home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

Dytor: डाइटर क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

फंक्शन|डोसेज|उपयोग|साइड इफेक्ट्स|सावधानियां और चेतावनी|रिएक्शन|स्टोरेज
Dytor: डाइटर क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

फंक्शन

डाइटर (Dytor) कैसे काम करती है?

इस दवा में टॉर्सेमाइड (TORSEMIDE) होता है। यह एक वाटर पिल या कहे कि लूप ड्यूरेटिक है जिसका उपयोग फ्लूइड रिटेंशन जैसे कि एडिमा के इलाज में किया जाता है। यह आमतौर पर किडनी, फेफड़ों और हृदय की बीमारी में दी जाती है। इसके अलावा इसे हाई बीपी, हार्ट फेलियर और एल्डोस्टेरोन व पोटेशियम के असामान्य स्तर होने पर भी दिया जाता है।

यह दवा शरीर में उच्च रक्तचाप और सूजन को कम करने में सबसे अधिक कारगर मानी जाती है। टॉर्सेमाइड एक प्रकार का मूत्रवर्धक होता है जो शरीर में बने अतिरिक्त पानी और इलेक्ट्रोलाइट को पेशाब के जरीर शरीर से बाहर निकालने का काम करता है।

एडिमा की समस्या या बीमारी में बॉडी का एक्सटरनल यानी बाहरी साइज में बढ़ने लगता है। ऐसा शरीर में किसी भी भाग में सूजन आने के कारण ही होता है। इस कारण से अंगों में लिक्विड भरने लगता है जिसके कारण अंगों का आकार बढ़ने लगता है। आम भाषा में लोग इसे सूजन कहते हैं। आपने देखा होगा कि शरीर में सूजन कई कारणों से हो सकती है।

इसका इस्तेमाल अकेले व अन्य किसी दवा के साथ करने की सलाह दी जाती है। खुराक और इस्तेमाल करने का तरीका मरीज की उम्र, स्वास्थ्य स्थिति, रोग और इलाज की प्रगति पर निर्भर करता है।

और पढ़ें – Aceclo Plus: एसिक्लो प्लस क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

डोसेज

डाइटर (Dytor) का सामान्य डोज क्या है?

डाइटर की खुराक डॉक्टर द्वारा निर्धारित की जाए तो परिणाम बेहतर और तीव्र होते हैं। डाइटर की खुराक इलाज की स्थिति व उम्र और रोग पर आधारित होती है। वयस्कों और बुजुर्गो को इस प्रकार खुराक निर्धारित है।
वयस्कों के लिए – शुरुआत में दवा की डोज 10 से 20 एमजी होनी चाहिए जब तक स्थिति सामान्य नहीं हो जाती है। यदि रोग गंभीर है तो एक दिन में मैक्सिमम 200 एमजी के सेवन की सलाह दी जा सकती है। इसकी अधिक जानकारी के लिए डॉक्टर से परामर्श करें।
बुजुर्गों के लिए – बुजुर्गों के लिए भी इसकी खुराक वयस्कों जितनी ही होती है। 10 से 20 एमजी प्रतिदिन और जरूरत पड़ने पर अधिकतम 200 एमजी प्रतिदिन।

ओवरडोज या आपात स्थिति में मुझे क्या करना चाहिए?

डाइटर दवा का सेवन केवल डॉक्टर द्वारा दिए गए निर्देश्य अनुसार ही करें, लेकिन अगर आपको लगता है कि आपने दवा का ओवरडोज ले लिया है तो सबसे पहले इसके असुविधाजनक लक्षणों की पहचान करें। जो निम्न हैं।

डाइटर टेबलेट का अधिक सेवन करने पर आपको गंभीर लक्षण व स्थिति महसूस हो तो तुरंत किसी पास के अस्पताल या आपातकालीन कक्ष से संपर्क करें।

और पढ़ें – Drug overdose : ड्रग ओवरडोज क्या होता है?

डाइटर (Dytor) का डोज मिस हो जाए तो क्या करूं?

डाइटर (Dytor) की खुराक मिस होने पर भूली हुई डोज को जल्द से जल्द लेने की कोशिश करें। हालांकि, अगर अगली खुराक का समय हो चुका है तो भूले हुए डोज को छोड़कर, पहले से तय किए गए नियमित समय पर अगली खुराक का सेवन करें। एक साथ दो खुराक का सेवन न करें।

उपयोग

डाइटर (Dytor) का इस्तेमाल कैसे करना चाहिए?

  • डाइटर टेबलेट की खुराक डॉक्टर द्वारा बताए गए तरीके अनुसार ही लें।
  • टेबलेट को चबाने व तोड़ने की बजाए उसे सीधा निगलने की कोशिश करें। इसके लिए आप एक गिलास पानी का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • अगर आप डायबिटीज, लिवर रोग या गुर्दे की बीमारी से ग्रस्त हैं तो इसका उपयोग करते समय अधिक सावधानी बरतें। बेहतर जानकारी के लिए डॉक्टर से परामर्श करें।
  • आप चाहें तो इस दवा को खाना खाने के बाद या पहले भी ले सकते हैं। हालांकि, अगर आपके डॉक्टर आपको किसी अन्य समय पर खुराक लेने को सलाह देते हैं तो उनके द्वारा निर्धारित समय पर ही इसका नियमित सेवन करें।
  • अगर आपको डाइटर की सही खुराक के बारे में नहीं पता है तो डॉक्टर या केमिस्ट से इस विषय में जानकारी हासिल करें।

दवा की डोज और उसे खाने के समय में डॉक्टरी सलाह के बिना खुद से कोई बदलाव न करें।

और पढ़ें – Aceclo Plus: एसिक्लो प्लस क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

डाइटर को एक सुरक्षित दवा माना जाता है। हालांकि, निम्न परिस्थितियों में इसका सेवन अधिक सावधानी के साथ करना चाहिए –

  • अतिसंवेदनशीलता
  • लिवर रोग
  • एलर्जी
  • हेपेटिक कोमा
  • किडनी की समस्या
  • शराब की लत
  • हृदय संबंधी रोग
  • अन्य दवाओं व सप्लिमेंट्स के साथ इसका सेवन करने पर

इसके अलावा अगर आप प्रेग्नेंसी और ब्रेस्टफीडिंग के दौरान इसका इस्तेमाल करना चाहती हैं तो इसे लेने से पहले डॉक्टर से परामर्श कर लें।

और पढ़ें – Drug withdrawal: जानें ड्रग विदड्रॉल क्या हैं?

साइड इफेक्ट्स

डाइटर (Dytor) के क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

ज्यादातर मामलों में ओवरडोज के कारण ही साइड इफेक्ट्स सामने आते हैं। यह दुष्प्रभाव गंभीर और मामूली हो सकते हैं। पोटेशियम का स्तर सामान्य करने के आलावा इसके कई निम्न साइड इफेक्ट्स भी हो सकते हैं।

  • उल्टी
  • सीने में दर्द
  • जी मचलना
  • कब्ज या दस्त
  • पेट में दर्द
  • भूख कम लगना
  • चक्कर आना
  • स्किन रैशेज
  • पेट में ऐंठन
  • एलर्जी
  • एसिडिटी
  • जलन
  • खांसी
  • अत्यधिक नींद आना
  • सूजन

इस सूची में मौजूद दुष्प्रभावों के अलावा भी इसके कई विभिन्न साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं। किसी भी तरह की असुविधा महसूस होने पर तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।

और पढ़ें – Ibugesic Plus : इबुगेसिक प्लस क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

सावधानियां और चेतावनी

डाइटर (Dytor) का इस्तेमाल करने से पहले मुझे क्या जानना चाहिए?

इस दवा का सेवन करने से पहले अपने चिकित्सक को अपनी पहली से चली आ रही दवाओं, बीमारी और इलाज या सर्जरी के बारे में बताएं। अगर आपको इसका सेवन करने से कोई असुविधा जैसे सिर दर्द, थकान, पानी की कमी, खराब पेट या लो बीपी महसूस होता है तो घबराएं नहीं क्योंकि ऐसे साइड इफेक्ट्स आमतौर पर अपने आप कुछ देर में चले जाते हैं। स्थिति या लक्षण में सुधार न आने पर डॉक्टर से परामर्श करें।

और पढ़ें – Aceclo Plus: एसिक्लो प्लस क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

गुर्दे और लिवर डिजीज वाले व्यक्ति को इसका सेवन करते समय अधिक सावधानी बरतने की आवश्यकता पड़ सकती है।

क्या प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान डाइटर (Dytor) को लेना सुरक्षित है?

गर्भावस्था और स्तनपान के दौरान इस दवा को बिना किसी परेशानी के लिया जा सकता है। मौजूदा स्टडी के अनुसार स्तनपान करवानी वाली महिलाओं में इसके कोई दुष्प्रभाव नहीं देखे गए हैं। अगर आपको इसके साइड इफेक्ट्स महसूस होते हैं तो डॉक्टर से परामर्श करें।

रिएक्शन

कौन-सी दवाइयां डाइटर (Dytor) के साथ रिएक्शन कर सकती हैं?

एक से अधिक दवा का सेवन करने से ड्रग रिएक्शन हो सकता है। अगर आप पहले से ही किसी दवा या सप्लिमेंट का सेवन करते आ रहे हैं तो इसके बारे में अपने डॉक्टर को अवश्य बताएं। निम्न कुछ ऐसे ड्रग हैं जिन्हें डाइटर के साथ लेने से साइड इफेक्ट्स का जोखिम बढ़ सकता है।

  • कॉम्बिफ्लेम
  • केनामाइसिन
  • जेंटामाइसिन
  • एफिसिन
  • ब्रूफेन
  • डिलिगन सीडी
  • आइबूप्रोफेन
  • ग्लिसेन

इनमें से किसी भी दवा के साथ दुष्प्रभाव दिखाई देने पर तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।

और पढ़ें – Mahacef Plus: महासेफ प्लस क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

क्या डाइटर (Dytor) भोजन या एल्कोहॉल के साथ रिएक्शन करती है?

डाइटर को किसी भी आहार के साथ लिया जा सकता है। आप चाहें तो इसे खाना खाने के बाद व पहले भी ले सकते हैं। बेहतर रहेगा कि आप एक नियमित समय तय कर लें।

डाइटर और एल्कोहॉल का एक साथ सेवन करने से खतरनाक दुष्प्रभाव सामने आ सकते हैं। इससे उनींदापन (नींद आना), थकान, सिर दर्द, कमजोरी और हृदय गति तेज होने का जोखिम बढ़ सकता है।

और पढ़ें – Ibugesic Plus : इबुगेसिक प्लस क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

डाइटर (Dytor) हेल्थ कंडिशन पर क्या असर डालती है?

डाइटर की खुराक स्वास्थ्य के लिए अच्छी तो कई बार नुकसानदायी भी हो सकती है। ओवरडोज व खुराक लेने के समय में परिवर्तन करने से हेल्थ पर बुरा असर पड़ सकता है। निम्न हेल्थ कंडिशन हो सकती हैं प्रभावित।

  • डायबिटीज
  • हाई बीपी
  • हाइपरकलेमिया
  • एडिमा
  • हृदय संबंधी समस्याएं

और पढ़ें – Aceclo Plus: एसिक्लो प्लस क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

स्टोरेज

मैं डाइटर (Dytor) को कैसे स्टोर करूं?

डाइटर टैबलेट को स्टोर करने की जानकारी आपको लेबल पर लिखी मिल जाएगी। इसे ठंडी व बिना नमी वाली जगह पर स्टोर करना चाहिए। बच्चों और पालतू जानवर को इससे दूर रखें।

डाइटर (Dytor) किस रूप में उपलब्ध है?

डाइटर मार्केट में दो रूपों में उपलब्ध है।

  • टैबलेट
  • इंजेक्शन

यहां दी गई जानकारी चिकित्सा सलाह का विकल्प नहीं है। इसलिए किसी भी दवा या सप्लिमेंट का इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर से परामर्श जरूर करें। आप स्वास्थ्य संबंधि अधिक जानकारी के लिए हैलो स्वास्थ्य की वेबसाइट विजिट कर सकते हैं। अगर आपके मन में कोई प्रश्न है तो हैलो स्वास्थ्य के फेसबुक पेज में आप कमेंट बॉक्स में प्रश्न पूछ सकते हैं।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Shivam Rohatgi द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 30/09/2020 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x