home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

रोना क्यों जरुरी है? जानें क्या हैं रोने के फायदे

रोना क्यों जरुरी है? जानें क्या हैं रोने के फायदे

रोना एक प्राकृतिक प्रक्रिया है, जो कई तरह के भावनाओं के मिलाप का नतीजा है। उन भावनाओं में उदासी, दुःख, गम, खुशी और झिंझलाहट शामिल है। क्या आप जानते है की रोने के फायदे भी हो सकते हैं? रिसर्च के अनुसार रोना आपके शरीर और दिमाग दोनों के लिए फायदेमंद है और यह बच्चे के जन्म के समय से ही शुरू हो जाता है।

रोने के फायदे जानकर आप हो सकते हैं हैरान!

cry

रोना सामान्य नहीं माना जा सकता है लेकिन, महिला और पुरुष दोनों ही रोते हैं। आप ये भी जानकार हैरान हो सकते हैं की सिर्फ मनुष्यों को ही रोने के दौरान आंसू आते हैं। रोने के फायदे जानने से पहले जानते हैं लोग क्यों रोते हैं और इसके कितने प्रकार होते हैं?

बसल: टियर डक्ट से लगातार आंसू निकलते रहते हैं, जिनमें प्रोटीन-रिच एंटीबैक्टेरियल लिक्विड होता है। ये पलक झपकने में मदद करते हैं।

रिफ्लेक्स: रिफ्लेक्स कुछ समय में होता है जैसे हवा, धुआं या फिर प्याज के कारण। इस दौरान आंखों से आंसू निकलने के कारण आंखें सुरक्षित रहती हैं।

इमोशनल: जब तनाव अत्यधिक बढ़ जाता है, तो ऐसी स्थिति में आंखों से आंसू निकलता है। इससे भी रोने के फायदे होते हैं।

यही नहीं शिशु के जन्म के बाद भी वो सबसे पहले रोता है। बच्चे के रोने से उसे सांस लेने में सहूलियत होती है। कई बार जन्म लेने के बाद अगर बच्चा रोये नहीं तो डॉक्टर्स बच्चे को रुलाने की कोशिश करते हैं।

और पढ़ें: Carbidopa : कार्बिडोपा क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

रोने के फायदे जानने के लिए इस लेख को आखिर तक पढ़ें:-

1. शरीर को सुकून मिलता है

रोने के फायदे में शरीर का सुकून शामिल है। अब आप सोच रहे होंगे कि आखिर ये कैसे? लोगों को सुकून ऐसी स्तिथि में मिलता है, जब लोग अपनी भावनाओं को नियंत्रण कर पाते हैं। अपने आप को सुकून दे पाते हैं। खुद को तनाव की स्तिथियों से बाहर निकाल पाते हैं। साल 2014 की एक स्टडी के अनुसार रोने वाले लोगों पर सकारात्मक प्रभाव पड़ने का अनुभव कर चुके हैं। यह शरीर में पैरासिमपैथेटिक नर्वस सिस्टम को एक्टिवेट करता है, जिससे लोग राहत महसूस करते हैं। ऐसी स्थिति में शरीर को सकून मिलने के साथ-साथ रोने के फायदे हो सकते हैं।

2. लोगों का मिलता है सपोर्ट

रोने से सुकून मिलने के अलावा, लोगों का सपोर्ट प्राप्त करने में मदद मिलती है। एक स्टडी के अनुसार रोने से लोग आप से जुड़ते हैं और आपके दर्द को महसूस करने की कोशिश करते हैं। यह खुद के साथ-साथ सामाजिक रिश्ते जोड़ने के लिए भी रोने के फायदे हो सकते हैं। यानी रोने के फायदे में एक नहीं बल्कि अनेक हैं।

3. तनाव का स्तर कम होता है

रोने के फायदे में टेंशन कम होना भी शामिल है। रोने के बाद हमे अच्छा महसूस होता है। एक्सपर्ट्स के अनुसार रोने से पहले हमारे दिमाग में कई नकारात्मक रसायन निर्माण होते हैं , जो आंसुओं के साथ शरीर से बहार निकल जाते हैं। साथ ही तनाव कम होने के कारण आपका मूड भी बेहतर हो जाता है।

4. रोने के फायदे- बेहतर होगा आपका मूड

रोने से दुःख में राहत मिलती है, रोने के बाद आपका मूड बेहतर हो जाता है। ये भी रोने के फायदे में से एक है। रोना की वजह से दर्द में राहत मिल सकती है, ऑक्सीटोसिन और एंडोर्फिन मूड को बेहतर बनाने में मदद करता हैं। रोने की प्रक्रिया में होने केमिकल्स को ‘फील गुड’ केमिकल्स कहा जाता है।

5. दुःख से निपटने में मदद मिलेगी

दुःख एक ऐसी भावना होती है, जिसमें दर्द, गम, शर्मिंदगी और गुस्से जैसी भावनाएं शामिल होती हैं। दुःख से निपटने में रोना बहुत जरूरी है। यह आपको जीवन में आगे बढ़ने में मदद करता है। हर किसी के दुःख की प्रक्रिया अलग-अलग होती है। अगर आपको बहुत ज्यादा रोना आता है, तो आपको डॉक्टर से मिल कर अपनी समस्याओं का हल ढूंढ़ने की जरुरत होगी।

6. सदमे से निकलना (Get out of shock) होता है आसान

यह जरूरी नहीं की किसी की मौत के कारण ही सदमा हो। बदलती जीवनशैली, पर्सनल और प्रोफेशनल लाइफ के कारण भी व्यक्ति परेशान रह सकते हैं या बच्चों पर बढ़ता प्रेशर भी सदमे में डालने के लिए काफी है। ऐसी स्थिति में अगर व्यक्ति रोने के फायदे होता हैं क्योंकि इस दौरान रोने से स्ट्रेस कम होता है और आप अच्छा महसूस कर सकते हैं।

7. रोना आपको खुश रहने में मदद कर सकता है

हेल्थ एक्सपर्ट बताते हैं की परिस्थिति के अनुसार रोना आपको खुश रहने में मदद करता है। अगर कोई बात जिससे आपको परेशानी होती है तो किसी से शेयर करें या रो लें। ऐसा करने से आपका अच्छा महसूस करेंगे।

8. रोने से आंखें होती हैं क्लीन

रोने के फायदे में शामिल है आंखों की क्लीनिंग। रोने की वजह से आंखों से बैक्टेरिया खत्म होते हैं और देखने की क्षमता भी ठीक रह सकती है।

9. मूड रहता है अलर्ट

रोने की वजह से फील-गुड हॉर्मोन मस्तिष्क को फिर एक्टिव करने में मदद करता है। इसलिए मूड को अलर्ट रखने में रोने के फायदे हो सकते हैं।

10. रोने के फायदे- नाक साफ रहता है

रोने के दौरान नाक बंद हो जाती है लेकिन, कुछ ही देर में नाक से लिक्विड की तरह थोड़ा गाढ़ा पदार्थ निकलता है। इससे नाक अच्छी तरह साफ हो जाता है और आप बेहतर महसूस करते हैं।

11. साउंड स्लीप (Sound sleep) में मदद करता है

यह थोड़ा अटपटा जरूर लगेगा आपको लेकिन, यह सच है। अगर आप किसी कारण परेशान हैं और आप रो लेते हैं तो आपको नींद अच्छी आएगी। इसका सबसे अच्छा उदाहरण है बच्चा। बच्चे रोने के बाद सो जाते हैं या वे सोने के लिए ही रोते हैं।

12. ब्लड प्रेशर (Blood pressure) रहता है कंट्रोल

नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इन्फॉर्मेशन (NCBI) के अनुसार ब्लड प्रेशर और पल्स रेट दोनों कंट्रोल रहता है। हालांकि इसका ये मतलब नहीं है की आप हमेशा रोते ही रहें। इन सबसे बचने के लिए तनाव से दूर रहना भी जरूरी है।

रोने के फायदे समझने के बाद ये भी समझना जरूरी है की अत्यधिक रोने पर डॉक्टर से भी मिलना जरूरी है। कब मिलना चाहिए डॉक्टर से? बिना कारण रोते रहना या अत्यधिक रोना डिप्रेशन का कारण भी हो सकता है। इसलिए ऐसी परिस्थिति में डॉक्टर से मिलें। हंसने की तरह रोने के भी फायदे हैं। यह आपको सुकून का एहसास दिला कर आपकी सेहत पर सकारत्मक प्रभाव डालने में मदद करता है। लेकिन अगर आपको बार-बार बिना वजह रोना आ रहा हो तो यह डिप्रेशन का लक्षण हो सकता है। ऐसी स्तिथि में विशेषज्ञों से समझना बेहतर होगा। हैलो हेल्थ ग्रुप किसी भी तरह की मेडिकल एडवाइस, इलाज और जांच की सलाह नहीं देता है।

नोट : नए संशोधन की डॉ. प्रणाली पाटील द्वारा समीक्षा

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Complicated grief: Definition mayoclinic.org/diseases-conditions/complicated-grief/basics/definition/con-20032765Accessed on 21/12/2019

The healing effects of crying/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pubmed/16269941/Accessed on 21/12/2019

Crying: Discussing its basic reasons and uses/https://www.researchgate.net/Accessed on 21/12/2019

Is crying a self-soothing behavior?/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4035568/Accessed on 21/12/2019

 

लेखक की तस्वीर
Mubasshera Usmani द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 23/02/2021 को
Dr. Pooja Bhardwaj के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड
x