प्रेग्नेंसी के दौरान ओवरी पेन को न करें अदेखा, हो सकती हैं यह वजह

    प्रेग्नेंसी के दौरान ओवरी पेन को न करें अदेखा, हो सकती हैं यह वजह
    गर्भावस्था के दौरान शरीर में बहुत से तरह के बदलाव आते हैं, जिनमें से एक ओवरी पेन भी है। उन परिवर्तनों में से कुछ आपके अंडाशय के आसपास के क्षेत्र में हल्की असुविधा या हल्की ऐंठन पैदा कर सकते हैं। अंडाशय के दर्द से आपके पेट के निचले हिस्से या श्रोणि क्षेत्र में एक तरफ दर्द हो सकता है। अंडाशय में दर्द इस बात का संकेत हो सकता है कि फर्टिलाइजेशन हो रहा है, या यह हाॅर्मोनल बदलावों का भी संकेत हो सकता है। प्रेग्नेंसी के दौरान ओवरी पेन (Ovary pain during pregnancy) किसी गंभीर समस्या का कारण भी हो सकता है। जिसे अनदेखा नहीं करना चाहिए। आइए जानते हैं कि प्रेग्नेंसी के दौरान ओवरी पेन (Ovary pain during pregnancy) क्यों होता है।

    प्रेग्नेंसी के दौरान ओवरी पेन किन कारणों से होता है (what causes ovary pain during pregnancy)?

    प्रेग्नेंसी के दौरान ओवरी पेन की बात करें, तो प्रेग्नेंट महिला में कई तरह के शारीरिक और हॉर्मोनल बदलावों का सामना करना पड़ता है। इस दौरान महिला की शारीरिक संरचना में कई बदलाव होते हैं। ऐसे में दर्द होना सामान्य है, लेकिन इन सबके बावजूद कुछ दर्द सामान्य समझकर अनदेखा नहीं किया जा सकता है। प्रेग्नेंसी के दौरान ओवरी पेन किसी गंभीर समस्या का संकेत हो सकता है। इस तरह के दर्द को पहचानना जरूरी होता है। प्रेग्नेंसी के दौरान ओवरी पेन निम्नलिखित कारणों से हाे सकते हैं।

    एक्टोपिक प्रेग्नेंसी (Ectopic pregnancy)

    एक्टोपिक प्रेग्नेंसी तब होती है, जब फर्टिलाइज एग गर्भाशय की बजाय किसी अन्य ​स्थान पर चला जाता है, आमतौर पर फैलोपियन ट्यूब में। . ये स्थिति मेडिकल इमरजेंसी की कंडीशन पैदा कर सकती है। इसके लक्षणों में शामिल हैं:
    • तेज या चुभने वाला दर्द, आमतौर पर पेट के एक तरफ
    • वजायनल ब्लीडिंग, जो आपकी सामान्य अवधि से अधिक समय तक हेवी ब्लीडिंग के साथ हो सकती है
    • कमजोरी, चक्कर आना, या बेहोशी महसूस होना
    • गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल या पेट की परेशानी
    यदि आपको लगता है कि आप एक्टोपिक प्रेग्नेंसी काअनुभव कर रही हैं, तो तुरंत चिकित्सा के लिए डॉक्टर से मिलें। इमरजेंसी ट्रीटमेंट न होने पर फैलोपियन ट्यूब डैमेज या अन्य गंभीर जटिलताएं हो सकती हैं।

    गर्भपात (Miscarriage)

    प्रेग्नेंसी के दौरान ओवरी पेन की बात करें, तो जिन महिलाओं में गर्भपात की संभावना होती है, तो उनमें ओवरी पेन की समस्या हो सकती है। गर्भावस्था के 20 सप्ताह तक गर्भपात की समस्या हो सकती है। इसकी संभावित लक्षणों में शामिल हैं:
    यदि आप गर्भपात के लक्षणों का अनुभव कर रही हैं तो अपने डॉक्टर को बताएं। गर्भपात को रोकने का कोई तरीका नहीं है, लेकिन कुछ मामलों में जटिलताओं को रोकने के लिए दवा या सर्जरी की आवश्यकता होती है।

    ओवेरियन सिस्ट (Ovarian cyst)

    प्रेग्नेंसी के दौरान ओवरी पेन, ओवेरियन सिस्ट की समस्या के कारण भी हो सकता है। अधिकांश ओवेरियन सिस्ट स्पर्शोन्मुख और हानिरहित होते हैं। लेकिन जो सिस्ट बढ़ जाते हैं, वे टूट सकते हैं या प्रसव के दौरान जटिलताएं पैदा कर सकते हैं। इसके लक्षणों में शामिल हो सकते हैं:
    यदि आपको तेज चुभने वाला दर्द महसूस हो रहा हो तो , विशेष रूप से बुखार या उल्टी के साथ, तो तुरंत चिकित्सक की सहायता लें।

    अन्य संभावित कारण (Other possible causes)

    प्रारंभिक गर्भावस्था के दौरान आपके अंडाशय के पास दर्द के अन्य कारणों में शामिल हो सकते हैं:
    • गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल या पेट के मुद्दे
    • गर्भाशय में खिंचाव
    • फाइब्रॉएड का होना
    गर्भावस्था के दौरान ऐसा होने पर अपने डॉक्टर को अपने लक्षणों के बारे में बताएं।

    प्रेग्नेंसी के दौरान ओवरी पेन होने पर डॉक्टर से मिलें (See a doctor if you have ovary pain during pregnancy)

    प्रेग्नेंसी के दौरान ओवरी पेन होने पर अपने डॉक्टर को बताएं कि क्या आपको एक या दोनों तरफ तेज दर्द हो रहा है। आपको आपातकालीन चिकित्सा देखभाल की आवश्यकता हो सकती है, खासकर यदि आपको निम्नलिखित लक्षणों में से एक या अधिक लक्षणों के साथ तेज दर्द हो:
    गर्भावस्था के दौरान ओवरी में दर्द जो अपने आप दूर नहीं होता है, ऐसे में डॉक्टर द्वारा इलाज करने की आवश्यकता हो सकती है। लेकिन अगर आपका डॉक्टर आपके दर्द के लिए किसी भी चिकित्सा उपचार की सिफारिश नहीं करते हैं, तो आप घर पर ही हल्की असुविधा का प्रबंधन करने में सक्षम हो सकते हैं। धीरे-धीरे पोजिशन बदलें, खासकर जब बैठने से लेकर खड़े होने तक।
    • धीरे-धीरे पोजीशन बदलें, खासकर जब बैठने से लेकर खड़े होने तक। यह दर्द की घटनाओं को कम करने में मदद कर सकता है।
    • भरपूर आराम करें, और यदि आप व्यायाम से संबंधित असुविधा का अनुभव करते हैं, तो अपनी कसरत की दिनचर्या को बदलें ।
    • पानी अधिक पिएं।
    • दर्द वाली जगह पर हल्का सा मलें, ताकि आराम मिल आपको
    • कोई पेन की दवा प्रारंभिक गर्भावस्था के दौरान लेने के लिए सुरक्षित नहीं हैं। दर्द को प्रबंधित करने के लिए दवा लेने से पहले अपने डॉक्टर से बात करें।

    क्या उपचार उपलब्ध हैं (Treatment)?

    उपचार मरीज के दर्द के कारणों पर निर्भर करेगा। कुछ मामलों में, आपको उपचार की आवश्यकता नहीं होती है, जिनमें शामिल है: ओवेरियन सिस्ट के इलाज के लिए, आपका डॉक्टर सिस्ट के आकार जैसे कारकों को जाचेंगे और आपकी गर्भावस्था का कितना समय बचा है, यह जाचेंगे। कुछ मामलों में, गर्भावस्था के दौरान सर्जरी सुरक्षित रूप से की जा सकती है। यदि आपका दर्द एक्टोपिक गर्भावस्था के कारण होता है, तो आपका डॉक्टर संभवतः मेथोट्रेक्सेट दवा लिखेंगे। यह दवा एक्टोपिक मास की कोशिकाओं जैसे तेजी से विभाजित होने वाली कोशिकाओं के विकास को रोक सकती है। यदि दवा काम नहीं करती है, तो सर्जरी की आवश्यक हो सकती है। यदि आपका गर्भपात हो रहा है, तो डॉक्टर बताएंगे कि आपको क्या करना है। अन्य मामलों में, आपको गर्भावस्था के नुकसान से ऊतक को ठीक करने में मदद करने के लिए दवा की आवश्यकता हो सकती है। उपचार में किसी प्रकार की देरी न करें। तुरंत डॉक्टर से मिलें।
    यहां पर प्रेग्नेंसी के दौरान ओवरी पेन के बारे में जाना आपने यहां। यह किसी गंभीर समस्या का कारण का संकेत भी हो सकता है, हो सकता है कि वो कारण यहां न दिया गया हो। प्रेग्नेंसी के दौरान खास देखभाल की जरूर होती है। प्रेग्नेंसी में कोई भी दवा अपने मन से नहीं लेनी चाहिए। नहीं तो यह मां और शिशु दोनों के लिए ही हानिकारक हो सकता है। प्रेग्नेंसी के दौरान ओवरी पेन के बारे में अधिक जानकारी के लिए डाॅक्टर से संपर्क करें।

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    लेखक की तस्वीर badge
    Niharika Jaiswal द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 03/01/2022 को
    और Hello Swasthya Medical Panel द्वारा फैक्ट चेक्ड