आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

मेसोथेलियोमा लंग कैंसर के लक्षण मरीजों में इस तरह के नजर आ सकते हैं...

    मेसोथेलियोमा लंग कैंसर के लक्षण मरीजों में इस तरह के नजर आ सकते हैं...
    मेसोथेलियोमा, कैंसर का ही एक प्रकार है, जो ऊतक की पतली परत में होता है और अधिकांश आंतरिक अंगों (मेसोथेलियम) को कवर करता है। यह एक गंभीर बीमारी है। असामान्य कोशिकाओं की वृद्धि के समूह का एक व्यापक शब्द है, कैंसर रोग। यह शरीर के किसी भी क्षेत्र में हो सकता है और प्रत्येक प्रकार के कैंसर के अलग-अलग तरह के लक्षण हो सकते हैं। कुछ लोगों में मेसोथेलियोमा लंग कैंसर देखने को मिल सकता है। फेफड़ों का कैंसर एक सामान्य और गंभीर प्रकार का कैंसर है। बहुत से लोगों में मेसोथेलियोमा और फेफड़ों के कैंसर में भी संबंध देखा गया है। जानिए यहां के मेसोथेलियोमा लंग कैंसर (Mesothelioma lung cancer) के उपचार, कारणों और निदान के बारे में यहां।

    मेसोथेलियोमा लंग कैंसर क्या है (what is Mesothelioma lung cancer)?

    कुछ मामलों में, मेसोथेलियोमा फेफड़ों को प्रभावित कर सकता है। मेसोथेलियोमा एक दुर्लभ प्रकार का कैंसर है, जो मेसोथेलियम बनाने वाली कोशिकाओं में विकसित होता है। मेसोथेलियम एक पतली झिल्ली है, जो कुछ आंतरिक अंगों को कवर करती है और उनकी रक्षा करती है। हालांकि, यह पेट, हृदय और अंडकोष की परत को भी प्रभावित कर सकता है। मेसोथेलियोमा लंग कैंसर के लक्षण कुछ लंग कैंसर के सामान भी नजर आ सकत हैं। राष्ट्रीय कैंसर संस्थान (एनसीआई) के अनुसार, मेसोथेलियोमा का सबसे आम कारण एस्बेस्टस एक्सपोजर है। मेसोथेलियोमा के लक्षण प्रकट होने के समय से 10-40 वर्ष या उससे अधिक समय लग सकता है, क्योंकि स्थिति धीरे-धीरे विकसित होती है।

    और पढ़ें: लंग कैंसर के लिए इम्यूनोथेरिपी (Immunotherapy for lung cancer) कितनी प्रभावी है?

    मेसोथेलियोमा लंग कैंसर के लक्षण मरीज में इस तरह के नजर आ सकते हैं:

    मेसोथेलियोमा लंग कैंसर में नजर आने वाले लक्षण इस प्रकार हैं:

    और पढ़ें: ALK positive lung cancer: एएलके पॉसिटिव लंग कैंसर क्या है? जानिए इसके लक्षण और इलाज!

    प्लूरल मेसोथेलियोमा वाले लगभग 90% व्यक्तियों में प्लूरल इफ्यूजन होता है।इसमें फेफड़ों और छाती के बीच की जगह में तरल पदार्थ का निर्माण होता है। इस स्थिति वाले लोग आमतौर पर सीने में दर्द और सांस लेने में तकलीफ हो सकती है। इसके विपरीत, फेफड़े के कैंसर वाले व्यक्ति को कैंसर फैलने तक किसी भी लक्षण का अनुभव नहीं हो सकता है। हां, उनमें इस तरह के कुछ लक्षण नजर आ सकते हैं, वो इस प्रकार हैं:

    • लगातार खांसी होना
    • खूनी खांसी आना
    • सीने में दर्द, जो गहरी सांस लेने, खांसने या हंसने से बढ़ सकता है
    • भूख में कमी
    • सांस लेने में कठिनाई
    • तेजी से वजन घटाना
    • थकान महसूस होना
    • घरघराहट हाेना

    और पढ़ें: Lung cancer treatment: लंग कैंसर ट्रीटमेंट कैसे किया जाता है, जानिए इसके बारे में विस्तार से!

    कारण (Causes)

    जैसा कि मेसोथेलियोमा का सबसे आम कारण एस्बेस्टस एक्सपोजर है। मेसोथेलियोमा के लक्षण प्रकट होने के समय से 10-40 वर्ष या उससे अधिक समय लग सकता है, क्योंकि स्थिति धीरे-धीरे विकसित होती है। इसके अलावा, सामान्य तौर पर, कैंसर तब शुरू होता है जब किसी कोशिका के डीएनए में कई तरह के बदलाव (म्यूटेशन) होते हैं। यह असामान्य कोशिकाएं जमा होकर एक ट्यूमर बनाती हैं। यह स्पष्ट नहीं है कि प्रारंभिक अनुवांशिक उत्परिवर्तन जो मेसोथेलियोमा का कारण बनते हैं, हालांकि शोधकर्ताओं ने ऐसे कारकों की पहचान की है जो जोखिम को बढ़ा सकते हैं।

    और पढ़ें: इजीएफआर टार्गेटेड थेरिपी : नॉन-स्मॉल सेल लंग कैंसर में दी जा सकती है यह ड्रग थेरिपी!

    प्लूरल मेसोथेलियोमा का निदान (Diagnosis of pleural mesothelioma)

    लंग कैंसर की संभावना उन लोगों को अधिक होती है, जो लोग स्मोकिंग करते हैं। अधिक उम्र और ज्यादा स्मोकिंग के कारण इस कैंसर की संभावना बढ़ जाती है। ऐसे में बीमारी के लक्षण दिखने पर बीमारी को डायग्नोज करना बहुत जरूरी हो जाता है। लंग कैंसर को डायग्नोज करने के लिए डॉक्टर इमेजिंग टेस्ट जैसे कि एक्स-रे, सिटी स्कैन आदि कराने की सलाह देते हैं। डॉक्टर निम्नलिखित मूल्यांकनों का उपयोग करके फुफ्फुस मेसोथेलियोमा का निदान करते हैं:

    छाती का एक्स-रे: यह सरल इमेजिंग अध्ययन डॉक्टरों को फेफड़ों की परत में कैल्शियम जमा और गाढ़े क्षेत्रों सहित एस्बेस्टस जोखिम के संकेतों को देखने में मदद करता है।
    इंट्रावेनस कंट्रास्ट के साथ सीटी स्कैन: यह एक विशेष प्रकार का एक्स-रे है, जो शरीर की क्रॉस-सेक्शनल छवियों को दिखाता है।
    थोरैसेन्टेसिस: यदि डॉक्टर फेफड़ों और छाती की दीवार के बीच तरल पदार्थ के निर्माण की पहचान करते हैं, तो वे संभावित कारणों को बाहर करने के लिए सुई के साथ कुछ तरल पदार्थ टेस्ट के लिए निकाल सकते हैं।
    बायोप्सी: डॉक्टर चेस्ट की वॉल से ऊतक का एक छोटा सा नमूना निकालते है। फिर इसे मेसोथेलियोमा की जांच के लिए नमूने को प्रयोगशाला में भेजते हैं।
    पीईटी स्कैन: यदि व्यक्ति को मेसोथेलियोमा है, तो डॉक्टर यह देखने के लिए पीईटी स्कैन की सिफारिश कर सकते हैं कि कैंसर फैल गया है या नहीं।

    डॉक्टर फेफड़ों के कैंसर के निदान के लिए इमेजिंग और बायोप्सी के समान दृष्टिकोण का उपयोग करते हैं। वे रेडियो तरंगों और मैग्नेटिक का उपयोग करके विस्तृत चित्र प्रदान करने के लिए एमआरआई स्कैन की सलाह दे सके हैं। एमआरआई स्कैन डॉक्टरों को फेफड़ों के कैंसर की जांच में मदद कर सकता है, जो मस्तिष्क या रीढ़ की हड्डी में फैल गया है।

    और पढ़ें : लंग कैंसर क्या होता है, जानें किन वजहों से हो सकती है ये खतरनाक बीमारी

    मेसोथेलियोमा कैंसर का उपचार (Mesothelioma cancer treatment)

    मेसोथेलियोमा कैंसर का एक आक्रामक रूप है, जिसका कोई इलाज नहीं है। हालांकि, अगर डॉक्टर इसे जल्दी पकड़ लेते हैं, तो प्रभावित क्षेत्रों को हटाने के लिए सर्जरी एक विकल्प हो सकता है। भले ही सर्जरी पूरी तरह से कैंसर का इलाज नहीं कर सकती है, लेकिन यह तरल पदार्थ के निर्माण को कम कर सकती है, जिससे सांस लेने में कठिनाई नहीं हाेती है और उनकी कुछ उम्र भी बढ़ जाती है। असहज लक्षणों को कम करने के लिए डॉक्टर कीमोथेरिपी की सलाह भी दे सकते हैं। कीमोथेरिपी दवा का एक मजबूत रूप है, जो कैंसर कोशिकाओं के विकास को कम और धीमा कर सकता है। अन्य विकल्पों में कैंसर कोशिकाओं से लड़ने के लिए इम्यूनोथेरेपी शामिल है।

    यदि किसी व्यक्ति को फेफड़े का कैंसर है, तो डॉक्टर फेफड़े के कैंसर के प्रकार और उसकी स्थिति के अनुसार ही इलाज करेंगे।

    और पढ़ें : Radiation sickness : रेडिएशन सिकनेस क्या है? जानें इसके लक्षण, कारण और उपाय

    कैंसर के विकास और प्रसार को रोकने के लिए अन्य मेडिकेशन की सलाह डॉक्टर मरीज की स्थिति देखते हुए बताते हैं। नॉन-स्मॉल सेल लंग कैंसर (NSCLC) के मामलों में, डॉक्टर उपरोक्त उपचारों के संयोजन की सिफारिश कर सकते हैं। रेडिएशन थेरिपी और कीमोथेरेपी स्मॉल सेल लंग कैंसर (SCLC) के लिए सही विकल्प हैं। यदि आपको ऊपर दिए गए लक्षण नजर आते हैं, तो डॉक्टर से मिलें। अपने चिकित्सक को बताएं कि क्या आप एस्बेस्टस के संपर्क में हैं।

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    लेखक की तस्वीर badge
    Niharika Jaiswal द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 24/06/2022 को
    डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
    Next article: