home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

जैतून का तेल है बेस्ट कुकिंग ऑयल, जानिए क्यों कह रहे हैं हम ऐसा

जैतून का तेल है बेस्ट कुकिंग ऑयल, जानिए क्यों कह रहे हैं हम ऐसा

जैतून तेल (Olive Oil) में एंटीऑक्सीडेंट और एंटी इंफ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैं साथ ही इसमें काफी मात्रा में फैटी एसिड भी होता है। इन्हीं गुणों के कारण ऑलिव ऑयल सेहत के लिए अच्छा माना जाता है। एक अध्ययन के अनुसार ऑलिव ऑयल का इस्तेमाल खाना बनाने के लिए करना सेहत के लिए अच्छा हो सकता है। शोधकर्ताओं ने 3 लीटर एक्स्ट्रा वर्जिन ऑलिव ऑइल को 6 घंटे के लिए 356 ° F (180 ° C) पर गर्म किया और इतने उच्च तापमान के बाद भी इसके गुणों में कोई परिवर्तन नहीं आया। आइए जानते हैं कि ऑलिव ऑयल का इस्तेमाल कुकिंग में करने पर यह सेहत के लिए यह कितना फायदेमंद हो सकता है।

खाने में जैतून तेल का इस्तेमाल करने के फायदे

दिल को बनाए हेल्दी

जैतून तेल डायट्री फैट का अच्छा सोर्स होता है जो कि हार्ट के लिए अच्छा माना जा सकता है। स्पेन में हुए एक अध्ययन के अनुसार जो लोग ऑलिव ऑयल का सेवन करते हैं उनमें हाई ब्लड प्रेशर, स्ट्रोक और हाइपरलिपिडिमिया (हाई ब्लड कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड का स्तर) के लक्षण कम दिखाई दिए। ऑलिव ऑयल में खाना बनाने से मेटाबॉलिज्म भी ठीक रहता है।

डिप्रेशन फ्री रहने में मदद करे

जैतून तेल में पकाया हुआ खाना खाने से डिप्रेशन का खतरा भी कम हो सकता है। जिन लोगों की डायट में ट्रांस फैट अधिक मात्रा में होता है उनमें डिप्रेशन का खतरा भी ज्यादा हो सकता है। ट्रांस फैट का इस्तेमाल अधिकतर फास्ट फूड में किया जाता है। वहीं दूसरी ओर जिन लोगों की डायट में मोनो और पॉलीअनसेचुरेटेड फैट होता है उनमें डिप्रेशन का खतरा कम देखा जाता है। स्पेन में लास पालमास डी ग्रैन कैनरिया विश्वविद्यालय में किए गए एक अध्ययन के अनुसार ऑलिव ऑयल डिप्रेशन के खतरे को कम कर सकता है।

और पढ़ेंः दो मुंहे बाल और डैंड्रफ को कम कर सकता है ऑलिव ऑयल

ब्रेस्ट कैंसर के खतरे को कम करे

जैतून का तेल अन्य तेलों के मुकाबले इसलिए भी बेहतर है क्योंकि यह ब्रेस्ट कैंसर को रोकने की क्षमता रखता है। स्पेन के वैज्ञानिको ने अपने अध्ययन में पाया कि ऑलिव ऑयल ब्रेस्ट ट्यूमर की कोशिकाओं को बढ़ने से रोकता है साथ ही उन्हें खत्म भी कर सकता है। तो, अगर आप खाना पकाने के लिए ऑलिव ऑयल का इस्तेमाल करते हैं, तो आपको ब्रेस्ट कैंसर होने के जोखिम काफी कम हो सकते हैं.

कोलेस्ट्रॉल मेंटेन करने में मदद करे

कुकिंग में ऑलिव ऑयल का इस्तेमाल करने से बॉडी के कोलेस्ट्रॉल को मेंटेन करने में मदद मिल सकती है। हमारे बॉडी में 2 तरह का कोलेस्ट्रॉल पाए जाते हैं एक (LDL)लो डेंसिटी लाइपोप्रोटीन जिसे हम बैड कोलेस्ट्रॉल कहते हैं और दूसरा (HDL) हाई डेंसिटी लाइपोप्रोटीन जिसे हम गुड कोलेस्ट्रॉल कहते हैं। जैतून का तेल (LDL) को घटाने और (HDL) को बढ़ाने में मदद करता है। जिससे आप आसानी से अपने कोलेस्ट्रॉल का लेवल संतुलित बनाए रख सकते हैं।

लिवर के लिए हेल्दी

एक अध्ययन के मुताबिक एक्स्ट्रा वर्जिन ऑलिव ऑयल लीवर को ऑक्सीडेटिव तनाव से बचता है जो कि फ्री रेडिकल्स (मुक्त कणों) और अन्य अणुओं के बीच रासायनिक प्रक्रिया के कारण होता है। इसलिए ऑलिव ऑयल से बना खाना खाने से लीवर भी हैल्दी रहता है।

और पढ़ेंः ऑलिव ऑयल के फायदे एवं नुकसान – Health Benefits of Olive Oil

क्रोनिक डिजीज के जोखिम कम करे

ऑलिव ऑयल में एंटीऑक्सिडेंट्स की उच्च मात्रा होती है। इसमें लाभकारी फैटी एसिड के अलावा, विटामिन ई और विटामिन के की भी मात्रा पाई जाती है। जैतून तेल के शक्तिशाली एंटीऑक्सिडेंट जैविक रूप से सक्रिय होते हैं और यह क्रोनिक डिजीज के जोखिम को कम करने में मदद कर सकते हैं।

बढ़ने वजन और मोटापे की चिंता को करे दूर

शरीर में फैट की मात्रा बढ़ने से वजन तेजी से बढ़ सकता है। फैट की सबसे अधिक मात्रा विभिन्न तरह के तेलों में पाई जाती है। वहीं, कई अध्ययनों के अनुसार जैतून का तेल शरीर में बढ़ते फैट को कंट्रोल करने में मदद कर सकता है। एक स्पेनिश कॉलेज के 7,000 से अधिक छात्रों पर तीन साल तक अध्ययन किया गया। जिसमें से अन्य 187 छात्रों को आहार में अन्य तेलों का इस्तेमाल करने की सलाह दी गई। जिसके परिणाम में पाया गया कि अध्ययन में शामिल जैतून का तेल इस्तेमाल करने वाले अधिकतर छात्रों का वजन पहले जितना ही समान बना रहा। वहीं, अन्य तेलों का इस्तेमाल करने वाले छात्रों के वजन में बढ़ोत्तरी देखी गई। इसके अलावा, अध्ययन में शामिल जैतून तेल का इस्तेमाल करने वाले छात्रों के मुताबिक, उन्होंने आसानी से अपना वजन भी कम किया।

जो लोग अपनी सेहत का ज्यादा ख्याल रखते हैं उन्हें कुकिंग ऑयल के बारे में एक बार जरूर सोच लेना चाहिए। ऑलिव ऑयल में बना खाना कितना सेहतमंद है यह तो आप अब तक समझ ही चुके होंगे। अगर आपको सेहत से जुड़ी कोई समस्या है या फिर इसके इस्तेमाल में कोई संदेह है तो आपने डॉक्टर से भी सलाह ले सकते हैं।

जैतून तेल खरीदते समय किन बातों का रखें ध्यान

जैतून के तेल में एंटीऑक्सिडेंट और बायोएक्टिव यौगिक एक्टिव रहते हैं, जिसकी वजह से कुकिंग में जैतून के तेल का इस्तेमाल करना अन्य खाद्य तेलों के तुलना में अधिक स्वास्थ्यवर्धक माना जा सकता है। हालांकि, मार्केट से हमेशा उच्च गुणवत्ता और भरोसेमंद ब्रांड से ही जैतून के तेल की खरीददारी करें। खरीददारी करने से पहले पैक पर छपे लेवल की सावधानीपूर्वक जांच करें। उसकी सामग्री सूचियों को पढ़ें और जरूरत पड़ने पर आप प्रोडक्ट् एक्सपर्ट की भी सहायता ले सकते हैं।

और पढ़ेंः सेक्स लुब्रिकेंट के रूप में ऑलिव ऑयल का इस्तेमाल करना होता है कितना सही?

जैतून के तेल का उपयोग कब करें?

अगर आप अपने खाने में नियमित तौर पर ऑलिव ऑयल का इस्तेमाल करना चाहते हैं, तो इसका इस्तेमाल अलग-अलग तरह से ही करें। कोशिश करें कि ऑलिव ऑयल का इस्तेमाल आप ऐसे फूड्स में करें जिन्हें पकाने या हीट करने की आवश्यकता न पड़ें। इसके लिए आप इस तेल का इस्तेमाल सलाद की ड्रेसिंग करने, उबली हुई सब्जियां खाने, सूप या ब्रेड में कर सकते हैं।

और पढ़ें: खाना तो आप हर रोज पकाते हैं, लेकिन क्या बेस्ट कुकिंग ऑयल के बारे में जानते हैं?

ऑलिव ऑयल का इस्तेमाल कब नहीं करना चाहिए?

कभी तेज आंच या फुल हीट पर ऑलिव ऑयल में खाना न पाएं। सामान्य तौर पर जैतून के तेल का तापमान 365 ° से 420 ° F के बीच होता है। ऐसे में अधिक हीट पाने पर इसके तेल से धुआं निकलने लग सकता है जो तेल में लाभकारी यौगिकों की मात्रा को नष्ट कर सकता है। जो स्वास्थ्य के लिए नुकसानदेह साबित हो सकता है। इसके अलावा, अगर आप बहुत ही गर्म तापमान वाली जगह में हैं तो भी इसका सेवन न करें। साथ ही, अगर आपको कोई गंभीर स्वास्थ्य समस्या है, आप प्रेग्नेंट हैं या गर्भवती होने की योजना कर रही हैं, तो इसका सेवन करने से पहले अपने डॉक्टर की जरूरी सलाह लें। कुछ तरह की स्वास्थ्य स्थितियों में इसके गुण हानिकारक साबित हो सकते हैं। ऐसे में इसका इस्तेमाल करने से पहले इसके सुरक्षित उपयोग के बारे में अपने डॉक्टर या न्यूट्रिनिशिट से इसकी चर्चा जरूर करें।

उम्मीद करते हैं कि आपको यह आर्टिकल पसंद आया होगा जैतून के तेल से संबधित जरूरी जानकारियां मिल गई होंगी। अधिक जानकारी के लिए एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। अगर आपके मन में अन्य कोई सवाल हैं तो आप हमारे फेसबुक पेज पर पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

In vitro activity of olive oil polyphenols against Helicobacter pylori. https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/17263460/. Accessed on 06 August, 2020.

11 Health Benefits of Extra Virgin Olive Oil That You Can’t Ignore. https://olivewellnessinstitute.org/article/11-health-benefits-of-extra-virgin-olive-oil-that-you-cant-ignore/. Accessed on 06 August, 2020.

Healthy Cooking Oils. https://www.heart.org/en/healthy-living/healthy-eating/eat-smart/fats/healthy-cooking-oils. Accessed on 06 August, 2020.

Definition of the Mediterranean Diet: A Literature Review. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4663587/. Accessed on 06 August, 2020.

Potential Health Benefits of Olive Oil and Plant Polyphenols. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5877547/. Accessed on 06 August, 2020.

The Skinny on Fats. https://www.heart.org/en/health-topics/cholesterol/prevention-and-treatment-of-high-cholesterol-hyperlipidemia/the-skinny-on-fats. Accessed on 06 August, 2020.

Trans Fats. https://www.heart.org/en/healthy-living/healthy-eating/eat-smart/fats/trans-fat. Accessed on 06 August, 2020.

Olive Oil Effects on Colorectal Cancer. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6357067/. Accessed on 06 August, 2020.

Olive oil intake and breast cancer risk in the Mediterranean countries of the European Prospective Investigation into Cancer and Nutrition study. https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/22392404/. Accessed on 06 August, 2020.

Mediterranean diet and life expectancy; beyond olive oil, fruits and vegetables. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5902736/. Accessed on 06 August, 2020.

Choosing oils for cooking: A host of heart-healthy options. https://www.health.harvard.edu/heart-health/choosing-oils-for-cooking-a-host-of-heart-healthy-options. Accessed on 06 August, 2020.

What are “oils”?. https://www.choosemyplate.gov/eathealthy/oils. Accessed on 06 August, 2020.

Nutrition and healthy eating. https://www.mayoclinic.org/healthy-lifestyle/nutrition-and-healthy-eating/basics/nutrition-basics/hlv-20049477. Accessed on 06 August, 2020.

How to Buy, Store and Eat Olive Oil. https://med.virginia.edu/ginutrition/wp-content/uploads/sites/199/2014/06/Parrish-Oct-15.pdf. Accessed on 06 August, 2020.

लेखक की तस्वीर
Dr. Pooja Bhardwaj के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Priyanka Srivastava द्वारा लिखित
अपडेटेड 10/07/2019
x