Etoricoxib+Paracetamol: एटोरिकॉक्सिब+पैरासिटामोल क्या है? जानिए इसके उपयोग, डोज और सावधानियां

Medically reviewed by | By

Update Date फ़रवरी 13, 2020
Share now

उपयोग

एटोरिकॉक्सिब+पैरासिटामोल (Etoricoxib+Paracetamol) का इस्तेमाल किस लिए किया जाता है?

एटोरिकॉक्सिब+पैरासिटामोल एक एंटी-इंफ्लमेटरी दवाइयों का कॉम्बिनेशन है। यह कॉम्बिनेशन सूजन का कारगर तरीके से इलाज करता है। सबसे महत्वपूर्ण बात ये है कि दवाइयों का यह कॉम्बिनेशन विभिन्न प्रकार के गठिया के लिए भी फायदेमंद हो सकता है। एटोरिकॉक्सिब एक नॉन-स्टेरॉयडल एंटी-इंफ्लमेटरी दवा (NSAID) है। यह साइक्लोऑक्सिजेनेस-2 (Cyclooxygenase-2) के पाथवे में हस्तक्षेप करके सूजन और दर्द में राहत देती है।

साइक्लोऑक्सिजेनेस-2 पॉलीसैचुरेटेड फैट को कई प्रकार की सूजन का कारण बनने वाले मिडिएटर्स जैसे प्रोस्टाग्लैंडिन्स (prostaglandins), इनटरल्यूकिन्स (interleukins) और टीएनफ (TNFs) में बदल देता है। यही मिडिएटर्स संक्रमित हिस्से में सूजन और दर्द का कारण बनते हैं। एटोरिकॉक्सिब सक्रिय रूप से दर्द और सूजन को कम करती है, जो प्रोस्टाग्लैंडिन्स से जुड़े होते हैं। पैरासिटामोल एक एंटी इंफ्लमेटरी दवा है, लेकिन यह दर्द और बुखार को रोकने वाली एक मजबूत दवा है। यह दिमाग में प्रोस्टाग्लैंडिन के संश्लेषण को रोक देती है। इसके साथ ही रयूमेटाइड अर्थराइटिस, ऑस्टियोअर्थराइटिस, आंकिलोसिंग स्पॉन्डिलाइटिस (ankylosing spondylitis), क्रॉनिक लोअर बैक पेन, एक्यूट दर्द और गाउट के इलाज में भी इस कॉम्बिनेशन का इस्तेमाल किया जाता है।

एटोरिकॉक्सिब+पैरासिटामोल (Etoricoxib+Paracetamol) का इस्तेमाल कैसे करना चाहिए?

इस कॉम्बिनेशन को इस्तेमाल करने के लिए बेहतर होगा कि आप दवा के लेबल पर छपे दिशा निर्देशों का पालन करें। इससे अधिकतम फायदा प्राप्त करने के लिए समय-समय पर इसके डोज में बदलाव कर सकता है। बिना डॉक्टर की सलाह के इस कॉम्बिनेशन के डोज में इजाफा न करें या बिना डॉक्टर की मंजूरी के सेवन बंद न करें। किसी भी दवा का इस्तेमाल करने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह अवश्य लें। राहत मिलने पर निर्देशित अवधि से पहले दवा का सेवन बंद न करें। इससे समस्या की फिर से जन्म ले सकती है। हालांकि, इसे डॉक्टर की सलाह पर भोजन के साथ या खाली पेट इस्तेमाल किया जा सकता है। आपको इसे चबाना नहीं है। सीधी ही पानी के साथ दवा को निगल जाएं।

यह भी पढ़ें: मसूड़ों में सूजन हो सकता है कैंसर का संकेत, जानिए इसके लक्षण

एटोरिकॉक्सिब+पैरासिटामोल (Etoricoxib+Paracetamol) को कैसे स्टोर करना चाहिए?

एटोरिकॉक्सिब+पैरासिटामोल को स्टोर करने का सबसे बेहतर तरीका है इसे कमरे के तापमान पर रखना। इसे सूर्य की सीधी किरणों और नमी से दूर रखें। दवा को खराब होने से बचाने के लिए आपको एटोरिकॉसिब+पैरासिटामोल को बाथरूम या फ्रीजर में नहीं रखना है। एटोरिकॉक्सिब+पैरासिटामोल के अलग-अलग ब्रांड्स को अलग तरीकों से स्टोर किया जाता है। इसे रखने से पहले सबसे बेहतर होगा कि आप दवा के पैकेज पर छपे निर्देशों को पढ़ लें या फार्मासिस्ट से पूछें। सुरक्षा की दृष्टि से सभी दवाइयों को अपने बच्चों और पेट्स से दूर रखें। जब तक कहा न जाए, तब तक सुरक्षा की दृष्टि से आपको एटोरिकॉक्सिब+पैरासिटामोल को टॉयलेट या नाली में नहीं बहाना है।आवश्यकता न रहने या एक्सपायरी की स्थिति में दवा का समुचित तरीके से निस्तारण जरूरी है। सुरक्षित तरीके से इसका निस्तारण करने के लिए अपने फार्मासिस्ट से सलाह लें।

सावधानियां और चेतावनी

एटोरिकॉक्सिब+पैरासिटामोल (Etoricoxib+Paracetamol) का इस्तेमाल करने से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?

एटोरिकॉक्सिब+पैरासिटामोल का निम्नलिखित समस्याओं में इस्तेमाल करने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह अवश्य लें:

  • यदि आप प्रेग्नेंट या ब्रेस्टफीडिंग करा रही हैं। दोनों ही स्थितियों में सिर्फ डॉक्टर की सलाह पर ही दवा खानी चाहिए।
  • यदि आप अन्य दवाइयां ले रही हैं। इसमें डॉक्टर की लिखी हुई और गैर लिखी हुई दवाइयां शामिल हैं, जो मार्केट में बिना डॉक्टर के प्रिस्क्रिप्शन के खरीद के लिए उपलब्ध हैं।
  • यदि आपको एटोरिकॉक्सिब+पैरासिटामोल के किसी पदार्थ या अन्य दवा या औषधि से एलर्जी है।
  • यदि आपको कोई बीमारी, डिसऑर्डर या कोई अन्य मेडिकल कंडिशन है।
  • यदि आपका हाइपरसेंसिटिविटी की समस्या है।
  • यदि आपको पेट का अल्सर है।
  • यदि आपका लिवर से संबंधि परेशानी है।
  • यदि आपको कंजेस्टिव हार्ट फेलियर की समस्या रही हो।
  • यदि आपको गुर्दों से जुड़ी समस्या है।
  • यदि आपको बाउल की समस्या, अनियंत्रित हाई ब्लड प्रेशर, दिल की बीमारी या विगत समय में कभी स्ट्रोक की समस्या रही हो।

यह भी पढ़ें: यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन (UTIs) होने पर क्या करें, क्या न करें?

एटोरिकॉक्सिब+पैरासिटामोल (Etoricoxib+Paracetamol) को प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान लेना सुरक्षित है?

एटोरिकॉक्सिब+पैरासिटामोल अजन्मे शिशु को नुकसान पहुंचा सकती है या नहीं, इस संबंध में अधिक जानकारी नहीं है। यदि आप प्रेग्नेंट हैं तो बिना डॉक्टर की सलाह के इस कॉम्बिनेशन का इस्तेमाल न करें।

ब्रेस्टफीडिंग के दौरान यह कॉम्बिनेशन मां के दूध के जरिए शिशु की बॉडी में प्रवेश करता है या नहीं, इस संबंध में अधिक जानकारी उपलब्ध नहीं है। सुरक्षा की दृष्टि से स्तनपान के दौरान किसी भी दवा का इस्तेमाल करने से पहले अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से सलाह अवश्य लें।

साइड इफेक्ट्स

एटोरिकॉक्सिब+पैरासिटामोल (Etoricoxib+Paracetamol) के साइड इफेक्ट्स क्या हैं?

एटोरिकॉक्सिब+पैरासिटामोल से आपको निम्नलिखित साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं:

हालांकि, हर व्यक्ति को यह साइड इफेक्ट्स नहीं होते हैं। उपरोक्त दुष्प्रभाव के अलावा भी एटोरिकॉक्सिब+पैरासिटामोल के कुछ साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं, जिन्हें ऊपर सूचीबद्ध नहीं किया गया है। यदि आप इसके साइड इफेक्ट्स को लेकर चिंतित हैं, तो अपने डॉक्टर या हर्बलिस्ट से सलाह लें।

इंटरैक्शन

एटोरिकॉक्सिब+पैरासिटामोल (Etoricoxib+Paracetamol) के साथ कौन-सी दवाइयां रिएक्शन कर सकती हैं?

एटोरिकॉक्सिब+पैरासिटामोल का कॉम्बिनेशन निम्नलिखित दवाइयों के साथ रिएक्शन कर सकता है:

ब्लड क्लॉटिंग धीमा करने वाली दवाइयां: ब्लड पतला करने वाली दवाइयों का इस कॉम्बिनेशन के साथ इस्तेमाल करने से पेट में विशेषकर गाउट में ब्लीडिंग का खतरा बढ़ सकता है। वॉर्फरिन (warfarin),फेनिडाइओन (phenindione),डिआबिगाट्रन (dabigatran), रिवारओक्सबन (rivaroxaban), एपिएक्सबन (apixaban), हेपारिन (heparin), गिनको बिलोबा (एक हर्बल) (ginko biloba), इनालाप्रिल (enalapril), केप्टोप्रिल (captopril), लोसारटन (losartan), सिक्लोस्पोरिन (ciclosporin), डियूरेटिक दवा फुरोसेमाइड (furosemide), टेक्रोलिमस (tacrolimus), डिगोओक्सिन (digoxin) आदि दवाइयां का इस्तेमाल इस कॉम्बिनेशन के साथ नहीं करना चाहिए।

यह भी पढ़ें: HCG Blood Test: जानें क्या है एचसीजी ब्लड टेस्ट?

क्या एल्कोहॉल के साथ एटोरिकॉक्सिब+पैरासिटामोल (Etoricoxib+Paracetamol) का इस्तेमाल सुरक्षित है?

एल्कोहॉल के साथ एटोरिकॉक्सिब+पैरासिटामोल का इस्तेमाल करना असुरक्षित है। इससे आपको चक्कर आ सकते हैं। साथ ही बेहोशी, कमजोरी, अस्थिरता या सिर के भारीपन का अहसास हो सकता है। एल्कोहॉल के साथ इस कॉम्बिनेशन का उपयोग करने से आपको अतिरिक्त रूप से नशे का अहसास या उनींदापन हो सकता है। ऐसी स्थिति में किसी भी प्रकार का कार्य न करें, जिसमें मानसिक ध्यान लगाने की आवश्यकता हो। बेहतर होगा कि स्वस्थ महसूस होने तक आप घर पर ही आराम करें।

एटोरिकॉक्सिब+पैरासिटामोल (Etoricoxib+Paracetamol) का हेल्थ पर क्या असर पड़ सकता है?

एटोरिकॉक्सिब+पैरासिटामोल आपकी मौजूदा हेल्थ को प्रभावित कर सकता है या दवा का कार्य करने का तरीका बदल सकता है। इससे आपको गंभीर साइड इफेक्ट्स होने का खतरा भी रहता है। बेहतर होगा कि आप अपनी मौजूदा हेल्थ की विस्तृत जानकारी को अपने डॉक्टर के साथ साझा करें, इससे इस कॉम्बिनेशन के संभावित नुकसान की इसके फायदों से तुलना की जा सकेगी।

एटोरिकॉक्सिब+पैरासिटामोल (Etoricoxib+Paracetamol) की सामान्य डोज क्या है?

एटोरिकॉक्सिब

अडल्ट्स के लिए मौखिक डोज

  • ऑस्टियोअर्थराइटिस- 60 एमजी प्रतिदिन दिन में एक बार।
  • रेयूमेटाइड अर्थराइटिस- 90 एमजी प्रतिदिन दिन में एक बार।
  • एक्यूट गाउटी अर्थराइटिस- 120 एमजी दिन में एक बार।

पैरासिटामोल का अडल्ट्स के लिए डोज

  • 500 – 1000 एमजी दिन में तीन बार
  • मैक्सिमम डोज: 4 ग्राम प्रतिदिन
  • माइग्रेन के लिए डोज: 500 एमजी माइग्रेन अटैक के शुरुआती लक्षण में और हर 4-6 घंटों में जब तक यह अटैक कम न हो जाए।
  • बच्चों के लिए: 60 एमजी प्रतिकिलो वजन के हिसाब से दिन के चार डोज में विभाजित करके दें।

ओवरडोज या आपात स्थिति में मुझे क्या करना चाहिए?

आपात या ओवरडोज की स्थिति में तुरंत अपने नजदीकी डॉक्टर या आपातकालीन सेवा से संपर्क करें।

एटोरिकॉक्सिब+पैरासिटामोल (Etoricoxib+Paracetamol) का डोज मिस हो जाए तो क्या करूं?

एटोरिकॉक्सिब+पैरासिटामोल का डोज मिस हो जाता है तो जल्द से जल्द इसे लें। हालांकि, यदि आपका अगली खुराक का समय नजदीक आ गया है तो भूले हुए डोज को न खाएं। पहले से तय नियमित डोज को लें। एक बार में दो खुराक न लें।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या इलाज मुहैया नहीं कराता है।

और पढ़ें:-

नॉन एल्कोहॉलिक फैटी लिवर डिजीज क्या है, जानें

डिलिवरी के बाद बच्चे में किन चीजों का किया जाता है चेक?

कैंसर के बारे में क्या जानते हैं? क्विज से जानें

Ovarian cyst : ओवेरियन सिस्ट क्या है?

संबंधित लेख:

    क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
    happy unhappy"

    शायद आपको यह भी अच्छा लगे

    Pompe Disease: जानें पोम्पे रोग क्या है?

    जानें पोम्पे रोग क्या हैं in hindi, पोम्पे रोग के लक्षण क्या हैं और किन कारणों से होता है, pompe-disease ke lakshno के दिखने पर क्या करें उपचार?

    Medically reviewed by Dr. Pooja Daphal
    Written by shalu

    Atrial flutter : एट्रियल फ्लटर क्या है?

    जानिए एट्रियल फ्लटर क्या है in hindi, एट्रियल फ्लटर के कारण, जोखिम और उपचार क्या है, Atrial flutter को ठीक करने के लिए आप इस तरह के घरेलू उपाय अपना सकते हैं।

    Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
    Written by Anoop Singh

    क्रोनिक डिजीज के दौरान यात्रा में बरतें ये सावधानियां

    जानिए क्या है क्रोनिक डिजीज in hindi. क्रोनिक डिजीज के दौरान यात्रा कैसे करें? क्रोनिक डिजीज के दौरान यात्रा से पहले, यात्रा के दौरान किन बातों रखों ध्यान?

    Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
    Written by Nidhi Sinha

    Epidermal: एपिडर्मल सिस्ट क्या है?

    एपिडर्मल सिस्ट त्वचा के अंदर बनने वाली सौम्य गांठ हैं जो वैसे तो कोई नुकसान नहीं पहुंचाती, फिर भी इसका उपचार कराया जाना चाहिए।

    Medically reviewed by Dr. Pooja Daphal
    Written by Kanchan Singh