क्या बच्चे के पेट में दर्द है ? कहीं गैस तो नहीं

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट November 24, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

गैस (Gas) एक आम समस्या है लेकिन, कभी-कभी सबसे ज्यादा तकलीफ देती है। पेट में दर्द (Stomach pain), भारीपन और  गैस  जैसी समस्या केवल बड़ों को ही नहीं बल्कि, बच्चों को भी होती हैं। कई ​बार बच्चे गैस की वजह से से होने वाले पेट में दर्द से परेशान होकर रोने लगते हैं। छोटे होने के कारण बच्चे अपनी समस्या बता नहीं पाते हैं।  जिसे समझ पाना काफी मुश्किल होता है। यदि बच्चा लगातार रो रहा है तो ऐसे में मां को बच्चे की तकलीफ को भांप कर तुरंत इलाज करना चाहिए।

बच्चे को पेट में दर्द होने का कारण

कई बच्चों को फार्मूला मिल्क के कारण भी गैस की समस्या होने लगती है।  बच्चा जब तेजी से दूध पीता है तो ज्यादा मात्रा में हवा भी बच्चे के पेट के अंदर चली जाती है। जिससे पेट में गैस भरने से दर्द शुरू हो जाता है। इसके अलावा, बच्चे के खानपान के कारण भी पेट में गैस बन जाती है।

यह भी पढ़ें ः पेट दर्द से निपटने के लिए 5 आसान घरेलू उपाय

कैसे पता करें कि बच्चे को पेट में दर्द की समस्या है ?

जब बच्चे के पेट में दर्द गैस होने पर होती है तो वह रोने लगता है। अक्सर मां समझ नहीं पाती है कि बच्चे को क्या तकलीफ है? ऐसे में बच्चे के पेट पर हाथ रखकर देखें कि कहीं उसका पेट कड़ा (Tight) तो नहीं है। यदि ऐसा है तो बच्चे के पेट में गैस की समस्या हो सकती है। 

बच्चे को पेट में दर्द से निजात दिलाने के उपाय

बच्चे को हल्की गैस से निजात दिलाना काफी आसान है। लेकिन, जब बच्चा ज्यादा परेशान हो तो आपको डॉक्टर से मिलना चाहिए। एक वर्ष से अधिक बच्चे को गैस से राहत दिलाने के लिए आप इस तरह के घरेलू उपाय अपना सकते हैं।

घर में मौजूद चीजें करेंगी पेट में दर्द से बचाव

आमतौर पर ये समस्या कुछ समय तक रहती है और फिर अपने आप सही हो जाती है। इस समस्या के लिए कोई निश्चत उपचार नहीं है। अपना चक्र पूरा करने के बाद वायरस या बैक्टीरिया समाप्त हो जाते हैं। हालांकि, पेट में दर्द से छुटकारा पाने के लिए आप घर पर मौजूद कुछ चीजों का सेवन कर सकते हैं, जो आपका बचाव कर सकती हैं।

यह भी पढ़ें : उल्टी रोकने के 8 आसान घरेलू उपाय

पेट में दर्द से बचाव: हींग 

हींग गैस के लिए सबसे रामबाण दवा है। गुनगुने पानी में हींग मिला कर बच्चे को पिलाएं। कुछ देर में बच्चे को गैस से राहत मिल जाएगी।

यह भी पढ़ें ः क्या आप महसूस कर रहे हैं पेट में जलन, इंफ्लमेटरी बाउल डिजीज हो सकता है कारण

पेट में दर्द से बचाव: जीरा 

एक ग्लिास पानी में जीरा को तब तक उबालें , जब तक पानी आधा न रह जाए। इसके बाद, इसे ठंडा कर के आप बच्चे को पिलाएं। जीरा पेट टर्द से तुरंत राहत दिलाने में मददगार होता है।

पेट में दर्द से बचाव: अजवाइन

अजवाइन एक प्रकार का मसाला है। जो पाचनतंत्र को दुरुस्त करने में मददगार होता है। बच्चे को अजवाइन की चाय बना कर हल्का गुनगुना ही दें। ये पेट में दर्द के साथ-साथ गैस से भी राहत दिलाएगा।

पेट में दर्द से बचाव: दही

बच्चे को दही खिलाना एक अच्छा विकल्प है। क्योंकि, दही में मौजूद प्रोबायोटिक्स (एक जीवाणु जो पाचनतंत्र को दुरुस्त रखता है) पाचनतंत्र को अच्छे से नियंत्रित करते है, जिससे गैस से राहत मिलती है।

यह भी पढ़ें ः AB Phylline: ए बी फाइलिन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

पेट में दर्द से बचाव: इलायची 

एक साल से ऊपर के बच्चे को इलायची दी जा सकती है। इलायची पोटैशियम, कैल्शियम, आयरन, मैग्नीशियम, विटामिन-सी भरपूर होती है। बच्चे को खाने में एक चुटकी इलायची मिला कर देने से गैस की समस्या नहीं होगी। अगर गैस है तो दिन में दो से तीन बार इलायची देने से दिक्कत दूर हो जाएगी।

पेट में दर्द से बचाव: पेट की सिकाई करें 

बच्चे को पेट में दर्द से निजात दिलाने के लिए उसके पेट की सिकाई करें। गुनगुने पानी में तौलिया भीगा कर बच्चे के पेट पर रखें। जिससे उसे दर्द में आराम होगा।

पेट में दर्द से बचाव: अदरक का सेवन

अदरक का सेवन पेट की समस्या से निजात दिलाता है। अदरक में मौजूद तत्व सूजन को कम करने के साथ ही डायजेशन को सही करते हैं। इससे जी मिचलाने या चक्कर आने की समस्या से भी राहत मिलती है। आप अदरक को पानी और शहद के साथ ले सकते हैं। इसे दिन में दो से तीन बार लिया जा सकता है।

यह भी पढ़ें : खुद ही एसिडिटी का इलाज करना किडनी पर पड़ सकता है भारी!

पेट में दर्द से बचाव: तरल पेय का सेवन

स्टमक फ्लू के दौरान खाना खाने का मन बिल्कुल नहीं करता है। इस दौरान वॉमटिंग, स्वेटिंग या मोशन के थ्रू पानी का लॉस होता है। डिहाइड्रेशन से बचने के लिए पानी के साथ ही तरल पदार्थों का सेवन करें । जितना हो सके एनर्जी ड्रिंक्स लें, ये आपके शरीर को एनर्जी देने के साथ पानी की कमी को भी पूरा करेगी। जिंगर पाउडर या जिंजर कैप्सूल का इस्तेमाल भी किया जा सकता है।

पेट में दर्द से बचाव: पेपरमिंट

स्टमक फ्लू के दौरान कुछ खाने का मन नहीं करता है। ऐसे में पेपरमिंट के प्रयोग से आपके मुख का स्वाद बदलने के साथ ही पेट को राहत राहत मिलेगी। उबकाई से राहत दिलाने के लिए भी मिंट का प्रयोग किया जाता है। मिंट को पानी के साथ उबाल के चाय के रूप में भी लिया जा सकता है।

पेट में दर्द से बचाव: कैमोमाइल

कैमोमाइल का प्लांट पेट में दर्द से राहत दिलाने के लिए अच्छा उपाय है। पेट को रिलेक्सेशन देने के साथ ही इसमें एंटी इन्फामेट्री गुण होते हैं। जी मिचलाने, चक्कर आने, उबकाई की समस्या से राहत दिलाने के लिए इसका प्रयोग कर सकते हैं।

पेट में दर्द से बचाव: दालचीनी और हल्दी

हल्दी बहुत गुणकारी होती है। एंटीसेप्टिक गुण के कारण हल्दी का प्रयोग पेट में दर्द से राहत देगा। दालचीनी से पेट के ऐंठन की समस्या सही हो जाती है।

पेट में दर्द से बचाव: सेब का सिरका

जी मिचलाने की समस्या को दूर करने के लिए इसे प्रयोग किया जा सकता है।

पेट में दर्द से बचाव: नींबू का रस

नीबूं के रस को काले नमक के साथ दिया जा सकता है। नींबू को पानी के साथ भी ले सकते है। इससे पेट दर्द में राहत मिलेगी।

बच्चे बता नहीं पाते हैं कि पेट में दर्द क्यों है। इसलिए बच्चे को लेकर सतर्क रहें। साथ ही उसे बताए गए नुस्खे देने से गैस की समस्या से निजात मिलेगी। इसके अलावा, इन घरेलू उपायों को अपनाने से गैस की समस्या से बच्चे को राहत मिलेगी। हैलो स्वास्थ्य किसी भी तरह की मेडिकल सलाह नहीं दे रहा है। अगर आपको किसी भी तरह की समस्या हो तो आप अपने डॉक्टर से जरूर पूछ लें।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

Was this article helpful for you ?
happy unhappy
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

सर्दियों में पीरियड्स पेन को कहें बाय और अपनाएं ये उपाय

सर्दियों में पीरियड्स पेन की तकलीफ क्यों होती है? सर्दियों में पीरियड्स पेन को दूर करने का क्या है आसान तरीका? Home remedies for periods pain during winter in Hindi.

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Nidhi Sinha

Colospa X Tablet : कोलोस्पा एक्स टैबलेट क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

कोलोस्पा एक्स टैबलेट की जानकारी in hindi, फायदे, लाभ, कोलोस्पा एक्स टैबलेट का उपयोग, इस्तेमाल कैसे करें, कब लें, कैसे लें, कितना लें, खुराक, Colospa X Tablet डोज, ओवरडोज, साइड इफेक्ट्स, नुकसान, दुष्प्रभाव और सावधानियां।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shikha Patel

Drotin-M Tablet : ड्रोटिन-एम टैबलेट क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

ड्रोटिन-एम टैबलेट की जानकारी in hindi, दवा के साइड इफेक्ट क्या है, ड्रोटावेरिन और मेफेनैमिक एसिड दवा किस काम में आती है, रिएक्शन, उपयोग, Drotin-M Tablet

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha

Drotin Plus Tablet : ड्रोटिन प्लस टैबलेट क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

ड्रोटिन प्लस टैबलेट की जानकारी in hindi, दवा के साइड इफेक्ट क्या है, ड्रोटावेरिन और पैरासिटामोल दवा किस काम में आती है, रिएक्शन, उपयोग, Drotin Plus Tablet

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha

Recommended for you

पेट के अल्सर के लिए घरेलू उपचार (Home Remedies for Stomach Ulcer)

पेट के अल्सर के लिए घरेलू उपचार में अपनाएं ये 9 उपाय

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Nidhi Sinha
प्रकाशित हुआ February 2, 2021 . 6 मिनट में पढ़ें
स्टमक फ्लू डायट, stomach flu diet

ये फूड्स और ड्रिंक्स आपको बचाएंगे गैस्ट्रोएंटेरायटिस की समस्या से

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
प्रकाशित हुआ February 2, 2021 . 5 मिनट में पढ़ें
कब्ज के कारण पीठ दर्द (Constipation and back pain)

कॉन्स्टिपेशन और बैक पेन! कहीं आपकी परेशानी ये दोनों तो नहीं?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Nidhi Sinha
प्रकाशित हुआ February 1, 2021 . 5 मिनट में पढ़ें
इरिटेबल बॉवेल सिंड्रोम का यूनानी इलाज (Unani treatment for Irritable bowel syndrome)

इरिटेबल बॉवेल सिंड्रोम (IBS) का यूनानी इलाज कैसे किया जाता है?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Nidhi Sinha
प्रकाशित हुआ January 27, 2021 . 4 मिनट में पढ़ें