home

आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

Exercise-Induced Asthma: एक्सरसाइज-इंडयूस्ड अस्थमा क्या है?

एक्सरसाइज-इंडयूस्ड अस्थमा ( Exercise-Induced Bronchoconstriction) क्या है?|एक्सरसाइज-इंडयूस्ड अस्थमा ( Exercise-Induced Bronchoconstriction) के लक्षण|एक्सरसाइज-इंडयूस्ड अस्थमा के कारण|जोखिम (Risk Factor)|निदान|एक्सरसाइज-इंडयूस्ड अस्थमा के लिए निदान |उपचार (Treatment)|घरेलू उपाय ( Home Remedies)
Exercise-Induced Asthma: एक्सरसाइज-इंडयूस्ड अस्थमा क्या है?

एक्सरसाइज-इंडयूस्ड अस्थमा ( Exercise-Induced Bronchoconstriction) क्या है?

शरीर की चुस्ती और तंदुरुस्ती के लिए अच्छे भोजन, पर्याप्त नींद के साथ-साथ एक्सरसाइज करना भी महत्वपूर्ण माना जाता है। लेकिन, जिन लोगों को अस्थमा की समस्या है उनमे व्यायाम के दौरान अस्थमा के लक्षण देखे जा सकते हैं जिसे एक्सरसाइज-इंडयूस्ड अस्थमा कहा जाता है। एक्सरसाइज-इंडयूस्ड अस्थमा व्यायाम द्वारा ट्रिगर किए गए फेफड़ों में एयरवेज को तंग बनाता है। इससे एक्सरसाइज के बाद सांस लेने में परेशानी, सांस लेते हुए घरघराहट होना, खांसी आदि कई लक्षण देखने को मिलते हैं।

एक्सरसाइज-इंडयूस्ड अस्थमा ( Exercise-Induced Bronchoconstriction) के लक्षण

एक्सरसाइज-इंडयूस्ड अस्थमा रोग के लक्षण व्यायाम करने के बाद देखने को मिलते हैं। इसके लक्षण इस प्रकार हैं:

  • खांसी
  • घरघराहट
  • सांस लेने में परशानी
  • छाती में दर्द या कसाव
  • एक्सरसाइज करते हुए थकावट
  • एथलेटिक परफॉरमेंस में खराब प्रदर्शन
  • एक्टिविटी से बचाव (मुख्य रूप से छोटे बच्चों के लिए लक्षण)

और पढ़ें: Milk Of Magnesia: मिल्क ऑफ मैग्नीशिया क्या है? जानिए इसके उपयोग, डोज और सावधानियां

एक्सरसाइज-इंडयूस्ड अस्थमा के कारण

जब आप एक्सरसाइज करते हैं तो आपके शरीर की ऑक्सीजन की बढ़ी हुई मांग के कारण आप तेजी से और गहरी सांस लेते हैं। आप आमतौर पर मुंह के माध्यम से सांस लेते हैं, जिससे यह हवा रूखी और ठंडी होती है। यह रूखी और ठंडी हवा एयरवेज ब्लॉकेज करती है। जब एक्सरसाइज ठंडी और रूखी हवा में की जाती है तो अस्थमा के लक्षण बढ़ जाते हैं। इसके कुछ कारण इस प्रकार हैं:

  • प्रदूषण का बढ़ता लेवल
  • उच्च पराग
  • स्मोकिंग के धुएं और अन्य धुएं के सम्पर्क में आना
  • हाल में ही सर्दी-जुकाम या अस्थमा का अटैक होना
  • ठंडी या रूखी हवा
  • स्विमिंग पूल की क्लोरीन का शरीर में जाना
  • आइस रिंक सरफेसिंग उपकरण के साथ उपयोग किए जाने वाले रसायन

और पढ़ें : दुनियाभर में फिर तेजी से फैल रही ये बीमारी, WHO को सता रही इस बात की चिंता

जोखिम (Risk Factor)

एक्सरसाइज-इंडयूस्ड अस्थमा निम्नलिखित लोगों के लिए जोखिम भरा हो सकता है:

अस्थमा से पीड़ित लोग : नब्बे प्रतिशत अस्थमा से पीड़ित लोगों में एक्सरसाइज-इंडयूस्ड अस्थमा होने की संभावना रहती है। हालांकि उन लोगों के लिए भी यह रोग जोखिम भरा है जो पहले से अस्थमा के शिकार नहीं हैं।

इलीट एथलीट्स: हालांकि, कोई भी इस रोग से पीड़ित हो सकता है लेकिन हाई लेवल एथलीट्स में यह रोग सामान्यतया अधिक देखा जाता है।

और पढ़ें: Gaucher Diesease : गौशर रोग क्या है? जानें इसके लक्षण, कारण और निवारण

निदान

इस रोग के निदान के लिए आपके डॉक्टर आपसे मेडिकल हिस्ट्री पूछेंगे और कुछ टेस्ट करा सकते हैं। एक्सरसाइज से पहले, इस दौरान और एक्सरसाइज के बाद फेफड़ों के फंक्शन को टेस्ट करने के लिए डॉक्टर आपकी ब्रीथिंग मापेंगे। इसके बाद आपके डॉक्टर आपको वो प्लान बनाने में मदद करेंगे ताकि आप अस्थमा के लक्षणों से छुटकारा पा सकें और फिजिकल एक्टिविटी का मजा लें।

और पढ़ें :Asthma: अस्थमा क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और इलाज

एक्सरसाइज-इंडयूस्ड अस्थमा के लिए निदान

सामान्य लंग फंक्शन

जब आप एक्सरसाइज नहीं कर रहे हों तब आपके फेफड़े कैसे काम कर रहे हैं इसके लिए डॉक्टर स्पिरोमेट्री से टेस्ट करा सकते हैं। एक स्पिरोमेट्री मापता है कि आप कितनी हवा लेते हैं, आप कितनी सांस लेते हैं और कितनी जल्दी सांस छोड़ते हैं। आपके टेस्ट के बाद डॉक्टर आपको दवाइयां (इनहेलर के रूप में) दे सकते हैं ताकि आपके फेफड़े खुल सके।

और पढ़ें :एक्सरसाइज से पहले खाएं ये चीजें, बढ़ेगी ताकत और दमदार होंगे मसल्स

एक्सरसाइज चैलेंज टेस्टस

एक्सरसाइज चैलेंज के लक्षणों को ऑब्ज़र्व करने और उनका आकलन करने के लिए डॉक्टर आपको कुछ अन्य टेस्ट करने को कह सकते हैं। अपने ब्रीथिंग रेट को बढ़ाने के लिए आप ट्रेडमिल पर दौड़ सकते हैं या अन्य तरीको को अपनाएं।

वैकल्पिक टेस्ट

एक्सरसाइज चैलेंज के विकल्प के रूप में डॉक्टर इंहेलेशन टेस्ट की सलाह दे सकते हैं।

यह भी पढ़ें : एड़ी में मोच और दर्द को दूर करने के लिए करें ये आसान एक्सरसाइज

उपचार (Treatment)

इस रोग के उपचार के लिए डॉक्टर आपको ऐसी दवाइयों को दे सकते हैं जो आपको एक्सरसाइज से पहले लेनी हैं या रोजाना लम्बे समय तक लेनी हैं।

एक्सरसाइज से पहले की दवाइयां

डॉक्टर आपको ऐसी दवाइयां दे सकते हैं जो आपको एक्सरसाइज से पहले लेनी है ताकि आप इस रोग से राहत पा सके या इसे कम कर सके। दवाई लेने और एक्सरसाइज के बीच में आपको कितना समय लेना है इस बारे में डॉक्टर से बात करें। यह दवाइयां इस प्रकार हैं:

1) बीटा अगोनिस्ट्स इनहेल्ड दवाइयां : यह दवाईयां एयरवेज को खोलने में मदद करती हैं। ये सबसे अधिक इस्तेमाल की जाने वाली और आमतौर पर सबसे प्रभावी एक्सरसाइज से पहले ली जाने वाली दवाईयां हैं। रोजाना इन दवाईओं को लेने की सलाह नहीं दी जाती। इन दवाइयों में अलबूटेरोल (प्रोएयर HFA, प्रोवेंटिल HFA, वेंटोलीन HFA) और लेवलबूटेरोल (सोपेनेक्स HFA) शामिल हैं।

2) इपराट्रोपियम (एट्रोवेंट HFA): यह एक इनहेल्ड दवाई है जो एयरवेज को आराम पहुंचती है और कुछ लोगों के लिए प्रभावशाली है। एक नेबुलाइजर के साथ आईपीट्रोपियम का एक सामान्य वर्जन भी लिया जा सकता है।

लंबे समय तक लेने वाली दवाइयां

आपके डॉक्टर आपको लंबे समय तक ली जाने वाली दवाइयां दे सकते हैं। इन दवाइयों का आमतौर पर रोजाना सेवन करना होता है। यह दवाइयां इस प्रकार हैं:

1) इनहेल्ड कॉर्टिकॉस्टेरॉइड्स : यह दवाइयां आपके एयरवेज की जलन और सूजन को कम करने में सहायक हैं। इन दवाइयों में फ्लूटिकासों (Flovent Diskus, Flovent HFA), बुडेसोनाइड (Pulmicort Flexhaler), मोमेटासन (Asmanex Twisthaler) और बेक्लोमीथासोन (Qvar) शामिल हैं।

2) कॉम्बिनेशन इनहेलर (Combination inhaler) : इनमे कर्टिकोस्टेरॉयड और लॉन्ग एक्टिंग बीटा एगोनिस्ट (LABA) शामिल हैं जो एयरवेज को आराम पहुंचाते हैं। यह दवाइयां हैं फ्लूटिकासोन और सैल्मेटेरोल (एडवाइस डिस्कस), बाइडसोनाइड और फॉर्मोटेरोल (सिम्बिकॉर्ट), और मैमेटासोन और फॉर्मोटेरोल (ड्यूलरा)।

3) ल्यूकोट्रिएन संशोधक : यह दवाइयां कुछ लोगों के लिए जलन को कम करने में सहायक हैं। इसका उदहारण हैं मोंटेलुकास्ट (सिंगुलैर), जाफिरुकास्ट (एकोलेट) और जाइलुटोन (जीफ्लो, जेफ्लो सीआर)।

घरेलू उपाय ( Home Remedies)

स्वस्थ रहने के लिए एक्सरसाइज करना बेहद आवश्यक है। लेकिन अगर आपको एक्सरसाइज-इंडयूस्ड अस्थमा है तो आपको यह उपाय अपनाने चाहिए:

  • अगर आपको अस्थमा है तो आप डॉक्टर के बताये अनुसार अस्थमा की दवाई लेना न भूलें, ताकि आपका अस्थमा कंट्रोल में रहे।
  • रोजाना एक्सरसाइज करने से पहले दस मिनट तक वार्मअप अवश्य करें।
  • आपकी सांस ली जाने वाली हवा को गर्म और नम बनाने के लिए अपनी नाक के माध्यम से साँस लें।
  • व्यायाम करते समय एक फेस मास्क या स्कार्फ पहनें, विशेष रूप से ठंड, शुष्क मौसम में।
  • यदि आपको एलर्जी है, तो ट्रिगर से बचें। उदाहरण के लिए, पराग की संभावना अधिक होने पर बाहर व्यायाम न करें।
  • वायु प्रदूषण के उच्च स्तर वाले क्षेत्रों जैसे भारी यातायात वाले क्षेत्रों से बचने की कोशिश करें।
  • आकार में बने रहने और अच्छे स्वास्थ्य को बढ़ावा देने के लिए नियमित व्यायाम करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Anu sharma द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 02/03/2021 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड