सोने से पहले क्या खाएंः क्यों रात में दही खाना कर सकता है बीमार

    सोने से पहले क्या खाएंः क्यों रात में दही खाना कर सकता है बीमार

    रात को सोने से पहले हमें कुछ ना कुछ खाने की आदत है। लेकिन हमारी यह आदतें सेहत के लिए हानिकारक होते हैं।

    सवाल

    सोने से पहले क्या खाएं? मेरी मां मुझे रात को दही खाने से मना करती है, क्या इसके पीछे कोई साइंटिफिक वजह है, क्या आप रात को हेल्दी डायट के बारे में कुछ सुझाव दे सकते हैं?

    जवाब

    जी हां, आपकी मां बिल्कुल सही सलाह दे रही हैं। रात के समय दही खाना शरीर के लिए हानिकारक होता है। आयुर्वेद के अनुसार दही में दो रस होते हैं। खट्टा और मीठा। दोनों रस कफवर्धक होते हैं। रात के वक्त कफ दोष अधिक रहता है। ऐसे में अगर आप रात के वक्त दही खाते हो तो आपके शरीर के कफ दोष को इंबैलेंस करता है जो परेशानी बढ़ा सकता है। कुछ परेशानियां जैसे कि नेजल पैसेज में म्यूकस सीक्रीशन का बढ़ना, वजन बढ़ना और पाचन की समस्या। आप सोने से पहले बटरमिल्क का सेवन कर सकते हैं।

    रात को सोने से पहले हल्का आहार खाना चाहिए जैसे कि लो-कार्ब फूड। अगर आप हैवी फूड का सेवन करते हैं तो आपका शरीर खाने को पचाने में ज्यादा समय लगाता है। इसकी वजह से आपको सोने में परेशानी हो सकती है। रात को सोते समय प्रोटीन ज्यादा मात्रा में लेना चाहिए और कार्ब कम लेना चाहिए।

    रात के वक्त शुगर खाना अवॉयड करना चाहिए। आप शुगर की जगह शहद का इस्तेमाल कर सकते हो। ये वजन बढ़ाने के साथ-साथ म्यूकस सीक्रिशन कम करने में भी मदद करेगा।

    आसान पाचन के लिए रोटी की जगह चावल खाएं। रात का खाना लिमिटेड करना चाहिए। सोने से पहले ज्यादा खाना ना खाएं। अगर आपको सोने से पहले दूध पीकर सोने की आदत है तो लो-फैट दूध ही पिएं। ठंडा दूध अवॉयड करें। दूध को गरम करके पिएं। इससे आपका पाचन बेहतर होगा।

    और पढ़ेंः चाय-कॉफी की जगह पिएं गर्म पानी, फायदे कर देंगे हैरान

    सोने से पहले क्या खाएं इसके बारे में नीचे बताई गई चीजों को सोने से पहले जरुर खा सकते हैं:

    बादाम

    सोने से पहले क्या खाएं, अगर आप इस सवाल से परेशान हैं, तो बादाम इसका हल हो सकता है। बादाम को फैट, अमीनो एसिड और मैग्नेशियम का एक अच्छा स्त्रोत माना जाता है। जिन्हें अनिद्रा या नींद न आने की समस्या होती है उन्हें नियमित तौर पर बादाम का सेवन करना चाहिए। इससे आपको अच्छी नींद आ सकती है। आप चाहें तो बादाम के साथ हनी का भी सेवन कर सकते हैं।

    केला

    केले ज्यादातर तेजी से पचने वाले कार्ब्स से बने होते हैं। जब आप सोने से पहले नाश्ता कर रहे होते हैं, तो केला खाना पाचन क्रिया के कार्य को आसान बना सकता है। केले में मैग्नीशियम का भी अच्छा स्रोत पाया जाता है, जो तनाव हार्मोन को शांत करने में मदद करता है और इसलिए नींद को बढ़ावा भी दे सकता है। केले में भरपूर मात्रा में कार्बोहाइड्रेट्स की मात्रा होती है। कार्बोहाइड्रेट्स ट्रिप्टोफेन बनाने में मदद करता है जो दिमाग को अच्छी नींद बनाने में मदद करता है। इसके अलावा केले में मैग्नेशियम की मात्रा मसल्स और नसों को आराम दिलाता है।

    लो फैट योगहर्ट

    प्रोटीन ट्रिप्टोफेन के ब्लॉक्स बनाने में मददगार होते हैं। इसके लिए आप डेयरी प्राडक्ट का सेवन कर सकते हैं। सोने से पहले लो फैट योगहर्ट या दूध लेना एक अच्छा विकल्प हो सकता है। इससे दिमाग को शांत रहता है और नींद भी अच्छी आती है।

    और पढ़ेंः क्या ऑफिस वर्क से बढ़ रहा है फैट? अपनाएं वजन घटाने के तरीके

    ओट्स

    दलिया या ओट्स भी खाने से अच्छी नींद आती है। यह हल्का होता है इसलिए इसे पचाने में किसी तरह की पेरशानी भी नहीं होती है। रात में सोने से पहले एक कटोरी दलिया खा सकते हैं। इसमें दूध, शहर, केले या बादाम भी स्वादानुसार मिला सकते हैं।

    हनी

    सोने से पहले हनी यानी शहद का सेवन करना भी एक अच्छा विकल्प हो सकता है। इसमें एंटी बैक्टीरियल, एंटी फंगल और एंटी ऑक्सीडेंट्स के गुण होते हैं, जो शरीर में ट्रिप्टोफेन रिलीज करने में मददगार होते हैं।

    सोने से पहले क्या खाएं, इस सवाल के साथ ही इन चीजों को अवॉयड करना भी है जरुरीः

    एल्कोहॉल

    सोने से पहले क्या खाएं, इस बारे में आप जान गए हैं साथ ही ये भी जान लें कि सोने से पहले क्या नहीं खाना चाहिए। एल्कोहॉल नींद के लिए सबसे ज्यादा खतरनाक हो सकता है। इसके कारण रात में आपकी नींद कई बार टूट सकती है और अगली सुबह आपके शरीर में शुस्ती भी बनी रहेगी।

    ज्यादा मसालेदार खाना

    रात में सोने से पहले बहुत ज्यादा स्पाइसी खाना या मिर्च मसालेदार खाना सेहत और नींद को प्रभावित कर सकता है। बहुत अधिक मसालेदार खाना खाने से जलन और गैस की समस्या हो सकती है।

    कॉफी

    कैफीन का सीधा असर हमारे ब्रेन पर पड़ता है। कैफीन आपके मस्तिष्क और शरीर में चल रही नींद पैदा करने वाली रासायनिक प्रक्रियाओं को बाधित कर सकता है। कैफीन का प्रभाव आमतौर पर चार से पांच घटें तक बना रहता है।

    चॉकलेट

    चॉकलेट में शुगर का इस्तेमाल किया जाता है। जो नींद को प्रभावित कर सकता है। कई लोगों को एहसास ही नहीं होता है कि चॉकलेट कैफीन का स्त्रोत है।इसमें कैफीन की भी अच्छी मात्रा होती है। कैफीन आपके मस्तिष्क और शरीर में चल रही नींद पैदा करने वाली रासायनिक प्रक्रियाओं को बाधित कर सकता है। बेहतर होगा कि सोने से तीन से चार घंटे पहले ही चॉकलेट खा लें।

    जंक फूड

    अगर आप रात के समय सोने से पहले जंक फूड खाएंगे, तो इससे आपकी नींद प्राभावित हो सकती है। सोने से पहले जंक फूड खाने से ना केवल वजन बढ़ेगा बल्कि हार्ट बर्न जैसी समस्याएं भी होना आम हो सकती है, क्योंकि जंक फूड में सैचुरेटेड फैट होता है जिसे पचाने में पाचन तंत्र को काफी समय लग सकता है।

    आईसक्रीम

    रात में या सोने से पहले आईसक्रीम खाना स्वास्थ्य और नींद दोनों के लिए ही बेहद नुकसानदेह हो सकता है। आईसक्रीम में फैट और शुगर दोनों की ही उच्च मात्रा होती है। अगर सोने से पहले आईसक्रीम खाते हैं, तो इससे वजन बहुत जल्दी बढ़ सकता है।

    यह भी रखें ध्यान

    “द अमेरिकन जर्नल ऑफ क्लिनिकल न्यूट्रिशन” में पब्लिश एक रिसर्च के मुताबिक, रात में सोने से आधे से एक अंधे पहले रात का भोजन खा लेना चाहिए। दो लोग रात को देर से खाना खाते हैं उनका वजन दूसरे लोगों की तुलना में बहुत तेजी से बढ़ सकता है। ऊपर बताए गए खाद्य पदार्थों के साथ ही, कुछ ऐसे फूट्स भी हैं, जिन्हें रात को सोने से पहले नहीं खाना चाहिए। ये बॉडी में एक्सट्रा फैट को बढ़ा सकते हैं।

    ऊपर दी गई सोने से पहले क्या खाएं की सलाह किसी भी चिकित्सा को प्रदान नहीं करती है। सोने से पहले क्या खाएं इसके बारे में अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर से बात करें।

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    के द्वारा मेडिकली रिव्यूड

    डॉ. प्रणाली पाटील

    फार्मेसी · Hello Swasthya


    Dr Sharayu Maknikar द्वारा लिखित · अपडेटेड 31/08/2020

    advertisement
    advertisement
    advertisement
    advertisement