backup og meta

Ibuprofen on empty stomach: क्या खाली पेट आइबूप्रोफेन लेना सेफ है?

के द्वारा मेडिकली रिव्यूड डॉ. प्रणाली पाटील · फार्मेसी · Hello Swasthya


AnuSharma द्वारा लिखित · अपडेटेड 01/04/2022

Ibuprofen on empty stomach: क्या खाली पेट आइबूप्रोफेन लेना सेफ है?

आइबूप्रोफेन (Ibuprofen) वो सबसे सामान्य ओवर-द-काउंटर दवाई है, जिसका इस्तेमाल कई सामान्य बीमारियों की स्थिति में किया जाता है। जैसे दर्द, इंफ्लेमाशन और फीवर आदि के उपचार के लिए। यह एक नॉन स्टेरॉइडल एंटी-इंफ्लामेटरी ड्रग है। यह शरीर के कुछ खास नैचुरल सब्सटेंस के उत्पादन को ब्लॉक करके काम करती है, जो सूजन का कारण बनते हैं। आज हम आपको जानकारी देने वाले हैं कि खाली पेट आइबूप्रोफेन लेना (Ibuprofen on empty stomach) सेफ है या नहीं? क्या खाली पेट आइबूप्रोफेन लेना (Ibuprofen on empty stomach) कितना सुरक्षित है, यह जानने से पहले आइबूप्रोफेन के बारे में जान लेते हैं।

आइबूप्रोफेन (Ibuprofen) के बारे में पाएं जानकारी

आइबूप्रोफेन (Ibuprofen) का उपयोग विभिन्न कंडिशंस में दर्द से राहत पाने के लिए किया जाता है जैसे सिर दर्द, दांत में दर्द, मेंस्ट्रुअल क्रैम्प्स, मसल्स में दर्द और अर्थराइटिस आदि। बुखार को कम करने और सामान्य कोल्ड और फ्लू की स्थिति में भी यह दवा ली जा सकती है। जैसा कि पहले ही बताया गया है कि यह एक नॉन स्टेरॉइडल एंटी-इंफ्लेमेटरी ड्रग यानि NSAID है, जो इंफ्लामेशन का कारण बनने वाले खास नैचुरल सब्स्टेंस को ब्लॉक करने का काम करती है।

इस इफेक्ट से सूजन, दर्द और बुखार को कम होने में मदद मिलती है। अगर आप क्रॉनिक कंडिशंस जैसे आर्थराइटिस के उपचार के लिए इसे ले रहे हैं, तो डॉक्टर से सलाह के बाद ही इसे लें। डॉक्टर इस दवा को अकेले या अन्य दवाइयों के साथ लेने की सलाह दे सकते हैं। इसकी डोज रोगी की मेडिकल कंडिशन और ट्रीटमेंट के रिस्पांस पर निर्भर करती है। यही नहीं, इसके कुछ साइड इफेक्ट्स भी हो सकते हैं। अब जानते हैं खाली पेट आइबूप्रोफेन लेना (Ibuprofen on empty stomach) सही है या नहीं?

और पढ़ें: Ibuprofen : आइबूप्रोफेन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

क्या खाली पेट आइबूप्रोफेन लेना सुरक्षित है (Ibuprofen on empty stomach)?

हालांकि, आइबूप्रोफेन (Ibuprofen) को खाली पेट लेने से गंभीर गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल साइड इफेक्ट्स का रिस्क कम होता है। किंतु, इसे लेने के बाद कुछ जोखिम हो सकते हैं जो रोगी की उम्र, प्रयोग की अवधि, डोज और रोगी की हेल्थ कंडिशन पर निर्भर करते हैं। यही नहीं, इस दवा का प्रभाव रोगी के प्रोस्टाग्लैंडीन (Prostaglandin) लेवल पर पड़ता है और यह गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल साइड इफेक्ट्स का कारण बन सकती है। दरअसल प्रोस्टाग्लैंडीन (Prostaglandin) का एक फंक्शन है पेट का प्रोटेक्शन करना। प्रोस्टाग्लैंडीन स्टमक एसिड को कम करते हैं और म्यूकस प्रोडक्शन को बढ़ाते हैं।

अगर आइबूप्रोफेन (Ibuprofen) को अधिक डोज में या लंबे समय तक लिया जाए, तो कम प्रोस्टाग्लैंडीन का उत्पादन होता है। इससे स्टमक एसिड बढ़ेगा और स्टमक लायनिंग को नुकसान होता है, जिससे कई परेशानियां हो सकती है। गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल साइड इफेक्ट्स कई फैक्टर्स पर निर्भर करते हैं, जैसे:

प्रयोग की अवधि (Length of use)

जब आइबूप्रोफेन (Ibuprofen) को लंबे समय तक लिया जाता है, तो शार्ट टर्म में इसे लेने की तुलना में गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल से संबंधित प्रॉब्लम्स होने की संभावना बढ़ सकती है।

खाली पेट आइबूप्रोफेन लेना और डोज (Dose)

इस दवा को लंबे समय तक और अधिक मात्रा में लेने से भी गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल समस्याएं बढ़ सकती हैं।

खाली पेट आइबूप्रोफेन लेना, Ibuprofen on empty stomach

और पढ़ें: आइबूप्रोफेन या पेरासिटामोल: कोरोना वायरस के लक्षण महसूस होने पर कौन-सी दवा लें?

खाली पेट आइबूप्रोफेन लेना और अन्य हेल्थ कंडिशंस (Other health conditions)

कुछ खास हेल्थ कंडिशंस से भी इस समस्या के साइड इफेक्ट्स बढ़ सकते हैं। यह साइड इफेक्ट्स इस प्रकार हैं:

और पढ़ें: इजी डायजेस्टिव फूड के बारे में जाने यहां और अपने पाचन को दे आराम…

अन्य फैक्टर्स (Individual factors)

कुछ अन्य फैक्टर्स भी आइबूप्रोफेन (Ibuprofen) को लेने के बाद साइड इफेक्ट्स का कारण बन सकते हैं, जैसे:

  • अधिक उम्र के लोगों को इस दवा को लेने के बाद साइड इफेक्ट्स का जोखिम अधिक रहता है। इसलिए, आइबूप्रोफेन (Ibuprofen) को लेने से पहले इसके बारे में डॉक्टर से अवश्य जान लें।
  • अगर आपको हार्ट, किडनी, हाय ब्लड प्रेशर या अन्य क्रॉनिक मेडिकल कंडिशंस हो, तो भी इसे लेने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य लें। खाली पेट आइबूप्रोफेन लेना (Ibuprofen on empty stomach) सुरक्षित है या नहीं यह आप जान गए होंगे। अगर आपको पास्ट में मेडिकेशन्स लेने के बाद पेट का खराब होना जैसी समस्याओं का अनुभव होता है तो इस दवा को खाने या दूध के साथ लेने की सलाह दी जाती है, ताकि आप बेचैनी का अनुभव न करें।

लंबे समय तक इसे लेने से, इस बात की संभावना बढ़ जाती है कि नॉन स्टेरॉइडल एंटी-इंफ्लेमेटरी ड्रग यानि NSAID स्टमक लायनिंग को नुकसान पहुंचा सकते हैं। यही वजह है कि लंबे समय से यह माना जाता रहा है कि भोजन इन प्रभावों से पेट को बचाने में मदद कर सकता है। अगर आपका पेट खराब है तो आप इसे फूड या मिल्क के साथ ले सकते हैं।

यही नहीं, अगर आपकी हार्टबर्न या पेट में दर्द या सेंसिटिव स्टमक की हिस्ट्री है तो भी इस दवा को खाली पेट नहीं लेने की सलाह दी जाती है। बल्कि, ऐसे में खाली पेट आइबूप्रोफेन लेना (Ibuprofen on empty stomach) आपके लिए हानिकारक हो सकता है। इसलिए, इस दवा को लेने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य लें। यह तो थी जानकारी खाली पेट आइबूप्रोफेन लेना सेफ है या नहीं, इस बारे में। अब पाएं आइबूप्रोफेन (Ibuprofen) के बारे में और अधिक जानकारी।

और पढ़ें: जी हां! डायजेस्टिव सिस्टम रहेगा सही, तो आप रहेंगे हेल्दी

आइबूप्रोफेन (Ibuprofen) के साइड इफेक्ट्स

उम्मीद है कि आप यह समझ गए होंगे कि खाली पेट आइबूप्रोफेन लेना (Ibuprofen on empty stomach) सुरक्षित है, लेकिन इससे पहले डॉक्टर से सलाह ले लें। इसके कुछ साइड इफेक्ट्स भी हो सकते हैं जैसे पेट का खराब होना, जी मिचलाना, उल्टी आना, सिरदर्द, डायरिया,कब्ज या चक्कर आना आदि। अगर यह साइड इफेक्ट्स अधिक देर तक रहें या बदतर हो जाएं, तो तुरंत डॉक्टर की सलाह लें। हालांकि, अधिकतर लोग इस दवा को लेने के बाद गंभीर साइड इफेक्ट्स का अनुभव कर सकते हैं। इस दवा को लेने के बाद कुछ लोग ब्लड प्रेशर के बढ़ने की समस्या का अनुभव भी कर सकते हैं।

ऐसे में भी ब्लड प्रेशर की नियमित जांच कराना भी जरूरी है। अगर आपको गंभीर साइड इफेक्ट्स का अनुभव हो जैसे ब्लीडिंग, हियरिंग चेंजेज, मूड में बदलाव, किडनी प्रॉब्लम्स के लक्षण, घुटनों या पैरों में सूजन आदि, तो तुरंत मेडिकल हेल्प लें। खाली पेट आइबूप्रोफेन लेना (Ibuprofen on empty stomach) कई लोगों के लिए गंभीर हो सकता है, ऐसे में सावधानी बरतना आवश्यक है। इसके साथ ही कुछ अन्य चीजों का भी ध्यान रखना चाहिए। आइए, जानें इन चीजों के बारे में।

और पढ़ें: डायजेस्टिव हेल्थ से हैं परेशान, तो अपनाएं इस लो FODMAP डायट को

आइबूप्रोफेन (Ibuprofen) को लेने से पहले इन बातों का रखें ध्यान

आइबूप्रोफेन (Ibuprofen) को डॉक्टर की सलाह के बाद ही लें। लेकिन, अगर आपको इस दवा से एलर्जी है या कोई अन्य एलर्जी है, तो पहले ही डॉक्टर को बता दें। इसके साथ ही अन्य कुछ चीजों का भी ध्यान रखें, जैसे:

  • इस दवा को लेने से पहले डॉक्टर को अपनी मेडिकल हिस्ट्री के बारे में अवश्य बताएं जैसे अस्थमा, ब्लड डिसऑर्डर, हार्ट डिजीज, हाय ब्लड प्रेशर, लिवर डिजीज आदि।
  • कई बार नॉन स्टेरॉइडल एंटी-इंफ्लेमेटरी ड्रग को लेने से किडनी प्रॉब्लम्स हो सकती हैं। यही नहीं, अगर आपको डिहाइड्रेशन, हार्ट या किडनी डिजीज आदि है, तो इसे लेना और भी गंभीर हो सकता है। डिहाइड्रेशन से बचने के लिए रोगी को पर्याप्त मात्रा में फ्लूइड लेना चाहिए।
  • इस दवा को लेने के बाद चक्कर आ सकते हैं या आप उनींदापन महसूस कर सकते हैं। यही नहीं शराब या भांग के साथ इसे लेना और भी परेशानी भरा हो सकता है। इसलिए, इस दवा के सेवन के बाद गाड़ी न चलाएं या ऐसा कोई भी काम न करें जिसमें ध्यान लगाने की जरूरत हो।
  • किसी सर्जरी से पहले डॉक्टर या डेंटिस्ट को उन सब प्रोडक्ट्स के बारे में बता दें, जिनका सेवन आप कर रहे हैं। इस दवा का प्रभाव दवाईयों के काम करने के तरीके पर पड़ सकता है। यह दवा ब्रेस्ट मिल्क से पास हो सकती है और शिशु को नुकसान हो सकता है। इसलिए ब्रेस्ट-फीडिंग से पहले डॉक्टर से इस बारे में बात अवश्य कर लें।

और पढ़ें: जानिए पेट में खाना कब तक रहता है और कैसे होता है इसका पाचन

खाली पेट आइबूप्रोफेन लेना (Ibuprofen on empty stomach) कितना सीरियस हो सकता है, यह आप जान ही गए होंगे।  हालांकि, इसका सेवन केवल तभी करना चाहिए जब डॉक्टर ने इसकी सलाह दी हो। अगर आपको इन दवाओं को लेने के बाद पेट में समस्या या अन्य परेशानियां होती हैं, तो डॉक्टर इसे फ़ूड या दूध के साथ लेने के लिए कह सकते हैं। अगर इसके बारे में आपके मन में कोई भी सवाल है तो डॉक्टर से इस बारे में अवश्य जानें।

डिस्क्लेमर

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

के द्वारा मेडिकली रिव्यूड

डॉ. प्रणाली पाटील

फार्मेसी · Hello Swasthya


AnuSharma द्वारा लिखित · अपडेटेड 01/04/2022

ad iconadvertisement

Was this article helpful?

ad iconadvertisement
ad iconadvertisement