home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

क्या आपको भी है दवा से एलर्जी? क्या करें जब हो ऐसा?

क्या आपको भी है दवा से एलर्जी? क्या करें जब हो ऐसा?

आमतौर पर दवा किसी बीमारी को ठीक करने के लिए दी जाती है, लेकिन कुछ लोगों के शरीर में दवा के जाते एलर्जिक रिएक्शन शुरू हो जाता है। दरअसल, बीमारियों और संक्रमण से लड़ने वाला हमारा इम्यून सिस्टम किसी ड्रग यानी दवा के खिलाफ जब प्रतिक्रिया करता है तो इसे ही ड्रग एलर्जी (Drug allergy) या दवा से एलर्जी कहते हैं। ड्रग एलर्जी हर किसी को नहीं होती यह कम ही लोगों को होती है। ड्रग एलर्जी से हाइव्स, रैश और फीवर जैसे लक्षणों के साथ ही गंभीर लक्षण भी उभर सकते हैं। ड्रग एलर्जी (Drug allergy) का पता कैसे लगाएं और और इसका उपचार किस तरह से किया जाता है, जानिए इस आर्टिकल में।

ड्रग एलर्जी क्या है और क्यों होती है? (Drug allergy)

इम्यून सिस्टम (Immune system) आपको किसी भी तरह की बीमारी और संक्रमण से बचाने में मदद करता है। यह बाहरी चीजों जैसे वायरस (Viruses), बैक्टीरिया (Bacteria), पैरासाइट (Parasites) और हानिकारक तत्वों से लड़ता है। किसी व्यक्ति को ड्रग एलर्जी (Drug allergy) होने पर आपका इमयून सिस्टम(Immune system) ड्रग यानी दवा को भी बाहरी तत्व समझकर इसके प्रतिक्रिया देता है क्योंकि उसे लगता है कि यह खतरनाक चीज है और इसके खिलाफ एंटीबॉडी बनाने लगता है। एंटीबॉडी (antibodies) खास तरह के प्रोटीन होते हैं जो बाहरी चीजों के शरीर में प्रवेश करने पर उनपर हमला करता है और इस मामले में यह हमला शरीर में प्रवेश करने वाली दवा पर होता है। इम्यून सिस्टम की इस प्रतिक्रिया के फलस्वरूप सूजन बढ़ जाती है जिससे रैश, बुखार और सांस लेने में दिक्कत जैसे लक्षण दिखने लगते हैं।

और पढ़ें :ओरल एलर्जी सिंड्रोम : खाने की चीजों से होने वाली इस एलर्जी के बारे में सुना है आपने?

दवा से एलर्जी क्या हमेशा खतरनाक होती है? (Drug allergy Risks)

हमेशा दवा से एलर्जी के लक्षण गंभीर ही नहीं होते। कई बार ड्रग एलर्जी (Drug allergy) के लक्षण इतने माइल्ड होते हैं कि आपको पता भी नहीं चलता, बस मामूली रैश हो सकता है।

हालांकि कई मामलों में यह गंभीर भी हो सकता है। गंभीर ड्रग एलर्जी (Drug allergy) जानलेवा साबित हो सकती है। इसकी वजह से एनाफलेक्सिस(Anaphylaxis) हो सकता है। एनाफलेक्सिस (Anaphylaxis) किसी दवा या दूसरे एलर्जेन (allergen) से होने वाली अचानक और जानलेवा प्रतिक्रिया है। दवा खाने के कुछ ही मिनट के बाद एनाफलेक्सिस रिएक्शन हो सकता है। हालांकि कुछ मामलों में यह प्रतिक्रिया दवा खाने के 12 घंटे के अंदर भी होती है। इसके लक्षणों में शामिल है-

एनाफलेक्सिस (Anaphylaxis) का यदि समय पर इलाज न किया जाए तो यह जानलेवा साबित हो सकता है। यदि किसी दवा के सेवन के बाद आपको ऊपर बताए गए लक्षणों में से भी कुछ भी दिखे तो तुरंत अस्तपताल के इमरजेंसी नंबर पर फोन करें।

एलर्जिक जैसा रिएकक्शन (Allergic-like reactions)

कुछ दवाओं के पहली बार सेवन के बाद एनाफलेक्सिस (Anaphylaxis) जैसी ही प्रतिक्रिया होती है। दवाएं जो एनाफलेक्सिस (Anaphylaxis) जैसी प्रतिक्रिया करती है, में शामिल है-

  • मॉरफिन (morphine)
  • एस्पिरिन (aspirin)
  • कीमोथेरेपी (chemotherapy) की कुछ दवाएं
  • कुछ एक्स-रे में इस्तेमाल होने वाली डाई

इस तरह की प्रतिक्रिया में इम्यून सिस्टम शामिल नहीं होता है और देखा जाए तो यह सच में कोई एलर्जी नहीं है। हालांकि इसके लक्षण और उपचार एनाफलेक्सिस जैसा ही है और यह उतना ही खतरनाक भी है।

ड्रग एलर्जी और दवा के साइड इफेक्ट में क्या अंतर है?

Drug Allergy - ड्रग एलर्जी

ड्रग एलर्जी (Drug allergy) कुछ लोगों को ही होती है। इसमें हमेशा इम्यून सिस्टम (Immune system) शामिल होता है और इसका हमेशा नकारात्मक असर होता है।

जबिक दवा से साइड इफेक्ट किसी को भी हो सकता है। इसमें इम्यून सिस्टम (Immune system) आमतौर पर शामिल नहीं होता है। साइड इफेक्ट (side effect ) का मतलब है कि दवा से कुछ भी ऐसा प्रभाव होना जो नुकसानदायक या फायदेमंद हो सकता है, लेकिन उसका दवा के मुख्य काम से संबंध नहीं होता है। जैसे एस्पिरिन (Aspirin) का इस्तेमाल दर्द दूर करने के लिए किया जाता है, लेकिन इसका हानिकारक साइड इफेक्ट पेट से जुड़ी परेशानियों के रूप में दिख सकता है। हालांकि इसका उपयोगी साइड इफेक्ट भी जैसे यह हार्ट अटैक (Heart attack ) और स्ट्रोक (Stroke) के खतरे को कम करता है। एसिटामिनोफेन (Acetaminophen) भी दर्द क लिए दी जाती है, इसकी वजह से लिवर क्षतिग्रस्त (Liver damage) हो सकता है। इसके अलावा नाइट्रोग्लिसरीन (Nitroglycerin) जो ब्लड वेसल्स (Blood vessels) को चौड़ा करने के लिए दिया जाता है, वह मेंटल फंक्शन यानी मस्तिष्क की कार्यप्रणाली में सुधार लाने में मदद करता है, यह इसका उपयोगी साइड इफेक्ट है।

और पढ़ें : फूल या घास के संपर्क में आने पर नाक बहने लगे, तो आपको हो सकती है ग्रास एलर्जी!

इन दवाओं से हो सकती है ड्रग एलर्जी (Drugs linked to allergies)

वैसे तो किसी भी दवा से एलर्जी हो सकती है, लेकिन कुछ ऐसी दवाएं है जिनसे एलर्जिक रिएक्शन आमतौर पर अधिक होता है। इनमें शामिल है-

  • एंटीबायोटिक्स (Antibiotics) जैसे पेनिसिलिन (Penicillin)
  • दर्द निवारक दवाएं (Pain-relievers) जैसे एस्पिरिन (Aspirin), आइबुप्रोफेन (Ibuprofen) और नेप्रोक्सन सोडियम (Naproxen sodium)
  • कैंसर के उपचार के लिए इस्तेमाल होने वाली कीमोथेरेपी दवाएं (Chemotherapy drugs)
  • रूमेटाइड आर्थराइटिस (Rheumatoid arthritis) जैसी ऑटोइम्यून बीमारी के लिए ली जाने वाली दवाएं।

नॉन एलर्जिक ड्रग रिएक्शन (Non allergic drug reactions)

कई बार किसी दवा से रिएक्शन के संकेत और लक्षण ड्रग एलर्जी (Drug allergy) की तरह ही दिखते हैं, लेकिन यह रिएक्शन इम्यून सिस्टम की वजह से नहीं होता। इस स्थिति को नॉन एलर्जिक हायपरसेंसिटिविटी रिएक्शन (Non allergic hypersensitivity reaction ) या स्यूडोएलर्जिक ड्रग रिएक्शन (Pseudoallergic drug reaction) कहते हैं। इस स्थिति के लिए निम्न दवाएं जिम्मेदार हो सकती हैं-

  • एस्पिरिन (Aspirin)
  • इमेजिंग टेस्ट में इस्तेमाल होने वाली डाई (Dyes used in imaging tests)
  • दर्द के इलाज में इस्तेमाल होने वाली ओपियेट्स (Opiates for treating pain)
  • लोकल एनेस्थेटिक्स (Local anesthetics)

ड्रग एलर्जी के जोखिम कारक (Drug allergy risk factors)

वैसे को दवा से एलर्जी किसी को भी हो सकती है, मगर कुछ ऐसे कारक है जो इसके जोखिम को बढ़ा देते हैं। इनमें शामिल है-

  • अन्य एलर्जी का इतिहास जैसे फूड एलर्जी (Food allergy) या हे फीवर (Hay fever)
  • परिवार में पहले भी किसी को ड्रग एलर्जी (Drug allergy) हो
  • दवा का हाय डोज या लंबे समय तक कोई दवा लेना
  • कुछ बीमारियां आमतौर पर एलर्जिक ड्रग रिएक्शन से संबंधित हैं जैसे एचआईवी (HIV) या एपस्टीन-बार वायरस से संक्रमण (Epstein-Barr virus)

और पढ़ें : कॉकरोच से होने वाली एलर्जी बन सकती है आपकी मुसीबतों का कारण, ऐसे निपटें इस समस्या से!

ड्रग एलर्जी का निदान (Drug allergy diagnosis)

सही निदान बहुत जरूरी है। कई बार गलत निदान से परेशानी बढ़ सकती है, क्योंकि यदि ड्रग एलर्जी नहीं होने पर भी परीक्षण में एलर्जी की बात आती है तो मरीज को गलत दवा दी जा सकती है। जो उसकी सेहत और बजट दोनों पर भारी पड़ेगी। दवा से एलर्जी के निदान के लिए डॉक्टर आपसे कुछ सवाल करेगा और शारीरिक परीक्षण करेगा। लक्षणों की शुरुआत से लेकर, आपने दवा कब ली और कब आपके लक्षणों में सुधार होता है या ये कब और खराब हो जाते हैं आदि के बारे में सही जानकारी दें, इससे डॉक्टर को निदान में मदद मिलेगी। यदि डॉक्टर को दवा से एलर्जी का संदेह होता है तो आगे के टेस्ट के लिए वह आपको एलर्जी स्पेशलिस्ट (allergy specialist) के पास भेज सकता है, जो निम्न टेस्ट की सलाह दे सकता है।

स्किन टेस्ट (Skin tests)- इस टेस्ट के लिए नर्स या डॉक्टर उस ड्रग की थोड़ी मात्रा त्वचा के जरिए शरीर के अंदर डालता है जिससे एलर्जी का संदेह होता है। स्किन के जरिए दवा अंदर डालने के लिए सुई से त्वचा को छेद किया दाता है, इंजेक्शन या पैच का भी इस्तेमाल किया जा सकता है। टेस्ट से पॉजिटिव रिएक्शन होने पर त्वचा लाल हो जाएगी, खुजली और गांठ जैसी सूजन होगी। पॉजिटिव रिजल्ट का मतलब है कि आपको ड्रग एलर्जी (Drug allergy) हो सकती है।

निगेटिव रिजल्ट के बारे में स्पष्ट रूप से यह नहीं कहा जा सकता कि दवा से एलर्जी नहीं है, क्योंकि कुछ दवाओं के मामले में निगेटिव रिजल्ट का मतलब है कि आपको उस दवा से एलर्जी नहीं है। लेकिन कुछ ऐसी भी दवाएं है जिसके बारे में ऐसा नहीं कहा जा सकता, क्योंकि वह एलर्जी का कारण हो सकती हैं।

ब्लड टेस्ट (Blood tests)- इसके जरिए डॉक्टर यह पता लगाने की कोशिश करता है कि ड्रग एलर्जी के लक्षण क्यों उभर रहे हैं।

और पढ़ें : बेबी एलर्जी: इन्हें सामान्य सर्दी-जुकाम समझने की गलती न करें!

ड्रग एलर्जी का उपचार (Drug allergy treatment)

ड्रग एलर्जी का उपचार कैसे किया जाता है यह इस बात पर निर्भर करता है कि एलर्जी कितनी गंभीर है। यदि आपको दवा से गंभीर एलर्जी है तो उस दवा का इस्तेमाल पूरी तरह से बंद कर दें। इसके अलावा डॉक्टर आपको उसकी जगह कोई अन्य वैकल्पिक दवा भी दे सकता है। जैसे ही दवा से एलर्जिक रिएक्शन हो उसका सेवन तुरंत बंद कर दें और इस बारे में डॉक्टर को बताएं, क्योंकि यदि आप ऐसी दवा का लंबे समय तक सेवन करते हैं तो गंभीर ड्रग रिएक्शन हो सकता है। यदि आपको किसी दवा से थोड़ी एलर्जी है, तो डॉक्टर उसके लिए निम्न दवाएं दे सकता है जो इम्यून सिस्टम की प्रतिक्रिया को रोकने में मदद करता है-

एंटीहिस्टामाइन (Antihistamine)-जब आपका शरीर किसी बाहरी पदार्थ या एलर्जेन को हानिकारक समझकर प्रतिक्रियास्वरूप हिस्टामाइन (histamine) नामक केमिकल बनाने लगता है, जिसकी वजह से शरीर में सूजन, खुजली और अन्य तरह की स्किन एलर्जी हो सकती है। अधिक हिस्टामाइन को बनने से रोकने के लिए एंटीहिस्टामाइन (Antihistamine) दवा दी जाती है। ओवर द काउंटर मेडिसिन टैबलेट, आई ड्रॉप और नेजल स्प्रे के रूप में उपलब्ध है।

कॉर्टिकोस्टेरॉइड (Corticosteroid)- ड्रग एलर्जी होने पर आपकी सांस की नली में सूजन हो सकती है और दूसरे लक्षण भी हो सकते हैं। ऐसे में कॉर्टिकोस्टेरॉइड दवा सूजन कम करने में मदद करती है। यह दवा भी टैबलेट, आई ड्रॉप और नेजल स्प्रे के रूप में उपलब्ध है। इसके अलावा यह पाउडर और लिक्विड फॉर्म में भी मिलती है।

ब्रोंकोडायलेटर (Bronchodilators)- यदि ड्रग एलर्जी की वजह से आपको खांसी या घरघराहट की समस्या है तो डॉक्टर आपको ब्रोंकोडायलेटर (Bronchodilators) देगा। यह दवा आपके श्वसन मार्ग को खोलकर सांस लेने में मदद करता है। यद दवा पाउडर और लिक्विड के रूप में मिलती है जिसका इस्तेमाल नेब्यूलाइजर (Nebulizer) और इनहेलर (inhaler) के रूप में किया जाता है

एपिनेफ्रीन- ड्रग एलर्जी कि वजह से एनाफलेक्सिस होने पर मरीज को तुरंत अस्पताल में भर्ती कराना होता है और उसे एपिनेफ्रीन इंजेक्शन के रूप में दिया जाता है। जिससे मरीज का ब्लड प्रेशर ठीक रहता है और सांस संबंधी परेशानी नहीं होती।

ड्रग एलर्जी (Drug allergy) हमेशा गंभीर नहीं होती। अधिकांश मामलों में यह सामान्य होती है और इससे ज्यादा खतरा नहीं होता है, लेकिन किसी व्यक्ति को किसी खास दवा से गंभीर एलर्जिक रिएक्शन हो सकता है। ऐसे में तुरंत डॉक्टर के पास जाने की जरूरत है। हर दवा के प्रति सभी का शरीर एक सी प्रतिक्रिया नहीं देता, इसलिए जरूरी नहीं कि आपको जिस दवा से एलर्जी है परिवार में भी किसी को उससे एलर्जी हो। ऐसे में मामूली लक्षण दिखने पर भी डॉक्टर से परामर्श करना आवश्यक है ताकि आगे परेशानी न बढ़ें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Toshini Rathod द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 17/06/2021 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x