home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

क्या छोटे बच्चों के लिए फायदेमंद होता है बादाम का दूध?

क्या छोटे बच्चों के लिए फायदेमंद होता है बादाम का दूध?

बादम के स्वास्थ्य लाभ के बारे में तो सभी को पता है दिमाग तेज करने के लिए बच्चों और बड़ों को भी भीगे बादाम सुबह-सुबह खाने की सलाह दी जाती है, लेकिन बादाम का दूध भी बहुत फायदेमंद होता है। सर्दियों के मौसम में तो यह खासतौर पर पिया जाता है क्योंकि बादाम की तासीर गर्म होती है। साथ ही यह याददाश्त बढ़ाने और हड्डियों को मजबूत करने का काम करता है। दूध में बादाम मिला देने से दोनों की पौष्टिकता और बढ़ जाती है। इस बात में कोई दो राय नहीं है कि बड़ों और बच्चों के लिए बादाम का दूध बहुत फायदेमंद है, लेकिन अक्सर लोगों के मन में सवाल रहता है कि शिशुओं को यह दिया चाहिए? आइए, जानते हैं।

और पढ़ें: शिशुओं के लिए कॉर्नफ्लेक्स का उपयोग सही या गलत?

क्या बच्चों के लिए बादाम का दूध (Almond Milk) फायदेमंद होता है?

बादाम प्रोटीन, फाइबर, कार्बोहाइड्रेट, कैल्शियम, आयरन और कई अन्य विटामिन और पोषक तत्वों से भरपूर होता है। इसलिए बड़े और बच्चों को बादाम खिलाने के साथ ही बादाम वाला दूध पीने की भी सलाह दी जाती है, लेकिन विशेषज्ञों का मानना है कि एक साल की उम्र के बाद ही बच्चे को बादाम वाला दूध दिया जाना चाहिए। दरअसल, इस उम्र तक बच्चों को विकास के लिए खास तरह के पोषक तत्वों की जरूरत होती है, जिसकी पूर्ति सिर्फ मां के दूध से ही हो सकती है, इसलिए बादाम के दूध को इसका विकल्प नहीं माना जा सकता। बच्चों के लिए बादाम वाला दूध फायदेमंद तो होता है, लेकिन एक साल की उम्र के बाद ही बच्चे को यह दिया जाना चाहिए। साथ ही इस बात का भी ध्यान रखें कि बादाम मिल्क से ही बच्चे को पूरा पोषण नहीं मिलता है, इसलिए यदि वह ब्रेस्टफीड करता है और/फॉर्मूला मिल्क पीता है या कुछ सॉलिड फूड खाता है तो उसके कुछ देर बाद ही बादाम का दूध दें और दिन में दो बार यह दूध बच्चे को दिया जा सकता है।

कैसे बनाया जाता है बच्चों के लिए बादाम वाला दूध? (How to make almond Milk at home)

बच्चों के लिए बादाम वाला दूध फायदेमंद है या नहीं?

बच्चों के लिए बादाम वाला दूध बनाने के दो तरीके है पहला तो आप बादाम का महीन पाउडर पीसकर रख दें और जब भी दूध पिलाना हो तो हल्का गरम करके दूध में यह पाउडर और स्वादानुसार शक्कर मिलाएं। या फिर 2-3 बादाम को रात में पानी में भिगोकर रखें और सुबह इसका छिलका निकालकर पीस लें और दूध में मिलाकर गर्म करके इसे पिला सकती हैं। जहां तक संभव हो बाजार में मिलने वाला बादाम दूध से परहेज करें, क्योंकि इसमें शुगर की मात्रा अधिक होती है। बादाम का दूध बच्चों को दलिया, स्मूदी आदि में मिलाकर भी दिया जा सकता है। बच्चे को बादाम की कितनी मात्रा दी जाना चाहिए, इस बारे में एक बार डॉक्टर से सलाह अवश्य ले लें।

बच्चों के लिए बादाम वाले दूध के फायदे (Benefits of Almond Milk)

पोषक तत्वों से भरपूर बादाम बढ़ते बच्चों के शारीरिक और मानसिक विकास के लिए बहुत फायदेमंद होता है। आइए, जानते हैं बच्चों के लिए बादाम वाले दूध के फायदे।

और पढ़ें: शिशु को ग्राइप वॉटर देते वक्त रहें सतर्क,जितने फायदे उतने नुकसान

बच्चों के लिए बादाम का दूध बनाता है हड्डियां को मजबूत

हड्डियों को मजबूत बनाता है बादाम वाला दूध

बादाम (Almond) में कैल्शियम और फास्फोरस की भरपूर मात्रा होती है जो आपकी हड्डियों को मजबूत बनाए रखने में मदद करता है। साथ ही यह बच्चे के विकास में भी मदद करता है। बच्चों में कैल्शियम की कमी से हड्डियां कमजोर हो जाती हैं और उनका शेप भी बदलने लगता है, इससे बच्चों में हड्डियों से जुड़ी गंभीर समस्या हो सकती है। ऐसे में बादाम को उनकी डायट में जरूर शामिल करें।

बच्चों के लिए बादाम का दूध करता है इम्यून सिस्टम स्ट्रॉन्ग

बच्चों की इम्यूनिटी (immunity) कमजोर होती है, जिसे बादाम खिलाकर मजबूत किया जा सकता है। बादाम में आयरन, सेलेनियम, जिंक, फोलेट व विटामिन-बी6 जैसे पोषक तत्व होते हैं जो बच्चों की इम्यूनिटी बढ़ाने में मदद करते हैं। ऐसे में बादाम का दूध बढ़िया विकल्प है।

फ्री रेडिकल्स से बचाता है

पोषक तत्वों की कमी से कई बार बच्चों को कुपोषण (Malnutrition) की समस्या हो सकती है। जिससे फ्री रेडिकल्स का असर दिखने लगता है और इसकी वजह से डीएनए को हानि पहुंच सकती है। ऐसे में बच्चों की डायट में ऐसी चीजों को शामिल करना जरूरी है जिसमें एंटीऑक्सिडेंट होता है। बादाम में विटामिन ई होती है जो एक असरकारक एंटीऑक्सिडेंट है और फ्री रेडिकल्स के असर को कम करने में मदद कर सकता है।

और पढ़ें: शिशुओं के लिए ठोस आहार की डायट कब शुरू करनी चाहिए?

बच्चों के लिए बादाम का दूध उनके मानसिक विकास के लिए है जरूरी

बादाम खाने से दिमाग तेज होता है, यह बात तो आपने बहुत लोगों के मुंह से सुनी होगी, लेकिन क्या आपको पता है कि ऐसा क्यों है? दरअसल, बादाम में अन्य पोषक तत्वों के साथ-साथ बी-विटामिन्स (फोलेट, थियामिन, नियासिन, राइबोफ्लेविन, बायोटिन, पैंटोथैनिक एसिड, विटामिन बी-6) भरपूर मात्रा में होता है। रिसर्च के मुताबिक, बी विटामिन्स दिमाग को सही तरह से काम करने में मदद करता है। इसलिए, बच्चों के मानसिक विकास में बादाम की अहम भूमिका होती है। साथ ही बादाम में फैटी एसिड भी होता है जो दिमागी विकास के लिए जरूरी है।

पाचन दुरुस्त रहता है

बादाम के दूध में फाइबर (Fiber) की मात्रा अधिक होती है और फाइबर पाचन को ठीक रखने में मदद करता है। बच्चों को भी कब्ज (constipation in babies) और अपच (indigestion) जैसी समस्या बहुत होती है, इसलिए बादाम उनके लिए फायदेमंद होता है।

अच्छी नींद

बादाम का दूध बच्चों के लिए फायदेमंद

बादाम के दूध में ट्रिप्टोफैन (Tryptophan) नामक तत्व होता है, जो बच्चों की नींद न आने की समस्या को दूर करने में मदद करता है। रिसर्च अनुसार, ट्रिप्टोफैन (Tryptophan) अनिद्रा की समस्या दूर करके बच्चों को अच्छी नींद लेने में मदद करता है।

त्वचा के लिए फायदेमंद

बादाम का दूध (Almond Milk) याददाश्त बढ़ाने और हड्डियों को मजबूत बनाने के साथ ही बालों को भी स्वस्थ बनाता है। इसमें विटामिन-डी और विटामिन-ई की भरपूर मात्रा होती है। विटामिन-डी त्वचा को यूवी किरणों से बचाने के साथ ही हानिकारक बैक्टीरिया से भी बचाता है। जबकि विटामिन-ई लिपिड पेरोक्सीडेशन (त्वचा की कोशिकाओं की क्षति की एक वजह) के प्रभाव से त्वचा को बचाता है। छोटी उम्र से बच्चों को बादाम खिलाने से उनकी त्वचा स्वस्थ बनी रहेगी।

खूबसूरत बाल

बादाम का दूध न सिर्फ सेहत और त्वचा के लिए फायदेमंद है, बल्कि यह आपके बालों को भी खूबसूरत और मजबूत बनाता है। बादाम के दूध में प्रोटीन (Protein) और आयरन (Iron) होता है जो बालों को बढ़ने में मदद करने के साथ ही उसे मजबूत बनाता है। बादाम का सेवन करने वाले बच्चों के बाल शुरुआत से ही स्वस्थ रहते हैं।

और पढ़ें: क्या आप जानते है शिशुओं के लिए हल्दी के फायदे कितने होते हैं? जाने विस्तार से!

मां के दूध का विकल्प नहीं हो सकता बादाम दूध

एक साल से अधिक उम्र के बच्चों को बादाम वाला दूध दिया जा सकता है, लेकिन यह कभी भी स्तनपान (Breastfeeding) का विकल्प नहीं हो सकता। क्योंकि मां के दूध में वह सारे पोषक तत्व होते हैं जो बच्चे के संपूर्ण विकास के लिए जरूरी है। 6 महीने तक बच्चे को सिर्फ मां का दूध ही दिया जाना चाहिए। इसके बाद ब्रेस्टफीडिंग के साथ ही उन्हें कुछ सॉलिड फूड दिया जा सकता है। हालांकि बच्चों को बादाम का दूध एक साल के बाद ही दिया जाना चाहिए।

एक साल या उससे बड़े बच्चों के लिए ऐसे बनाएं बादाम का दूध

सबसे पहले 2-3 बादाम को रातभर पानी में भिगोकर रखें। इसका छिलका निकाल लें और मिक्सर में बादाम में थोड़ा सा दूध मिलाकर बारीक पेस्ट बना लें। अब पैन में एक कप दूध डालें और इसमें तैयार पेस्ट, थोड़ी सी शक्कर और स्वाद बढ़ाने के लिए इलायची पाउडर या केसर डालकर थोड़ी देर पकाएं। बच्चों के लिए बादाम का दूध तैयार है।

बच्चों के लिए बादाम के नुकसान (Side effects of Almonds in babies )

बादाम यकीनन सेहत के लिए अच्छा होता है, लेकिन बच्चों के लिए इसके कुछ नुकसान भी हैं। दरअसल, बादाम का ज्यादा सेवन करने से बच्चों को कुछ नुकसान हो सकते हैं।

एलर्जी (Allergy)

कुछ बच्चों को ट्री नट्स से एलर्जी होती है। चूंकि बादाम भी एक प्रकार का ट्री नट ही है, इसलिए ऐसे बच्चों को बादाम से भी एलर्जी हो सकती है।

फास्फोरस की अधिक मात्रा

बादाम में फास्फोरस (Phosphorus) की भरपूर मात्रा होती है। खून में फास्फोरस की मात्रा बढ़ जाने से यह हड्डियों से कैल्शियम खींचने लगता है, जिससे हड्डियां कमजोर होकर आसानी से टूट सकती है।

ऐसे में बच्चों को बादाम खिलाने की सोच रही हैं, तो आपको कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए।

  • बच्चा एक साल का हो गया है, लेकिन उसके दांत नहीं आए हैं तो उसे साबूत बादाम भूलकर भी न दें। यह बच्चे के गले में फंस सकता है। बच्चे को बादाम पीसकर खिलाएं।
  • बादाम खिलाने के बाद यदि बच्चे को किसी तरह की एलर्जी या असहजता होती है तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें, क्योंकि कुछ बच्चों को नट्स से एलर्जी हो सकती है।
  • बादाम का तेल भी बच्चों की मालिश के लिए अच्छा होता है।

बादाम बड़ों और बच्चों दोनों के लिए बहुत फायदेमंद होता है, लेकिन छोटे बच्चों को कितना बादाम देना है इसका निर्णय डॉक्टर से पूछने के बाद ही लें और ध्यान रहे कि हर चीज की अति नुकसानदायक होती है। इसलिए बादाम का सेवन भी सीमित मात्रा में ही करना चाहिए।

उम्मीद करते हैं कि आपको यह आर्टिकल पसंद आया होगा और बच्चों के लिए बादाम का दूध कितना फायदेमंद है इससे संबंधित जरूरी जानकारियां मिल गई होंगी। अधिक जानकारी के लिए एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। अगर आपके मन में अन्य कोई सवाल हैं तो आप हमारे फेसबुक पेज पर पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

 

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

When Can Babies Start Drinking Cow’s Milk?/https://kidshealth.org/en/parents/cow-milk.html#cat146/Accessed on 2nd Feb 2021

Calcium/https://ods.od.nih.gov/factsheets/Calcium-Consumer/Accessed on 2nd Feb 2021

Nutrition in Toddlers/https://www.aafp.org/afp/2006/1101/p1527.html/Accessed on 2nd Feb 2021

Feeding Your Baby and Toddler (Birth to Age Two)/https://www.mottchildren.org/posts/your-child/feeding-your-baby-toddler/Accessed on 2nd Feb 2021

लेखक की तस्वीर badge
Manjari Khare द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 02/02/2021 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x