home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

मधुमेह (Diabetes) से बचना है, तो आज ही बदलें अपनी ये आदतें

मधुमेह (Diabetes) से बचना है, तो आज ही बदलें अपनी ये आदतें

अगर आप स्वस्थ जीवन पाना चाहते हैं तो अपनी आदतों पर ध्यान दें और मधुमेह से बचाव के लिए बुरी आदतों को अच्छी आदतों में बदलने की कोशिश करें| क्या आप तैयार हैं अपनी बुरी आदतों को बदल कर डायबिटीज की रोक-थाम के लिए? आइए, आपको बताएं उन आदतों के बारे में जिनसे आपको बचना है।

1.मधुमेह से बचाव: बहुत ज्यादा चीनी वाले जूस पीना (Avoid sugary juice)

जूस या सॉफ्ट ड्रिंक्स के जरिए शरीर में बहुत ज्यादा चीनी जाती है जिससे डायबिटीज का खतरा बढ़ जाता है। अक्सर लोगों का मानना होता है कि जूस हर हाल में सेहत के लिए बहुत अच्छे होते हैं| दरअसल, हम जो भी जूस पीते हैं उसके एक गिलास में ही चीनी की बहुत अधिक मात्रा होती है| कोशिश करें कि प्यास लगने पर पानी, शुगर फ्री चाय या कॉफी पिएं। इस तरीके से आप मधुमेह से बचाव करें कर पाएंगे।

2. मधुमेह से बचाव: बहुत ज्यादा बैठना या शारीरक एक्टिविटीज में शामिल न होना (Sitting too much or not engaging in physical activities)

वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइज़ेशन (WHO) की एक रिपोर्ट के अनुसार एशियाई देशों में अगले 20 वर्षों में डायबिटीज 90 प्रतिशत तक बढ़ने का खतरा है| पिछले 10 सालों में हनोई, वेतनाम में डायबिटीज से पीड़ित लोगों की संख्या बढ़ कर दोगुनी हो गई| कारण: डॉ. गॉडेन गेलिया के अनुसार, इस शहर में लोग साइकिल चलाने की तुलना में बाइक चलाना ज्यादा पसंद करते हैं| संक्षेप में, जो लोग शारीरिक रूप से कम सक्रिय हैं, उनमें मोटापे का खतरा अधिक होता है जो आगे चल कर डायबिटीज जैसी बीमारियों को जन्म देता है| शारीरक रुप से एक्टिव रहने से डायबिटीज के खतरे को कुछ हद तक कम किया जा सकता है। इस तरीके से आप मधुमेह से बचाव करें कर पाएंगे। इस तरीके से आप मधुमेह से बचाव करें कर पाएंगे।

3.मधुमेह से बचाव: रात में देर तक जागना (Stay up late at night)

अगर आप पूरे दिन में कम से कम 6 घंटे की नींद नहीं लेंगे तो आपका मेटाबोलिज्म बुरी तरह से प्रभावित होगा| जिससे आपकी डायबिटीज भी नियंत्रण के बाहर हो जाएगी| इसके अलावा, नींद की कमी उस हॉर्मोन को बढ़ावा देती है जो भूख पैदा करता है, जिसके कारण आप मोटापे का शिकार हो जाते हैं| इन सभी समस्याओं से बचने के लिए जरुरी है कि अच्छी नींद ली जाए। इस तरीके से आप मधुमेह से बचाव करें कर पाएंगे।

4.मधुमेह से बचाव: नाश्ता न करना (No breaskfast)

हमारा व्यस्त जीवन अक्सर हमें नाश्ता छोड़ने पर मजबूर कर देता है जिससे धीरे-धीरे नाश्ता न करने की बुरी आदत पड़ने लगती है| ध्यान रहे, नाश्ता दिन का सबसे अहम भोजन होता है, आपका शरीर दिन भर के कामों से निपटने के लिए नाश्ते से ऊर्जा प्राप्त करता है| नाश्ता छोड़ना आपका बहुत ज्यादा समय नहीं बचाता बल्कि यह आपके दिन को खराब करता है और टाइप 2 डायबिटीज के खतरे को बढ़ाता है| दोपहर के भोजन तक भूखे रहने से आपके शरीर में चेन रिएक्शन होता है जो शरीर में इंसुलिन और खून में ब्लड शुगर के स्तर को प्रभावित करता है। इस तरीके से आप मधुमेह से बचाव करें कर पाएंगे।

5.मधुमेह से बचाव: देर रात तक स्नैक्स खाना (Eating snacks late at night)

जिन्हें डायबिटीज होती है उन्हें खाने के बाद कभी-भी कुछ हल्का-फुल्का खाने की सलाह नहीं दी जाती| अस्वस्थ स्नैक्स खाना वजन बढ़ने का कारण बन सकता है। इसके अलावा देर रात तक खाते रहने से अगली सुबह खून में शुगर लेवल बढ़ जाता है। अगर आपको रात का खाना खाने के बावजूद कुछ खाने का मन हो रहा हो तो आप किसी फल की एक काश, कॉटेज चीज या पीनट बटर के साथ खा सकते हैं। इस तरीके से आप मधुमेह से बचाव करें कर पाएंगे।

और पढ़ें: डबल डायबिटीज की समस्या के बारे में जानकारी होना है जरूरी, जानिए क्या रखनी चाहिए सावधानी

6. मधुमेह से बचाव: धूम्रपान से बचें (Avoid smoking)

धूम्रपान करने से कई तरह की शारीरिक समस्याएं हो सकती हैं। जो लोग स्मोकिंग करते हैं, उन्हें भी डायबिटीज होने का खतरा दोगुना हो जाता है। अगर आप चाहते हैं कि आपको भविष्य में डायबिटीज की समस्या न हो, तो आप जल्द से जल्द स्मोकिंग की लत को छोड़ दें।

7. मधुमेह से बचाव: हेल्थ चेकअप नियमित कराएं (Make health checkups regular)

अगर आप नियमित रूप अपना हेल्थ चेकअप कराते रहेंगे, तो आपको अपने शरीर की स्थिति पता रहेगी और आप आने वाले खतरे के प्रति सचेत रहेंगे। आपको बता दें कि अभी तक ऐसा कोई सबूत नहीं है जिससे डायबिटीज को हमेशा के लिए खुद से दूर रखा जा सके। जैसे जैसे आपकी उम्र बढ़ती है, हाई ब्ल्ड प्रेशर, हार्ट की बीमारी और अन्य हेल्थ की समस्याओं का जोखिम भी बढ़ जाता है जो डायबिटीज से जुड़े हैं। इसलिए, 45 साल की उम्र के बाद, हर साल नियमित रूप से पूरा हेल्थ चेकअप जरूर कराएं।

और पढ़ें: प्री डायबिटीज से बचाव के लिए यह है गोल्डन पीरियड

इन आदतों को जानने के बाद क्या आप इन्हें अच्छी आदतों में बदलना चाहेंगे? आपको अपने जीवन शैली में शारीरक मेहनत वाले काम जैसे चलना, डांस करना, साइकिल चलाना, एक्सरसाइज और योगा करना अदि शामिल करना चाहिए| अपने खान-पान की आदतों के बारे में अच्छी तरह जान लें और तय कर लें कि अब से क्या खाएं? और क्या न खाएं? अपने आप में अच्छी आदतें लाने की कोशिश कभी बेकार नहीं जाती!

आप अगर इन तरीकों को अपनाएंगे तो काफी हद तक खुद को बचा सकते हैं। लेकिन आपको इसके लक्षणों पर भी नजर बनाई रखनी चाहिए। नीचे जानिए डायबिटीज के लक्षण क्या हैं और इन्हें सही समय पर पहचानकर आप सही उपचार करा सकेंगे। जानिए डायबिटीज के लक्षण क्या हैं :

  • बहुत ज्यादा और बार बार प्यास लगना (Too much and frequent thirst)
  • बार बार यूरिन आना (Frequent urination)
  • लगातार भूख लगना (Constant hunger)
  • आंखों की रोशनी में कमी होना (Loss of eyesight)

बच्चों में डायबिटीज के लक्षण

  • बार-बार पेशाब आना-गीला होना (Frequent urination-wetting in children)
  • अत्यधिक भूख (Excessive hunger)
  • लगातार वजन कम होना (Sustained weight loss)
  • ज्यादा प्यास लगना (Too much thirsty)

और पढ़ें: रिसर्च: आर्टिफिशियल पैंक्रियाज से मिलेगी डायबिटीज से राहत

अगर आपको अपने साथ ऊपर बताए गए लक्षण दिखने लगते हैं, तो ये डायबिटीज के लक्षण हो सकते हैं। ऐसा होने पर आपको तुरंत डॉक्टर के पास जाना चाहिए और सही जांच करानी चाहिए। हो सकता है कि ये डायबिटीज की बस शुरुआत हो। ऐसे में शुरू में ही सतर्क होते हुए आप इस समस्या को बढ़ने से रोक सकते हैं। अगर आपको ये समस्या होती है, तो आप इन लक्षणों को पहचानकर इनका सही उपचार करा सकते हैं।

तो आपको हमारा ये आर्टिकल कैसा लगा, हमें जरूर बताएं। अपनी प्रतिक्रिया आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर दे सकते हैं। इसके अलावा अगर आपको इससे जुड़ी कोई अन्य जानकारी चाहिए, तो हमसे जरूर पूछें। आपको हम डॉक्टर की सलाह से जवाब देने की कोशिश करेंगे।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर
Dr. Pooja Bhardwaj के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Mubasshera Usmani द्वारा लिखित
अपडेटेड 10/07/2019
x