आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

एक्वायर्ड प्लेटलेट फंक्शन डिसऑर्डर क्या है? जानिए इसके लक्षण, कारण और इलाज

एक्वायर्ड प्लेटलेट फंक्शन डिसऑर्डर क्या है? जानिए इसके लक्षण, कारण और इलाज

हेल्दी बॉडी की निशानी है शरीर में प्लेटलेट्स (Platelets) की मात्रा बैलेंस होना और प्लेटलेट्स का ठीक तरह से काम करना, लेकिन अगर किसी भी कारण प्लेटलेट्स ठीक तरह से काम ना करें, तो इसका नुकसान सेहत पर पड़ना तय माना जाता है। इसलिए आज इस आर्टिकल में एक्वायर्ड प्लेटलेट फंक्शन डिसऑर्डर (Acquired Platelet Function Disorder [APFD]) से जुड़ी पूरी जानकारी आप से शेयर करेंगे।

  • एक्वायर्ड प्लेटलेट फंक्शन डिसऑर्डर क्या है?
  • एक्वायर्ड प्लेटलेट फंक्शन डिसऑर्डर के लक्षण क्या हैं?
  • एक्वायर्ड प्लेटलेट फंक्शन डिसऑर्डर के कारण क्या हैं?
  • एक्वायर्ड प्लेटलेट फंक्शन डिसऑर्डर का निदान कैसे किया जाता है?
  • एक्वायर्ड प्लेटलेट फंक्शन डिसऑर्डर का इलाज कैसे किया जाता है?

और पढ़ें : प्लेटलेट डिसऑर्डर के लिए सप्लीमेंट : है बड़े काम की चीज!

चलिए अब एक्वायर्ड प्लेटलेट फंक्शन डिसऑर्डर (APFD) से जुड़े इन सवालों का जवाब जानते हैं।

एक्वायर्ड प्लेटलेट फंक्शन डिसऑर्डर (Acquired Platelet Function Disorder) क्या है?

एक्वायर्ड प्लेटलेट फंक्शन डिसऑर्डर (Acquired Platelet Function Disorder)

ब्लड सेल्स का ही एक प्रकार है प्लेटलेट्स, जो इंजरी की वजह से होने वाली ब्लीडिंग को रोकने और ठीक करने में अहम भूमिका निभाता है। इसके अलावा प्लेटलेट्स ब्लड क्लॉटिंग में भी सहायक होता है। हालांकि कुछ लोगों में प्लेटलेट्स ठीक तरह से काम नहीं करता है, जिसे मेडिकल टर्म में एक्वायर्ड प्लेटलेट फंक्शन डिसऑर्डर (Acquired Platelet Function Disorder [APFD]) कहा जाता है। एक्वायर्ड प्लेटलेट फंक्शन डिसऑर्डर के कारणों को भी समझेंगे, लेकिन सबसे पहले इसके लक्षणों को समझने की कोशिश करते हैं।

एक्वायर्ड प्लेटलेट फंक्शन डिसऑर्डर के लक्षण क्या हैं? (Symptoms of Acquired Platelet Function Disorder)

एक्वायर्ड प्लेटलेट फंक्शन डिसऑर्डर के लक्षण इस प्रकार हैं। जैसे:

  • बिना कारण पूरे शरीर में चोट (Bruising) के निशान पड़ना।
  • नाक, मुंह और मसूड़ों से ब्लीडिंग होना।
  • मेंस्ट्रुअल ब्लीडिंग (Menstrual bleeding) ज्यादा समय तक होना।
  • स्किन से ब्लीडिंग होना।
  • मसल्स (Muscles) और जॉइन्ट्स (Joints) से ब्लीडिंग होना।
  • उल्टी में ब्लड आना।
  • इंटरनल ब्लीडिंग (Internal bleeding) होना।
  • त्वचा (Skin) पर लाल दाने आना।

इन लक्षणों के अलावा एक्वायर्ड प्लेटलेट फंक्शन डिसऑर्डर के अन्य लक्षण भी हो सकते हैं। इसलिए अगर आप ऊपर बताये लक्षणों में से कोई लक्षण महसूस करें रहें, तो इसे इग्नोर करने के बजाये बेहतर होगा कि आप जल्द से जल्द डॉक्टर से कंसल्टेशन करें।

और पढ़ें : Megaloblastic Anemia: मेगालोब्लास्टिक एनीमिया क्या है? जानिए इसके लक्षण और इलाज

एक्वायर्ड प्लेटलेट फंक्शन डिसऑर्डर के कारण क्या हैं? (Cause of Acquired Platelet Function Disorder)

एक्वायर्ड प्लेटलेट फंक्शन डिसऑर्डर (Acquired Platelet Function Disorder) के 3 मुख्य कारण माने जाते हैं-

1. डिजीज (Disease)-

  • ब्लीडिंग डिसऑर्डर की वजह से इम्यून सिस्टम (Idiopathic thrombocytopenic purpura) का प्लेटलेट्स पर नेगेटिव प्रभाव पड़ना।
  • बोन मैरो (Bone marrow) यानी ब्लड कैंसर (Blood cancer) होना।
  • प्लाज्मा सेल्स में ब्लड कैंसर (Multiple myeloma) होना।
  • बोन मैरो डिसऑर्डर (Bone Marrow Disorder) की समस्या होना।
  • किडनी फेलियर (Kidney failure) होना।

2. मेडिकेशन (Medication)-

  • एस्पिरिन (Aspirin)
  • आइबुप्रोफेन (Ibuprofen)
  • एंटी-इंफ्लामेटरी ड्रग्स (Anti-inflammatory drugs)
  • पेनिसिलिन (Penicillin)
  • फेनोथियाजाइन्स (Phenothiazines)
  • प्रेडनिसोन (Prednisone)

अगर इन दवाओं का सेवन आवश्यकता से ज्यादा करने पर एक्वायर्ड प्लेटलेट फंक्शन डिसऑर्डर (Acquired Platelet Function Disorder) का खतरा हो सकता है।

3. खाद्य पदार्थ (Food)

  • अनहेल्दी फूड हैबिट्स

इन 3 अलग-अलग कारणों से एक्वायर्ड प्लेटलेट फंक्शन डिसऑर्डर (Acquired Platelet Function Disorder) होने की संभावना बनी रहती है। इसलिए अगर आप किसी भी मेडिकेशन (Medication) का सेवन करते हैं, तो उनका सेवन उतना ही करें, जितना डॉक्टर ने आपको लेने की सलाह दी हो। वहीं डॉक्टर से समय-समय पर हेल्थ चेकअप करवाते रहें और दवाओं के डोज से जुड़ी जानकारी लेते रहें।

और पढ़ें : Paroxysmal nocturnal hemoglobinuria (PNH): पैरोक्सीमल नोकट्यूनल हिमोग्लोबिन्यूरिया (पीएनएच) क्या है?

एक्वायर्ड प्लेटलेट फंक्शन डिसऑर्डर का निदान कैसे किया जाता है? (Diagnosis of Acquired Platelet Function Disorder)

एक्वायर्ड प्लेटलेट फंक्शन डिसऑर्डर के निदान के लिए निम्नलिखित टेस्ट की सलाह दे सकते हैं। जैसे:

  • सीबीसी (CBC) टेस्ट- सीबीसी (Complete Blood Count) टेस्ट की मदद से रेड ब्लड सेल्स (Red Blood Cells), वाइट ब्लड सेल्स (White Blood Cells) एवं प्लेटलेट्स platelets की जानकारी मिलती है।
  • प्रोथ्रॉम्बिन टाइम (PT) टेस्ट- प्रोथ्रॉम्बिन टाइम (Prothrombin time) टेस्ट की मदद से ब्लड क्लॉटिंग के टाइम की जानकारी मिलती है।
  • पार्शियल प्रोथ्रॉम्बिन टाइम (PTT) टेस्ट- पार्शियल प्रोथ्रॉम्बिन टाइम (Partial thromboplastin time) टेस्ट ब्लड क्लॉटिंग टाइमिंग को जानने के लिए की जाने वाली टेस्ट।
  • प्लेटलेट्स से जुड़ी जांच, जिससे प्लेटलेट्स काउंट की जानकारी लेना।
  • किडनी फंक्शन के लिए टेस्ट (kidney function Test)।

इन अलग-अलग टेस्ट की सलाह दी जाती है। वहीं अगर पेशेंट को कोई अन्य हेल्थ कंडिशन है, तो उससे जुड़ी भी टेस्ट या बॉडी चेकअप करवाने की सलाह दी जा सकती है।

और पढ़ें : G6PD Deficiency : जी6पीडी डिफिशिएंसी या ग्लूकोस-6-फॉस्फेट डीहाड्रोजिनेस क्या है?

एक्वायर्ड प्लेटलेट फंक्शन डिसऑर्डर का इलाज कैसे किया जाता है? (Treatment for Acquired Platelet Function Disorder)

यू.एस नैशनल लाइब्रेरी ऑफ मेडिसिन (U.S. National Library of Medicine) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार एक्वायर्ड प्लेटलेट फंक्शन डिसऑर्डर (Acquired Platelet Function Disorder) का इलाज निम्नलिखित तरह से किया जाता है, जो इस प्रकार हैं-

  • अगर एक्वायर्ड प्लेटलेट फंक्शन डिसऑर्डर की समस्या से पीड़ित व्यक्ति को बोन मैरो डिसऑर्डर (Bone marrow disorders) की समस्या है, तो ऐसी स्थिति में प्लेटलेट ट्रांसफ्यूजन (Platelet transfusions) की मदद से ब्लड से प्लेटलेट्स को हटाया जाता है। इस प्रक्रिया को प्लेटलेटफेरेसिस (Plateletpheresis) भी कहा जाता है।
  • एक्वायर्ड प्लेटलेट फंक्शन डिसऑर्डर का इलाज कीमोथेरिपी (Chemotherapy) की मदद से भी किया जाता है।
  • एक्वायर्ड प्लेटलेट फंक्शन डिसऑर्डर अगर किडनी फेलियर (kidney failure) की वजह से हुआ है, तो ऐसी स्थिति में डायलेसिस (Dialysis) को ट्रीटमेंट विकल्प माना जाता है या फिर दवाएं (Medicines) प्रिस्क्राइब की जाती हैं।
  • अगर किसी दवा (Medication) की वजह से एक्वायर्ड प्लेटलेट फंक्शन डिसऑर्डर (APFD) की समस्या हुई है, तो डॉक्टर उस ड्रग्स को नहीं लेने की सलाह देते हैं।

इन अलग-अलग तरहों एवं पेशेंट की हेल्थ कंडिशन (Health condition) और एक्वायर्ड प्लेटलेट फंक्शन डिसऑर्ड (Acquired Platelet Function Disorder) के कारणों को ध्यान में रखकर इलाज किया जाता है। ट्रीटमेंट के दौरान एवं देखभाल से जुड़ी जो भी जानकारी या सलाह दी जाती है, उसे फॉलो करना आवश्यक होता है।

और पढ़ें : Megaloblastic Anemia: मेगालोब्लास्टिक एनीमिया क्या है? जानिए इसके लक्षण और इलाज

एक्वायर्ड प्लेटलेट फंक्शन डिसऑर्डर (Acquired Platelet Function Disorder) की वजह से कौन सी बीमारी का खतरा बढ़ता जाता है?

अगर इस बीमारी का सही वक्त पर इलाज ना किया जाए, तो निम्नलिखित बीमारियों का खतरा बढ़ सकता है। जैसे:

  • ब्लीडिंग (Bleeding) बंद नहीं होना।
  • ज्यादा ब्लीडिंग (Bleeding) होने की वजह से एनीमिया (Anemia) होना।

नैशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नलॉजी इंफॉर्मेशन (NCBI) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार इन बीमारियों का खतरा बढ़ सकता है।

ब्लड डोनेशन! कहते हैं रक्त दान जीवन दान, लेकिन ब्लड डोनेशन (Blood donation) से जुड़े ऐसे कई मिथ हैं और इस मिथ की वजह से ब्लड डोनेट करने से कई लोग पीछे रह जाते हैं। नीचे दिए इस क्विज में ऐसे ही कई ब्लड डोनेशन मिथ और उनके फैक्ट्स शेयर की जा रही है। नीचे दिए इस क्विज को खेलिए और जानें फैक्ट्स।

और पढ़ें : Anemia chronic disease: एनीमिया क्रोनिक डिजीज क्या है? जानिए इसके कारण, लक्षण और उपाय

डॉक्टर से कब संपर्क करना है जरूरी?

निम्नलिखित स्थितियों में डॉक्टर से कंसल्टेशन जरूरी है। जैसे:

या इस आर्टिकल में बताये लक्षण अगर आप महसूस कर रहें हैं, तो ऐसी स्थिति में डॉक्टर से संपर्क करना आवश्यक है।

अगर आप प्लेटलेट्स या एक्वायर्ड प्लेटलेट फंक्शन डिसऑर्डर (Acquired Platelet Function Disorder) से जुड़े किसी तरह के कोई सवाल का जवाब जानना चाहते हैं, तो आप हमें कमेंट बॉक्स में लिखकर पूछ सकते हैं। हमारे हेल्थ एक्सपर्ट आपके सवालों के जवाब देने की कोशिश करेंगे। हालांकि अगर आप एक्वायर्ड प्लेटलेट फंक्शन डिसऑर्डर (Acquired Platelet Function Disorder) की समस्या से पीड़ित हैं, तो विशेषज्ञों से समझना बेहतर होगा। हेल्थ एक्सपर्ट आपके हेल्थ को ध्यान में रखकर आपको आवश्यक दवा प्रिस्क्राइब कर सकते हैं।

बॉडी को फिट रखने के लिए हमसभी हेल्दी डायट (Healthy diet) फॉलो करते हैं, लेकिन स्वस्थ रहने के लिए सिर्फ हेल्दी डायट फॉलो करना ही काफी नहीं है! फिट रहने के लिए समय पर खाना भी है जरूरी। इसलिए नीचे दिए इस वीडियो लिंक पर क्लिक करें और जानें एक्सपर्ट से कब और क्या खाएं।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Acquired Disorders of Platelet Function/https://ashpublications.org/hematology/article/2005/1/403/19279/Acquired-Disorders-of-Platelet-Function/Accessed on 27/05/2021

Acquired Disorders of Platelet Function/https://www.mountsinai.org/health-library/diseases-conditions/acquired-platelet-function-defect/Accessed on 27/05/2021

Acquired Disorders of Platelet Function/https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/22160063/Accessed on 27/05/2021

Platelet Function Disorders/https://www.cincinnatichildrens.org/health/p/platelet-function-disorders/Accessed on 27/05/2021

Platelet Function Tests/https://labtestsonline.org/tests/platelet-function-tests/Accessed on 27/05/2021

 

लेखक की तस्वीर badge
Nidhi Sinha द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 27/05/2021 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड