हॉर्नी होना क्या है? क्या यह कोई समस्या है?

Medically reviewed by | By

Update Date जून 30, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
Share now

आधुनिक समाज में सेक्स से जुड़ा एक शब्द काफी प्रचलित हो रहा है और वो है ‘हॉर्नी’ (Horny)। हॉर्नी मैन, हॉर्नी वुमैन, हॉर्नी सेक्स (Horny Sex) आदि के शीर्षकों से वीडियो की भरमार है। लेकिन यह हॉर्नी शब्द का आखिर मतलब क्या है? हॉर्नी शब्द और अराउजल (Arousal) शब्द का क्या कोई संबंध है या फिर क्या हॉर्नी सभी होते हैं या फिर कुछ लोग ही होते हैं? क्या हॉर्नी होना कोई समस्या है और अगर ऐसा है तो इसे कैसे ठीक किया जा सकता है? इन्हीं सभी सवालों का जवाब इस आधुनिक दुनिया के पास नहीं है, लेकिन मन में कहीं न कहीं यह सवाल जरूर आ जाते हैं। तो चलिए इस बारे में विस्तार से जानते हैं।

हॉर्नी (Horny) होना क्या है?

दरअसल, हॉर्नी होना कामुकता यानी सेक्शुअलिटी की पहली सीढ़ी है। किसी भी यौन संबंध से पहले व्यक्ति के दिमाग में सेक्स से संबंधित विचार या भावनाएं आती हैं, जो उसके शरीर में संवेदनशीलता और सेंसेशन उत्पन्न करती हैं। इन्हीं संवेदनशीलता और सेंसेशन के परिणामस्वरूप महसूस हुई भावना को हॉर्नी होना कहा जाता है। हॉर्नी शब्द को आसान भाषा में अराउजल यानी कामोत्तेजना भी कहा जाता है। काम के लिए कामोत्तेजना बहुत जरूरी है, जो कि काफी सामान्य है। अभी तक आप यह बात अच्छी तरह समझ गए होंगे कि, कामोत्तेजित यानी हॉर्नी हर कोई होता है।

और पढ़ें : लेस्बियन सेक्स कैसे होता है? जानें शुरू से लेकर अंत तक

हॉर्नी होना कब माना जाता है परेशानी?

सेक्स से बिल्कुल पहले या उसके दौरान कामोत्तेजित होना काफी आम है। इसी तरह अचानक या कभी भी सेक्स से संबंधित विचार या ख्याल आ जाना भी सामान्य बात है। यह हर किसी व्यक्ति के साथ होता है और इसमें कोई बुराई नहीं है। लेकिन, कामोत्तेजना तब समस्या बनने लगती है, जब कि आप बार-बार और लगातार सेक्स के बारे में सोचने या यौन संबंध बनाने के लिए उत्तेजित रहने लगते हैं। इससे आपकी दैनिक गतिविधियों और वर्क लाइफ पर काफी बुरा असर पड़ता है और आप किसी और प्रोडक्टिव काम में दिमाग नहीं लगा पाते हैं।

अत्यधिक कामोत्तेजना के क्या कारण होते हैं?

अत्यधिक कामोत्तेजना मतलब सेक्शुअल डिजायर का अत्यधिक होना। दरअसल, इसके पीछे कई या मिश्रित कारण हो सकते हैं। जैसे-

हाइपरसेक्शुअलिटी

हर किसी व्यक्ति के अंदर सेक्शुअल डिजायर यानी कामोत्तेजना होती है और सभी की सेक्स ड्राइव अलग-अलग हो सकती है। वहीं, कुछ लोगों में यह सेक्स ड्राइव इतनी बढ़ी हुई होती है कि वह हर समय सेक्स करने के बारे में सोचते रहते हैं और अन्य कार्यों पर ध्यानकेंद्रित नहीं कर पाते। इस स्थिति को मेडिकल भाषा में हाइपरसेक्शुअलिटी कहा जाता है।

और पढ़ें : सेक्स ऑर्गेज्म फैक्ट्स क्या हैं? क्या आपको है सही जानकारी

कुछ खाद्य पदार्थों के कारण

कुछ खाद्य पदार्थ शरीर में सेक्स ड्राइव बढ़ाने का काम करते हैं। जो लोग जाने-अनजाने में इन खाद्य पदार्थों का अत्यधिक सेवन करते हैं, उन्हें कामोत्तेजना ज्यादा रहती है।

हॉर्मोन

आपकी सेक्स डिजायर यानी लिबिडो बढ़ाने में हॉर्मोन महत्वूपर्ण भूमिका निभाते हैं। पुरुषों में टेस्टोस्टेरोन का अत्यधिक स्तर उन्हें कामोत्तेजित बनाता है और उनमें सेक्स करने की ज्यादा इच्छा होती है। वहीं महिलाओं में भी हॉर्मोन लिबिडो पर असर डालते हैं

रेड वाइन और कई ड्रग्स

रेड वाइन लोगों को अराउज करने में मदद करती है, यानी वो हॉर्नी महसूस करने लगते हैं। इसी तरह कुछ ड्रग्स भी होते हैं, जो जाने-अनजाने में लेने पर आपकी सेक्स डिजायर और लिबिडो को एकदम बढ़ा देते हैं। जैसे-

  • वियाग्रा (फ्लिबनसेरिना)
  • नाइट्राईट्स
  • एफ्रोडाइजिएक, आदि

और पढ़ें : सेक्स के फायदे हैं लाजवाब, तो एक बार ध्यान दें जनाब

पुरुषों में सेक्स डिजायर बढ़ने के कारण

  1. कई शोध में बताया गया है कि, पुरुष महिलाओं के मुकाबले ज्यादा सेक्स के बारे में सोचते हैं, जिस वजह से वह ज्यादा मास्टरबेट करते हैं। ज्यादा मास्टरबेट करने से पुरुषों में बार-बार कामोत्तेजना विकसित होती है।
  2. पुरुषों का जननांग शरीर के काफी बाहर तक होता है। जिस वजह से उसके रब व टच होने की संभावना काफी होती है। इन क्रियाओं से पुरुषों के जननांग में मौजूद तंत्रिकाएं सक्रिय हो जाती हैं और सेक्स की इच्छा जागृत करती हैं।

महिलाओं के कामोत्तेजित होने के कारण

  1. प्रेग्नेंसी की वजह से महिलाओं की सेक्स ड्राइव बढ़ जाती है। यह बदलाव आप गर्भधारण के शुरुआती कुछ दिनों से लेकर कुछ हफ्तों तक देख सकती हैं।
  2. मासिक धर्म के दौरान अलग-अलग चरण में महिलाओं के शरीर में हॉर्मोन का स्तर बदलता रहता है। इसमें ओव्यूलेशन डेट के आसपास आपके गर्भधारण की संभावनाओं को बढ़ाने के लिए हॉर्मोन में बदलाव होता है और आपकी सेक्स ड्राइव बढ़ जाती है। वहीं कुछ महिलाओं को पीरियड्स से ठीक पहले कामोत्तेजना महसूस होती है और कुछ खुद को पीरियड्स के दौरान ज्यादा कामोत्तेजित महसूस करती हैं।
  3. महिलाओं के पेल्विस में क्लिटोरिस, वजायना और यूरेथ्रा काफी आसपास मौजूद होते हैं। जिस वजह से जब आपका ब्लैडर भर जाता है, तो यह आपके इन संवेदनशील अंगों पर दबाव डालता है, जिसके फल स्वरूप महिलाओं की सेक्स डिजायर बढ़ सकती है।

और पढ़ें : शादी के बाद सेक्स में कैसे लगाएं तड़का, जानें

अत्यधिक सेक्स डिजायर को कम करने के लिए क्या करें?

अगर आप अत्यधिक सेक्स डिजायर का अनुभव करते हैं और हॉर्नी रहते हैं, तो आप निम्नलिखित तरीकों को अपना सकते हैं। जैसे-

  1. वर्कआउट करने से आपकी सेक्स डिजायर बढ़ाने वाले कुछ केमिकल और हॉर्मोन रिलीज होते हैं और आपकी सेक्स ड्राइव नियंत्रित होने लगती है।
  2. जब भी आपका दिमाग सेक्स के बारे में ज्यादा सोचने लगे, तो कुछ हॉबीज या मनपसंद कार्य करें। जिससे आपका दिमाग किसी और प्रोडक्टिव काम में बिजी हो जाए।
  3. ब्लैडर आपके जननांग पर दबाव डाल सकता है। इसलिए, अगर आप खुद को हॉर्नी फील कर रहे हैं, तो एक बार पेशाब करके देख लें। इससे आपको राहत मिल सकती है।
  4. अगर आप रोजाना सेक्स के बारे में सोच रहे हैं, तो सेक्स करना काफी अच्छा विकल्प हो सकता है। क्योंकि, सेक्स करने से आपका दिमाग फ्री हो पाएगा और आप अन्य कामों में फोकस कर पाएंगे।
  5. इसके अलावा, अगर आप ज्यादा हॉर्नी फील कर रहे हैं, तो मास्टरबेट भी कर सकते हैं। जब तक मास्टरबेशन आपके रिश्तों, शरीर और काम पर बुरा असर नहीं डालता, तबतक यह एक स्वस्थ क्रिया हो सकती है।
  6. हॉर्नी महसूस करने पर आप कुछ स्लो म्यूजिक भी सुन सकते हैं, जो कि आपके मूड को रिलैक्स करने में मदद करता है।
  7. इसके अलावा, योगा और ध्यान लगाना आपके शरीर पर खुद के नियंत्रण को मजबूत करता है और आपमें कामोत्तेजना नियंत्रित होने लगती है।

सेक्स से जुड़े किसी भी मुद्दे पर अगर आपका कोई सवाल है, तो कृपया इस बारे में अपने डॉक्टर से परामर्श करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

संबंधित लेख:

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy"
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

मूत्रमार्ग का हस्तमैथुन युवक को पड़ गया भारी, जानें यूरेथ्रल साउंडिंग क्या है? 

यूरेथ्रल साउंडिंग क्या है, यूरेथ्रल साउंडिंग के फायदे और नुकसान, यूरेथ्रल प्ले, वैन बुरेन साउंड्स, सिलीकोन साउंड्स, सेक्स टॉयज, हस्तमैथुन, फीमेल यूरेथ्रल साउंडिंग, मेल यूरेथ्रल साउंडिंग, masturbation, urethral sounding, urethral play, sex toys.

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Shayali Rekha

अगर मर्दाना ताकत को है बढ़ाना, तो इन उपायों को न भूलें अपनाना

मर्दाना ताकत कैसे बढ़ाएं, इसे बढ़ाने के उपाय, आसानी से बढ़ाएं अपनी मर्दाना ताकत, Mardaana taakat in hindi, How to increase sex drive.

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Anu Sharma

डायबिटीज और इरेक्टाइल डिसफंक्शन – जानिए कैसे लायें सुधार

डायबिटीज और इरेक्टाइल डिसफंक्शन क्या है, डायबिटीज और इरेक्टाइल डिसफंक्शन में संबंध क्या है, कैसे करें sildenafil citrate , diabetes and Erectile Dysfunction

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Anu Sharma
हेल्थ सेंटर्स, डायबिटीज जुलाई 3, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

पुरुषों के यौन (गुप्त) रोगों के बारे में पता होनी चाहिए आपको यह जरूरी बातें

पुरुषों के यौन (गुप्त) रोग के लक्षण,पुरुषों के यौन (गुप्त) रोग के प्रकार, लक्षण, उपचार और उपाय के बारे में जानें, Men sex probelms , sex problems.

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Anu Sharma

Recommended for you

सेक्स स्टैमिना बढ़ाने के उपाय/how increase sex time

सेक्स स्टैमिना बढ़ाने के इन उपायों को आजमाएं और सेक्स-लाइ‍व को रिजूवनेट करें

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by shalu
Published on जुलाई 14, 2020 . 7 मिनट में पढ़ें
सेक्स के दौरान या बाद में ऐंठन

सेक्स के दौरान या बाद में ऐंठन के कारण और उनसे राहत पाने के उपाय

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Anu Sharma
Published on जुलाई 13, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
सेक्स से जुड़े महत्वपूर्ण सवाल

कौन-कौन से हैं सेक्स से जुड़े महत्वपूर्ण सवाल और पाइए उनके जवाब

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Anu Sharma
Published on जुलाई 7, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
लो सेक्स ड्राइव

कहीं आपकी लो सेक्स ड्राइव (low sex drive) का कारण ये दवाएं तो नहीं?

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Shikha Patel
Published on जुलाई 7, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें