home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

बच्चे को फूड एलर्जी से बचाने के लिए अपनाएं ये तरीके

बच्चे को फूड एलर्जी से बचाने के लिए अपनाएं ये तरीके

स्वस्थ्य जीवन की धार बचपन से ही तय होता है। इसके लिए बच्चे को स्वस्थ खाना दे कर आप उसका जीवन स्वस्थ कर सकते हैं। लेकिन, कई बार बच्चों को खाने वाली किसी चीज से फूड एलर्जी (Allergy) हो जाती है। इसके लिए हैलो स्वास्थ्य ने वाराणसी के सृष्टि क्लिनिक के बाल रोग विशेषज्ञ पी. के. अग्रवाल से बात की। डॉ. अग्रवाल ने बताया कि खानपान से संबंधित चीजों से भी ना सिर्फ बच्चों को बल्कि बड़ों को भी एलर्जी हो जाती है।

क्या है फूड एलर्जी (Food Allergy) ?

डॉ. अग्रवाल ने बताया कि खानपान के माध्यम से इंसान के शरीर में कोई बाहरी पदार्थ आता है तो इम्यून सिस्टम उसके प्रति गंभीर प्रतिक्रिया करता है। इसी प्रतिक्रिया को एलर्जी कहते हैं। जिस चीज के खाने से एलर्जी हो जाती है उसे एलर्जन कहते हैं।

यह भी पढ़ें : बच्चों को सर्दी- जुकाम से बचाने के लिए अपनाएं ये 5 डेली हेल्थ केयर टिप्स

एलर्जी के क्या लक्षण हैं?

अगर कोई चीज खाने के बाद पेट में दर्द, सिर दर्द, जी मिचलाना, उल्टी होना, शरीर पर चकते पड़ना, चक्कर आना, शरीर में चुनचुनाहट होना आदि एलर्जी के लक्षण हैं।

फूड एलर्जी के प्रकार

फूड एलर्जी दो तरह की होती है।

फिक्स्ड फूड एलर्जी

इसमें एलर्जी के लक्षण स्पष्ट होते हैं। जिस चीज से बच्चे को एलर्जी होती है, उसे खाते ही उसके शरीर में एलर्जी के लक्षण दिखाई देने लगते हैं।

साइक्लिकल फूड एलर्जी

नाम से ही स्पष्ट है कि एक चक्रीय प्रक्रिया है। ज्यादातर बच्चों को यही एलर्जी होती है। किसी भी एलर्जन के खाने के बाद शरीर तुरंत एलर्जी के लक्षण प्रकट नहीं करता है। जह एलर्जी के लक्षण दिखे तो बच्चे को तुरंत डॉक्टर के पास ले जाएं।

यह भी पढ़ें : स्किन एलर्जी से राहत पाने के 4 आसान घरेलू उपाय

कैसे करें एलर्जन से बचाव

  • सबसे पहले आपको सजग रहना होगा कि क्या खाने से आपके बच्चे को एलर्जी हो सकती है। जिस चीज को खाने से बच्चे को एलर्जी है उसे बैन कर दें। उस फूड को खाने से बच्चे को दोबारा भी एलर्जी हो सकती है।
  • छोटे बच्चों की देखभाल तो आप कर लेती हैं। लेकिन, जब बच्चा बड़ा होने लगता है और स्कूल जाने लगता है तो उसका विशेष ध्यान दें। बच्चे को सिखाएं की वह दूसरों का खाना ना खाए। किसी अन्य व्यक्ति का जूठा खाना ना खाए। ऐसा करने से उसको एलर्जी हो सकती है।
  • बच्चे को कभी भी बाहर का खाना ना खाने दें। कुछ पैरेंट्स बच्चे को स्कूल की कैंटीन से खाने के लिए कहते हैं। ऐसा करना गलत है। आपका बच्चा अगर बाहर जा रहा है तो आप उसे अपने हाथों से बना खाना ही दें। जिससे बच्चे को एलर्जी होने का जोखिम कम रहेगा।
  • बच्चे को साफ-सफाई की आदत सिखाएं। बच्चे को बताएं कि वह स्कूल या कही भी खाता है, उस स्थान को साफ कर के ही बैठे। साथ ही खाने से पहले और खाने के बाद हाथ जरूर धुल ले। साथ ही बच्चे को जिस घर का ही चम्मच से खाना खाने के लिए कहें।

यह भी पढ़ें : Allergy Blood Test : एलर्जी ब्लड टेस्ट क्या है?

कहीं बाहर जाने से पहले रखें इन बातों का ध्यान

  • बच्चा अगर किसी पार्टी में जा रहा है तो आप पहले ही पार्टी वाले स्थान पर बोल दें कि आपके बच्चे को किन फूड्स से एलर्जी है। साथ ही बच्चे को भी समझा कर भेजें कि वह एलर्जी पैदा करने वाली चीजों को ना खाए।
  • अगर आपके बच्चे को किसी फूड से एलर्जी है तो यह बात उसके दोस्तों और स्कूल के टीचर्स को जरूर बताएं। साथ ही उसे बाहर ऐसी चीजें ऑफर करने से मना करें।
  • अगर आप नहीं समझ पा रहे हैं कि आपके बच्चे को किस चीज से एलर्जी है तो उसके लिए एक फूड डायरी बनाएं। जिसमें हर रोज सुबह के नाश्ते से रात के खाने तक में दी गई चीजों का विवरण लिखें। बच्चे को आपने खाने को कब क्या दिया ऐसा लिखने से बच्चे के एलर्जी के इलाज में मदद मिलेगी।
  • कहते है ना कि जागरूकता ही सबसे पहला इलाज है। तो आप बच्चे को पैक्ड फूड देने से पहले पैकेट पर लिखा विवरण ध्यान से पढ़ लें। ताकि आप जान सके कि इसमें कोई ऐसी चीज तो नहीं जो बच्चे को नुकसान करेगी।

इन आसान टिप्स को अपना कर आप बच्चे के अंदर होने वाली एलर्जी से बचा सकती हैं। इसके अलावा किसी भी तरह की परेशानी सामने आने पर आप किसी अच्छे डॉक्टर से जरूर मिलें। ताकि, समय रहते आपके बच्चे का इलाज हो सके।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

5 Ways Parents Can Keep Food-Allergic Children Safe at School https://www.eatright.org/health/allergies-and-intolerances/food-allergies/5-ways-parents-can-keep-food-allergic-children-safe-at-school Accessed on 16/12/2019

9 Ways to Keep Your Child Away From Food Allergens … When You’re Not There https://www.everydayhealth.com/allergy-pictures/ways-to-keep-your-child-away-from-food-allergens-when-youre-not-there.aspx Accessed on 16/12/2019

Managing A Severe Food Allergy https://www.webmd.com/children/features/manging-child-food-allergies#1 Accessed on 16/12/2019

11 Ways to Manage Your Child’s Food Allergies https://www.parents.com/recipes/healthyeating/10-ways-to-manage-your-childs-food-allergies/ Accessed on 16/12/2019

Food allergies in children and teenagers https://raisingchildren.net.au/guides/a-z-health-reference/food-allergies Accessed on 16/12/2019

लेखक की तस्वीर
Dr. Shruthi Shridhar के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Shayali Rekha द्वारा लिखित
अपडेटेड 05/10/2019
x