home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

HPV वैक्सीन: सर्वाइकल कैंसर वैक्सीन कब लेना सही है?

HPV वैक्सीन: सर्वाइकल कैंसर वैक्सीन कब लेना सही है?

सर्वाइकल कैंसर (Cervical cancer) एक प्रकार का गंभीर कैंसर है। ये कैंसर महिलाओं में गर्भाशय ग्रीवा (Cervix)में कोशिकाओं की असामान्य वृद्धि है। ये कैंसर ज्यादातर गर्भाशय ग्रीवा की सतह पर होते हैं। मानव पैपिलोमावायरस (Human papillomavirus ) के कारक, यौन संचारित संक्रमण(Sexually transmitted infection), सबसे अधिक ग्रीवा कैंसर का कारण होता है। एक समय था जब अमेरिका में सर्वाइकल कैंसर (Cervical cancer) महिलाओं में मौत का एक प्रमुख कारण था, यह उस समय बदल गया जब स्क्रीनिंग टेस्ट हर जगह उपलब्ध हो गया। इसके अलावा सर्वाइकल कैंसर वैक्सीन (Cervical Cancer Vaccine) यानि एचपीवी वैक्सीन के टीकाकरण दुनिया भर में सर्वाइकल कैंसर के प्रभाव को कम करने में मदद कर रहे हैं।आपका यह जानना जरुरी हो सकता है कि सर्वाइकल कैंसर वैक्सीन क्या है? एचपीवी वैक्सीन (Cervical Cancer Vaccine) क्या हैं? गार्डासिल वैक्सीन क्या है? और यह कैसे कार्य करता है।

और पढ़ें – बार-बार होने वाले मुंह के छाले की वजह से हो सकता है कैंसर?

HPV वैक्सीन कैसे काम करता है (HPV Vaccine Works)?

एचपीवी वैक्सीन

एचपीवी HPV के कई प्रकार के उप भेद यौन संपर्क में आने से फैलते हैं, इसके अलावा यह सर्वाइकल कैंसर के ज्यादातर मामलों से जुड़े होते हैं। गार्डासिल 9 एक एचपीवी (HPV) वैक्सीन है इसको अमेरिकी खाद्य एवं औषधि प्रशासन द्वारा मंजूरी दी गई है और इसका उपयोग लड़कियों और लड़कों दोनों के लिए किया जा सकता है।यदि किसी लड़की या महिला को किसी वायरस के संपर्क में आने से पहले एचपीवी (HPV) वैक्सीन दिया गया हो तो इस टीकाकरण से सर्वाइकल कैंसर (गर्भाशय ग्रीवा) के अधिकांश मामलों को रोका जा सकता है। इतना ही नहीं इसके अलावा, यह टीका महिलाओं में योनि (वजायना)और वल्वर कैंसर (vulvar) को रोक सकता है। यह महिलाओं और पुरुषों में जननांग मौसा (Genital warts) और गुदा कैंसर (Anal cancer)को रोक सकता है। एचपीवी के कुछ प्रकार भी मुंह और गले के कैंसर से जुड़े हुए हैं, इसलिए एचपीवी वैक्सीन (HPV Vaccine) इन कैंसर से भी सुरक्षा प्रदान करने में मदद करता है।

एचपीवी वैक्सीन (HPV Vaccine) शॉट्स कैसे दिया जाता है?

एचपीवी वैक्सीन (HPV Vaccine) शॉट्स की एक चेन में दिया जाता है। सबसे पहले तो 15-45 वर्ष के लोगों के लिए, एचपीवी वैक्सीन 3 अलग-अलग शॉट्स में दिए जाते हैं। दूसरा शॉट पहले के 2 महीने बाद दिया जाता है, और तीसरा शॉट दूसरे शॉट के 4 महीने बाद दिया जाता है। तो, सभी 3 शॉट्स लेने में लगभग 6 महीने लगते हैं। 9-14 वर्ष के लोगों के लिए, आपको केवल 2 शॉट्स लेने की आवश्यकता है।

गार्डासिल वैक्सीन (Gardasil Vaccine) क्या है?

गार्डासिल एक प्रकार का वैक्सीन है जो मानव पेपिलोमा वायरस (एचपीवी) या गर्भाशय ग्रीवा के कैंसर और जननांग मौसा से सुरक्षा प्रदान करने के लिए दिया जाता है। अब यह सभी जगह आसानी से मिल जाता है। इस नए वैक्सीन के बारे में बताए तो, गार्डासिल एक प्रकार का वैक्सीन है, जिसे एफडीए द्वारा जून 2006 में उपयोग किया गया था। यह मानव पैपिलोमावायरस (एचपीवी) के चार उपभेदों को लक्षित करता है – एचपीवी -6, 11, 16 और 18 एचपीवी -16 और एचपीवी -18 सभी सर्वाइकल कैंसर का लगभग 70% हिस्सा है। एचपीवी -6 और -11 जननांग मौसा के बारे में 90% का कारण बनता है। एचपीवी गुदा कैंसर से भी जुड़ा हुआ है।

और पढ़ें – Gallbladder Cancer: पित्त का कैंसर क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

एचपीवी वैक्सीन किसको देना चाहिए?

आपको बता दें कि 9 से 45 वर्ष के सभी लोग जननांग मौसा और विभिन्न प्रकार के एचपीवी से बचाव के लिए एचपीवी वैक्सीन ले सकते हैं जो कैंसर का कारण बन सकते हैं। शोध कि मानें तो यह सलाह दी गई है कि बच्चों को 11 या 12 साल की उम्र में वैक्सीन मिल जाए, इसलिए वे यौन रूप से सक्रिय होने से पहले पूरी तरह से संरक्षित हैं। लेकिन आपकी उम्र की परवाह किए बिना, यह जानने के लिए कि क्या एचपीवी वैक्सीन आपको फायदा पहुंचा सकती है,इसके बारें में आप अपने नर्स या डॉक्टर से बात करें।

[mc4wp_form id=”183492″]

सर्वाइकल कैंसर वैक्सीन कौन नहीं ले सकता है?

एचपीवी वैक्सीन गर्भवती महिलाओं या ऐसे लोगों के लिए नहीं है जो मामूली या गंभीर रूप से बीमार हैं। अपने डॉक्टर को बताएं कि क्या आपको कोई गंभीर एलर्जी है, जैसे खमीर या लेटेक्स से एलर्जी है। इसके अलावा, अगर आपको वैक्सीन के किसी भी घटक या वैक्सीन की पिछली खुराक से एलर्जी की प्रतिक्रिया हुई है, तो आपको वैक्सीन नहीं लेनी चाहिए।

यदि आप पहले से सेक्स में सक्रिय हैं तो क्या एचपीवी वैक्सीन लाभदायक है या नहीं?

तो इसका जवाब है हैं…यदि आप पहले से सेक्स में सक्रिय हैं तो भी आपको वैक्सीन से राहत मिल सकती हैं क्योंकि यह आपको अन्य उपभेदों से बचा सकता है जो आपके पास अभी तक नहीं हैं। लेकिन टीके में से कोई भी एचपीवी संक्रमण का इलाज नहीं कर सकता है। टीके केवल एचपीवी के विशिष्ट उपभेदों से आपकी रक्षा करते हैं।

एचपीवी या HPV वैक्सीन (HPV Vaccine) के साइड इफेक्ट्स क्या हैं?

कई शोध द्वारा यह पता चलता है कि एचपीवी या HPV वैक्सीन का टीकाकरण एक सुरक्षित वैक्सीन है। एचपीवी वैक्सीन के साइड इफेक्ट के सबसे साधारण साइड इफेक्ट अस्थायी दर्द और लालिमा हो सकता है जिसके लिए आपको गोली दी जाती है। एचपीवी वैक्सीन विवादास्पद होने के कारणों में से एक है क्योंकि यह एक यौन संचारित संक्रमण को रोकता है, जो कुछ लोगों को बच्चों के लिए अनुचित मानने के लिए प्रेरित करता है। लेकिन, अगर आप इसे संभोग करने से पहले लगवाते हैं तो यह वैक्सीन सबसे बेहतर कार्य करती है। इसलिए जब आपकी उम्र कम होती है तो इसे लगवाना एक बेहतर विकल्प हो सकता है, इसे लगवाने के बाद आपको भविष्य में कैंसर होने कि संभावना कम हो जाती है। अध्ययनों से पता चलता है कि एचपीवी वैक्सीन कम उम्र में अधिक सेक्स या यौन संबंध रखने वाले लोगों के लिए नहीं है। इसलिए बच्चों को एचपीवी वैक्सीन देने से उन्हें सेक्स करने के लिए प्रोत्साहित नहीं किया जा सकता है। यह सब उन्हें वयस्कता में जननांग मौसा और कैंसर से बचाने में मदद करता है।

और पढ़ें – सर्वाइकल कैंसर डिसीज क्या है, जाने इसके लक्षण और उपचार

उच्च जोखिम वाले एचपीवी के लिए उपचार क्या है ?

यदि आपके पास एचपीवी उच्च जोखिम है, तो यह असामान्य कोशिका परिवर्तन का कारण बन सकता है जो कैंसर का कारण बन सकता है। यदि आपके पास असामान्य पैप परीक्षण परिणाम है, तो आपको आगे के परीक्षणों और उपचार की आवश्यकता हो सकती है।

कोलपोस्कोपी – गर्भाशय ग्रीवा में अधिक बारीकी से देखने के लिए एक प्रक्रिया यह देखने के लिए कि क्या वहां पर अचेतन कोशिकाएं हैं।

क्रायोथेरेपी – गर्भाशय ग्रीवा से पूर्ववर्ती कोशिकाओं को मुक्त करने और हटाने के लिए एक उपचार।

एलईईपी या लूप इलेक्ट्रोसर्जिकल एक्सिस प्रक्रिया – एक विद्युत धारा के साथ गर्भाशय ग्रीवा से पूर्ववर्ती कोशिकाओं को हटाने के लिए एक उपचार।

यदि मुझे पहले से ही HPV इंफेक्शन है, तो क्या टीका इलाज में मददगार हो सकता है?

तो इसका जवाब है नहीं..यदि आपको पहले ही HPV इंफेक्शन है तो ऐसे में यह वैक्सीन आपका इलाज करने में सक्षण नहीं हो सकता है।लेकिन यह आपको अन्य प्रकार के इंफेक्शन से बचाने में मदद कर सकता है। यदि आपके पास एचपीवी संक्रमण है, तो अपने चिकित्सक या नर्स से बात करके पता करें कि आपको कौन से परीक्षण या उपचार की आवश्यकता है।

यदि मैनें एचपीवी वैक्सीन लिया है तो क्या पैप / एचपीवी टेस्ट कराने की जरूरत है?

तो इसका जवाब है हैं…सर्वाइकल कैंसर को पता करने और रोकने के लिए पैप परीक्षण करना अभी भी एक बेहतर विकल्प माना जाता है। आपको यह जानना बेहद जरुरी है कि एचपीवी वैक्सीन उन सभी प्रकार के एचपीवी से बचाव नहीं करता है जो कैंसर का कारण बन सकते हैं। इसलिए किसी भी कोशिका परिवर्तन का पता करने के लिए पैप / एचपीवी परीक्षण करवाना महत्वपूर्ण है।

और पढ़ें – सर्वाइकल कैंसर और सर्वाइकल स्पॉन्डिलाइटिस को लेकर लोग अक्सर रहते हैं कंफ्यूज, ये दोनों हैं अलग बीमारी

एचपीवी वैक्सीन (HPV Vaccine) कहां मिल सकता है?

एचपीवी वैक्सीन आप कई नियोजित पितृत्व स्वास्थ्य केंद्रों में प्राप्त कर सकते हैं। आप इसे अन्य क्लीनिकों, स्वास्थ्य विभागों और निजी नर्सों और डॉक्टरों से भी प्राप्त कर सकते हैं। ऊपर दी गई जानकारी चिकित्सा सलाह का विकल्प नहीं है। इसलिए किसी भी दवा या सप्लिमेंट का इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर से परामर्श जरूर करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप किसी भी प्रकार की चिकित्सा और उपचार प्रदान नहीं करता है। हम उम्मीद करते हैं कि आपको ये आर्टिकल पसंद आया होगा। आप स्वास्थ्य संबंधी अधिक जानकारी के लिए हैलो स्वास्थ्य की वेबसाइट विजिट कर सकते हैं। अगर आपके मन में कोई प्रश्न है, तो हैलो स्वास्थ्य के फेसबुक पेज में आप कमेंट बॉक्स में प्रश्न पूछ सकते हैं और अन्य लोगों के साथ साझा कर सकते हैं।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Should I get the HPV vaccine?/https://www.plannedparenthood.org/learn/stds-hiv-safer-sex/hpv/should-i-get-hpv-vaccine/Accessed on 16-04-2020

HPV Vaccine Information For Young Women/https://www.cdc.gov/std/hpv/stdfact-hpv-vaccine-young-women.htm/Accessed on 16-04-2020

HPV vaccine: Who needs it, how it works Print/https://www.mayoclinic.org/diseases-conditions/hpv-infection/in-depth/hpv-vaccine/art-20047292/Accessed on 16-04-2020

Risk Factors Age Alcohol Cancer-Causing Substances Chronic Inflammation Common Cancer Myths and Misconceptions Diet Hormones Immunosuppression Infectious Agents Obesity Radiation Sunlight Tobacco Genetics Cancer Prevention Overview Research Human Papillomavirus (HPV) Vaccines/https://www.cancer.gov/about-cancer/causes-prevention/risk/infectious-agents/hpv-vaccine-fact-sheet/Accessed on 16-04-2020

लेखक की तस्वीर badge
shalu द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 26/04/2021 को
डॉ. पूजा दाफळ के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड