home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

क्या आपको भी भूख न लगने की परेशानी है?

क्या आपको भी भूख न लगने की परेशानी है?

क्या आपको भी है भूख न लगने की परेशानी है ? अच्छा और स्वादिष्ट खाना देखकर भी आपका उसे खाने की इच्छा नहीं होती है? अगर ऐसा है, तो इस आर्टिकल में जानें कि कैसे आप अपनी खोई हुई भूख को वापस ला सकते हैं या भूख न लगने की परेशानी है, तो क्या करना चाहिए।

किन कारणों से भूख न लगने की परेशानी हो सकती है?

भूख न लगने की परेशानी निम्नलिखित कारणों से हो सकती है। जैसे-

  • व्यक्ति का डिप्रेशन या तनाव में होना
  • किसी कारण हॉर्मोनल असंतुलन होना
  • कोई पुरानी बीमारी होना

इन कारणों के अलावा अन्य कारण भी हो सकते हैं।

और पढ़ें: इस दिमागी बीमारी से बचने में मदद करता है नींद का ये चरण (रेम स्लीप)

भूख न लगने की परेशानी है, तो कुछ टिप्स फॉलो कर इस परेशानी से बचा जा सकता है।

खाना खाने की इच्छा में गिरावट को एनोरेक्सिया (anorexia) भी कहते हैं। ये ऐसी स्थिति है जिसकी वजह से मानसिक और शारीरिक कमजोरी आ सकती है। लंबे समय तक इस स्थिति के होने पर वजन में गिरावट आती है और हड्डियां खोखली होने लगती हैं। शरीर बेजान लगने लगता है।

एक बार में ज्यादा न खाएं

हर समय एक बार में पूरा खाना न खाएं, अपनी मील्स को टुकड़ों में बाट दें। तीन समय का खाना बहुत ज्यादा खाने से बेहतर है कि अपने खाने को पांच से छह छोटी मील्स में बांट दें।

जैसे कि अगर आप मीट या मछली जैसा कुछ खा रहें हैं तो कोशिश करें उसे पूरा एक साथ न खाएं। और अगर खाते भी हैं तो कोशिश करें कि अगली मील लेने के पहले लंबा अंतराल लें।

और पढ़ें : बच्चों में दस्त होने के कारण और घरेलू उपाय

न्यूट्रिएंट से भरपूर खाना खाएं

वजन बढ़ाने वाला खाना न खाएं। जैसे कि अगर आप मीठे के शौकीन हैं तो कोशिश करें कि चॉकलेट पेस्ट्री की जगह दही का उपयोग करें। हर वह खाना जो आपको पसंद है उसे स्वास्थ्यवर्धक बनाने का प्रयास करें। बहुत अधिक जंक फूड न खाएं।

सबके साथ खाना खाएं और बनायें

सबके साथ मिलकर खाने से आपको ज्यादा अच्छा लगेगा और भूख भी लगेगी। अकेले खाने से भूख मर जाती है ।

ब्रेकफास्ट जरूर करें

रात के बारह घंटे के अंतराल के बाद ब्रेकफास्ट दिन को शुरू करने की पहली मील को कहते हैं। एक पुरानी कहावत के अनुसार

“सुबह का नाश्ता राजा के जैसा होना चाहिए और रात का खाना भिखारी के जैसा !”

ऐसा इसलिए क्योंकि सुबह उठकर आपको ऊर्जा चाहिए होती है जिससे आप दिनभर काम कर सकें। रात को हल्का भोजन आपकी अच्छी नींद के लिए जरूरी है। इससे तबियत ठीक रहती है। साथ ही मोटापा भी नहीं बढ़ता। सुबह के नाश्ते के दौरान ड्राई फ्रूट्स का सेवन करने से भूख न लगने की परेशानी दूर हो सकती है।

और पढ़ें- एनीमिया के घरेलू उपाय: खजूर से टमाटर तक एनीमिया से लड़ने में करते हैं मदद

खूब पानी पिएं

पानी पीने से शरीर में कोई भी गंदगी नहीं रह जाती। पेट साफ रहता है जिसकी वजह से भूख सही ढंग से लगती है। शरीर को साफ रखने के साथ ही पानी पीने से त्वचा में कांति आती है। स्वस्थ त्वचा के लिए भी पानी बहुत जरूरी है। एक दिन में दो से तीन लीटर पानी पीएं।

इन टिप्स के अलावा भूख न लगने की परेशानी है तो घरेलू उपचार अपनायें।

निम्नलिखित घरेलू उपचार से भूख न लगने की परेशानी दूर हो सकती है। जैसे-

अनार

भूख न लगने की परेशानी है तो अनार आपकी खाने की रूचि को बढ़ा सकता है। अनार में एंटी-ऑक्सिडेंट और विटामिन्स की मौजूदगी शरीर में हीमोग्लोबिन की मात्रा बढ़ाने के साथ-साथ खाने की इच्छा को भी बढ़ाता है। इसके नियमित जूस के सेवन से फर्क समझा जा सकता है। अनार का उपयोग दवाइयों में किया जाता है। इसमें विटामिन-सी, फॉस्फोरस, फाइबर, कैल्शियम, आयरन आदि पोषक तत्व पाए जाते हैं। यही कारण है कि यह शरीर को कई बीमारियों से सुरक्षा प्रदान करता है।

आंवला

आंवले को हाई कोलेस्ट्रॉल, धमनियों को मजबूत करने के लिए, डायबिटीज, दर्द और पैनिक्रयाज में सूजन, कैंसर, आंखों की परेशानी, जोड़ों में दर्द, डायरिया, खूनी डायरिया, ऑस्टियोअर्थराइटिस, मोटापा आदि के लिए दवाई के रूप में लिया जाता है। इसके अलावा इसका इस्तेमाल चोट व किसी बीमारी की वजह से होने वाले दर्द और सूजन से छुटकारा पाने के लिए किया जाता है लेकिन, इसके नियमित सेवन से भूख न लगने की परेशानी भी दूर होती है।

और पढे़ं- प्रेग्नेंसी के दौरान खांसी की समस्या से राहत पाने के घरेलू उपाय

इलायची

इलायची में विटामिन-सी, आयरन, कैल्शियम, पोटैशियम, रिबोफ्लेविन और नियासिन जैसे विटामिन और खनिज तत्व मौजूद होते हैं जो इसे सेहत के लिए फायदेमंद बनाते हैं। इसके एक नियमित सेवन से भूख न लगने की परेशानी दूर हो सकती है। यही नहीं लंच या डिनर के बाद एक इलाइची के सेवन से एसिडिटी की समस्या खत्म होती है और ये डाइजेशन में सहायता करती है। इलाइची से पेट दर्द में भी रहत मिल सकती है।

अजवाइन

रिसर्च के अनुसार अजवाइन गठिया के इलाज में काफी लाभदायक साबित हो सकती है। इसका उपयोग हर्बल औषधि में किया जाता है। जोड़ों का दर्द (गठिया), हिस्टीरिया, घबराहट, सिरदर्द, कुपोषण, भूख न लगना और थकावट के कारण वजन कम होने जैसी चीजों में यह काफी लाभदायक साबित होती है। एक चम्मच अजवाइन को गर्म पानी के साथ सेवन करने से लाभ मिल सकता है।

नींबू

नींबू का उपयोग पाचन में सहायता करने, दर्द और सूजन को कम करने, ब्लड वेसल्स के कार्य में सुधार करने और शरीर में तरल पदार्थों की कमी होने के कारण यूरिन को बढ़ाने के लिए किया जाता है। खाने का स्वाद बढ़ाने वाला नींबू एक ऐसा फल है जिसका खट्टा स्वाद किसी भी शख्स के दिल और दिमाग को सूकुन दिलाता है। खाने का जायका बढ़ने के कारण खाने की इच्छा बढ़ सकती है।

और पढ़ें- मोटापा कम करने के घरेलू उपाय

शरीर को सक्रिय रखें

बैठे रहने से या फिर स्थिर रहने से भी भूख कम लगती है। अपने शरीर की चुस्ती को बरकरार रखने के लिए डांस , एरोबिक्स एक्सरसाइज या व्यायाम करें। इससे शरीर का मेटाबोलिज्म सही रहेगा और आपका शरीर स्वस्थ रहेगा।

इन छोटी -छोटी लेकिन बहुत अधिक महत्त्वपूर्ण बातों का ध्यान रखकर आप अपनी भूख और डाइट को नियंत्रित कर सकते हैं। हमेशा याद रखें कि स्वस्थ शरीर के लिए सही मात्रा में सही भोजन सही समय पर बहुत जरूरी है। अगर आप भूख न लगने की परेशानी से जुड़े किसी तरह के कोई सवाल का जवाब जानना चाहते हैं तो विशेषज्ञों से समझना बेहतर होगा। हैलो हेल्थ ग्रुप किसी भी तरह की मेडिकल एडवाइस, इलाज और जांच की सलाह नहीं देता है।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

An overview of appetite decline in older people – https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4589891/ – Accessed on 27/12/2019

Hormonal Regulators of Appetite – https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC2777281/ – Accessed on 27/12/2019

Appetite – increased – https://medlineplus.gov/ency/article/003134.htm – Accessed on 27/12/2019

Appetite Suppression Trial With Polydextrose – https://clinicaltrials.gov/ct2/show/NCT02064205 – Accessed on 27/12/2019

Low-Energy-Dense Foods and Weight Management: Cutting Calories While Controlling Hunger – https://www.cdc.gov/nccdphp/dnpa/nutrition/pdf/r2p_energy_density.pdf – Accessed on 27/12/2019

लेखक की तस्वीर
Dr Sharayu Maknikar के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Suniti Tripathy द्वारा लिखित
अपडेटेड 30/09/2019
x