home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

इस तरह के स्पोर्ट्स से आप रह सकते हैं फिट, जानें इन स्पोर्ट्स के बारे में

इस तरह के स्पोर्ट्स से आप रह सकते हैं फिट, जानें इन स्पोर्ट्स के बारे में

बदलते लाइफस्टाइल के इस दौर में लोग खुद को फिट रखने की पूरी कोशिश करते हैं। इसके लिए लोग ज्यादा से ज्यादा शारीरिक गतिविधि करते हैं और अपने खानपान का पूरा ध्यान रखते हैं। इससे लोगों को सकारात्मक असर भी देखने को मिलता है। डॉक्टरों का मानना है कि नियमित तौर पर, शारीरिक गतिविधि करते रहने से पुरानी बीमारियों से भी छुटकारा मिल जाता है। शारीरिक गतिविधि से हृदय रोग, मधुमेह, कैंसर, हाई ब्लडप्रेशरप, मोटापा, डिप्रेशन और ऑस्टियोपोरोसिस जैसी बीमारी का इलाज संभव है। शारीरिक गतिविधि में योगा, वर्कआउट और प्राणायाम शामिल हैं। इसके अलावा कुछ खेल यानी स्पोर्ट्स भी आपके शरीर को स्वस्थ रखने में मदद कर सकते हैं।

ये भी पढ़ें: डायबिटीज होने पर शरीर में कौन-सी परेशानियाँ होती हैं?

यूनाइटेड इंटर-एजेंसी टास्क फोर्स के अनुसार, स्पोर्ट्स खेलना युवाओं के लिए बहुत जरूरी है। इससे उनका मन शांत रहता है और शरीर की हड्डियां मजबूत होती हैं। इसके अलावा, लंग और हार्ट भी ठीक से काम करते हैं। आइए जानते हैं कि किस तरह के और कौन से स्पोर्ट्स करने से आप फिट रह सकते हैं। सबसे पहले बात करते हैं स्क्वैश स्पोर्ट की।

ये भी पढ़ें: कार्बोहाइड्रेट से परहेज करना, शरीर में इन समस्याओं को देता है दावत

एक्सपर्ट की राय

इस बारे में पैसफिक स्पोर्ट्स क्लब के फिटनेस कोच जीतु सिंह का कहना है कि फिट रहने के लिए स्पोटर्स सबसे अच्छा ऑप्शन है। खेल कूद से शरीर फिट और टोंड दोनों ही रहता है। देखा जाए ताे पहले की अपेक्षा लोग खेल कूद में अपना समय कम देने लगे हैं। आज लोग जिम और कॉर्डियो जैसी एक्सराइज को ज्यादा प्राथमिकता देने लगे हैं। लेकिन हम लोग अपने दिनचाचर्या में अगर इस तरह के स्पोर्ट शामिल कर लें तो हेल्दी तरीके से फिट रहा जा सकता है, ज

स्क्वैश

स्क्वैश एक ऐसा खेल है जो कई एक्टर-ऐक्ट्रेस को भी पसंद है। वे खुद को फिट रखने के लिए ये गेम खेलते हैं। इस स्पोर्ट्स को खेलने से शरीर फिट रहता है। इसे किसी भी उम्र के लोग खेल सकते हैं। इसे खेलना और सीखना बहुत आसान है। अगर बच्चे इसे खेलते हैं, तो वे आगे चलकर इसे अपने करियर के तौर भी ले सकते हैं। इससे हृदय स्वास्थ्य में सुधार होता है। स्क्वैश के खेल में आपको गेंद पर फोकस रखना होता है। गेंद के लिए आपको दौड़ना पड़ता है, छलांग लगानी पड़ती है। इससे शरीर की शक्ति बढ़ती है और वजन को घटाने में भी सहायक है। वहीं पीठ का लचीलापन भी बढ़ता है।

ये भी पढ़ें: शरीर में होने वाले दर्द और सूजन के इलाज के लिए फायदेमंद है फिजियोथेरिपी

स्विमिंग

तैराकी न केवल एक शारीरिक कसरत है, बल्कि यह आपके हार्ट को स्वस्थ रखती है और तनाव को भी कम करती है। शरीर के लिए यह एक शानदार गतिविधि है। तैराकी से आपका वजन भी नहीं बढ़ता है क्योंकि इससे बहुत सारी कैलोरी बर्न होती है. साथ ही, फेफड़ों की क्षमता में भी सुधार होता है और मांसपेशियों में ताकत आती है। इसे इनडोर पूल, आउटडोर पूल या समुद्र तट पर किया जा सकता है।

बास्केटबॉल

बास्केटबॉल खेलने में बहुत ज़्यादा ऊर्जा खर्च होती है, लेकिन शरीर को स्वस्थ रखने के लिए यह एक बहुत अच्छा खेल है। यह आपके मन के लिए भी बहुत फायदेमंद है क्योंकि इससे आप अपने जीवन को संतुलित रख सकते हैं। इससे मन की शक्ति भी बढ़ती है। कई रीसर्च में इस बात की पुष्टि हुई है कि यह खेल आपके दृष्टिकोण को बदलता है और जागरूक बनाता है। इससे एकाग्रता और आत्म-अनुशासन का विकास भी होता है। कोई भी खेल आपकी हड्डियों को मजबूत करने में अहम भूमिका निभाता है। हृदय को स्वास्थ रखने के लिए भी यह एक बेहतरीन खेल है। इससे आत्मविश्वास भी बढ़ता है। इस खेल से आप टीमवर्क भी सीख पाते हैं।

ये भी पढ़ें: सिर्फ ग्रीन-टी ही नहीं, इंफ्यूजन-टी भी है शरीर के लिए लाभकारी

साइकलिंग

साइकिलिंग से वेट कम

हर साल, मई और जून में साइकलिंग के कई ईवेंट होते हैं। अगर आपने साइकिल की दौड़ में हिस्सा लेने वाले लोगों पर गौर किया हो तो ये लोग बेहद फिट दिखाई देते हैं। साइकिल चलाने का अपना ही मजा है। साथ ही, इससे मन और तन दोनों स्वस्थ रहते हैं। विदेशों में तो बड़ी-बड़ी कंपनी में काम करने वाले लोग भी साइकिल से आना-जाना पसंद करते हैं। वे अपनी सेहत को लेकर काफी सजग होते हैं। स्वस्थ रहने के लिए आप साइकिल चला सकते हैं। इसके लिए आपको किसी से कॉम्पटीशन करने की जरूरत नहीं है। साइकलिंग की क्लास लेना भी एक मज़ेदार अनुभव होता है। खुली जगह पर साइकिल चलाने से मन शांत होता है। आप साइकिल चलाने का मजा किसी ग्रुप के साथ भी ले सकता हैं। इससे पैरों की मांसपेशियां मजबूत होती हैं। आजकल जिम में इनडोर साइकिल चलाने की भी व्यवस्था होती है। साइकिल चलाने से न केवल कार्डियोवस्कुलर फिटनेस बढ़ती है, बल्कि मांसपेशियों में लचीलापन भी आता है। साइकलिंग आपके मूड को खुश रखती है और मस्तिष्क को भी मजबूत बनाती है।

ये भी पढ़ें: तनाव का प्रभाव शरीर पर पड़ते ही दिखने लगते हैं ये लक्षण

जिमनास्टिक

जिमनास्टिक एक मुश्किल खेल है और इसे हर कोई नहीं कर पाता। हालांकि बच्चों को यह काफी पसंद होता और वे इसे आसानी से कर पाते हैं। ऐसा इसलिए है क्योंकि बच्चों का शरीर लचीला होता है। शरीर की आयु बढ़ने पर लचीलापन खत्म होता जाता है इसलिए उन्हें जिमनास्टिक करने में मुश्किल होती है। अगर आपने जिमनास्टिक करना सीख लिया तो फिर आपको स्वस्थ रहने के लिए किसी दूसरी शारीरिक गतिविधि को करने की जरूरत नहीं पड़ती है। इसमें कई तरह के स्टंट होते हैं। यह शरीर को संतुलित रखने के साथ आपके मन का संतुलन भी बनाए रखता है। एक जिम्नास्ट कोई प्रतियोगिता जीतने के लिए, अपनी मानसिक और शारीरिक शक्तियों का इस्तेमाल कर पाता है। जिम्नास्टिक से आपको केवल शारीरिक लाभ ही नहीं बल्कि यह एकाग्रता बढ़ाने में भी मदद करता है। यह बच्चों के शारीरिक, मानसिक, भावनात्मक और सामाजिक विकास के लिए लाभदायक है।

 

 

health-tool-icon

बीएमआई कैलक्युलेटर

अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की जांच करने के लिए इस कैलक्युलेटर का उपयोग करें और पता करें कि क्या आपका वजन हेल्दी है। आप इस उपकरण का उपयोग अपने बच्चे के बीएमआई की जांच के लिए भी कर सकते हैं।

पुरुष

महिला

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Bhawana Sharma द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 28/08/2020 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड