home

आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

शिशु के लिए नट्स : है एक अच्छी चॉइस!

शिशु के लिए नट्स : है एक अच्छी चॉइस!

जब भी मां अपने बच्चे को नए खाद्य पदार्थ से अवगत कराती हैं, तो उसे कई बातों का ध्यान रखना होता है। कभी-कभी यह खाद्य पदार्थ बच्चों के लिए एलर्जी का कारण भी बनते हैं, लेकिन यदि बच्चों को छोटी उम्र में ही इन खाद्य पदार्थों से अवगत कराया जाए, तो भविष्य में एलर्जी (Allergies) के लिए यह खाद्य पदार्थ हानिकारक साबित नहीं होते। आज हम बात करने जा रहे हैं शिशु के लिए नट्स (Nuts for baby) के फायदों के बारे में। शिशु के लिए नट्स कितने जरूरी हैं और शिशु को इन नट्स (Nuts) से कैसे रूबरू कराया जा सकता है।

यदि आपके बच्चे को किसी तरह की स्किन एलर्जी जैसे कि एग्जिमा या फूड एलर्जी ना हो, तो आप अपने बच्चे को नट्स से जल्द ही अवगत करा सकते हैं। जब आपका बच्चा सॉलि़ड फूड (Solid Food) खाने लगे, तो आप उसे 4 से 6 महीने की उम्र के दौरान नट्स (Nuts) दे सकते हैं। शिशु के लिए नट्स एक अच्छा और स्वादिष्ट खाद्य पदार्थ साबित हो सकता है, इसलिए एक बार यदि आप शिशु को नट्स खिलाना शुरू करें, तो उसे लगातार खिलाते रहना जरूरी है। यदि आप बच्चे को लगातार नट्स खिलाते रहेंगे, तो आपके बच्चे को जरूरी पोषण भी मिलेंगे और उसे एलर्जी की समस्या भी नहीं होगी। यही वजह है कि शिशु के लिए नट्स (Nuts for baby) एक स्वादिष्ट और पोषण से भरपूर ऑप्शन साबित हो सकता है।

और पढ़ें: Poppy Seed : खसखस के बीज क्या है?

शिशु के लिए नट्स : खिलाएं इन तरीकों से! (Nuts for baby)

शिशु के लिए नट्स बेहद जरूरी है, लेकिन इन नट्स (Nuts) से बच्चे को अवगत कराने के कई तरीके हो सकते हैं। आप अपने बच्चे को मूंगफली से बने खाद्य पदार्थ खिलाना शुरू कर सकते हैं। जब आपका बच्चा मूंगफली (Peanut) का स्वाद समझने लगे, तो आप अन्य खाद्य पदार्थों में भी मूंगफली मिलाकर बच्चे को दे सकते हैं। इन नट्स का इस्तेमाल आप पाउडर के रूप में भी कर सकते हैं। इसके अलावा आप नट्स से भरपूर बटर का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। नट्स मिलाकर बनाया गया यह बटर बच्चे को स्वाद में भी बेहतर लगेगा। इससे नट्स के गले में अटकने की चिंता भी खत्म हो जाएगी और चोकिंग की तकलीफ से छुटकारा मिल जाएगा।

शिशु के लिए नट्स (Nuts for baby) अपने आप में एक सुपर फूड की तरह साबित हो सकता है, लेकिन इसे सही मात्रा में खिलाना बेहद जरूरी है। इसलिए आपको थोड़ी सी मात्रा से शुरू करके इसकी मात्रा पीडियाट्रिशियन (Paediatrician) किस सलाह के अनुसार बढ़ाते रहना चाहिए।

और पढ़ें: Thyme: थाइम क्या है?

शिशु के लिए नट्स : कैसे करें सही चुनाव? (Nuts for baby)

जैसा कि हमने पहले बताया शिशु के लिए नट्स खिलाने के कई तरीके हो सकते हैं, जिसमें से एक तरीका है नट बटर। यह प्रोडक्ट आप घर पर भी बना सकते हैं, जिसमें आप अलग-अलग तरह के नट्स (Nuts) का चुनाव कर सकते हैं और इसे रोटी या ब्रेड में लगाकर शिशु को दे सकते हैं। शिशु के लिए नट्स (Nuts for baby) का चुनाव करने से पहले आपको ध्यान रखना होगा कि इसमें एडेड शुगर ना हो। नेचुरल शुगर (Natural sugar) युक्त नट्स देना आपके शिशु के स्वास्थ्य के लिए बेहतर साबित होगा। इसके अलावा सोडियम से मुक्त नट्स का चुनाव आपको शिशु के लिए करना चाहिए। शिशु के लिए नट्स का चुनाव करने से पहले आपको नमक और शक्कर दोनों की मात्रा का खास ख्याल रखना चाहिए।

शिशु के लिए नट्स : होल नट्स (Nuts) से करें परहेज

जैसा कि आप जानते हैं बच्चे छोटे बच्चे खाने को अच्छी तरह से नहीं चबा पाते, इसलिए शिशु के लिए नट्स (Nuts for baby) का चुनाव करने से पहले आपको ध्यान रखना होगा कि यह आप बच्चे को पूरा ना दें। चाहे आप इसका पाउडर फॉर्म में इस्तेमाल करें या इसे क्रश करके बच्चे को दें। होल नट्स (Nuts) बच्चे के गले में अटक कर चोकिंग (Choking) की समस्या खड़ी कर सकते हैं। जिसकी वजह से बच्चे के एयर पैसेज (Air passage) ब्लॉक हो सकते हैं और यह बच्चे के लिए जानलेवा साबित हो सकता है।

और पढ़ें: Jaborandi : जैबोरेंडी क्या है?

शिशु के लिए नट्स : क्या है न्यूट्रिश्नल बेनिफिट्स? (Benifit of Nuts for baby)

शिशु के लिए नट्स (Nuts for baby)

शिशु के लिए नट्स बेहद फायदेमंद साबित हो सकते हैं, क्योंकि यह न्यूट्रीएंट्स से भरपूर होते हैं, जो बच्चों की ग्रोथ और डेवलपमेंट (Growth and development) में मदद करते हैं। यह खाने में आसान और स्वादिष्ट होते हैं, जिसे बच्चा आसानी से और प्यार से खा सकता है। इसके अलावा इसमें प्रोटीन और फाइबर की भी भरपूर मात्रा होती है। इसलिए आप शिशु के लिए नट्स (Nuts for baby) में इन नट्स का चुनाव कर सकते हैं।

अखरोट (Walnut) : अखरोट में भरपूर मात्रा में ओमेगा-3 फैटी एसिड (Omega-3 Fatty Acid) होते हैं, जो बच्चे के मस्तिष्क और आंखों के विकास के लिए जरूरी माने जाते हैं।

काजू (Cashew) : शिशु के लिए नट्स (Nuts) में काजू एक अच्छा ऑप्शन साबित हो सकता है। इसमें भरपूर मात्रा में ओमेगा एसिड्स होते हैं, जिसके साथ साथ इसमें कॉपर, मैग्नीशियम, अमीनो एसिड (Copper, Magnesium, Amino Acids) की भरपूर मात्रा पाई जाती है।

बादाम (Almond) : जैसा कि सभी जानते हैं, बादाम में फाइबर, प्लांट बेस्ड प्रोटीन, फैट (Fiber, Plant Based Protein, Fat) इत्यादि की भरपूर मात्रा होती है, जो इसे एक सुपर फूड बनाती है। इसके अलावा इसमें कैल्शियम, आयरन, फोलेट, विटामिन ई और जिंक की भरपूर मात्रा पाई जाती है।

और पढ़ें: Cashew : काजू क्या है? जानिए इसके फायदे और साइड इफेक्ट्स

मूंगफली (Peanut) : मूंगफली में भरपूर मात्रा में फैट, आयरन, प्रोटीन (Fat, Iron, Protein) के अलावा माइक्रोन्यूट्रिएंट्स जैसे कि कॉपर, जिंक, विटामिन ए, विटामिन बी आदि पाए जाते हैं। जो बच्चे के हार्ट हेल्थ और मेटाबॉलिज्म के लिए अच्छा माना जाता है।

यह तो थी शिशु के लिए नट्स (Nuts for baby) के फायदे की जानकारी। लेकिन कुछ बच्चों में इसके एलर्जिक रिएक्शन (Allergic reaction) भी हो सकते हैं। आइए जानते हैं इसके बारे में जरूरी जानकारी।

शिशु के लिए नट्स : हो सकती है ये दिक्कत (Nuts for baby)

शिशु के लिए नट्स (Nuts for baby) बेहद जरूरी माने जाते हैं, लेकिन कुछ बच्चों में इससे एलर्जी के लक्षण दिखाई दे सकते हैं। यदि आपके बच्चे को नट्स (Nuts) से एलर्जी हो रही है, तो आपको यह लक्षण दिखाई दे सकते हैं –

  • स्किन रेडनेस (Skin redness)
  • हाईव (Hives)
  • उल्टी (Vomiting)
  • सांस लेने में दिक्कत (Breathing problem)
  • होठों में सूजन (Swollen lips)
  • सर्दी (Cold)
  • डायरिया (Diarrhea)
  • खांसी (Cough)

यदि आप बच्चे में ये लक्षण देखें, तो समझ जाइए कि बच्चे को नट्स (Nuts) से एलर्जी हुई है। ऐसी स्थिति में आपको जल्द से जल्द बच्चे को डॉक्टर को दिखाने की जरूरत पड़ सकती है। कई बार या एलर्जिक रिएक्शन (Allergic reaction) गंभीर समस्याएं पैदा कर सकते हैं, इसलिए बच्चे की सेहत को ध्यान में रखते हुए जल्द से जल्द डॉक्टर से संपर्क करना आपके लिए बेहतर साबित होगा।

और पढ़ें: हेजलनट के फायदे जो आपको जरूर जानने चाहिए

शिशु के लिए नट्स (Nuts for baby) एक अच्छा ऑप्शन साबित हो सकते हैं, लेकिन बच्चे को नट्स देने से पहले आपको पीडियाट्रिशियन से जरूर सलाह लेनी चाहिए। बच्चे को नट्स की कितनी मात्रा दी जाए और कौन से नट्स बच्चे के लिए बेहतर साबित होंगे, इसकी जानकारी आपको एक एक्स्पर्ट ही दे सकता है। इसलिए डॉक्टर की सलाह के बाद ही बच्चे को नट्स (Nuts) से अवगत कराएं।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Toshini Rathod द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 14/07/2021 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड