आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

बच्चों में ग्रोथ हॉर्मोन की कमी के लक्षण और कारण

बच्चों में ग्रोथ हॉर्मोन की कमी के लक्षण और कारण

ग्रोथ हॉर्मोन (Growth Hormone) एक तरह का प्रोटीन पर आधारित पेप्टाइड हॉर्मोन (Peptide Hormone) है। यह मनुष्यों और अन्य जानवरों में उनके विकास, कोशिका प्रजनन (Cell reproduction) और पुनर्निर्माण को प्रोत्साहित करता है। कई बार बच्चे ग्रोथ हॉर्मोन के कमी से जूझ रहे होते हैं। ऐसी स्थिति में उनका विकास बहुत प्रभावित होता है।

बायो साइंसेज के असिस्टेंट प्रोफेसर रंजन कुमार के मुताबिक ग्रोथ हॉर्मोन को सोमैटोट्रॉपिन (Somatotropin) हॉर्मोन के नाम से भी जाना जाता है। जो मूल रूप से 190 एमिनो एसिड वाला एक प्रोटीन हॉर्मोन है, जिसे पिट्यूटरी ग्रंथि (Pituitary gland) में सोमैटोट्रॉपिन नामक कोशिकाओं द्वारा संश्लेषित और स्रावित किया जाता है। यह बच्चों के विकास और मेटाबॉलिज्म (Metabolism) को बढ़ाने में मददगार होता है। इसकी भूमिका मानव विकास में महत्वपूर्ण होती है।

और पढ़ें : बच्चों के मानसिक तनाव को दूर करने के 5 उपाय

ग्रोथ हॉर्मोन (Growth Hormone) की कमी क्या है?

ग्रोथ हॉर्मोन विकास के लिए बेहद आवश्यक हैं। यह मस्तिष्क के आधार पर एक ग्रंथि में उत्पन्न होता है, जिसे पिट्यूटरी (Pituitary) ग्रंथि कहा जाता है। विकास हॉर्मोन को इसके कई जटिल कार्यों में मदद करने के लिए पूरे शरीर में ब्लड (Blood) पहुंचाया जाता है। जिनमें से सबसे महत्वपूर्ण है, बचपन का विकास। यदि किसी बच्चे में पर्याप्त ग्रोथ हॉर्मोन नहीं होता है, तो विकास बहुत धीमी होती है और इसका असर उनकी हाईट आदि पर भी दिखती है।

ग्रोथ हॉर्मोन कम होने का कारण क्या है? (Cause of Growth Hormone)

ग्रोथ हॉर्मोन की कमी पिट्यूटरी ग्रंथि से ग्रोथ हॉर्मोन के कम या अनुपस्थित स्राव के कारण होती है। यह जन्मजात (जन्म के समय मौजूद होने वाली स्थिति) स्थितियों के कारण हो सकता है। जन्मजात ग्रोथ हॉर्मोन की कमी एक असामान्य पिट्यूटरी ग्रंथि से जुड़ी हो सकती है, या यह किसी अन्य सिंड्रोम का हिस्सा हो सकता है।

सामान्य उम्र बढ़ने में, प्रत्येक दिन स्रावित और स्राव के विकास हॉर्मोन की मात्रा में कमी होती है। यह स्पष्ट नहीं है कि यह मेडिकल तौर से जरूरी है या इसके लिए किसी अतिरिक्त ट्रीटमेंट की आवश्यकता है।

  • बच्चा ग्रोथ हॉर्मोन के दोष के साथ पैदा हो सकता है या बच्चा बाद में भी इस समस्या से पीड़ित हो सकता है। शुरुआत की ग्रोथ हॉर्मोन की कमी के ज्यादातर मामलों के कारणों का ज्ञात नहीं होता है। इसे इडियोपैथिक (Idiopathic) के रूप में जाना जाता है।
  • कई मामलों में इसका कारण मुख्यतः आनुवांशिक होती है। जिसे जेनेटिक सिंड्रोमिक कहते हैं। जेनेटिक का मतलब है कि विकास हॉर्मोन के उत्पादन से जुड़े एक विशिष्ट जीन में एक समस्या हुई होती है। सिंड्रोमिक का अर्थ है कि माता के गर्भ में विकास के दौरान, मस्तिष्क के विकास में समस्या। कुछ मामलों में यह पिट्यूटरी ग्रंथि को भी शामिल करता है और इसलिए यह विकास हॉर्मोन के स्राव को प्रभावित कर सकता है।

और पढ़ें : Parathyroid Hormone Blood Test: पैराथाइराइड हार्मोन ब्लड टेस्ट क्या है?

ग्रोथ हॉर्मोन की कमी के अधिग्रहित कारणों में यह परेशानियां शामिल हैं:

  • ब्रेन ट्यूमर (Brain tumor) और चोट
  • सर्जरी
  • कुछ मामलों में, किसी भी कारण की पहचान नहीं की जा सकती है।

और पढ़ें : प्रोटीन सप्लिमेंट्स लेना सही या गलत? आप भी हैं कंफ्यूज्ड तो पढ़ें ये आर्टिकल

ग्रोथ हॉर्मोन की कमी के लक्षण क्या हैं? (Symptoms of Less Growth hormone)

  • ग्रोथ हॉर्मोन डेफिसिएंसी से ग्रसित बच्चे अपने साथियों की तुलना में छोटे और गोल चेहरे वाले होते हैं। वे पेट के चारों ओर “चर्बीदार” हो सकते हैं, भले ही उनके शरीर का अनुपात सामान्य हो।
  • यदि जीएचडी एक बच्चे में मस्तिष्क की चोट या ट्यूमर बाद में विकसित होता है, जैसे कि , तो इसका मुख्य लक्षण यौवन में देरी से आना है। कुछ उदाहरणों में, यौन विकास रुका हुआ भी होता है।
  • जीएचडी वाले बच्चों में विकास देरी से होता है। और छोटे कद या परिपक्वता की धीमी दर के कारण कम आत्मसम्मान का अनुभव करते हैं। उदाहरण के लिए, युवा महिलाएं स्तन का विकास नहीं कर सकती हैं और युवा पुरुषों की आवाज उनके साथियों के समान दर पर नहीं बदल सकती है।
  • हड्डियों की कमजोरी भी एजीएचडी का एक लक्षण है। इससे वे अधिक फ्रैक्चर हो सकते हैं, विशेष रूप से वयस्क। कम ग्रोथ हार्मोन के स्तर वाले लोग थका हुआ महसूस कर सकते हैं। उनमें सहनशक्ति की कमी हो सकती है। वे गर्म या ठंडे तापमान के प्रति सेंसिटिविटी फील कर सकते हैं।

और पढ़ें : नींद न आने की समस्या और डायबिटीज जानिए कैसे हो सकती है आपके लिए खतरनाक?

मधुमेह (Diabetes) का भी खतरा

डायबिटीज का खतरा निम्नलिखित स्थितियों में हो सकता है। जैसे:

  • एजीएचडी वाले वयस्कों/बच्चों में आमतौर पर उच्च कोलेस्ट्रॉल (High cholesterol) होता है। यह खराब आहार के कारण नहीं है, बल्कि शरीर के मेटाबॉलिज्म में ग्रोथ हार्मोन के निम्न स्तर के कारण होता है। ऐसे वयस्क मधुमेह (Diabetes) और हृदय रोग (Heart disease) के लिए जोखिम अधिक रहते हैं।
  • डायबिटीज लक्षण (Symptoms of Diabetes) बच्चे की उम्र के आधार पर भिन्न होते हैं। बहुत हल्के अपर्याप्तता के लक्षण बाद में एक बच्चे के जीवन में दिखाई देंगे। ग्रोथ हार्मोन की कमी के साथ पैदा हुए शिशुओं में एक नवजात शिशु का आकार होता है और आम तौर पर कोई संकेत नहीं दिखाते हैं, लेकिन लो ब्लड शुगर का स्तर या त्वचा का रंग पीला हो सकता है, जो विकास हॉर्मोन की कमी के अलावा अन्य कारणों से भी हो सकता है।
  • ग्रोथ हॉर्मोन (Growth hormone) की कमी को उसी उम्र के अन्य बच्चों की तुलना में धीमी ग्रोथ के रूप में पहचाना जाता है। अक्सर, बच्चे अपनी उम्र के लिए छोटे दिखते हैं। चेहरे के बीच में हड्डियों का खराब विकास भी अपर्याप्त ग्रोथ हॉर्मोन (Growth hormone) का संकेत है। शारीरिक अनुपात और बुद्धिमत्ता सामान्य रहती है।

और पढ़ें : जानें प्री-टीन्स में होने वाले मूड स्विंग्स को कैसे हैंडल करें

डायबिटीज से जुड़ी खास जानकारी के लिए नीचे दिए इस क्विज को खेलें और डायबिटीज से स्वस्थ रहें।

विभिन्न प्रकार के मनोवैज्ञानिक लक्षण भी हो सकते हैं, जिनमें शामिल हैं:

  • डिप्रेशन (Depression) में रहना।
  • ध्यान की कमी होना या ध्यान केंद्रित करने में परेशानी महसूस होना।
  • कमजोर स्मृति या किसी भी चीज को याद नहीं रख पाना।
  • चिंता या भावनात्मक कमजोर होना।

ग्रोथ हार्मोन की कमी एक या कई अन्य पिट्यूटरी हार्मोन की कमियों से जुड़ी हो सकती है, उदाहरण के लिए जो थायरॉइड (Thyroid) या अधिवृक्क ग्रंथियों (Adrenal glands) को नियंत्रित करते हैं। बच्चों के खानपान और पोषण पर पूरा ध्यान रखने से आप उनके ग्रोथ में बाधा बन रहे कारणों को खत्म कर सकते हैं। हालांकि, कई बार कम ग्रोथ के लिए उनके माता पिता से आए जेनेटिकल लक्षण भी वजह बनते हैं। इस विषय में अधिक जानकारी के लिए आप अपने डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं।

शरीर को स्वस्थ रखने के लिए नियमित योगासन (Yoga) को शामिल करें। योग से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी के लिए नीचे दिए इस वीडियो लिंक पर क्लिक करें।

health-tool-icon

बेबी वैक्सीन शेड्यूलर

इम्यूनाइजेशन शेड्यूल का इस्तेमाल यह जानने के लिए करें कि आपके बच्चे को कब और किन टीकों की आवश्यकता है

आपके बेबी का जेंडर क्या है?

पुरुष

महिला

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Nikhil Kumar द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 08/07/2021 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड