home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

सुनिधि चौहान की तरह सुरीली और हेल्दी वॉयस पानी है तो अपनाएं ये टिप्स

सुनिधि चौहान की तरह सुरीली और हेल्दी वॉयस पानी है तो अपनाएं ये टिप्स
2000 से ज्यादा गानों में अपनी आवाज के लिए पहचानी जाने वाली सुनिधि चौहान का आज जन्मदिन है। इन्होंने हिंदी के अलावा मराठी, कन्नड़, तेलुगु, तमिल, पंजाबी, बंगाली, असमी और नेपाली भाषा में भी गाने गाए हैं। इसके बाद सुनिधि ने “देसी गर्ल, शीला की जवानी और धूम मचा ले’ जैसे गानों से लाखों दिलों की धड़कन बनीं। सुनिधि 14 अगस्त 1983 को दिल्ली में पैदा हुई थीं। यदि आप भी उनकी तरह आवाज से अपनी पहचान बनाना चाहते हैं तो हेल्दी वॉयस के लिए फॉलो करें ये टिप्स-

हेल्दी वॉयस के लिए टिप्स

  • खानपान का आवाज पर सबसे ज्यादा फर्क पड़ता है। यदि सिंगिंग जगत में अपनी पहचान बनाना चाहते हैं तो अच्छी आवाज के लिए खान-पान पर नियंत्रण जरूरी है। गलत खानपान से गले के अंदर के स्राव को परिवर्तित करने के साथ वोकल कॉर्ड में हल्की सूजन का कारण भी हो सकती है।
  • धूम्रपान न करें, क्योंकि इससे सबसे ज्यादा आवाज को नुकसान पहुंच सकता है। धुएं के कारण कई एलर्जनस आवाज को प्रभावित कर सकते हैं। इस कारण रिप्लक्स के ऐसे मरीजों को गले में अटकना और बार-बार गला साफ करना या ब्रोंकाइटिस जैसी शिकायतें हो सकती हैं।
  • गले को हमेशा साफ रखने के लिए नियमित रूप से दिनभर में पानी का अधिक सेवन करें।
  • सूखी, ठंडी एवं गरम हवा आपकी नाक और गले के स्रावों को प्रभावित कर सकती है। जिसके कारण कई बार खांसी की समस्या भी हो सकती है। इससे बचने की कोशिश करें।
  • कई लोग होते हैं जो मुंह से सांस लेते हैं, जोकि गलत है शरीर और आवाज दोनों के लिए। तो इस गलती से बचें, इससे फेफड़े कमजोर होने लगते हैं
  • मौसम चाहें सर्दी का हो या गर्मी का अपने गले को कभी भी सूखने न दें। आप खुद को हाइड्रेट रखेंगे तो गला सूखेंगा नहीं और आवाज अच्छी बनी रहेगी। इसी के साथ ही वोकल कॉर्ड हमेशा चिकनी बनी रहेगी, जो कि एक अच्छी आवाज के लिए जरूरी है।
  • बार-बार गला साफ करने की आदत न डालें, यदि आपको ये समस्या है तो इसे अनदेखा न करें और इसका इलाज करें। कोशिश करें कि जोर-जोर से बोलने या चिल्लाने से बचें।
  • इसके अलावा नियमित तौर पर भी धीरे बोलेने की कोशिश करें। लगातार तेज आवाज में बात करने से भी वोकल कॉर्ड खराब हो जाते हैं।
  • आपकी आवाज को खराब करने में तनाव भी एक मुख्य कारण हो सकता है। इसलिए इससे बचें।
  • हमेशा तनाव रहित, रिलैक्स होकर धीरे-धीरे बात करें। सिर एवं गर्दन को गायन या बोलचाल के दौरान सीधा रखें। यदि गर्दन की मांसपेंशियों में दर्द या ऐंठन है तो मालिश करें।
  • अगर आप कहीं परफॉर्म करने जा रहे हैं तो उससे ठीक पहले आप ज्यादा रियाज न करें। नहीं तो आप थकावट जैसा महसूस कर सकते हैं।
  • सिंगिंग का शौक रखने वाले लोगों को मीठे का सेवन कम करना चाहिए।

यह भी पढ़ें: तनाव का प्रभाव शरीर पर पड़ते ही दिखने लगते हैं ये लक्षण

हेल्दी वॉयस के लिए घरेलू उपाय

  • अदरक को नमक और नींबू को सुखा लीजिये और दिन में दो से तीन बार इसका सेवन करें इससे आपकी आवाज पर अच्छा असर होगा।
  • शहद गले और आवाज के लिए बहुत अच्छा होता है। जो लोग गायकी के क्षेत्र में हैं वो लोग शहद का सेवन हमेशा करते हैं। इससे गले की कई समस्याएं दूर होती हैं।
  • मुलेठी की लकड़ी भी गले के लिए काफी फायदेमंद है। इसे आप दिन में तीन से चार बार चबाना होगा।
  • तुलसी की पत्ती को को पानी में औटाकर गरारे करें।
  • छोटी इलायची, लौंग तथा मुलहठी – तीनों का चूर्ण 3-3 ग्राम की मात्रा में गरम पानी से सेवन करना चाहिए।
  • अदरक का एक टुकड़ा सेंधा नमक लगाकर धीरे-धीरे चूसें।
  • लौंग, पांच पत्ते तुलसी, चार दाने कालीमिर्च तथा थोड़े से धनिया के दानों को लेकर एक कप पानी में काढ़ा बनाकर पीएं।
  • अनार के छिलकों को थोड़े से पानी में डालकर उबालें| जब पानी जलकर आधा कप हो जाए तो उसमें दो लौंग का चूर्ण तथा एक चुटकी पिसी हुई फिटकिरी डालकर पिएं।
  • दो कालीमिर्च मुंह में डालकर धीरे-धीरे चूसें। इससे गले को काफी आराम होगा।
  • अन्नास के रस में जरा-सा सेंधा नमक डालकर गरम करके धीरे-धीरे घूंट-घूंट पिएं।
  • एक गिलास पानी में आधा चम्मच चाय डालकर 10 मिनट तक पानी को खौलाएं| फिर छानकर सहते-सहते गरारे करें।
  • दो कलिमिर्चों को पीसकर एक चम्मच देशी घी में मिलाकर चाटने से गला खुल जाता है।
  • लौंग, सेंधा नमक और तुलसी की पत्तियाें का काढ़ा बनाकर पीने से गला साफ होता है।
  • शहद और सोंठ का सेवन भी गले के लिए अच्छा होता है, पर ज्यादा मात्रा में नहीं।

हेल्दी वॉस के लिए करें ये योग

भ्रामरी प्राणायाम

इस आसन को करने के लिए पद्मासन की अवस्था में बैठ जाएं और अपनी आंखों को बंद कर लें। इसके बाद अब मेरुदंड को सीधा करें और अपने दोनों हाथों को उसके बगल में अपने कंधों के समांतर फैलाएं। इसके बाद हाथ की कोहनियों से मोड़ते हुए उसे कान के नजदीक ले जाएं। दोनों हाथ के अंगूठों से अपने कानों को बंद कर लें। नाक के माध्यम से सांस भरकर उसे धीरे-धीरे अपनी कंठ से भंवरे की तरह आवाज करते हुए सांस छोड़ने की कोशिश करें। पहले नाक से सांस अंदर लें और फिर बाहर की तरफ छोड़ें। इसके अभ्यास को 10 बार के लगभग रोज करने की कोशिश करें।

सिंहासन

मधुर आवाज पाने के लिए यह आसन काफी प्रभावकारी है। इसे करने के लिए आप पद्मासन में बैठ जाएं। अपने घुटनों के बीच थोड़ा गैप रखें और पंजों को नीचे की ओर मोड़ें। दोनों हाथों को घुटनों की ओर रखें और आगे की तरफ झुकें। इसके बाद सांस भरते हुए हुए कंधों को थोड़ा-सा ऊपर की ओर उठाएं। जीभ को बाहर की ओर निकालें और ऊपर की तरफ देखें। इसके बाद सिंह जैसी आवाज निकालने की कोशिश करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर
Dr. Pranali Patil के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Niharika Jaiswal द्वारा लिखित
अपडेटेड 14/08/2020
x