home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

टॉन्सिल्स से राहत पाने के घरेलू उपाय

टॉन्सिल्स से राहत पाने के घरेलू उपाय

बदलते मौसम के साथ अक्सर लोग गले के दर्द की समस्या से परेशान रहते हैं, जिसकी वजह टॉन्सिल्स की समस्या भी हो सकती है। हमारे गले के दोनों ओर ओवल शेप के अंग हैं, जिसे टॉन्सिल्स कहते हैं। टॉन्सिल सभी तरह के हानिकारक वायरस और बैक्टीरिया को शरीर में प्रवेश करने से रोकते हैं। मगर कई बार टॉन्सिल खुद ही इंफेक्शन से नहीं बच पाते हैं। टॉन्सिल में होने वाले इंफेक्शन को टॉन्सिलाइटिस कहते हैं। इंफेक्शन होने पर टॉन्सिल्स में सूजन आ जाती है और वे लाल हो जाते हैं। इस वजह से व्यक्ति को दर्द होता है, बुखार आ जाता है और खाने-पीने में परेशानी होने लगती है।

क्यों होते है टॉन्सिलाइटिस?

टॉन्सिलाइटिस कभी भी और किसी को भी हो सकता है लेकिन, बदलते मौसम के कारण इसके होने का खतरा ज्यादा रहता है। इसके अलावा, जब हमारी रोग प्र​तिरोधक क्षमता कमजोर होती है या मौसम बहुत ठंडा होता है, तब भी टॉन्सिलाइटिस की समस्या बढ़ सकती है।

टॉन्सिलाइटिस के लक्षण क्या हैं?

टॉन्सिल्स के लक्षण निम्नलिखित हैं। जैसे-

इन परेशानियों के साथ-साथ अन्य परेशानी हो सकती है। इसलिए इनमें से या कोई अन्य शारीरिक बदलाव महसूस होने पर जल्द से जल्द डॉक्टर से संपर्क करें।

टॉन्सिलाइटिस में परहेज करें-

टॉन्सिलाइटिस होने पर ठंडी चीजों जैसे आइसक्रीम, ठंडा पानी आदि का सेवन करना बंद कर देना चाहिए। तली-भुनी और मसालेदार चीजों से भी टॉन्सिलाइटिस बढ़ता जाता है। इसके अलावा फास्टफूड, जंकफूड, चॉकलेट, टॉफी आदि को भी नहीं खाना चाहिए। टॉन्सिलाइटिस होने की स्थिति में शराब, गुटखा और धूम्रपान से तकलीफ बढ़ जाती है इसलिए किसी भी तरह के नशीले पदार्थ का सेवन नहीं करना चाहिए।

टॉन्सिलाइटिस का उपचार क्या है?

टॉन्सिल्स में अगर गले में दर्द हो तो गरम पानी में नमक मिलाकर गरारा करने से दर्द में राहत मिलती है। अगर मरीज को दर्द के साथ-साथ बुखार भी है, तो इसके लिए बुखार की दवा डॉक्टर की सलाह से दी जा सकती है। परहेज और गरारा करने से टॉन्सिलाइटिस आम तौर पर एक हफ्ते में ठीक हो जाता है। लेकिन अगर ये एक हफ्ते से ज्यादा समय ले या दर्द लगातार बढ़ता जाए तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए क्योंकि ये किसी और गंभीर रोग का भी लक्षण हो सकता है।

जैसे गरम पानी गले को बहुत राहत दिलाता है, इसी तरह से हम कुछ ऐसे हेल्‍दी फूड और ड्रिंक के नाम बताएंगे जिनका सेवन करने से आपके गले के दर्द को राहत मिलेगी:

गरम चावल खा सकते है:

उबला हुआ चावल मुलायम होता है जिसको निकलने में आसानी होती है। मसालेदार चावल खाने की बजाए हमेशा प्‍लेन राइस खाइये। आप चाहें तो इसमें लौंग डाल कर खा सकते हैं।

और पढ़ें: गले में कफ की समस्या क्या है? जानिए इसके उपाय

प्‍लेन पास्‍ता खाया जा सकता है:

उबला हुआ पास्‍ता गले के दर्द को ठीक करने के लिये कारगर है। इसमें चीज़ ना मिलाएं वरना यह गले में चिपक जाएगा और गला और भी ज्‍यादा दर्द करेगा। इसीलिए पास्ता को जितना काम मसालेदार रखेंगे उतना ही ज्यादा कारगर होगा सकता है।

उबली पालक खाएं:

उबली और भाप में पकाई गई सब्‍जियों का सेवन गले के इंफेक्‍शन को ठीक कर सकता है,और अगर वो हरे पत्तों की सब्जी हो तो और भी लाभदायक हो सकती है। आप पालक को उबालकर या पालक का सूप काली मिर्च पाउडर डाल कर पी सकते हैं। जिससे की दर्द से राहत मिल सकती है।

और पढ़ें: गले में खराश क्या आपको भी परेशान करती है? जानें इससे जुड़ी सारी बातें

उबले आलू खाएं:

उबले हुए आलू आसानी से निगले जा सकते है। इसिलए उबले हुए आलू को कम मसाले डालकर खाया जा सकता हैं जिससे की आपका पेट भी भर जायेगा और खाते समय दर्द या जलन भी महसूस नहीं होगी।

शहद का सेवन किया जा सकता है:

आप चाहे तो शहद को ऐसे भी खा सकते हैं या फिर उसे काली मिर्च पाउडर के साथ मिला कर चाट सकते हैं। इससे गले में खुजलाहट नहीं होगी और सूजन भी कम होगी। शहद को अदरक के साथ भी खाया जा सकता है जिससे की तुरंत रहत मिल सकती है।

अंडा भुर्जी खा सकते हैं:

अंडे की भुर्जी बनाकर उसे मुलायम ब्रेड के साथ खाया जा सकता है। दोनों ही एकदम आसानी से निगले जा सकते है जिससे खाते वक़्त दर्द नहीं होगा और और आपका पेट भी भरा रहेगा।

और पढ़ें: बच्चों का चीजें निगलना/गले में फंसना हो सकता है खतरनाक, कैसे दें फर्स्ट एड

इडली खा सकते हैं:

प्‍लेन इडली हेल्‍दी भी होती है और साफ्ट भी। टॉन्सिल को ठीक करने के लिये आप बिना सांभर के गरम गरम इडली खा सकते हैं। सांभर में कई ऐसे मसाले मिले होते हैं जो गले के लिये नुकसानदायक हैं। अगर चाहे तो थोड़ी सी कुछ सॉफ्ट सब्जिया उसमे में मिला ले ताकि आपको इडली का स्वाद थोड़ा ज्यादा आये।

दही का सेवन करें:

आप दही का सेवन ज्यादा कर सकते है जैसे की किसी भी चीज में मिलकर या किसी भी चीज के साथ। लेकिन ध्यान रहे ठंडा बिलकुल न हो क्योंकि ठंडा खाने से टॉन्सिल्स बढ़ सकते है और आपका दर्द भी। ध्यान रहे ताजे दही के सेवन से कोई परेशानी नहीं हो सकती है।

और पढ़ें: Throat Ulcers : गले में छाले क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

गरम पानी का सेवन करें:

गरम पानी मतलब गुनगुना पानी का सेवन करना चाहिए। गरम पानी गले में सूजन और बढ़ते इन्फेक्शन को रोक देता है और उसे कम भी करता है।इसीलिए ठंडा फ्रीज में रखा पानी न पीये और गरम गुनगुने पानी का सेवन ज्यादा करे जिससे आपको दर्द में राहत मिलेगी। आप चाहें तो टॉन्सिल्स की परेशानी होने पर हल्के गर्म पानी से खाना खाने के बाद गार्गल कर सकते हैं। ध्यान रखें इस पानी में हल्का नमक मिला लें। इससे परेशानी जल्द दूर हो सकती है।

ऊपर दिए गए सरे उपचारो से आप अपने टॉन्सिल्स के दर्द को काम कर सकते है और साथ ही खाना आराम से निगल सकते है। यह आसान घरेलू नुस्खे अपनाकर आप अपने टॉन्सिल्स के दर्द को काम कर सकते है और उन्हें कम भी कर सकते है। लेकिन, अगर आप टॉन्सिल्स से जुड़े किसी तरह के कोई सवाल का जवाब जानना चाहते हैं तो विशेषज्ञों से समझना बेहतर होगा। हैलो हेल्थ ग्रुप किसी भी तरह की मेडिकल एडवाइस, इलाज और जांच की सलाह नहीं देता है।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Tonsillitis/https://www.mayoclinic.org/Accessed on 09/01/2020

Tonsillitis Also called: Tonsil Inflammation/https://medlineplus.gov/tonsillitis.html/Accessed on 09/01/2020

Tonsils/https://training.seer.cancer.gov/anatomy/lymphatic/components/tonsils.html/Accessed on 09/01/2020

Enlarged Tonsils and Fatigue/https://www.aafp.org/afp/2010/0915/p669.html/Accessed on 09/01/2020

लेखक की तस्वीर badge
Sushmita Rajpurohit द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 22/04/2021 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x