आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

null

नॉन-हॉजकिन लिम्फोमा (Non-hodgkin lymphoma) : कैंसर के इस प्रकार के बारे में कितना जानते हैं आप?

    नॉन-हॉजकिन लिम्फोमा (Non-hodgkin lymphoma) :  कैंसर के इस प्रकार के बारे में कितना जानते हैं आप?

    नॉन-हॉजकिन लिम्फोमा (Non-hodgkin lymphoma) एक प्रकार का कैंसर है जो लिम्फेटिक सिस्टम से शुरू होता है जो बॉडी के जर्म फाइटिंग इम्यूम सिस्टम का हिस्सा है। नॉन-हॉजकिन लिम्फोमा में व्हाइट ब्लड सेल्स जिन्हें लिम्फोसाइट्स कहा जाता है असामान्य रूप से बढ़ते हैं और बॉडी में कहीं भी ट्यूमर का निमार्ण कर सकते हैं। नॉन-हॉजकिन लिम्फोमा लिम्फोमा की सामान्य कैटेगरी है। इस कैटेगरी में कई सबटाइप है। डिफ्यूज लार्ज बी सेल लिम्फोमा और फॉलिकुलर लिम्फोमा सबसे कॉमन सबटाइप हैं। दूसरी सामान्य कैटेगरी में हॉजकिन लिम्फोमा आता है। इस लेख में नॉन हॉजकिन लिम्फोमा से जुड़ी जानकारी दी जा रही है।

    नॉन-हॉजकिन लिम्फोमा के प्रकार (Types of Non-Hodgkin Lymphoma)

    नॉन-हॉजकिन लिम्फोमा (Non-hodgkin lymphoma) का इलाज इसके प्रकार पर निर्भर करता है। इसलिए डॉक्टर लिम्फोमा के प्रकार के बारे में जानने की पूरी कोशिश करते हैं। लिम्फोमा का प्रकार कौन से लिम्फोसाइट्स ( बी सेल्स और सी सेल्स) प्रभावित हुए हैं उस पर निर्भर करता है। इसके साथ ही दूसरे फैक्टर्स और कैंसरस होने पर वे कोशिकाएं कितनी मैच्योर हुई हैं इस पर भी निर्भर होता है।

    बी सेल बनाम टी सेल लिम्फोमास (B-cell vs T-cell lymphomas)

    लिम्फ सिस्टम मुख्य रूप से लिम्फोसाइट्स से मिलकर बना है जो कि व्हाइट ब्लड सेल का प्रकार है जो कि बॉडी की इंफेक्शन से लड़ने में मदद करता है। दो प्रकार के लिम्फोसाइट्स होते हैं।

    बी लिम्फोसाइट्स (B lymphocytes) या बी सेल्स (B cells)

    बी सेल्स आमतौर प्रोटीन जिसे एंटीबॉडीज कहा जाता है का निमार्ण करके बॉडी को जर्म से प्रोटेक्ट करने में मदद करते हैं। जिसमें बैक्टीरिया और वायरस शामिल हैं। एंटीबॉडीज जर्म से अटैच हो जाते हैं और उन्हें इम्यून सिस्टम से बाहर करने के लिए मार्क करते हैं।

    और पढ़ें: Care after Bone cancer surgery: बोन कैंसर सर्जरी के बाद पेशेंट का कैसे रखें ध्यान?

    टी लिम्फोसाइट्स (T lymphocytes) या टी सेल्स (T cells)

    टी सेल्स के कई प्रकार हैं। कुछ टी कोशिकाएं बॉडी में असामान्य कोशिकाओं या जर्म्स को बॉडी से हटाती हैं। वहीं दूसरी टी कोशिकाएं इम्यून सिस्टम की दूसरी कोशिकाओं की एक्टिविटी को धीमा या तेज करती हैं। लिम्फोमा किसी भी लिम्फोसाइट्स से शुरू हो सकता है, लेकिन बी सेल लिम्फोमास (B-cell lymphomas) सबसे कॉमन है।

    मंद बनाम आक्रामक लिम्फोमास (Indolent vs. aggressive lymphomas)

    नॉन-हॉजकिन लिम्फोमा (Non-hodgkin lymphoma) के प्रकार ये कितनी तेजी से बढ़ते और फैलते हैं इस पर भी निर्भर करते हैं। इंडोलेंट लिम्फोमा धीरे-धीरे बढ़ते और फैलते हैं कुछ को तुरंत इलाज की आवश्यकता नहीं होती है, लेकिन इसके बजाय इन्हें बारीकी से मॉनिटर किया जा सकता है। अमेरिका में सबसे आम प्रकार का इंडोलेंट लिंफोमा फॉलिकुलर लिम्फोमा (Follicular lymphoma) है। आक्रामक लिम्फोमा तेजी से बढ़ते और फैलते हैं, और आमतौर पर इन्हें तुरंत इलाज की आवश्यकता होती है। डिफ्यूज लार्ज बी सेल लिम्फोमा कॉमन अग्रेसिव लिम्फोमा है।

    कुछ प्रकार के लिंफोमा, जैसे मेंटले सेल लिंफोमा (Mantle cell lymphoma) इनमें से किसी भी केटेगरी में ठीक से फिट नहीं होते हैं। भले ही वे कितनी तेजी से बढ़े, सभी नॉन-हॉजकिन लिम्फोमा का इलाज न होने पर लिम्फ सिस्टम के अन्य भागों में फैल सकते हैं। वे शरीर के अन्य भागों में भी फैल सकते हैं, जैसे कि लिवर, ब्रेन या बोन मैरो।

    नॉन-हॉजकिन लिम्फोमा का क्लासिफिकेशन (Classification of Non-Hodgkin Lymphoma)

    नॉन-हॉजकिन लिम्फोमा (Non-hodgkin lymphoma) के कई अलग प्रकार हैं। इसलिए इसका वर्गीकरण थोड़ा कंफ्यूजिंग हो सकता है। कई प्रकार के अलग-अगल सिस्टम इसके लिए उपयोग किए जाते हैं। सबसे रिसेंट सिस्टम वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन क्लासिफिकेशन है। डब्लयूएचओ सिस्टम लिम्फोमाज को निम्न प्रकार वर्गीकृत करता है।

    और पढ़ें: Stages of Bone cancer: जानिए बोन कैंसर के स्टेज 1 से 4 तक की महत्वपूर्ण जानकारी और टेस्ट!

    नॉन हॉजिकन लिम्फोमा के लक्षण (Symptoms of Non-Hodgkin Lymphoma)

    नॉन-हॉजकिन लिम्फोमा (Non-hodgkin lymphoma) के लक्षणों में निम्न शामिल हो सकते हैं।

    ऊपर दिए गए लक्षणों में कोई लक्षण दिखाई देता है और आप इसके प्रति चिंतित हैं तो डॉक्टर से संपर्क करें।

    नॉन-हॉजकिन लिम्फोमा के कारण (Cause of Non-Hodgkin lymphoma)

    नॉन-हॉजकिन लिम्फोमा

    ज्यादातर मामलों में, डॉक्टर नहीं जानते कि गैर-हॉजकिन के लिंफोमा का क्या कारण हैं। यह तब शुरू होता है जब शरीर बहुत अधिक असामान्य लिम्फोसाइट्स पैदा करता है, जो एक प्रकार की श्वेत रक्त कोशिका होती है। आम तौर पर, लिम्फोसाइट्स एक लाइफ साइकल से गुजरते हैं। पुराने लिम्फोसाइट्स मर जाते हैं, और शरीर उन्हें बदलने के लिए नए बनाता है। नॉन हॉजकिन लिंफोमा में, लिम्फोसाइट्स मरते नहीं हैं, और आपका शरीर नए बनाता रहता है। लिम्फोसाइट्स की यह अधिक आपूर्ति लिम्फ नोड्स में जमा हो जाती है, जिससे उनमें सूजन आ जाती है।

    और पढ़ें: स्केरॉटिक लीजन्स (Sclerotic lesions) से बढ़ जाता है कैंसर का खतरा?

    नॉन-हॉजकिन लिम्फोमा का डायग्नोसिस (Non-Hodgkin lymphoma Diagnosis)

    डॉक्टर आपकी और फैमिली की पर्सनल मेडिकल हिस्ट्री के बारे में पूछेंगे। वे कुछ टेस्ट रिकमंड कर सकते हैं। जिसमें निम्न शामिल हैं।

    • फिजिकल एग्जाम
    • ब्लड और यूरिन टेस्ट
    • इमेजिंग टेस्ट
    • लिम्फ नोड रिमूवल टेस्ट बोन मैरो टेस्ट
    • लंबर पंचर

    मरीज की स्थिति के आधार पर अन्य परीक्षणों और प्रक्रियाओं का उपयोग किया जा सकता है। डॉक्टर नॉन- हॉजकिन के लिंफोमा के सबटाइप को निर्धारित करने के लिए इन परीक्षणों और प्रक्रियाओं का उपयोग करते हैं और कौन से उपचार सबसे प्रभावी हो सकते हैं यह निर्धारित करते हैं। कई प्रकार के नॉन-हॉजकिन लिम्फोमा मौजूद हैं, जिनमें दुर्लभ रूप शामिल हैं। रिसर्च से पता चलता है कि एक अनुभवी चिकित्सक द्वारा मरीज के टिशूज के नमूनों की समीक्षा करने से अधिक सटीक निदान हो सकता है। यदि निदान के बारे में कोई चिंता है, तो दूसरी राय लेने पर विचार करें।

    और पढ़ें: Trachelectomy: जानिए ट्रेक्लेक्टोमी सर्जरी की जरूरत कैंसर के किस स्टेज में पड़ सकती है!

    नॉन-हॉजकिन लिम्फोमा का इलाज (Treatment of Non-Hodgkin lymphoma)

    नॉन-हॉजकिन लिम्फोमा के इलाज के लिए कई ट्रीटमेंट ऑप्शन उपलब्ध हैं। कौन सा ट्रीटमेंट या ट्रीटमेंट कॉब्निनेशन सबसे अच्छा है, यह लिंफोमा पर निर्भर करेगा, जिसमें शामिल कोशिकाओं के प्रकार और क्या लिंफोमा आक्रामक है? शामिल है डॉक्टर मरीज की ओवरऑल हेल्थ और प्राथमिकताओं पर भी विचार करता है।

    यदि लिम्फोमा धीमी गति से बढ़ रहा है और लक्षण पैदा नहीं करता है, तो आपको तुरंत उपचार की आवश्यकता नहीं हो सकती है। इसके बजाय, डॉक्टर आपकी स्थिति की निगरानी के लिए और आपका कैंसर आगे बढ़ रहा है या नहीं, हर कुछ महीनों में नियमित जांच की सिफारिश कर सकता है। यदि नॉन-हॉजकिन लिंफोमा आक्रामक है या संकेत और लक्षण पैदा करता है, तो डॉक्टर उपचार की सिफारिश कर सकता है। विकल्पों में शामिल हो सकते हैं:

    उम्मीद करते हैं कि आपको नॉन-हॉजकिन लिम्फोमा (Non-hodgkin lymphoma) से संबंधित जरूरी जानकारियां मिल गई होंगी। अधिक जानकारी के लिए एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। अगर आपके मन में अन्य कोई सवाल हैं तो आप हमारे फेसबुक पेज पर पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    लेखक की तस्वीर badge
    Manjari Khare द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 14/07/2022 को
    डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड