Breast Cancer: स्तन कैंसर क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट अक्टूबर 28, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

जानिए मूल बातें :

स्तन कैंसर (Breast Cancer) क्या है?

स्तन कैंसर (Breast Cancer) एक प्रकार का घातक ट्यूमर है, जो स्तन की कोशिकाओं (cells) में शुरू होता है। ब्रेस्ट कैंसर एक घातक ट्यूमर कोशिकाओं का समूह है, जो तेजी से आसपास के टिश्यू (tissues) में विकसित हो जाता है और शरीर के दूसरे क्षेत्रों में भी फैल सकता है। यह बीमारी लगभग पूरी तरह से महिलाओं में होती है लेकिन, कुछ ऐसे मामले भी सामने आए हैं, जिसमें पुरुष भी इस बीमारी से ग्रस्त हैं।

स्तन कैंसर (Breast Cancer) कितना सामान्य है?

महिलाओं में स्तन कैंसर बहुत आम है। एक जीवनकाल में, हर आठ में से एक महिला को यह बीमारी प्रभावित करती है। इस बीमारी के जोखिम कारणों को कम करके इसे रोका जा सकता है। अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर से परामर्श लें।

और पढ़ें : Dengue : डेंगू क्या है? जानिए इसके कारण, लक्षण और उपाय

हैलो स्वास्थ्य का न्यूजलेटर प्राप्त करें

मधुमेह, हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर, मोटापा, कैंसर और भी बहुत कुछ...
सब्सक्राइब' पर क्लिक करके मैं सभी नियमों व शर्तों तथा गोपनीयता नीति को स्वीकार करता/करती हूं। मैं हैलो स्वास्थ्य से भविष्य में मिलने वाले ईमेल को भी स्वीकार करता/करती हूं और जानता/जानती हूं कि मैं हैलो स्वास्थ्य के सब्सक्रिप्शन को किसी भी समय बंद कर सकता/सकती हूं।

जानिए इसके लक्षण :

स्तन कैंसर (Breast Cancer) के लक्षण क्या हैं?

स्तन कैंसर के कई अलग-अलग लक्षण अलग-अलग रोगियों में देखने को मिलते हैं। स्तन कैंसर के मुख्य लक्षण नीचे बता रहे हैं :

  • किसी एक स्तन में गांठ पड़ना
  • निप्पल से खून निकलना
  • किसी एक स्तन के आकार या दिखने में अलग होना
  • स्तन के ऊपर की त्वचा में परिवर्तन
  • निप्पल या स्तन के आसपास की त्वचा का छिल जाना
  • स्तन की ऊपरी त्वचा का लाल या नारंगी होना

ऐसे अन्य कई लक्षण हैं, जिनका उल्लेख नहीं किया जा सकता। अगर आपके पास मोटापे के दुष्प्रभावों के बारे में कोई प्रश्न हैं, तो अपने डॉक्टर से परामर्श लें।

मुझे अपने डॉक्टर को कब दिखाना चाहिए?

अगर आपको अपने किसी स्तन में बदलाव का अनुभव होता है, तो आप अपने डॉक्टर से तुरंत संपर्क करें। नियमित रूप से अपने स्तनों का परीक्षण स्वयं करें। आमतौर पर, कैंसर के शुरुआती चरण में दर्द कम या नहीं के बराबर होता है। यदि आपको लक्षण महसूस होते हैं, तो बिना देर किए अपने डॉक्टर से सलाह लें। शुरुआती चरण में बीमारी अगर पकड़ में आ जाती हैं, तो इलाज की संभावना ज्यादा रहती है।

और पढ़ें : Breast cyst: ब्रेस्ट सिस्ट (स्तन पुटी) क्या है?

जानिए इसके कारण :

स्तन कैंसर (Breast Cancer) किन कारणों से होता है?

स्तन कैंसर होने के कारणों को अभी तक ठीक से पता नहीं लगाया जा सकता हैं। विशेषज्ञों को सिर्फ इतना ही पता है कि इस समस्या में ब्रेस्ट सेल्स असामान्य रूप से बढ़ने लगते हैं, जिससे स्तन में गांठ हो जाती है। कोशिकाओं की यह गांठ टिश्यू और शरीर के अन्य हिस्सों में फैल सकती है।

डॉक्टरों ने अनुमान लगाया है कि लगभग 5-10% स्तन कैंसर के मामले ज्यादातर जेनेटिक होते हैं। इन जीनों की पहचान जीन 1 (BRCA1) और स्तन कैंसर जीन 2 (BRCA2) के रूप में की गई है। अगर आपके परिवार में कभी कोई स्तन कैंसर से पीड़ित रह चुका है, तो आप इन जींस (genes) का पता लगाने के लिए ब्लड टेस्ट करवा सकते हैं।

 

और पढ़ें : Kidney Stones : गुर्दे की पथरी क्या है?जाने इसके कारण लक्षण और उपाय

जानिए खतरे के कारण :

किन कारणों से मेरे लिए स्तन कैंसर (Breast Cancer) का खतरा बढ़ सकता है?

स्तन कैंसर के खतरे बढ़ने के मुख्य कारण यह हैं :

  • उम्र बढ़ने के साथ स्तन कैंसर होने की संभावना बढ़ जाती है।
  • अगर आपके परिवार में पहले किसी को स्तन कैंसर हुआ हो जैसे, मां, बेटी, या बहन।
  • BRCA1और BRCA2 जीन या अन्य जीन स्तन कैंसर के खतरे को बढ़ाते हैं।
  • एल्कोहॉल का सेवन।
  • मैमोग्राम पर ब्रेस्ट टिश्यू का ज्यादा होना।
  • शरीर द्वारा बनाए गए एस्ट्रोजन का ब्रेस्ट टिश्यू पर प्रभाव।
  • कम उम्र में पीरियड्स शुरू हो जाना।
  • ज्यादा उम्र होने पर गर्भवती होने से या कभी भी गर्भवती नहीं होने से।
  • देर से मेनोपॉज होना।
  • मेनोपॉज के लिए प्रोजेस्टिन के साथ संयुक्त एस्ट्रोजन जैसे हार्मोन लेना।
  • मोटापा।
  • पहले कभी इनवेसिव स्तन कैंसर, डक्टल कार्सिनोमा इन सीटू (DCIS), या लोब्युलर कार्सिनोमा इन सीटू (LCIS) हुआ हो।

और पढ़ें : Mumps : गलसुआ क्या है? जाने इसके कारण ,लक्षण और उपाय

जानिए इसके निदान और उपचार

यहां दी की गई कोई भी जानकारी किसी भी प्रोफेशनल डॉक्टर की सलाह की जगह इस्तेमाल नहीं की जा सकती है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा अपने चिकित्सक से परामर्श करें।

स्तन कैंसर (Breast Cancer) का निदान कैसे किया जाता है?

यदि आपको अपने स्तनों में कोई बदलाव नजर आता है,तो अपने डॉक्टर से जांच कराएं। स्तन कैंसर का पता लगाने के लिए, आपके डॉक्टर नीचे बताए परीक्षणों और प्रक्रियाओं का उपयोग कर सकते हैं :

शारीरिक परीक्षण और आपकी हिस्ट्री की जांच :

ब्रेस्ट कैंसर के सामान्य लक्षणों की जांच करने के लिए शरीर की एक जांच की जाती है। इस प्रक्रिया में बीमारी के संकेतों की जांच की जाती है, जैसे कि स्तन की गांठ या कुछ और जो असामान्य लगता है। रोगी की स्वास्थ्य आदतों और पिछली बीमारियों और उपचारों की हिस्ट्री भी जानी जाती है।

क्लीनिकल ​​स्तन परीक्षण :

डॉक्टर या अन्य किसी पेशेवर चिकित्सक द्वारा बेस्ट की जांच की जाती है। इस परीक्षण में डॉक्टर स्तनों और बाहों के नीचे गांठ या किसी और विकार की जांच करते हैं, जो उन्हें असामान्य लगता है।

अल्ट्रासाउंड परीक्षण :

अल्ट्रासाउंड एक प्रक्रिया है, जिसमें हाई एनर्जी वेव्स इंटरनल टिश्यू को बाउंस करती हैं, जिससे इको पैदा होती है। यह गूंज शरीर के टिश्यू की एक तस्वीर बनाती है, जिसे सोनोग्राम कहते हैं। बाद में, इस चित्र का विश्लेषण किया जाता है।

एमआरआई :

एमआरआई एक प्रक्रिया है, जो दोनों स्तनों की विस्तृत तस्वीरों की एक सिरीज बनाने के लिए एक चुंबक, रेडियो तरंगों और एक कंप्यूटर का उपयोग करती है।

ब्लड केमिस्ट्री का अध्ययन:

इस प्रक्रिया में शरीर में अंगों और टिश्यू के उपस्थित कुछ पदार्थों की मात्रा को मापने के लिए ब्लड सैंपल की जांच की जाती है। किसी पदार्थ का असामान्य स्तर रोग का संकेत हो सकता है।

बायोप्सी:

इस प्रक्रिया में कोशिकाओं को कैंसर के लक्षण की जांच के लिए हटाते हैं ताकि, उन्हें एक रोगविज्ञानी द्वारा माइक्रोस्कोप के नीचे देखा जा सके। यदि स्तन में एक गांठ पाई जाती है, तो बायोप्सी की जा सकती है। स्तन कैंसर की जांच के लिए चार प्रकार की बायोप्सी होती है:

  • एक्सिशनल बायोप्सी (Excisional Biopsy): इसमें टिश्यू की एक पूरी गांठ को हटाया जाता है।
  • इंसिशनल बायोप्सी (Incisional Biopsy): इसमें टिश्यू की गांठ या इसके एक नमूने को हटाया जाता है।
  • कोर बायोप्सी (Core Biopsy): एक वाइड नीडल का उपयोग करके टिश्यू को हटाना।
  • फाइन-नीडल बायोप्सी (Fine Needle Biopsy) : एक पतली सुई का उपयोग करके टिश्यू या तरल पदार्थ को निकालना।

स्तन कैंसर (Breast Cancer) का इलाज कैसे किया जाता है?

आपके डॉक्टर नीचे बताए कारणों के आधार पर आपको स्तन कैंसर के विभिन्न उपचार का विकल्प दे सकता है :

  • स्तन कैंसर का प्रकार
  • स्तन कैंसर का चरण
  • स्तन कैंसर का आकार
  • अगर कैंसर कोशिकाएं हार्मोन के प्रति संवेदनशील हैं
  • आपकी समग्र स्वास्थ्य स्थिति के अनुसार

स्तन कैंसर के मुख्यतः पांच प्रकार के उपचार हैं, जो नीचे बताए गए हैं:

सर्जरी:

  • स्तन-संरक्षण सर्जरी (Breast-conserving surgery) के माध्यम से थिसेंटिनल लिंफ नोड (The Sentinel lymph node) को हटाते हैं।
  • टोटल मास्टेक्टॉमी सर्जरी (Total mastectomy) की मदद से कैंसर से प्रभावित स्तन को हटाने है।

मॉडिफाइड रैडिकल मास्टेक्टॉमी की मदद से कैंसर प्रभावित स्तन को हटाने के साथ-साथ, हाथ के नीचे के लिंफ नोड्स, छाती की मांसपेशियों पर अस्तर और चेस्ट वॉल को हटाते हैं।

रैडीएशन थेरिपी एक ऐसा उपचार है, जो कैंसर कोशिकाओं को मारने या उन्हें बढ़ने से रोकने के लिए हाई एनर्जी किरणों का उपयोग करता है।

कीमोथेरिपी एक ऐसा कैंसर उपचार है, जो कैंसर कोशिकाओं को बढ़ने से रोकने के लिए दवाओं का उपयोग करता है। हटाने से पहले ट्यूमर को छोटा करने के लिए सर्जरी से पहले इसका उपयोग किया जाता है। ट्यूमर को वापस लौटने से रोकने के लिए सर्जरी के बाद भी इसका उपयोग किया जा सकता है।

हार्मोन थेरिपी हार्मोन के असंतुलन से होने वाली परेशानियों और कैंसर को बढ़ने से रोकने के लिए एक कैंसर उपचार है। यह उपचार केवल उसी प्रकार के स्तन कैंसर के लिए प्रभावी है, जो हार्मोन के प्रति संवेदनशील है। आपका डॉक्टर आपके प्रकार के स्तन कैंसर के आधार पर ही इस प्रक्रिया का इस्तेमाल करेगा।

टारगेटेड थेरिपी एक प्रकार का उपचार होता है, जो सामान्य कोशिकाओं को नुकसान पहुंचाए बिना सिर्फ कैंसर कोशिकाओं की पहचान करता है और उन पर हमला करने के लिए दवाओं या अन्य पदार्थों का उपयोग करता है। इस थेरिपी में निम्नलिखित शामिल हैं :

  • मोनोक्लोनल ऐंटीबाडी (Monoclonal antibodies)
  • टायरोसिन कीनेज इनहिबिटर (tyrosine kinase inhibitors)
  • साइक्लिन-डिपेंडकिंस इनहिबिटर(cyclin-dependent kinase inhibitors)

कुछ मामलों में, आपको इन उपचारों के कॉम्बिनेशन की भी आवश्यकता पड़ सकती है। कृपया अपने डॉक्टर से उन उपचार के विकल्पों पर चर्चा करने के बाद ही कोई कदम उठाएं।

आप अपने डॉक्टर के साथ अपने परीक्षण के बारे में होने वाली किसी भी चिंता पर बात कर सकते हैं।

और पढ़ें : आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस (AI) की तकनीक से ब्रेस्ट कैंसर की जांच

जीवनशैली में बदलाव और घरेलू उपचार :

कौन-से घरेलू उपचार या जीवनशैली में बदलाव स्तन कैंसर को रोकने के लिए मेरी मदद कर सकते हैं?

नीचे बताई गई जीवनशैली और घरेलू उपचार आपको स्तन कैंसर से लड़ने में मदद कर सकते हैं:

स्वस्थ चीजों का चुनाव करें :

एक स्वस्थ आहार बनाए रखना और नियमित रूप से व्यायाम करना बहुत जरूरी है। आप शराब का सेवन कम करने के साथ-साथ धूम्रपान भी छोड़ सकते हैं।

स्वस्थ भोजन करना :

अच्छा पोषण शरीर के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। कम और अच्छा भोजन करने का प्रयास करें। आपकी उपचार विधि से जी मिचलाना या स्वाद की भावना बदल सकती है।

नियमित रूप से व्यायाम करें :

कैंसर के कारण थकान हो सकती है। यह थकान आमतौर पर लंबे समय तक रहती है और आराम के साथ बेहतर नहीं होती। नियमित व्यायाम करने से आपकी यह थकान दूर हो सकती है। आपको कम सैर करने की धीमी शुरुआत करनी चाहिए और आरामदायक तरीके से अपना स्टैमिना बढ़ाना चाहिए।

जीवनशैली में किए गए ये बदलाव आपके स्तन कैंसर को रोकने और नियंत्रण करने में आपकी मदद कर सकते हैं।

यदि आपके पास अभी भी कोई प्रश्न हैं, तो बेहतर समाधान के लिए कृपया अपने चिकित्सक से परामर्श लें।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

क्या होगा यदि कैंसर वाले पॉलिप को हटा दिया जाए, जानें

कैंसर वाले पॉलिप को हटा दें in hindi, Polyp ka ilaj, पॉलिप्स का इलाज,पॉलिक कैंसर के कारण,इसका इलाज कैसे करें, पॉलिप कैंसर के लक्षण।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया shalu
पेट का कैंसर, हेल्थ सेंटर्स जून 25, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें

Weakness : कमजोरी क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

आखिर कमजोरी होती क्यों है? क्या इसको नैचुरल तरीके से कम किया जा सकता है? कमजोरी का पता लगाने के लिए कौन-से टेस्ट किये जाते हैं? Weakness in Hindi.

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Surender aggarwal
हेल्थ कंडिशन्स, स्वास्थ्य ज्ञान A-Z जून 12, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

Fatty Liver : फैटी लिवर क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

फैटी लिवर जो कि सिरोसिस के बाद लिवर फेलियर तक का कारण बन सकती है। आइए जानते हैं कि, इसे कैसे कंट्रोल किया जाए। Fatty Liver in Hindi.

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Surender aggarwal
हेल्थ कंडिशन्स, स्वास्थ्य ज्ञान A-Z जून 12, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

Throat Ulcers : गले में छाले क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

गले में छाले होने की वजह से आपको खाने-पीने, बात करने आदि में दर्द व परेशानी हो सकती है। आइए, जानते हैं कि गले में छाले के लक्षण, कारण और इलाज क्या होता है। Throat ulcer in Hindi

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Surender aggarwal
हेल्थ कंडिशन्स, स्वास्थ्य ज्ञान A-Z जून 11, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

ब्रेस्ट कैंसर से जुड़े मिथ, भ्रम में न पड़ें, जानिए क्या है फेक्ट

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Arvind Kumar
प्रकाशित हुआ अगस्त 6, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
ब्रेस्ट कैंसर टेस्ट -Breast Cancer

जानिए ब्रेस्ट कैंसर के बारे में 10 बुनियादी बातें, जो हर महिला को पता होनी चाहिए

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Arvind Kumar
प्रकाशित हुआ अगस्त 6, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
स्तनपान है बिल्कुल आसान, मानसिक रूप से ऐसे रहें तैयार

स्तनपान है बिल्कुल आसान, मानसिक रूप से ऐसे रहें तैयार

के द्वारा लिखा गया Sanket Pevekar
प्रकाशित हुआ अगस्त 2, 2020 . 1 मिनट में पढ़ें
कोरोना काल में कैंसर के इलाज cancer-treatment-during-corona-pandemic

कोरोना काल में कैंसर के इलाज की स्थिति हुई बेहतर: एक्सपर्ट की राय

के द्वारा लिखा गया Mousumi dutta
प्रकाशित हुआ जुलाई 23, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें