों का शिकार भी बना सकती हैं। इसलिए डॉक्टर से समय-समय पर कंसल्ट करें, वॉक (Walk) करें, योग (Yoga) करें और पौष्टिक आहार (Healthy diet) का सेवन करें और हेल्दी लाइफ स्टाइल (Healthy lifestyle) फॉलो करें। अगर आप हार्ट अटैक में ब्लड प्रेशर (Blood Pressure during Heart attack) की समस्या से जुड़े किसी सवाल का जवाब जानना चाहते हैं, तो आप हमें कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं। हमारे हेल्थ एक्सपर्ट आपके सवालों का जवाब जल्द से जल्द देने की कोशिश करेंगे।

    स्वस्थ रहने के लिए अपने डेली रूटीन में एक्सरसाइज या योगासन को शामिल करना चाहिए। नीचे दिए इस वीडियो लिंक पर क्लिक कर योगासन से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारियों को समझें।

    health-tool-icon

    टार्गेट हार्ट रेट कैल्क्यूलेटर

    जानें अपना साधारण और अधिकतम रेस्टिंग हार्ट रेट,आपकी उम्र और रोजाना एक्टिविटीज और अन्य एक्टिविटीज के दौरान प्राभावित होने वाली हार्ट रेट के बारे में।

    पुरुष

    महिला

    क्या आप खोज रहे हैं?

    आपकी रेस्टिंग हार्ट रेट क्या है? (बीपीएम)

    60

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    लेखक की तस्वीर badge
    Nidhi Sinha द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 22/04/2022 को
    डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
    Next article: