home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

स्किन एलर्जी से चाहिए छुटकारा, तो पहले जानें इससे जुड़ी जरूरी जानकारी

स्किन एलर्जी से चाहिए छुटकारा, तो पहले जानें इससे जुड़ी जरूरी जानकारी

एलर्जी किसी बाहरी पदार्थ के लिए हमारे इम्यून सिस्टम का रिएक्शन है। इन बाहरी पदार्थों को एलर्जेनस कहा जाता है। इसमें कुछ खाद्य पदार्थ, पराग, या पालतू पशुओं की रूसी आदि शामिल हैं। एलर्जी होना बेहद आम समस्या है और यह किसी को भी हो सकती है। आज हम बात करने वाले हैं स्किन एलर्जीज (Skin Allergies)के बारे में। स्किन एलर्जी किसी एलर्जेन के संपर्क का प्रत्यक्ष परिणाम भी हो सकता है। स्किन एलर्जी कई प्रकार की होती है। जानिए, स्किन एलर्जीज (Skin Allergies) के बारे में विस्तार से। सबसे पहले जानते हैं की हमारी त्वचा क्या काम करती है।

त्वचा क्या है और इसके कार्य क्या हैं? ( What is skin and its functions)

त्वचा हमारे शरीर का सबसे बड़ा अंग है, जो पूरे शरीर को ढकता है। यह हमारे लिए गर्मी, रोशनी, चोट और संक्रमण के खिलाफ एक सुरक्षा कवच का काम करता है। त्वचा कई कार्य करती है जैसे हमें रोगाणुओं से बचाती है और शरीर के तापमान को विनियमित करने में मदद करती है। इसके साथ ही त्वचा टच, गर्मी और ठंड आदि की अनुभूति में हमारी मदद करती है। त्वचा का प्राथमिक कार्य एक बैरियर के रूप में कार्य करना है। संक्षेप में कहा जाए तो त्वचा हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण है। स्किन एलर्जीज (Skin Allergies) या त्वचा की समस्या होने से त्वचा पर लाल, खुजलीदार दाने हो सकते हैं और यह बेहद परेशान करने वाली हो सकती है। जानिए हमारी त्वचा किन-किन स्किन एलर्जीज (Skin Allergies) से प्रभावित हो सकती है।

यह भी पढ़ें : Anthrax (skin): स्किन एंथ्रेक्स क्या है? जानिए इसके कारण, लक्षण और उपाय

विभिन्न प्रकार की स्किन एलर्जीज कौन सी हैं? (Types of Skin Allergies)

स्किन एलर्जीज (Skin Allergies) के कई प्रकार हैं। हर प्रकार की एलर्जी के लक्षण, कारण, उपचार आदि विभिन्न हो सकते हैं। जानिए स्किन एलर्जीज (Skin Allergies) के बारे में विस्तार से:

हाइव्स (hives)

हाइव्स, त्वचा पर पाए जाने वाले खुजली और उभरी हुई पित्ती है। यह आमतौर पर लाल, गुलाबी या मांस के रंग की होती है, और कभी-कभी दर्दनाक हो सकती है। ज्यादातर मामलों में, हाइव्स किसी दवा या खाद्य पदार्थ के लिए एलर्जी की प्रतिक्रिया या पर्यावरण में एक उत्तेजक की प्रतिक्रिया के कारण होती है। यह स्किन एलर्जीज (Skin Allergies) कुछ खाद्य पदार्थों में केमिकल (Chemical), इंसेक्ट बाईट (Insect Bite), धूप के संपर्क में आने (Sun Exposure) या दवाओं (Medicines) के कारण हो सकती है। हालांकि, इसका सही कारण जानना बेहद मुश्किल है।

स्किन एलर्जीज

हाइव्स के प्रकार (Types of Hives)

हाइव्स के कई प्रकार हैं और अलग-अलग हायव्स के कारण, लक्षण और उपचार भी अलग हो सकते हैं।

एक्यूट अर्टिकरिया (Acute Urticaria): हाइव्स की समस्या 6 महीनों से कम समय तक रह सकती है। यह किसी जानवर या कीड़े के काटने, इन्फेक्शन, दवा या खाद्य पदार्थ के कारण हो सकती है। इसके उपचार के लिए प्रयोग होने वाली दवाइयों में एस्पिरिन (Aspirin) और अन्य नॉनस्टेरॉइडल एंटी-इंफ्लेमेटरी दवाइयां (Nonsteroidal Anti-Inflammatory Drugs) शामिल हैं जैसे आइबुप्रोफेन (Ibuprofen), हाय ब्लड प्रेशर की दवाइयां, कोडीन (Codeine) जैसी पेनकिलर आदि शामिल हैं।

क्रोनिक अर्टिकरिया और एंजियोएडेमा (Chronic Urticaria and Angioedema) : इस तरह के हाइव्स को पहचानना बहुत मुश्किल है। क्रोनिक अर्टिकरिया और एंजियोएडेमा हमारे इंटरनल अंगों जैसे फेफड़ों, मांसपेशियों आदि को प्रभावित करते हैं। इसके लक्षण हैं सांस लेने में समस्या, उलटी और डायरिया आदि।

फिजिकल अर्टिकेरिया (Physical urticaria) : यह हाइव्स त्वचा की प्रत्यक्ष शारीरिक उत्तेजना के कारण होती है उदाहरण के लिए, ठंड, गर्मी, कंपन, दबाव, पसीना और व्यायाम।

हाइव्स का निदान और उपचार (Diagnosis and Treatment of Hives)

आपके डॉक्टर हायव्स के कारणों के बारे में जानने के लिए आपसे कुछ सवाल पूछ सकते हैं। इसके लिए कोई टेस्ट नहीं होता। लक्षणों, मेडिकल हिस्ट्री के अनुसार ही आपका उपचार किया जाएगा। हायव्स का सबसे अच्छा उपचार इसके ट्रिगर को पहचानना और उन्हें खत्म करना है, लेकिन यह एक आसान काम नहीं है। लक्षणों से राहत पाने के लिए एंटीहिस्टामाइन (Antihistamine) दी जाती है। अगर यह दवा काम नहीं करती है तो ओरल कॉर्टिकॉस्टेरॉइड्स (Oral Corticosteroids) की सलाह दी जाती है।

एक्जिमा (Eczema)

एक्जिमा एक ऐसी स्थिति है, जिसमें त्वचा में सूजन, खुजली या क्रैक्स आ जाते हैं या त्वचा खुरदुरी हो जाती है। इससे त्वचा में फफोले भी हो सकते हैं। कुछ खाद्य पदार्थ, जैसे नट्स और डेयरी, लक्षणों को बढ़ा सकते हैं। अधिकतर मामलों में एक्जिमा हल्का होता है। इसके सामान्य लक्षण इस प्रकार हैं

एक्जिमा के कारण (Causes of Eczema)

स्किन एलर्जीज (Skin Allergies) में से यह एलर्जी यानी एक्जिमा के कई कारण हैं जो त्वचा को प्रभावित कर सकते हैं, जिनमें से कुछ इस प्रकार हैं:

  • इर्रिटेन्ट्स (Irritants)
  • एलर्जेनस (Allergens)
  • माइक्रोब्स (Microbes)
  • ठंडा और गर्म तापमान (Hot and cold temperatures)
  • तनाव (Depression)
  • हॉर्मोन्स (Hormones)
  • फूड(Food)

निदान और उपचार (Diagnosis and Treatment)

एक्जिमा का निदान इसके लक्षणों के आधार पर किया जाता है। इस समस्या के लिए कोई उपचार मौजूद नहीं है। स्थिति के लिए उपचार का लक्ष्य प्रभावित त्वचा को ठीक करना और लक्षणों को कम करना है। डॉक्टर रोगी की उम्र, लक्षणों और मेडिकल स्थिति के अनुसार उपचार की सलाह दे सकते हैं।

दवाइयां (Medicines)

डॉक्टर आपको कुछ दवाइयां भी दे सकते हैं। यह दवाइयां आपकी मेडिकल स्थिति, उम्र या अन्य चीजों को ध्यान में रख कर दी जाएगी, जैसे:

  • टोपिकल कॉर्टिकोस्टेरॉइड क्रीम्स और ऑइन्ट्मेंट्स (Topical Corticosteroid Creams and Ointments)
  • सिस्टमिक कॉर्टिकॉस्टेरॉइड्स (Systemic Corticosteroids)
  • एंटीबायोटिक्स (Antibiotics)
  • एंटीवायरल और एंटीफंगल मेडिकेशन्स (Antiviral and Antifungal Medications)
  • एंटीहिस्टामिनेस (Antihistamines)
  • टोपिकल इन्हिबिटर्स (Topical Inhibitors)
  • बैरियर रिपेयर मॉइस्चरॉजर (Barrier repair moisturizers)
  • फोटोथेरपी (Phototherapy)

इसके साथ ही डॉक्टर आपको खुद का ख्याल रखने और सावधानियां बरतने के लिए भी कह सकते हैं।

डर्मेटाइटिस (Dermatitis)

स्किन एलर्जीज (Skin Allergies) में से यह एलर्जी यानी डर्मेटाइटिस त्वचा की सूजन के लिए प्रयोग किया जाने वाला एक सामान्य शब्द है। डर्मेटाइटिस के साथ, आपकी त्वचा आमतौर पर सूखी, सूजी हुई और लाल दिखाई देगी। इसके कारण डर्मेटाइटिस के प्रकार के आधार पर भिन्न होते हैं। हालांकि, यह इंफेक्शन नहीं है। इसके लक्षण हलके से लेकर गंभीर तक हो सकते हैं। इसके लक्षण इस प्रकार हो सकते हैं:

  • रैशेज (Rashes)
  • फफोले (Blisters)
  • रूखी और पपड़ीदार (Dry, Cracked skin)
  • त्वचा में खुजली (Itchy Skin)
  • त्वचा में दर्द (Painful skin)
  • लालिमा (Redness)
  • सूजन (Swelling)

योग और स्वास्थ्य से जुड़ी जानकारी के लिए क्लिक करें:

डर्मेटाइटिस के कारण (Causes of Dermatitis)

डर्मेटाइटिस के कारण इसके प्रकार के आधार पर भिन्न हो सकते हैं। कुछ प्रकार, जैसे डिहाइड्रोटिक एक्जिमा (Dehydrotic Eczema), न्यूरोडर्माटाइटिस (Neurodermatitis) आदि के सही कारणों की जानकारी नहीं है। इसका कारण कोई बैक्टीरिया (Bacteria), फंगस (Fungus), खाद्य पदार्थ (Food) आदि हो सकता है। इन स्थितियों में डर्मेटाइटिस का जोखिम बढ़ सकता है। जैसे

स्किन एलर्जीज

निदान और उपचार (Diagnosis and Treatment)

इस समस्या के निदान के लिए डॉक्टर आपसे लक्षणों के बारे में जानेंगे। इसके साथ ही आपकी मेडिकल हिस्ट्री भी पूछी जाएगी। इसमें डॉक्टर आपको स्किन पैच टेस्ट (Skin Patch Test) कराने को भी कह सकते हैं। कुछ मामलों में, आपका त्वचा विशेषज्ञ कारण का पता लगाने में मदद करने के लिए त्वचा की बायोप्सी (Skin Biopsy) कर सकते हैं। डर्मेटाइटिस के लिए उपचार इसके प्रकार, लक्षणों की गंभीरता और कारणों पर निर्भर करता है।

डर्मेटाइटिस के लिए इन दवाइयों और थेरेपी का प्रयोग किया जाता है

यह भी पढ़ें : स्किन पिकिंग डिसऑर्डर क्या होता है, जानें क्यों अजीब है ये समस्या

स्किन एलर्जीज के निदान के लिए टेस्ट्स कौन से हैं? (Test for Skin Allergies)

स्किन एलर्जीज (Skin Allergies) के निदान के लिए कई टेस्ट किए जाते हैं। कुछ टेस्ट्स से एकदम से एलर्जिक रिएक्शनस का पता चल सकता है। अन्य टेस्ट्स से डिलेड एलर्जिक रिएक्शंस (Delayed Allergic Reactions) के बारे में जानकारी मिलती है, जो कई दिनों की अवधि में विकसित होते हैं। यह टेस्ट इस प्रकार हैं:

स्किन प्रिक टेस्ट (Skin Prick Test)

स्किन प्रिक टेस्ट को पंक्चर या स्क्रैच टेस्ट कहा जा सकता है। इसका प्रयोग एक ही बार में 50 से अधिक विभिन्न पदार्थों के लिए तत्काल एलर्जी रिएक्शंस की जांच के लिए किया जाता है। यह टेस्ट आमतौर पर पराग (Pollen), मोल्ड (Mold), पालतू जानवरों की रूसी (Pet Dander), धूल के कण (Dust Particles) और खाद्य पदार्थों (Food) से एलर्जी की पहचान करने के लिए किया जाता है। यह टेस्ट दर्दभरा नहीं होता। स्किन प्रिक टेस्ट (Skin prick test) को करने के लिए टेस्ट साइट को एल्कोहल से साफ करने के बाद आपकी प्रभावित त्वचा में निशान लगाएं जाते हैं और हर निशान के पास एलर्जेन की एक बूंद डाली जाती है। इसके बाद डॉक्टर त्वचा की सतह के एक्सट्रेक्ट को लेने के एक लैंसेट का उपयोग करते हैं।

स्किन को प्रिक करने के पंद्रह मिनटों तक आपकी त्वचा पर एलर्जिक रिएक्शन के लक्षणों को ऑब्ज़र्व किया जाता है। यदि आपको टेस्ट किए गए पदार्थों में से किसी एक से एलर्जी है, तो आपकी त्वचा पर लाल, खुजली वाले छाले आ जाएंगे। इसके बाद इन छालों के साइज को नापा जाएगा और परिणामों को रिकॉर्ड किया जाएगा।

स्किन इंजेक्शन टेस्ट (Skin Injection Test)

स्किन इंजेक्शन टेस्ट में आपकी त्वचा में नीडल की माध्यम से कुछ मात्रा में एलर्जेन को निकला जाएगा। एलर्जी की प्रतिक्रिया के संकेतों के बारे में जानने के लिए 15 मिनट के बाद इंजेक्शन साइट की जांच की जाती है। आपके डॉक्टर इंसेक्ट या पेनिसिलिन से एलर्जी की जांच के लिए इस टेस्ट की सिफारिश कर सकते हैं।

पैच टेस्ट (Patch test)

पैच टेस्ट (Patch Test) आम तौर पर यह देखने के लिए किया जाता है कि क्या कोई विशेष पदार्थ त्वचा में सूजन का कारण है? पैच टेस्ट से डिलेड एलर्जी प्रतिक्रियाओं का पता लगाया जा सकता है, जिसे विकसित होने में कई दिन लग सकते हैं। इसमें किसी नीडल का प्रयोग नहीं किया जाता। इसमें नीडल की जगह पैचेज का प्रयोग किया जाता है। इस टेस्ट में आप 48 घंटे के लिए अपनी बांह या पीठ पर पैच पहनते हैं। इस समय के दौरान, आपको स्नान और उन गतिविधियों से बचना चाहिए जो भारी पसीने का कारण बनते हैं। 48 घंटे बाद इस पैच को हटा दिया जाता है। पैच साइट पर इर्रिटेट त्वचा एक एलर्जी का संकेत हो सकती है।

यह भी पढ़ें :जानें, हमारे शरीर और पुरूषों कि त्वचा के लिए विटामिन सी के फायदे?

स्किन एलर्जीज से बचाव कैसे संभव है? (How to prevent skin allergies)

स्किन एलर्जी हलकी से लेकर गंभीर तक हो सकती है। हालांकि, अधिकतर मामलों में यह समस्या ठीक हो जाती है। लेकिन आप कुछ चीजों का ध्यान रख कर स्किन एलर्जीज (Skin Allergies) से बच भी सकते हैं। यह आसान तरीके इस प्रकार हैं:

  • पसीने से बचें (Avoid sweating) : पसीने को स्किन एलर्जी का एक कारण माना जाता है। अगर आपको बार-बार पसीना आता है तो उसे साफ करते रहें। ऐसे कपड़ें पहनें जो पसीने को सोख लें। शरीर की सफाई पर भी ध्यान दें। बारिश के पानी से भी बचे।
  • पानी पिएं (Drink Enough Water) : ऐसा माना जाता है कि स्किन एलर्जी शरीर में पानी की कमी से भी यह समस्या हो सकती है। इसलिए इस समस्या से बचने के लिए जितना अधिक हो सके पानी पीएं।
  • सही आहार (Eat Right): सही और संतुलित आहार से न केवल आपको स्किन एलर्जी से बचने में मदद मिलेगी बल्कि आपकी स्किन भी निखर जाएगी। अपने आहार में फल, सब्जियों को भरपूर मात्रा में शामिल करें।
  • हेल्दी लाइफस्टाइल अपनाएं (Follow Healthy Lifestyle): अगर आप जीवन में हेल्दी लाइफस्टाइल को अपनाएंगे, तो भी आपको स्किन एलर्जीज (Skin allergies) से बचाव में आसानी होगी। इसके लिए आप व्यायाम करें, पर्याप्त नींद लें और तनाव से दूर रहें। अगर आपको किसी चीज से एलर्जी है, तो उससे भी दूर रहने की कोशिश करें।

Quiz : हेल्दी स्किन के लिए करने चाहिए ये जरूरी उपाय

स्किन एलर्जीज के लिए होम रेमेडीज कौन सी हैं? (Home Remedies for skin allergies)

स्किन एलर्जीज (Skin Allergies) होने की स्थिति में उपचार जरूरी है। लेकिन, आप होम रेमेडीज को भी ट्राई कर सकते हैं। यह होम रेमेडीज से त्वचा को कोई नुकसान नहीं होता है, बल्कि इनसे आपको लाभ ही होगा। जानिए स्किन एलर्जी के लिए इन आसान होम रेमेडीज के बारे में:

नीम (Neem) : नीम को त्वचा के लिए वरदान माना जाता है। इसके एंटीबायोटिक और एंटी बैक्टीरियल गुण (Antibiotic and Antibacterial Properties) त्वचा को हेल्दी बनाने में उपयोगी हैं और इससे स्किन एलर्जीज (Skin Allergies) भी दूर होती हैं। इसके लिए नीम की पत्तियों को पानी में भिगो कर रखने के बाद पीस लें। इसके बाद इसे प्रभावित जगह पर कुछ देर लगाने के रखने के बाद धो दें।

नारियल तेल : नारियल तेल में भी एंटी बैक्टीरियल प्रॉपर्टीज (Anti Bacterial Properties) होती हैं। नारियल के तेल को प्रभावित जगह पर लगा कर रात भर रहने दें। इससे आपकी स्किन एलर्जी जल्दी ठीक होगी।

skin

मेंथोल (Menthol): मेंथोल में कूलिंग इफ़ेक्ट (Cooling Effect) होता है, जो स्किन एलर्जीज (Skin Allergies) को ठीक करने में प्रभावी है। जिस जगह पर एलर्जी है ,उस जगह पर पुदीने से निकले इस एसेंशियल ऑयल को लगाएं। आपको लाभ अवश्य होगा।

बेकिंग सोडा (Baking Soda) : बेकिंग सोडा एंटी-बैक्टीरियल (Antibacterial) गुणों से भरपूर होता है। एलर्जी वाली जगह पर इसे लगाने से भी आप फायदा महसूस कर सकते हैं।

एप्पल साइडर विनेगर (Apple Cider Vinegar): स्किन एलर्जी के मामले में एप्पल साइडर विनेगर भी आपके काम आ सकता है। इसमें एंटीसेप्टिक (Antiseptic) और एंटी-बैक्टीरियल (Antibacterial) गुण होते हैं। कॉटन की मदद से इसे त्वचा में लगाएं और कुछ देर रखने के बाद धो दें। जल्दी ही आपको फायदा होगा।

यह भी पढ़ें: ड्राई स्किन से हैं परेशान? तुरंत फॉलो करें रूखी त्वचा के लिए ये डायट

स्किन एलर्जीज (Skin Allergies) न केवल गंभीर हो सकती हैं बल्कि उनकी वजह से स्वास्थ्य समस्याएं भी हो सकती हैं। इसलिए, इनका कारण कोई भी हो, लेकिन अगर आपको इनका कोई भी लक्षण दिखाई देता है, तो तुरंत मेडिकल हेल्प लें। इसके साथ ही घरेलू नुस्खों को अपना कर भी आपको कुछ हद तक राहत मिल सकती है।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
AnuSharma द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 12/03/2021 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x