12 महीने के बच्चे की देखभाल के लिए आपको क्या जानने की आवश्यकता है?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट October 8, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

विकास और व्यवहार

मेरे 12 महीने के बच्चे का विकास कैसा होना चाहिए?

आपका बच्चा अब आधिकारिक रूप से एक साल का हो गया है। पहला कदम लेने के साथ आपका बच्चा अब अधिक आत्मनिर्भर होने लगता है। कुछ 12 महीने के बच्चे चलने की शुरुआत ऐसी समय करते हैं तो कुछ 14 या 15 महीने में लेकिन, अगर आपका 12 महीने के बच्चे अभी नहीं चल पा रहा है तो भी चिंता करने की कोई बात नहीं है। यह सामान्य बात है कि कुछ बच्चे 15-16वें महीने तक चलने की शुरुआत नहीं करते हैं।

कई महीनों तक टूटी-फूटी भाषा बोलने के बाद बच्चे कुछ सही शब्द बना पाते हैं और बोल पाते हैं। ये रातो-रात पूरी होने वाली प्रक्रिया नहीं है और साथ ही बोलने की गति हर बच्चे की अलग-अलग होती है। इन सब के बीच लेकिन, एक बात सामान्य होती है कि बच्चे जितना बोल सकते हैं उससे कहीं अधिक समझ सकते हैं।

और पढ़ें : बच्चों का झूठ बोलना बन जाता है पेरेंट्स का सिरदर्द, डांटें नहीं समझाएं

मुझे अपने 12 महीने के बच्चे की देखभाल कैसे करनी चाहिए?

  • अपने 12 महीने के बच्चे को बिना किसी मदद के आगे बढ़ने और चलने के लिए प्रोत्साहित करें। जितना हो सके उन्हें कम से कम गोद लें। अगर आपका बच्चा लड़खड़ाकर चलने की कोशिश कर रहा है तो हो सकता है कि ऐसा करके वो आपकी उंगली पकड़कर चलने में अधिक सुरक्षित महसूस कर सकता है।
  • अक्सर इस उम्र में दूध उनका पसंदीदा पेय पदार्थ होता है और बच्चों को विकास और ऊर्जा की पूर्ति के लिए वसा की आवश्यकता होती है। अगर आपका वजन ज्यादा है या परिवार में मोटापे, हाई कोलेस्ट्रॉल या हृदय संबंधित समस्या रही है तो आपके बच्चे का डॉक्टर आपको कम वसायुक्त दूध पिलाने की सलाह दे सकता है।
  • आप जो भी करते हैं, आपका बच्चा देखता है। बच्चे अक्सर अपने आस-पास के लोगों का व्यवहार कॉपी करने की कोशिश करते हैं, खासकर अपने पैरेंट्स का व्यवहार। इससे पता चलता है कि वो सामान्य व्यवहार कैसे करते हैं? हमेशा याद रखें जो चीजें आपके बच्चे को नुकसान कर सकती हैं, उन्हें बच्चे से दूर रखें।

और पढ़ें : शिशुओं के लिए कॉर्नफ्लेक्स का उपयोग सही या गलत?

स्वास्थ्य और सुरक्षा

मुझे डॉक्टर से क्या बात करनी चाहिए?

12 महीने के बच्चे की देखभाल के लिए आपको डॉक्टर से दिखाने की सलाह दी जा सकती है। अपने डॉक्टर से मिलने से पहले उनके द्वारा पूछें गए कुछ सवालों के जवाब तैयार कर के रखें। डॉक्टर द्वारा पूछें जाने वाले सवाल इस प्रकार हैं:

इन सवालों से डॉक्टर बच्चे की नींद की आदत, शारीरिक और व्यवहारिक विकास के बारे में जान सकते हैं। अपने डॉक्टर को बताएं अगर आपका बच्चा किसी तरह से असुविधा या खुजलाते दिखे क्योंकि ये अक्सर एलर्जी के लक्षण होते हैं।

और पढ़ें : नवजात शिशु का छींकना क्या खड़ी कर सकता है परेशानी?

मुझे किन बातों की जानकारी होनी चाहिए?

डॉक्टर बच्चे की लंबाई , वजन, सिर का आकार नापकर ये नंबर, ग्रोथ चार्ट पर चिन्हित करते हैं। ग्रोथ चार्ट को समझने में थोड़ी समस्या जरूर होती है लेकिन, यह जरूरी है कि आप ग्रोथ चार्ट को समझें। विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार 12 महीने में बच्चे का ग्रोथ चार्ट कुछ ऐसा होना चाहिए। इसे ऐसे समझा जा सकता है-

  • लड़का: 10 किलोग्राम (वजन), 78 सेमी (लंबाई), 46 सेमी (सिर की परिधि)
  • लड़की: 5 किलोग्राम (वजन), 78 सेमी (लंबाई), 45 सेमी (सिर की परिधि)

ये आंकड़े 50वें परसेंटाइल को दर्शाते हैं। इसका मतलब है कि एक साल के 50 फीसदी बच्चों का वजन आपके बच्चे के वजन के बराबर या आसपास है और 50 फीसदी बच्चों का वजन आपके बच्चे से ज्यादा है।

अगर आपका बच्चा 25वें परसेंटाइल में आता है तो इसका मतलब यह नहीं है कि बच्चे के साथ कोई समस्या है। इसका अर्थ है कि एक साल की उम्र के 25 फीसदी बच्चों की ग्रोथ चार्ट के आंकड़े यही हैं। आपका डॉक्टर किसी खास माप की जगह ग्रोथ रेट पर अधिक ध्यान देता है। अगर आपके बच्चे का विकास रुक गया है और उसका वजन कम या ज्यादा नहीं हो रहा है तो यह समस्या की बात है। अगर बच्चे में कुछ बड़ा बदलाव नजर आता है तो डॉक्टर से तुरंत संपर्क करें।

और पढ़ें : बच्चे के जन्म का पहला घंटाः क्या करें क्या न करें?

हैलो स्वास्थ्य का न्यूजलेटर प्राप्त करें

मधुमेह, हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर, मोटापा, कैंसर और भी बहुत कुछ...
सब्सक्राइब' पर क्लिक करके मैं सभी नियमों व शर्तों तथा गोपनीयता नीति को स्वीकार करता/करती हूं। मैं हैलो स्वास्थ्य से भविष्य में मिलने वाले ईमेल को भी स्वीकार करता/करती हूं और जानता/जानती हूं कि मैं हैलो स्वास्थ्य के सब्सक्रिप्शन को किसी भी समय बंद कर सकता/सकती हूं।

ध्यान देने योग्य

मुझे किन बातों का ध्यान रखना चाहिए?

यहां हम कुछ खास बातें बता रहे हैं कि किन चीजों को लेकर आपको अधिक सजग रहना चाहिए।

बच्चे की आंखों की रोशनी

बच्चों को अक्सर नहीं पता होता है कि उनकी दृष्टि में कोई दिक्कत हो रही है इसलिए आपको सचेत और सतर्क रहना चाहिए। अगर आपका बच्चा भी नीचे दी गई गतिविधियां करता है तो डॉक्टर से जरूर इसकी चर्चा करें:

  • अक्सर आंखे मिचकाना या स्किवंट करना
  • अच्छे से देखने के लिए सिर को ऊंचा करना (जैसे कोई तस्वीर या टीवी देखते वक्त)
  • नींद ना आ रही हो तो भी आंखों को मलना
  • चीजों को देखने में समस्या होना
  • ढीले-ढाले तरह से रहना

अगर आपको भी अपने 12 महीने के बच्चे में इस तरह के लक्षण दिखते हैं तो आप भी उन्हें डॉक्टर के पास ले कर जाना चाहिए। खासकर अगर आंखों से अधिक पानी निकलना, आंखों में लालपन दिखना, दर्द, लाइट के प्रति संवेदनशील या आंखों में मवाद या पपड़ी दिखने जैसी समस्या हो।

लेड प्वाइजनिंग

  • 12 महीने के बच्चे की देखभाल के दौरान ध्यान रखना चाहिए कि उनमें लेड प्वाइजनिंग का खतरा ज्यादा हो सकता है। हो सकता है जमीन पर क्रॉल करते वक्त बच्चा अपना हाथ मुंह में डाले। हालांकि, बच्चे किसी भी उम्र में अगर लेड के संपर्क में आते हैं तो भी उन्हें यह समस्या हो सकती है।
  • बच्चे का शरीर पूरी तरह विकसित नहीं होता है इसलिए उनमें बड़ों की तुलना में जल्दी विषाक्त होने की संभावना होती है। जैसे प्रेग्नेंट महिलाओं के रक्त में लेड का स्तर अधिक हो तो वो बच्चे में भी ट्रांसफर हो सकता है।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

Was this article helpful for you ?
happy unhappy
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

जब बच्चे को आएं डरावने सपने तो ऐसे करें हैंडल

जब अचानक रात में डरावने सपने के कारण बच्चा रोने लगे तो माता-पिता परेशान हो जाते है। दो से तेरह साल तक बच्चों को डरावने सपने आते हैं।

के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha

बच्चे के आत्मविश्वास को बढ़ाने के लिए ये टिप्स

बच्चे में आत्मविश्वास कैसे भरें, बच्चे में आत्मविश्वास कैसे विकसित करें, बच्चे को आत्मविश्वासी बनाएं, Child confidence development in Hindi.

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Shruthi Shridhar
के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha

मॉम के पास जरूर हो ये चाइल्ड इक्विप्मेंट्स

चाइल्ड इक्विप्मेंट्स क्या है, चाइल्ड इक्विप्मेंट्स क्यों जरूरी है, बच्चे के पास क्या चीजें होना बहुत जरूरी हैं, child equipment in Hindi.

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Shruthi Shridhar
के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha

24 महीने के बच्चे की देखभाल के लिए आपको किन जानकारियों की आवश्यकता है?

24 महीने के बच्चे की देखभाल है बहुत जरूरी है। टॉड्लर केयर से जुड़ी हर जानकारी के लिए आप सही जगह पर है। पढ़े 24 महीने के बच्चे की देखभाल से जुड़ी हर जानकारी।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pooja Bhardwaj
के द्वारा लिखा गया Manjari Khare

Recommended for you

शिशु के विकास में देरी क्यों होती है

शिशु के विकास में देरी के कारण क्या होते हैं? जान लीजिए इसका इलाज भी

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Manjari Khare
प्रकाशित हुआ February 18, 2021 . 5 मिनट में पढ़ें
बच्चों के साथ सोना-co sleeping with kids

पेरेंट्स का बच्चों के साथ सोना बढाता है उनकी इम्यूनिटी

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Lucky Singh
प्रकाशित हुआ December 4, 2019 . 4 मिनट में पढ़ें
पॉटी ट्रेनिंग

बच्चे को 3 दिन में पॉटी ट्रेनिंग देने के लिए अपनाएं ये उपाय

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Shruthi Shridhar
के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha
प्रकाशित हुआ October 7, 2019 . 4 मिनट में पढ़ें
बच्चे को खाना

3 साल के बच्चों का खाना चुनते समय पेरेंट्स रखें इन बातों का ध्यान

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha
प्रकाशित हुआ October 5, 2019 . 4 मिनट में पढ़ें