स्विमिंग पूल में सेक्स करना कहीं भारी न पड़ जाए, रखें इन बातों का ध्यान

By Medically reviewed by Dr. Hemakshi J

बोरिंग सेक्स लाइफ को थोड़ा रोमांचक बनाने के लिए कपल्स कई तरह के एक्सपेरिमेंट्स करते हैं। लिहाजा बहुत से लोग नई सेक्स पुजिशन (sex positions) ट्राय करते हैं तो कुछ नई-नई जगहों पर सेक्स करना पसंद करते हैं। इन्हीं में से एक है पूल सेक्स (pool sex)। हालांकि, स्विमिंग पूल में सेक्स करना काफी रोमांटिक फील देता है लेकिन, पूल में फिजिकल रिलेशन (physical relation) बनाना कई बार रिस्की भी हो सकता है। पानी के अंदर पार्टनर के साथ इंटिमेसी (intimacy) मुश्किलें पैदा कर सकती है। जानते हैं “हैलो स्वास्थ्य” के इस आर्टिकल में कि क्या स्विमिंग पूल में सेक्स करने के क्या नुकसान हो सकते हैं।

स्विमिंग पूल में सेक्स करने से सेहत को हो सकते हैं ये नुकसान 

बिगड़ सकता है पीएच लेवल 

वजायना की अच्छी सेहत के लिए उचित पीएच स्तर का होना जरूरी होता है। स्विमिंग पूल में सेक्स करने से महिला की योनि का पीएच लेवल (ph level) गड़बड़ा सकता है। खासतौर पर अगर महिला को यूरिनरी इंफेक्शन (urinary infection) जल्दी हो जाता हो, तो क्लोरीनयुक्त पानी के संपर्क में आने से उसे वजायनल इंफेक्शन (यीस्ट या बैक्टीरिया) की संभावना ज्यादा हो जाती है।

यह भी पढ़ेंः सेक्स करने से महिलाओं को मिलते हैं ये 9 स्वास्थ्य लाभ

हो सकता है यौन संक्रमण 

बहुत लोगों को लगता है कि पानी में सेक्स करने के दौरान लुब्रिकेंट आवश्यक नहीं होता है। यह सोचना गलत है। लुब्रिकेंट के रूप में पानी का उपयोग करने से योनि की त्वचा पर रैशेस हो सकते हैं। इससे यौन संचारित संक्रमण (STI) फैलने का खतरा बढ़ जाता है। 

यह भी पढ़ेंः जानिए क्यों होती है योनि में खुजली? ऐसे करें उपचार

मिल सकती है अनचाही प्रेग्नेंसी (unwanted pregnancy)

सेक्स के दौरान क्लोरीन मिला पानी, कॉन्डम की प्रभावशीलता पर असर डालता है। इसकी वजह से अनचाही प्रेग्नेंसी की संभावना भी बढ़ जाती हैं। हालांकि, स्विमिंग पूल में सेक्स करना आपके गर्भवती होने की संभावना को नहीं बढ़ाता है। साथ ही वॉटर सेक्स (water sex) के दौरान कॉन्डम निकलने का भी खतरा रहता है।

यूटीआई का खतरा बढ़ता है 

आप अभी-अभी पूल में सेक्स करके आएं हैं तो आपको लगता होगा कि क्लोरीन मिले पानी से बैक्टीरिया (bacteria) दूर हो गए होंगे। लेकिन, ऐसा बिलकुल भी नहीं है। पूल में इंटरकोर्स के बाद यूरिन पास करना और भी महत्वपूर्ण हो जाता है, क्योंकि यूटीआई (UTI) की संभावना बढ़ जाती है। इसलिए, यूरिनरी इंफेक्शन (urinary infection) की संभावना को कम करने के लिए वॉटर सेक्स के तुरंत बाद यूरिन पास जरूर करना चाहिए।

यह भी पढ़ेंः पेनिस फंगल इंफेक्शन के कारण और उपचार

सेक्स का उतना आनंद न मिलना 

आपको जितना आकर्षक स्विमिंग पूल में सेक्स करना लगता है। वास्तव में, यह उतना होता नहीं है। ऐसा इसलिए क्योंकि वॉटर सेक्स के दौरान पानी प्राइवेट पार्ट में मौजूद नेचुरल लुब्रिकेशन को खत्म कर देता है। जिसकी वजह से पेनिट्रेटिव सेक्स (penetrative sex) करने से महिला साथी को दर्द ज्यादा होता है जिससे प्लेजर में कमी आती है।

यह भी पढ़ेंः सेक्स हाइजीन: यौन संबंध बनाने से पहले और बाद जरूर करें इन 5 नियमों का पालन

क्या कहते हैं एक्सपर्ट्स?

एमबीबीएस डॉक्टर तनुज त्रिपाठी (इंदु मेडिकल एंड रिसर्च सेंटर, लखनऊ) की माने तो “अंडरवॉटर यानी पानी के अंदर सेक्स करना एक्ससाइटिंग लगता हो। लेकिन, वॉटर सेक्स आपकी सेहत को नुकसान भी पहुंचा सकता है। स्विमिंग पूल में पेनेट्रेटिव सेक्स (penetrative sex) करने से एसटीडी (sexually transmitted disease) और यूटीआई (urinary tract infection) जैसी बीमारियों का खतरा हो सकता है।”

थेरेपिस्ट और सेक्सोलॉजिस्ट (लखनऊ) डॉक्टर बी.डी. वर्मा का कहना है कि “स्विमिंग पूल के पानी में क्लोरीन जैसे कई केमिकल्स होते हैं जो वजायना के पीएच लेवल को बिगाड़ सकते हैं, जिससे वजाइनल संक्रमण (vaginal infection) हो सकता है। इससे योनि में खुजली और इंफेक्शन का खतरा कई गुना बढ़ जाता है। क्लोरीन के पानी से वजायना में मौजूद अच्छे बैक्टीरिया नष्ट हो जाने का खतरा भी बढ़ जाता है।”

अगर सेक्स लाइफ रूटीन जैसी बन तो उसमें कुछ नया करने के लिए कपल्स बहुत कुछ ट्राय करते हैं। लेकिन, मानिए तो स्विमिंग पूल में सेक्स करना सेहत के लिए रिस्की हो सकता है। मसलन पानी में इंटरकोर्स की बजाय आप फोरप्ले जैसी अन्य यौन गतिविधियों को प्राथमिकता दें।

और पढ़ें-

फर्स्ट टाइम सेक्स से पहले जान लें ये 10 बातें, हर मुश्किल होगी आसान

सेक्स को और ज्यादा रोमांटिक बनाने के 7 तरीके

अभी-अभी शुरू हुई है सेक्स लाइफ? तो ऐसे करें एंजॉय

अभी शेयर करें

रिव्यू की तारीख नवम्बर 14, 2019 | आखिरी बार संशोधित किया गया नवम्बर 14, 2019