33 महीने के बच्चे की देखभाल के लिए आपको किन जानकारियों की आवश्यकता है?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट May 20, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

विकास और व्यवहार

मेरे 33 महीने के बच्चे को अभी क्या-क्या गतिविधियां करनी चाहिए?

33 महीने के बच्चे में भूत, ड्रैगन, राक्षसों आदि की कल्पना करते हैं इसलिए वे अक्सर अंधेरे से डरने लगते हैं। बच्चे के अंदर इस उम्र में गिनने की क्षमता भी विकसित हो जाती है, वह अपने कदमों को गिनने लगता है। दो साल की उम्र तक बच्चे दो तक गिनती करते हैं और तीन साल की उम्र तक तीन तक गिनती करते हैं। वह दस तक भी गिन सकते हैं, मगर समझ नहीं पाते हैं।

बच्चे को अब किन चीजों के लिए तैयार करना चाहिए?

बच्चे को शांत करने के लिए

  • 33 महीने के बच्चे के डर को गंभीरता से लें। इसे हल्के में न लें और कभी-भी बच्चे की कल्पना का मजाक न उड़ाएं।
  • तर्क न ढूंढें- बच्चे की कल्पना को तर्क से न जोड़ें, उसकी बात सुनकर उसके नजरिए से कमरे को देखें। हो सकता है शायद मकड़ी का जाला या कोई और चीज उसे किसी छाया की तरह दिख रही हो।
  • बच्चा डरे नहीं इसके लिए रात के समय में हॉल में हल्की रोशनी रखें।
  • डरने पर बच्चे को थोड़ा ज्यादा प्यार दें। डर अक्सर बच्चों की अन्य चिंताओं को दर्शाता है। शायद उसे बस आपसे थोड़ा और प्यार चाहिए। रोजाना बच्चे के सोने के पहले का माहौल सुरक्षित और खुशनुमा बनाने की कोशिश करें।

मैथ्स स्किल डेवलप करने के लिए बच्चे को जोड़ना और गिनती सिखाने की बजाय दूसरे तरीके आजमाएं। जैसे-उसे अपने कदम गिनने को कहें या खेल के दौरान ब्लॉक्स गिनने को कहें। अलग-अलग डिजाइन और साइज के ब्लॉक्स गिने। ढेर सारी किताबें पढ़ने से उसकी रीडिंग स्किल्स डेवलप होगी और पेज पर बनें अलग-अलग सिंबल का मतलब समझने में मदद मिलेगी।

यह भी पढ़ें : बनने वाले हैं पिता तो गर्भ में पल रहे बच्चे से बॉन्डिंग ऐसे बनाएं

33 महीने के बच्चे को क्या-क्या खिलाना चाहिए?

33 महीने के बच्चे अधिकतर स्तनपान (breastfeeding) करना छोड़ देते हैं। ऐसे में उनके लिए आवश्यक पोषक तत्वों की पूर्ति का काम भोजन द्वारा किया जाता है। इस समय पेरेंट्स को मालूम होना चाहिए कि वे अपने बच्चों को क्या खिलाएं, जिससे उनको पर्याप्त पोषण मिल सकें। 33 महीने के बच्चे चलना और दौड़ना सीख जाते हैं। इस समय बच्चे की शारीरिक गतिविधियां बढ़ जाती हैं। आपके 33 महीने के बच्चे का शारीरिक विकास सही रूप से हो सके इसलिए उसकी डायट की विशेष योजना तैयार करनी चाहिए। ऐसे में बच्चे के आहार में पपीते, दूध, आम, हरी सब्जियों और गाजर आदि स्वस्थ चीजों को शामिल करें।

यह भी पढ़ें : गर्मियों में शिशु की देखभाल के लिए फॉलो करें ये 7 आसान टिप्स

33 महीने के बच्चे के आहार में पोषक तत्त्व बढ़ाने के तरीके

क्योंकि 33 महीने का बच्चा (लगभग तीन साल का बच्चा) बहुत तेजी डेवलप होता है इसलिए, उसकी बॉडी को ज्यादा पोषकतत्व की जरुरत होती है। ऐसे में आप बच्चों के आहार में पोषक तत्त्व (nutrients) बढ़ाने के लिए ये टिप्स अपना सकती हैं:

काजू और बादाम जैसे ड्राई फ्रूट्स को तवे पे हल्का भून कर उसे ग्राइंडर में पीस लें। पिसे हुए काजू और बादाम को हलवा या पुडिंग में करके दें। इसके अलावा एक गिलास दूध में पीसा पाउडर डालकर भी दे सकती हैं। बच्चे को ब्रेड आदि खिलाते समय उसमें बटर लगाकर दें। आप बच्चे को ऑमलेट (omelet) भी दे सकते हैं।

यह भी पढ़ें : Stomach Tumor: पेट में ट्यूमर होना कितना खतरनाक है? जानें इसके लक्षण

33 महीने के बच्चे के लिए डेयरी प्रोडक्ट्स

दूध, दही और पनीर सभी कैल्शियम से भरपूर होते हैं। अपने 33 महीने के बच्चे के लिए आहार में कैल्शियम शामिल करें। इससे हड्डियों के निर्माण और मजबूत होने में सहायता करता है।

33 महीने के बच्चे के लिए माता-पिता फॉलो करें ये टिप्स

  • 33 महीने के बच्चे को जरुरत सी ज्यादा न खिलाएं। जब बच्चा न खाना चाहे तो रुक जाएं।
  • बच्चे को फास्ट फूड्स और स्नैक्स (चिप्स) आदि से दूर रखें।
  • बच्चे को छोटे-छोटे निवालों में ही भोजन खिलाएं।
  • 33 महीने के बच्चे में खाने की अच्छी आदतें डालें।
  • रात का खाना बच्चे को जल्दी करा दें ताकि सोते समय तक खाना पचने लगे।
  • बच्चे से संतुलित आहार के विषय में बात करें। उन्हें समझएं की पौष्टिक आहार कैसे उनके लिए लाभदायक है और यह उनके स्वास्थ्य के लिए कैसे अच्छा है।

होने वाले हैं जुड़वां बच्चे तो रखें इन बातों का ध्यान

डॉक्टर के पास कब जाएं?

बच्चे से जुड़े किन विषयों पर डॉक्टर से बात करनी चाहिए?

बच्चे की रात में बिस्तर गीला करने की आदत से आपकी नींद खराब हो जाती है। यह अभी तक साफ तौर पर पता नहीं चल पाया है कि कुछ बच्चे रात में बिस्तर पर पेशाब क्यों करते हैं? हालांकि, यह समस्या काफी आम है। खासतौर पर लड़कों में या हाल ही में पॉटी ट्रेनिंग लेने वाले बच्चों में। बिस्तर गीला करने की वजह बच्चे का गहरी नींद में सोना, ब्लैडर छोटा होना या सेंट्रल नर्वस सिस्टम का धीमा विकास माना जाता है। यह आनुवंशिक समस्या भी हो सकती है। इस बारे में अपने डॉक्टर से सलाह लें।

बार बार पेशाब आना : इस समस्या को दूर कर देंगे ये आसान घरेलू उपाय

डॉक्टर को क्या बताएं?

यदि आपको लगता है कि आपका बच्चा ठीक से बोल नहीं पा रहा है या अचानक से उसका विकास रुक गया है तो अपने डॉक्टर को बताएं। एक स्पीच लैंग्वेज पैथोलॉजिस्ट द्वारा ऑडियोलॉजी स्क्रीन और मूल्यांकन के बाद ही यह पता चलता है कि सुनने की कम क्षमता जैसी कोई गड़बड़ी है। डॉ. इस मामले में मदद के लिए इंटरवेंशन प्लान तैयार करता है।

बच्चों के विकास के लिए उनकी डायट में शामिल करें ये सुपरफूड

क्या उम्मीद करें?

बच्चे के स्वास्थ्य से संबंधित और किन चीजों का ध्यान रखना चाहिए ?

कभी-कभार बच्चे को हल्का बुखार आ सकता है। हो सकता है यह उसके आखिरी दांत (दूसरी दाढ़) आने के कारण हो, जो आमतौर पर 20 से 33 महीने के बीच आते हैं। दांढ़ आने पर बच्चे को दर्द होता है क्योंकि यह बाकी दांत के मुकाबले थोड़े बड़े होते हैं। दर्द की वजह से बच्चे रात में नींद से उठकर रोने लगते हैं।

ऊपर बताए गए 33 महीने के बच्चे के लिए आहार टिप्स आपके बच्चे की ग्रोथ के लिए जरूरी हैं। बच्चे के अच्छे स्वास्थ्य के लिए पेरेंट्स इनको जरूर अपनाएं। उम्मीद करते हैं कि आपको यह आर्टिकल पसंद आया होगा। इस आर्टिकल में 33 महीने के बच्चे से जुड़ी हुई सारी जानकारी देने की कोशिश की गई है। आपको यह लेख कैसा लगा? हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। साथ ही अगर आपका इस विषय से संबंधित कोई भी सवाल या सुझाव है तो वो भी हमारे साथ शेयर कर सकते हैं।

हैलो स्वास्थ्य का न्यूजलेटर प्राप्त करें

मधुमेह, हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर, मोटापा, कैंसर और भी बहुत कुछ...
सब्सक्राइब' पर क्लिक करके मैं सभी नियमों व शर्तों तथा गोपनीयता नीति को स्वीकार करता/करती हूं। मैं हैलो स्वास्थ्य से भविष्य में मिलने वाले ईमेल को भी स्वीकार करता/करती हूं और जानता/जानती हूं कि मैं हैलो स्वास्थ्य के सब्सक्रिप्शन को किसी भी समय बंद कर सकता/सकती हूं।

और भी पढ़ें :

फेफड़ों में इंफेक्शन के हैं इतने प्रकार, कई हैं जानलेवा

इन बातों का रखें ध्यान, नहीं होगी छोटे बच्चे के पेट में समस्या

बच्चे के लिए प्री-स्कूल का पहला दिन, ये तैयारियां करें पेरेंट्स

Child Tantrums: बच्चों के नखरे का कारण कैसे जानें और इसे कैसे हैंडल करें

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

Was this article helpful for you ?
happy unhappy
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

स्तनपान है बिल्कुल आसान, मानसिक रूप से ऐसे रहें तैयार

स्तनपान एक लंबी और महत्वपूर्ण प्रक्रिया है, जिसके लिए मानसिक रूप से तैयारी बहुत जरूरी है। आइए, इस बारे में एक्सपर्ट से जानते हैं, कि खुद को ब्रेस्टफीडिंग के लिए कैसे तैयार करें और क्यों... Breastfeeding is a mind game and you can win it too!

के द्वारा लिखा गया Sanket Pevekar
स्तनपान, बेबी, पेरेंटिंग August 2, 2020 . 1 मिनट में पढ़ें

डिलिवरी के बाद अवसाद की समस्या से कैसे पाएं छुटकारा

डिलिवरी के बाद अवसाद की समस्या का कई महिलाओं को सामना करना पड़ता है, जिसे मेडिकल भाषा में पोस्टपार्टम डिप्रेशन कहते हैं। यह क्यों होता है और इससे कैसे छुटकारा बताएं, इस बारे में बता रही हैं हमारी एक्सपर्ट। Postpartum depression

के द्वारा लिखा गया Sanket Pevekar

विभिन्न प्रसव प्रक्रिया का स्तनपान और रिश्ते पर प्रभाव कैसा होता है

डिलिवरी का तरीका आपके स्तनपान की प्रक्रिया के साथ-साथ शिशु और मां के बीच के रिश्ते पर भी असर डालता है। इस बारे में विस्तार से चर्चा कर रही हैं हमारी चाइल्डबर्थ एजुकेटर Divya Deswal… How do Different Birthing Practices Impact Breastfeeding and Bonding

के द्वारा लिखा गया Sanket Pevekar
स्तनपान, बेबी, पेरेंटिंग August 2, 2020 . 1 मिनट में पढ़ें

ब्रेस्टफीडिंग बनाम फॉर्मूला फीडिंग: क्या है बेहतर?

शिशु के विकास के लिए स्तनपान और फॉर्मूला मिल्क में से क्या बेहतर है, जिससे उसे पर्याप्त पोषण मिल सके। जिंदगी के शुरुआती चरण में शिशु को अगर पर्याप्त पोषण मिलता है, तो वह जिंदगीभर कई बीमारियों व संक्रमणों से दूर रहता है। Breastfeeding vs Formula Feeding

के द्वारा लिखा गया Sanket Pevekar
स्तनपान, बेबी, पेरेंटिंग August 2, 2020 . 1 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

स्कूल के बच्चों का स्वास्थ्य

स्कूल के बच्चों का स्वास्थ्य कैसा होना चाहिए, जानिए उनके लिए सही आहार और देखभाल के तरीके के बारे में

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया AnuSharma
प्रकाशित हुआ February 22, 2021 . 7 मिनट में पढ़ें
बच्चों का स्वास्थ्य (1-3 साल)

जानिए टॉडलर्स और प्रीस्कूलर्स बच्चों के स्वास्थ्य और देखभाल के बारे में

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया AnuSharma
प्रकाशित हुआ February 20, 2021 . 7 मिनट में पढ़ें
स्तनपान

कोरोना वायरस महामारी के दौरान न्यू मॉम के लिए ब्रेस्टफीडिंग कराने के टिप्स

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
प्रकाशित हुआ August 6, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
ब्रेस्टफीडिंग के 1000 दिन

जानें ब्रेस्टफीडिंग के 1000 दिन क्यों है बच्चे के जीवन के लिए जरूरी?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha
प्रकाशित हुआ August 2, 2020 . 7 मिनट में पढ़ें