बनने वाले हैं पिता तो गर्भ में पल रहे बच्चे से बॉन्डिंग ऐसे बनाएं

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट अगस्त 5, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

जब बच्चा मां के पेट में होता है तो मां के साथ उसकी बॉन्डिंग आसानी से बन जाती है। पिता के लिए ये काम मुश्किल होता है। कहते हैं कि जब मां के पेट में बच्चा पल रहा होता है उस समय पिता के मन में बच्चे की छवि बन रही होती है। पिता के लिए बच्चे से बॉन्डिंग बनाना थोड़ा कठिन हो जाता है। फिर भी कुछ प्रयास किए जाए तो बच्चे से बॉन्डिंग बनाना आसान हो जाता है। इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको कुछ ऐसे टिप्स देंगे जिनके माध्यम से आप आने वाले बच्चे से बेहतर बॉन्डिंग बनाने में सफल हो सकते हैं।

और पढ़ें : कैसे स्ट्रेस लेना बन सकता है इनफर्टिलिटी की वजह?

बेबी के स्कैन से करें बॉन्डिंग की शुरुआत

भले ही आने वाले बच्चे की खुशखबरी सुनकर पिता अपने मन में बच्चे की छवि बना लेता हो, लेकिन बच्चे की छवि को देखने के लिए आपको स्कैन की जरूरत पड़ेगी। प्रेग्नेंसी के 26 से 32वें सप्ताह के दौरान जब आपकी पार्टनर अल्ट्रासाउंड के लिए जाए, तो आप भी उसके साथ जाए। इस दौरान आप बच्चे की छवि देख सकते हैं। साथ ही उसके किक करने का अंदाज आपके मन को भा जाएगा। आज के समय में 4D स्कैन पॉपुलर है। आप बच्चे की स्कैन फोटो को ले सकते हैं। आप चाहे तो स्कैन को वॉलपेपर के रूप में या मोबाईल सेवर में भी लगा सकते हैं। ये प्रॉसेस आपकी बच्चे से बॉन्डिंग को बढ़ाने का काम करेगा।

और पढ़ें : किन मेडिकल कंडिशन्स में पड़ती है आईवीएफ (IVF) की जरूरत?

बच्चे से बॉन्डिंग के लिए करें बातें

23 हफ्ते के बाद आपके बच्चे की सुनने की क्षमता विकसित हो जाती है। जब आपको महसूस हो कि बच्चा पेट में किक कर रहा है तो उस दौरान आप बच्चे से बातें कर सकते हैं। पापा तुम्हारा इंतजार कर रहे हैं, जैसी प्यारी बातें आप उससे कह सकते हैं या फिर कुछ भी ऐसा जो अपने नन्हे के साथ शेयर करना चाहते हो। भले ही बच्चा आपकी बातें नहीं समझ पाएगा, लेकिन वो आपकी आवाज को पहचानने लगेगा। बच्चे से बॉन्डिंग बनाने का ये सबसे अच्छा तरीका है।

और पढ़ें :  आईवीएफ से जुड़े मिथ, जान लें क्या है इनकी सच्चाई?

पेरेंटिंग क्लासेस का बनें हिस्सा

पेरेंटिंग क्लासेस के दौरान बच्चे के होने वाले माता-पिता को प्रेग्नेंसी के दौरान की जरूरी बातों के साथ ही लेबर और डिलिवरी से जुड़ी जरूरी  जानकारी दी जाती है। आप अपने पार्टनर के साथ क्लास का हिस्सा जरूर बनें। ऐसा करने से आपका बच्चे के साथ जुड़ाव बढ़ेगा। आप चाहे तो क्लास में बच्चे के साथ पिता की बॉन्डिंग के बारे में भी जानकारी ले सकते हैं। आप चाहे तो पिता के साथ बच्चे की बॉन्डिंग की जुड़ी किताबों को भी पढ़ सकते हैं। ये सभी जानकारी आपकी नॉलेज को बढ़ाएंगी और आप अपने बच्चे के साथ अधिक जुड़ाव महसूस करेंगे।

और पढ़ें : क्या प्रेग्नेंसी कैलक्युलेटर की गणना हो सकती है गलत?

गर्भ में बच्चे से बॉन्डिंग:  बॉन्डिंग के लिए लें संगीत का सहारा

हो सकता है कि आपको गुनगुना पसंद हो। अगर ऐसा है तो संगीत के माध्यम से आप अपने बच्चे के साथ जुड़ाव महसूस कर सकती हैं। जो भी गाना आपको पसंद हो वो बेबी बंप पर के पास गुनगुनाएं। बच्चा आपके गाने की लय को कुछ समय बाद महसूस करने लगेगा। अगर आपको गाना नहीं आता है तो परेशान होने की जरूरत नहीं है। आप अपना पसंदीदा गाना प्ले भी कर सकते हैं। ये भी बच्चे के साथ बॉन्डिंग बनाने का बेहतरीन तरीका है।

और पढ़ें : वर्किंग मदर्स की परेशानियां होंगी कम अपनाएं ये Tips

आखिर उसे क्या पसंद आएगा?

आपको अपने बचपन की हॉबी तो याद होंगी। आपके मन में इस दौरान ये ख्याल जरूर आ सकता है कि आखिर बच्चे को क्या पसंद होगा। आप चाहे तो अपनी पसंदीदा बुक की स्टोरी या फिर कविता को इस दौरान याद कर सकते हैं। कविता या स्टोरी को आप बेबी बंप में हाथ फिराते हुए पढ़ें। जब बच्चा थोड़ा बढ़ा हो जाएगा और फिर आप उसके सामने वहीं कविता और स्टोरी दोहराएंगे तो हो सकता है उसे पसंद आ जाए। अध्ययन के दौरान ये बात सामने आई है कि बच्चा पेट में रहने के दौरान जो ध्वनियां सुनता है, पैदा होने के बाद वहीं ध्वनि सुनाई जाती है तो उसका रिस्पॉन्स पॉजिटिव आता है। ये भी बच्चे से बॉन्डिंग बनाने का अच्छा तरीका है।

हैलो स्वास्थ्य का न्यूजलेटर प्राप्त करें

मधुमेह, हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर, मोटापा, कैंसर और भी बहुत कुछ...
सब्सक्राइब' पर क्लिक करके मैं सभी नियमों व शर्तों तथा गोपनीयता नीति को स्वीकार करता/करती हूं। मैं हैलो स्वास्थ्य से भविष्य में मिलने वाले ईमेल को भी स्वीकार करता/करती हूं और जानता/जानती हूं कि मैं हैलो स्वास्थ्य के सब्सक्रिप्शन को किसी भी समय बंद कर सकता/सकती हूं।

गर्भ में बच्चे से बॉन्डिंग:  अपनी पसंद का ला सकते हैं सामान

अगर एक पिता डॉक्टर है तो उसका मन हो सकता है कि आने वाला बच्चा भी डॉक्टर बने। वैसे तो ये जरूरी नहीं होता है, लेकिन पिता की बच्चे को लेकर कुछ ख्वाहिश हो सकती है। ऐसे में बच्चे के लिए मेडिकल किट से लेकर अन्य सामान को सजावट के तौर पर खरीदा जा सकता है। भले बच्चा पैदा होने के बाद कुछ समय तक इन चीजों को नहीं समझेगा, लेकिन कई समय तक एक जैसा सामान देखकर बच्चे को उस चीज के लिए उत्साह बढ़ जाएगा। ये बच्चे के पैदा होने के बाद की तैयारी है, लेकिन आप इसे प्रेग्नेंसी के दौरान भी अपना सकते हैं। बच्चे के लिए पहले से उसका रूम सजाना भी एक तरह से बच्चे के साथ अच्छी बॉन्डिंग तैयार करना होता है।

और पढ़ें : अनचाही प्रेग्नेंसी (Pregnancy) से कैसे डील करें?

गर्भ में बच्चे से बॉन्डिंग:  बच्चे से बॉन्डिंग के लिए अपनाए ये ट्रिक

जब बच्चा मां के पेट में होता है तो पिता कुछ तरीकों का इस्तेमाल करके बच्चे से बॉन्डिंग बना सकते हैं। बच्चे के पैदा होने के बाद उसका ज्यादातर समय मां के साथ ही गुजरता है। ऐसे में बच्चे से बॉन्डिंग बनाने के लिए पिता कुछ खास तरीके अपना सकते हैं।

सोफे पर लेटने के बाद बच्चे को अपने पास लिटाएं। अब उसकी हार्टबीट को सुनें। ऐसा करने से आपको सुखद अनुभव होगा। बच्चों को माता-पिता की गोद में बहुत सुकून मिलता है। बच्चा थोड़ी देर खेलने के बाद अपने आप ही आपके ऊपर सो जाएगा। एक पिता के लिए बच्चे से बॉन्डिंग बनाने का ये सबसे अच्छा तरीका है। आप चाहे तो इस काम को रोजाना कर सकते हैं। ऐसा करने से बच्चे को आपका साथ भाने लगेगा और अच्छी बॉन्डिंग भी हो जाएगी। आप के इस प्रयास से जहां एक ओर आपकी बॉन्डिंग बच्चे से बनेगी, वहीं दूसरी ओर मां को भी थोड़ी देर से के लिए रिलैक्स मिल जाएगा।

माता-पिता बच्चे के आने की खबर सुनकर उत्साहित हो जाते हैं। वे प्रेग्नेंसी के दौरान ही आने वाले बच्चे को लेकर बहुत कुछ सोच लेते हैं। आपको एक बात का ध्यान रखना चाहिए कि बच्चे के आने के बाद जरूरत से ज्यादा बातों को लेकर अपेक्षा न रखें। जरूरी नहीं है कि जो आपको पसंद हो, वो बच्चा भी पसंद करें। बॉन्डिंग रिश्तों को मजबूत करने का काम करती है। हैलो हेल्थ ग्रुप किसी प्रकार की चिकित्सा, उपचार या निदान प्रदान नहीं करता।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

Electronystagmography: इलेक्ट्रोनिस्टेग्मोग्राफी क्या है?

जानिए इलेक्ट्रोनिस्टेग्मोग्राफी (Electronystagmography) की जानकारी मूल बातें, टेस्ट कराने से पहले जानने योग्य बातें, Electronystagmography क्या होता है, इलेक्ट्रोनिस्टेग्मोग्राफी के रिजल्ट और परिणामों को समझें |

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Hemakshi J
के द्वारा लिखा गया Anu sharma
मेडिकल टेस्ट A-Z, स्वास्थ्य ज्ञान A-Z मई 4, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

Fetal Ultrasound: फेटल अल्ट्रासाउंड क्या है?

फेटल अल्ट्रासाउंड (Fetal Ultrasound) की जानकारी मूल बातें, टेस्ट कराने से पहले जानने योग्य बातें, Fetal Ultrasound क्या होता है, फेटल अल्ट्रासाउंड के रिजल्ट और परिणामों को समझें |

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Hemakshi J
के द्वारा लिखा गया Anu sharma
मेडिकल टेस्ट A-Z, स्वास्थ्य ज्ञान A-Z मई 4, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

पैसिफायर या अंगूठा चूसना बच्चे के लिए क्या दोनों गलत है?

इस लेख में जानें की बच्चों के लिए पैसिफायर या अंगूठा चूसना दोनों में से अधिक फायदेमंद क्या होता है। Pacifier vs thumb sucking in Hindi

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shivam Rohatgi
पेरेंटिंग टिप्स, पेरेंटिंग अप्रैल 27, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

पेरेंटिंग का तरीका बच्चे पर क्या प्रभाव डालता है? जानें अपने पेरेंटिंग स्टाइल के बारे में

जानें पेरेंटिंग का तरीका आपके बच्चे के विकास पर क्या असर डालता है। साथ ही पढ़ें की आप कैसे पेरेंट्स हैं। Effects of parenting style on children in Hindi.

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shivam Rohatgi
पेरेंटिंग टिप्स, पेरेंटिंग अप्रैल 24, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

न्यू मॉम के लिए सेल्फ केयर व पेरेंटिंग हैक्स और बॉडी इमेज - Parenting Hacks, Self Care for New Moms, Body Image

न्यू मॉम के लिए सेल्फ केयर व पेरेंटिंग हैक्स और बॉडी इमेज

के द्वारा लिखा गया Sanket Pevekar
प्रकाशित हुआ अगस्त 1, 2020 . 1 मिनट में पढ़ें
3 साल के बच्चे का डाइट प्लान/3 year kid diet paln

3 साल के बच्चे का डायट प्लान फॉलो करते समय किन बातों का रखना चाहिए ध्यान

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Anu sharma
प्रकाशित हुआ जुलाई 22, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
हार्टबीट से सेक्स का पता, heart rate and sex determination

लड़का या लड़की : क्या हार्टबीट से बच्चे के सेक्स का पता लगाया जा सकता है?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
प्रकाशित हुआ मई 14, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
हेलीकॉप्टर पेरेंट्स

कहीं आप तो नहीं हैं हेलीकॉप्टर पेरेंट्स?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
प्रकाशित हुआ मई 4, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें