home

आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

पलकें घनी करने के घरेलू उपायः अरंडी के तेल के साथ इन 8 चीजों का करें इस्तेमाल

पलकें घनी करने के घरेलू उपायः अरंडी के तेल के साथ इन 8 चीजों का करें इस्तेमाल

घनी पलकें आपकी आंखों को और भी खूबसूरत बना सकती हैं। ऐसे में महिलाओं को क्रेज रहता है कि किस तरह से पलकों को घना किया जा सके, क्योंकि अधिकांश महिलाओं की पलकें काफी हल्की होती हैं। मेकअप के वक्त वो तरह-तरह के नुस्खे आजमा कर पलकें घनी करती हैं, लेकिन मेकअप में वो मजा नहीं आता जो प्राकृतिक रूप से घनी पलकें होती हैं। अगर आप भी अपनी पलकें घनी करने के लिए अब तक मेकअप का सहारा लेती चली आ रही हैं, तो यह स्टोरी आपके लिए काफी उपयोगी है। इस स्टोरी में हम आपको जानकारी देंगे कि आप घर बैठे किस तरह से पलकें घनी करने के घरेलू उपाय अपना सकती हैं, जिसमें किसी तरह का कोई साइड इफैक्ट नहीं है।

और पढ़ें : डायबिटिक रेटिनोपैथी: आंखों की इस समस्या की स्टेजेस कौन-सी हैं? कैसे करें इसे नियंत्रित

पलकें घनी करने के घरेलू उपाय

1. पलकें घनी करने के घरेलू उपाय – अरंडी का तेल

आप अपनी पलकें घनी करने के लिए एक से दो बूंद अरंडी का तेल ले लें। इसमें एक बूंद लैवेंडर, नीम, रोजमेरी तेल, टी ट्री तेल या ग्रेपसीड तेल में से कोई एक तेल मिला सकते हैं। इसके बाद एक मस्कारा वाला ब्रश या ईयर बड लें। फिर अपनी पलकों पर मिलाया हुआ तेल लगाएं। आप रातभर पलकों पर तेल को लगे रहने दें। सुबह होने पर पलकों को साफ पानी से धो सकते हैं। अगर आपको अरंडी का तेल आसानी से नहीं मिलता है, उस स्थिति में आप जैतून, बादाम, आर्गन, नारियल का तेल भी इस्तेमाल कर सकते हैं। अगर आप इसी तरह रोजाना रात को अपनी पलकों पर अरंडी का तेल लगाते हैं, तो आपकी पलकें कुछ दिनों में लंबी और घनी होने लगेगी।

2.पलकें घनी करने के घरेलू उपाय – जैतून और अरंडी का तेल

इस उपाय में आप एक-दो बूंद जैतून के तेल में इतना ही अरंडी का तेल मिला लें। फिर रात को सोने से पहले ईयर बड की मदद से इस तेल को अपनी पलकों पर लगाएं। सुबह उठकर अपने मुंह को रोजाना पानी से धो लें। यह रोजाना रात को तब तक करें। जब तक आपकी घनी पलकें न होने लगे।

और पढ़ें : हड्डियों को मजबूत करने के साथ ही आंखों को हेल्दी रख सकती है पालक, जानें दूसरे फायदे

[mc4wp_form id=”183492″]

3.पलकें घनी करने के घरेलू उपाय – पेट्रोलियम जैली

पेट्रोलियम जैली से भी पलकों को घना किया जा सकता है। पेट्रोलियम जैली से पलकों की त्वचा भी काफी मुलायम होती है, लेकिन इसे काफी सावधानीपूर्वक लगाना होता है।

4.पलकें घनी करने के घरेलू उपाय – जैतून, अरंडी के तेल में भीगा नींबू का छिलका

इस उपाय में पानी से भीगे हुए नींबू के छिलके को बारीक-बारीक काट लें, और दो तीन दिन के लिए जैतून या अंरडी के तेल में फूलने के लिए छोड़ दें। तेल की मात्रा एक चौथाई होनी चाहिए। तीन दिन बाद आप इस तेल को अपनी पलकों पर रोजाना रात को लगा सकते हैं। अरंडी और जैतून के तेल का इस्तेमाल हर विधि में इसलिए किया जा रहा है, क्योंकि इन दोनों तेल से बालों को काफी फायदा पहुंचता है। पलकों पर लगाने से पलकें गहरी होती हैं। वहीं, नींबू के छिलकों में विटामिन-ए और विटामिन-सी होता है, जो बाल बढ़ाने में मदद करता है।

और पढ़ें : वैक्सिंग के बाद हो जाते हैं स्किन पर दानें? अपनाएं ये घरेलू उपाय

[mc4wp_form id=”183492″]

5. पलकें घनी करने के घरेलू उपाय – ग्रीन टी

एक चम्मच ग्रीन टी को एक कप गर्म पानी में डाल लें। कुछ मिनटों के लिए इसे पानी में ही रहने दें। जब पानी ठंडा हो जाए, तब इसे पलकों पर लगाएं। आप इसे अपनी पलकों पर रातभर लगाकर रखें। फिर सुबह उठकर चेहरा धो लें। आप बची हुई ग्रीन टी को एयरटाइट डिब्बे में डालकर फ्रिज में रख दें। इसे आप तीन से चार दिन तक इस्तेमाल कर सकते हैं। अगर आपको डार्क सर्कल की परेशानी या आपकी आंखें सूजी हुई नजर आती है, तो ऐसे में भी ग्रीन टी बैग काफी सहायक हो सकते हैं। ग्रीन टी बैग को पानी में डिप कर थोड़ी देर के लिए छोड़ दें और फिर अच्छे से डिप हो चुके ग्रीन टी बैग को अपनी आंखों पर कुछ देर के लिए रखें। ऐसा रोजाना और कुछ दिनों तक लगातार करने से डार्क सर्कल और सूजी हुई आंखों की परेशानी दूर हो सकती है।

6.पलकें घनी करने के घरेलू उपाय – शिया बटर

ऑर्गैनिक शिया बटर से भी पलकों को घना किया जा सकता है। अपनी उंगलियों पर थोड़ा-सा शिया बटर लें, और अच्छी तरह रगड़कर पिघला लें। फिर इसे अपनी पलकों पर लगाएं। इसे रातभर अपनी पलकों पर लगे रहने दें। सुबह उठकर पानी से मुंह धो लें। शिया बटर पलकों के लिए इसलिए बेहतर है। क्योंकि, इसमें विटामिन-ए और विटामिन-ई होता है। अफ्रीका में लोग बालों को बढ़ाने के लिए शिया बटर का इस्तेमाल करते हैं।

7.पलकें घनी करने के घरेलू उपाय – प्याज का रस

प्याज के रस (Onion juice) में सल्फर, सेलेनियम, मिनिरल, विटामिन-बी और विटामिन-सी जैसे तत्व मौजूद होते हैं। ये सभी खनिज तत्व बालों के ग्रोथ के साथ-साथ आंखों के पलकों को भी घना करने में मददगार होता है। दरअसल सल्फर कोलाजेन टिशू को हेल्दी करने में मददगार होता है। बालों के साथ-साथ आंख की लैशेज और आइब्रो पर भी लगाने से फायदा मिलता है।

8.पलकें घनी करने के घरेलू उपाय – मेथी

मेथी में एंटीइंफ्लेमेटरी और एंटीऑक्सीडेंट मौजूद होते हैं। रिसर्च के अनुसार मेथी का सेवन करने से बॉडी में शुगर का अवशोषण कम होता है और इंसुलिन का लेवल बेहतर रहता है। जिससे डायबिटीज को कंट्रोल करने में मदद मिलती है। मेथी की खास बात यह है कि यह डायबिटीज के टाइप-1 और टाइप-2 दोनों में काम आती है। मेथी में मौजूद आयरन, कैल्शियम और फास्फोरस हड्डियों और जोड़ों को आवश्यक पोषण प्रदान करते हैं। मेथी पाउडर को बालों पर, आंखों की पलकों पर और भौं (आइब्रो) पर लगाने से इनमें चमक आने के साथ-साथ घने भी होते हैं।

आप घनी पलकें पाने के लिए ऊपर बताए गए घरेलू उपाय अपना सकते हैं। इसी के साथ आप अपने खान-पान का भी खास ख्याल रखें। अपने खाने में पौष्टिक चीजों को शामिल करें, जो इसके लिए काफी जरूरी है।

हेयर एक्सटेंशन से भी पा सकते हैं घनी पलकें

वैसे आजकल हेयर एक्सटेंशन की तरह आई लैशज को भी आर्टिफिशियल तरह से घनी करवा सकते हैं। इस बारे में जब हमने 24 साल की अमृता कौर से बात की तो उनका कहना है कि ‘उन्होंने आर्टिफिशियल आई लैशेज लगवायें हैं और इससे उनकी आंखों की सुंदरता जरूर बढ़ी है लेकिन, ये कुछ दिनों के बाद अपने आप निकलने लगते हैं जो थोड़ा अजीब सा दिखाई देता है और लैशज खाली-खाली दिखाई देते हैं। इसलिए अगर जरूरत न हो तो इसे नहीं करवाना चाहिए।’

अगर आप अपनी घनी पलकें करने की कोशिश कर रहीं हैं या इससे जुड़े किसी तरह के कोई सवाल का जवाब जानना चाहते हैं तो विशेषज्ञों से समझना बेहतर होगा।

इसके अलावा, आपको इस बात पर ध्यान देना चाहिए कि आपकी पलके बहुत हल्की होने के कुछ अन्य कारण भी हो सकते हैं, जिसमें से कुछ स्वास्थ्य समस्याएं भी शामिल हो सकते हैं, जैसेः

  • आई कॉस्मेटिक्स के साइड इफेक्ट्स होना
  • मैड्रोसिस (Madarosis) जैसी स्थिति जिसमें आई लैशेज झड़ने लगती है
  • एटॉपिक डर्मेटाइटिस, यह एक तरह का स्किन एलर्जी होता है
  • मीबोमियन ग्लैंड डायफंक्शन के कारण
  • एलोपेशिया यूनिवर्सलिस, यह बाल झड़ने की बीमारी का एक प्रकार होता है
  • ब्लेफेराइटिस (Blepharitis), पलकों की सूजन की स्थिति
  • आंखों से संबंधित अन्य बीमारियां
  • एलोपेशिया एरियाटा, बाल झड़ने का ही एक अन्य स्थिति
  • कुछ दवाओं के साइड इफेक्ट्स या उनका प्रभाव
  • बढ़ती उम्र
  • उचित पोषण से दूरी, आदि।

अगर इनमें से किसी भी कारण आपकी पलके प्रभावित हो रही हैं, तो कृपया अपने डॉक्टर से परामर्श करें और उचित उपचार कराएं।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Castor Oil for Eyelashes? Here’s Why It Works and How to Apply Castor Oil to Lashes/https://belashed.org/castor-oil-for-eyelashes/Accessed on 14/01/2020

A Technique for Reconstruction of Eyebrows and Eyelashes. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC2884700/. Accessed on 29 October, 2020.

Topical Treatment of Eyebrow Hypotrichosis with Bimatoprost 0.03% Solution: Case Report and Literature Review. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6054329/. Accessed on 29 October, 2020.

Safety and Efficacy of Bimatoprost 0.03% Solution for the Treatment of Thinning Eyebrows. https://clinicaltrials.gov/ct2/show/NCT01891487. Accessed on 29 October, 2020.

Aging changes in hair and nails. https://medlineplus.gov/ency/article/004005.htm. Accessed on 29 October, 2020.

Bimatoprost Ophthalmic Solution in Increasing Eyebrow and Eyelash Growth in Patients Who Have Undergone Chemotherapy for Breast Cancer and in Healthy Participants. https://clinicaltrials.gov/ct2/show/NCT00999557. Accessed on 29 October, 2020.

लेखक की तस्वीर badge
Sidharth Chaurasiya द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 12/03/2021 को
डॉ. हेमाक्षी जत्तानी के द्वारा मेडिकली रिव्यूड