home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

Potato: आलू क्या है ?

परिचय|उपयोग|साइड इफेक्ट्स|डोसेज|उपलब्ध
Potato: आलू क्या है ?

परिचय

आलू क्या है? (What is Potato?)

आलू का पौधा सोलानेसी परिवार का सदस्य है। ये एक सदाबहार पौधा है। इसके जड़ का फ्लेशी हिस्सा (आलू) आमतौर पर सब्जी के रूप में खाया जाता है। ये विटामिन-सी (Vitamin-C), विटामिन-बी (Vitamin-B), आयरन (Iron), कैल्शियम (Calcium), मैंगनीज (Manganese) और फॉस्फोरस (Phosphorus) का स्त्रोत है। गुणों का भंडार होने के कारण इसका प्रयोगऔषधि बनाने के लिए भी किया जाता है।

आलू में कौन-कौन से पोषक तत्व होते हैं?

कैलोरी- 168 ग्राम

फैट- 0 ग्राम

प्रोटीन- 5 ग्राम

कार्ब्स- 37 ग्राम

फाइबर- 4 ग्राम

सोडियम- 24 मिलीग्राम

विटामिन-सी- 37 %

विटामिन-बी 6- 31%

पोटैशियम- 27 %

मैगनीज- 20 %

आलू का उपयोग किस लिए किया जाता है?

रक्तचाप (Blood Pressure):
इसमें पोटैशियम होता है, जो रक्तचाप को नियंत्रित रखने में मददगार है। इसके साथ ही इसमें फाइबर (Fiber) होता है, जो रक्तचाप से पीड़ित लोगों में हाइपरटेंशन (Hypertension) के प्रभाव को कम करता है। इसलिए यह ब्लड प्रेशर के पेशेंट के लिया लाभकारी होता है।

हड्डियों को बनाए मजबूत (Strong bone):
आलू मैग्नीजियम का अच्छा स्त्रोत माना जाता है जो हड्डियों के सकारात्मक विकास में मदद करता है। इसमें कैल्शियम भी होता है, जो हड्डियों के विकास के लिए जरूरी होता है।

कैंसर (Cancer) से बचाव:
इसमें विटामिन-सी (Vitamin-C) पाया जाता है, जो एंटीऑक्सिडेंट की तरह काम करता है। इसके अलावा इसमें कई विटामिन, मिनिरल्स, प्रोटीन और कार्बोहाइड्रेट होते हैं, जो कैंसर (Cancer) से लड़ने के लिए शरीर को पोषण प्रदान करते हैं।

पाचन तंत्र (Digestive system) को बनाए स्वस्थ:
फाइबर से समृद्ध आलू पेट संबंधित परेशानियों को दूर करने के लिए प्रभावी रूप से काम करते है। इसके सेवन से कब्ज (Constipation) से निजात पा सकते हैं।

मस्तिष्क (Brain) स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद:
इसमें अल्फा लिपोइक नामक एसिड होता है जो हमारे मस्तिष्क के विकास के लिए लाभदायक होता है। कई शोध के अनुसार, लिपोइक मरीज की याददाशत (Memory) को बढाने का काम करता है।

इन बीमारियों के लिए भी है मददगार:

  • पेट संबंधित बीमारियां (Stomach problem) होना
  • वजन घटाने (Weight loss) के लिए फायदेमंद है
  • इसके सेवन से बार-बार भूख नहीं लगती है
  • अर्थराइटिस (Arthritis) की परेशानी भी कम होती है
  • फोड़े-फुंसियां ठीक होते हैं
  • आंखों (Eye) की जलन कम होती है
  • नींद न आने की परेशानी दूर होती है
  • प्रीमेन्स्ट्रुअल सिंड्रोम (Premenstrual Syndrome) की समस्या भी ठीक होती है

कैसे काम करता है आलू (Potato)?

ये विटामिन-सी (Vitamin-C), आयरन (Iron), राइबोफ्लेविन (Riboflavin) और कार्बोहाइड्रेट (Carbohydrates) का एक सोर्स है। इसके छिलके में मौजूद एक रसायन बैक्टीरिया को कोशिकाओं से जुड़ने से भी रोकता है। ये भूख को कम कर सकता है जिसके कारण लोग अपना वजन कम कर सकते हैं। ये कैसे काम करता है, इस बारे में ज्यादा रिसर्च नहीं गए हैं। अधिक जानकारी के लिए कृपया अपने हर्बलिस्ट या डॉक्टर से चर्चा करें।

उपयोग

कितना सुरक्षित है आलू का उपयोग? (Use of Potato)

आलू खाने के साथ-साथ दवा के लिए भी इस्तेमाल किया जाता है। अमूमन इसका इस्तेमाल सभी लोगों के लिए सुरक्षित होता है। सड़े आलू, हरे आलू और स्प्राउट्स में जहरीले रसायन होते हैं जिन्हें खाने से बचना चाहिए।

अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट या हर्बलिस्ट से सलाह लें, यदि:

  • आप प्रेग्नेंट (Pregnant) हैं या ब्रेस्ट फीडिंग (Breast feeding) करवाती हैं, तो ऐसी स्थिति में गर्भवती मां की इम्यूनिटी (Immunity) काफी कमजोर हो जाती है। इसलिए ऐसे में किसी भी तरह की दवाई लेने से पहले अपने डॉक्टर से जरूर सलाह लेनी चाहिए।
  • आप पहले से ही दूसरी दवाइयां ले रहे हैं या बिना डॉक्टर के प्रिसक्रीप्शन वाली दवाइयां ले रहे हैं।
  • आपको आलू (Potato) या दूसरी दवाओं या फिर हर्ब्स से एलर्जी है।
  • आलू ब्लड शुगर (Blood sugar) को प्रभावित कर सकता है। यदि आपको डायबटिज (Diabetes) है, तो इसका ज्यादा सेवन न कीजिए। क्योंकि आप अपने कार्बोहाइड्रेट के इन टेक पर नजर रखें।
  • आपको कोई दूसरी तरह की बीमारी, डिसऑर्डर, या मेडिकल कंडीशन है।
  • इसमें एक केमिकल होता है, जो ब्लड क्लोटिंग (Blood clotting) को कम करता है। ब्लड क्लोटिंग को डिस्सोल्व करने के लिए इस्तेमाल की जाने वाली दवाओं के साथ आलू की ज्यादा मात्रा लेने से, चोट लगने पर ब्लीडिंग की संभावना बढ़ सकती है।
  • आपको किसी तरह की एलर्जी (Allergy) है, जैसे किसी खास तरह के खाने से, डाय से , प्रिजर्वेटिव या फिर जानवर से।

दवाइयों की तुलना में हर्ब्स लेने के लिए नियम ज्यादा सख्त नहीं हैं। बहरहाल आलू कितना सुरक्षित है इस बात की जानकारी के लिए अभी और भी रिसर्च की जरूरत है। इस हर्ब को इस्तेमाल करने से पहले इसके रिस्क और फायदे को अच्छी तरह से समझ लें। हो सके तो अपने हर्बल स्पेशलिस्ट या डॉक्टर से सलाह लेकर ही इसे यूज करें।

और पढ़ें : जिनसेंग क्या है?

साइड इफेक्ट्स

आलू से मुझे क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं? (Side effects of Potato)

इसके अत्यधिक सेवन से निम्नलिखित शारीरिक परेशानी हो सकती है। जैसे-

यदि आप इसके साइड इफेक्ट को लेकर चिंता में हैं, तो कृपया अपने हर्बलिस्ट या डॉक्टर से परामर्श करें।

और पढ़ें : कावा क्या है?

डोसेज

आलू (Potato) को लेने की सही खुराक क्या है?

इस हर्बल की खुराक हर मरीज के लिए अलग हो सकती है। आपके द्वारा ली जाने वाली खुराक आपकी उम्र, स्वास्थ्य और अन्य कई चीजों पर निर्भर करती है। हर्बल सप्लिमेंट हमेशा सुरक्षित नहीं होते हैं। इसलिए सही खुराक की जानकारी के लिए हर्बलिस्ट या डॉक्टर से चर्चा करें।

खाने के साथ-साथ आलू को स्किन को जवां बनाये रखने में भी होता है मददगार। आलू का प्रयोग कैसे करें जिससे स्किन को लाभ मिल सके।

  • आलू का पिसा हुआ पेस्ट चेहरे पर लगाने से चेहरे पर ग्लो आता है और त्वचा निखरी-निखरी से लगती है।
  • अगर आपको डार्क सर्कल (Dark Circle) की समस्या है तो आप आलू के जूस को या इसके स्लाइस को अपनी आंखों पर कुछ देर के लिए रखें। इससे डार्क सर्कल धीरे-धीरे ठीक हो सकते हैं।
  • आलू के रस को नींबू (Lemon) के रस के साथ मिलाकर चेहरे पर लगाने से चेहरे की त्वचा पर रौनक आ जाती है। इसे चेहरे पर सप्ताह में कम से कम 3 बार 15 मिनट के लिए लगाना चाहिए और फिर ताजे पानी से चेहरे को साफ करना चाहिए।
  • आलू के पेस्ट में टमाटर (Tomato) का पेस्ट और शहद (Honey) मिलाकर एक गाढ़ा पेस्ट तैयार कर लें। इस पेस्ट को चेहरे पर 15 मिनट के लिए हफ्ते में 2 बार लगायें और कुछ देर बाद ताजे पानी से चेहरा धो लें। इससे बैक्टीरिया और अन्य इंफेक्शन का खतरा कम होता है और चेहरा फ्रेश दिखता है।

उपलब्ध

किन रूपों में उपलब्ध है?

  • कच्चा आलू

अगर आप आलू से जुड़े किसी तरह के कोई सवाल का जवाब जानना चाहते हैं तो विशेषज्ञों से समझना बेहतर होगा। हैलो हेल्थ ग्रुप किसी भी तरह की मेडिकल एडवाइस, इलाज और जांच की सलाह नहीं देता है।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र
लेखक की तस्वीर badge
Mona narang द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 24/05/2021 को
डॉ. स्नेहल सिंह के द्वारा मेडिकली रिव्यूड