home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

ये 6 मेडिकल डिवाइस का हर घर में होना है जरूरी: एक्सपर्ट की राय

ये 6 मेडिकल डिवाइस का हर घर में होना है जरूरी: एक्सपर्ट की राय

कोरोना (Corona) महामारी ने सभी को यह बता दिया है कि घर में कुछ मेडिकल डिवाइस (Medical Device)का होना कितना जरूरी है। इस समय हेल्थ चेकअप के लिए हॉस्पिटल भी नहीं जा सकता है। तो ऐसे में आपकी कोई हेल्थ प्रॉब्लम ज्यादा तो नहीं बढ़ रही है। इसकी जांच के लिए घर पर कुछ मेडिकल डिवाइस को जरूर रखना चाहिए। यह हेल्थ इस कोराना काल में जो पेशेंट घर पर ही मेडिकेशन कर रहे हैं, उनके लिए खास आवश्यक है, खासतौर पर कोरोना पेशेंट के लिए ऑक्सिमीटर और थर्मामीटर कितन जरूरी है। ताकि उनका ऑक्सिजन लेवल पर नजर रखी जा सके। कुछ ऐसे मेडिकल डिवाइस (Medical Device) के बारे में बताएंगे जिनका घर में 24 घंटे रहना बहुत जरूरी है। यह मेडिकल डिवाइस (Medical Device) केवल कोरोना पेशेंट के लिए नहीं, बल्कि डायबिटीज और हार्ट पेशेंट के लिए भी कारगर है।

और भी पढ़ें: कोरोना वायरस के ट्रांसमिशन फैक्टर: मास्क पहनने के साथ, इन छोटी-छाेटी बातों की तरफ भी गौर करें!

ये पांच मेडिकल डिवाइस (Medical Device), जो हर घर में होना है जरूरी:

कोविड-19 के दाैरान जिस तरह से लोगों के बीच में दिक्कत बढ़ती जा रही है, उसे देखते हुए घर पर कुछ मेडिकल डिवाइस (Medical Device) का होना बहुत जरूरी है। जिसकी जरूरत कभी भी पड़ सकती है। जैसा कि आजकल लाेग लाइफस्टाइल डिजीज (Lifestyle disease) के शिकार हो रहे हैं और यह भी नहीं कहा जा सकता है कि कौन सा रोग कब किसे हो जाए। जैसे में कुछ जाचें जरूरी हाेती हैं। जिन्हें कोई बीमारी नहीं है, कहीं वो भी भविष्य में किसी बीमारी के चपेट में तो नहीं आ रहे हैं, इस बात को ध्यान में रखते हुए उन्हें भी महीने में एक बार कुछ जांचे जरूर करनी चाहिए। जो कि घर में मौजूद हेल्थ एप्लाइंसेज से आसानी से की जा सकती है।

ब्लड ग्लूकोज मॉनिटर ( Blood glucose monitor)

आज के समय में हर घर में एक न एक डायबिटीज पेशेंट मिल ही जाते हैं, तो ऐसे में ग्लूकोज ग्लूकोज मॉनिटर, हर घर में होना जरूरी है।डायबिटीज आज के समय में एक बड़ी हेल्थ प्रॉब्लम बन चुकी है, जोकि कई बड़ी हेल्थ प्रॉब्लम को जन्म देती है। टाइप 2 डायबिटीज की समस्या होने पर शरीर में पर्याप्त इंसुलिन नहीं बनता है। इस डिवाइस के माध्यम से शुगर लेवल को आसानी से डायग्नोस किया जा सकता है। डायबिटीज के मरीजों के लिए जरूरी है कि वो नियमित रूप से अपनी शुगर चैक करते रहें। घर में ब्लड शुगर टेस्ट करने के अनके फायदे हैं। जिससे आपको ये पता चलता रहेगा कि है कि आपको अपना शुगर लेवल कैसे कंट्रोल करना है। क्या चीज खाने के बाद आपके शुगर लेवल ज्यादा बढ़ रहा है।

और पढ़ें: Glucose Tolerance Test: ग्लूकोज टॉलरेंस टेस्ट क्या है?

पल्स ऑक्सिमीटर (Pulse Oximeters)

कोविड की इस महामारी के दौरान पल्स ऑक्सिमीटन कितना जरूरी है, यह किसी से छुपा नहीं है। ऑक्सिमीटर केवल कोविड पेशेंट के लिए ही नहीं, बल्कि और भी कई हेल्थ डिजीज में काम आता है, जैसे कि अस्थमा या किसी को लंग्स से संबंधित कोई डिजीज है, तो यह उनके लिए भी उपयोगी है। इस डिवाइस के माध्यम से रोगी के शरीर में कहीं ऑक्सिजन लेवल की कमी तोे नहीं हो रही है, इस पर जनर रखी जा सकती है। इसमें ऑक्सिजन लेवल और पल्स रेट दोनों का ही पता चलता है। यदि ऑक्सिमीटर पर आपका ऑक्‍सिजन लेवल 95 से अधिक है तो आप स्‍वस्‍थ हैं। अगर ऑक्‍सिजन लेवल 90 से नीचे है, तो आपको तुरंत डॉक्‍टर से संपर्क करने की आवश्यकता है।

और भी पढ़ें:एक्सपर्ट की राय: नैचुरल ढंग से ऑक्सिजन लेवल बढ़ाने के लिए प्रोनिंग है फायदेमंद

ब्लड प्रेशर माॅनिटर (Blood Pressure Monitors)

हाय ब्लड प्रेशर को साइलेंट किलर भी कहा जाता है और शरीर में कब इसका लेवल बढ़ जाए कहा नहीं जा सकता है। अगर देखा जाए ताे आजकल हर घर में कोई न कोई बीपी पेशेंट मिल ही जाएगा। जितना खतरनाक हाय बीपी है, उतना ही लो बीपी भी शरीर के लिए नुकसानदेह है। तो ऐसे में यदि आपके घर पर भी कोई हायपरटेंशन पेशेंट है, तो उसके बीपी की जांच के लिए एक ब्लड प्रेशर मॉनिटर लेना एक अच्छा फैसला होगा। जिससे आप रोज उनकी बीपी के लेवल पर आसानी से नजर रख सकते हैं। लेकिन हां, धिकतर बीपी मशीन फ्लक्चुएशन रीडिंग देती हैं, इसलिए दो से तीन रीडिंग लें और आखिरी रीडिंग के अनुरूप एक नोट करें।

और भी पढ़ें:जब ना खुले ‘हाय ब्लड प्रेशर’ का ताला, तो आयुर्वेद की चाबी दिखाएगी अपना जादू

ईसीजी मॉनिटर (ECG Monitor)

हार्ट पेशेंट की संख्या भी आजकल बढ़ती जा रही है, पहले लोगों को ईसीजी के लिए तुरंत अस्पताल भागना पड़ता था लेकिन अब घर पर ही पोर्टेबल ईसीजी मॉनिटर के माध्यम से अपने हार्ट की हेल्थ पर आसानी से नजर रखा जा सकता है। इसमें हार्ट रेट का भी पता चल जाता है। हार्ट पेशेंट को इस डिवाइस को घर पर जरूर रखा चाहिए।

और भी पढ़ें:औरतों में हार्ट डिजीज के ये संकेत पड़ सकते हैं भारी, न करें अनदेखा

डिजिटल थर्मामीटर (Digital Thermometers)

कोरोना महामारी के दौरान थर्मामीटर हर घर में होना सबसे जयादा आवश्यक है। थर्मामीटर में आप डिजिटल थर्मामीटर का चुनाव करें, तो ज्यादा अच्छा होगा। इससे आप फीवर को आसानी से नाप सकते हैं। इसका इस्तेमाल बच्चों के लिए भी काफी आसान होता है। डिजिटल थर्मामीटर में आपको एक्यूरेट टेंपरेचर का पता चल जाता है। इसमें दिये गए डिजिटल स्क्रीन में आप आसानी से टेंपरेचर को देख सकते हैं। मैनुअल थर्मामीटर के अलावा इसमें 20 सेकंड में शरीर का टेंपरेचर चेक कर सकते हैं, साथ ही इसे नोट भी करते रहें।

इस तरह के हेल्थ डिवाइस आपकी कई स्थितियों में काफी मदद कर सकते हैं। जिनका घर पर रहना बहुत आवश्यक है। इससे आप भविष्य में हाेने वाले गंभीर खतरों से भी बच सकते हैं। इसके इस्तेमाल की अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

health-tool-icon

बीएमआर कैलक्युलेटर

अपनी ऊंचाई, वजन, आयु और गतिविधि स्तर के आधार पर अपनी दैनिक कैलोरी आवश्यकताओं को निर्धारित करने के लिए हमारे कैलोरी-सेवन कैलक्युलेटर का उपयोग करें।

पुरुष

महिला

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
डॉ. ज्ञान चंद्रा द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 21/05/2021 को
x