home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

सच या झूठः क्या आपको भी मिला है कोरोना लॉकडाउन फेज का ये मैसेज?

सच या झूठः क्या आपको भी मिला है कोरोना लॉकडाउन फेज का ये मैसेज?

कोरोना वायरस लॉकडाउन की वजह से पूरी जनता अपने-अपने घरों में बंद है। ऐसे समय में सभी के मन में यह सवाल आ रहा है कि आखिर यह कोरोना वायरस लॉकडाउन कबतक चलेगा (When coronavirus lockdown end in India), भारत में कोरोना वायरस कब खत्म होगा (When Coronavirus end in India) या क्या लॉकडाउन आगे और बढ़ेगा (Will lockdown get extended in India)? इन्हीं सभी सवालों का जवाब देते हुए एक मैसेज सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है, जिसे डब्ल्यूएचओ (WHO) का हवाला देकर शेयर किया जा रहा है। इस वायरल मैसेज (Viral message) में भारत में कोरोना वायरस लॉकडाउन फेज और उसके समय के बारे में बताया जा रहा है। शायद आपको भी यह मैसेज वॉट्सऐप (WhatsApp viral messgae) या फेसबुक (Facebook viral messgae) पर जरूर मिला या दिखा होगा। आइए जानते हैं कि यह मैसेज सच है या झूठ है?

यह भी पढ़ें: अगर आपके आसपास मिला है कोरोना वायरस का संक्रमित मरीज, तो तुरंत करें ये काम

लॉकडाउन फेज के वायरल मैसेज में क्या लिखा है? (Lockdown Phase in India)

Corona lockdown phase viral message- कोरोना लॉकडाउन फेज वायरल मैसेज
कोरोना लॉकडाउन फेज का वायरल मैसेज

कोरोना वायरस लॉकडाउन फेज के बारे में क्या लिखा है?

वॉट्सऐप, फेसबुक या अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर एक फोटो या मैसेज वायरल किया जा रहा है, जिसमें काफी खतरनाक कोरोना वायरस को नियंत्रित करने के लिए लॉकडाउन पीरियड (Lockdown Period) से संबंधित डब्ल्यूएचओ द्वारा जारी प्रोटोकॉल और प्रोसीजर के बारे में जानकारी दी हुई है। मैसेज के मुताबिक, कोरोना वायरस की बीमारी को रोकने के लिए दुनियाभर में डब्ल्यूएचओ की इस प्रोटोकॉल का अनुसरण किया जा रहा है। मैसेज में लिखा है कि, लॉकडाउन फेज के स्टेप 1 में एक दिन का लॉकडाउन किया जाएगा, जिसके बाद स्टेप 2 में 21 दिन का लॉकडाउन किया जाएगा। इन दोनों स्टेप्स के बाद 5 दिन की जनता को मोहलत दी जाएगी और फिर स्टेप 3 में 28 दिन का लॉकडाउन किया जाएगा और इसके खत्म होने के 5 दिन बाद स्टेप 4 में 15 दिन का लॉकडाउन किया जाएगा, जो कि आखिरी होगा।

यह भी पढ़ें: कोरोना वायरस फैक्ट चेक: कोरोना वायरस की इन खबरों पर भूलकर भी यकीन न करना, जानें हकीकत

कोरोना वायरस लॉकडाउन फेज बढ़ेगा?

कोरोना वायरस लॉकडाउन फेज से संबंधित इस वायरल मैसेज में आगे लिखा है कि, इसी प्रक्रिया को अपनाते हुए हमारी सरकार ने 22 मार्च को 1 दिन का लॉकडाउन किया था, जो कि ट्रायल लॉकडाउन था। इसके बाद 24 मार्च से 14 अप्रैल तक 21 दिनों के लिए पहला लॉकडाउन किया जाएगा। फिर 15 अप्रैल से 19 अप्रैल तक जनता को थोड़ी मोहलत दी जाएगी और फिर 20 अप्रैल से 18 मई तक 28 दिनों के लिए दूसरा लॉकडाउन लगाया जाएगा। अगर, इसके बाद कोविड- 19 (COVID19) के मरीज का औसत शून्य हो जाता है, तो लॉकडाउन हटा लिया जाएगा। वरना, 19 मई से 24 मई तक जनता को मोहलत देने के बाद 25 मई से 10 जून तक 15 दिनों के लिए आखिरी व फाइनल लॉकडाउन लगाया जाएगा।

कोरोना वायरस लॉकडाउन फेज- सच है या झूठ?

लॉकडाउन से निकलने की चाह रखने वाले लोगों द्वारा यह वायरल मैसेज काफी ज्यादा शेयर किया गया। लेकिन, क्या यह वायरल मैसेज सच है? क्या भारत सरकार सच में 14 अप्रैल के बाद 5 दिन की मोहलत देकर लॉकडाउन फेज का स्टेप 2 शुरू करेगी या फिर क्या सच में भारत में यह लॉकडाउन 10 जून तक चलेगा? इन्हीं सभी सवालों का जवाब जानने और आप तक पहुंचाने के लिए हम डब्ल्यूएचओ की वेबसाइट और ट्विटर पर पहुंचे। दरअसल, जब भी डब्ल्यूएचओ या ऐसी कोई सरकारी या अंतरराष्ट्रीय संस्था इस तरह की कोई जानकारी रिलीज करती है, तो उसकी एक प्रति अपनी वेबसाइट पर भी जारी करती है।

यह भी पढ़ें: शरीर की इम्यूनिटी बढ़ाकर कोरोना वायरस से करनी होगी लड़ाई, लेकिन नींद का रखना होगा खास ध्यान

गलत निकली जानकारी

लेकिन, जब हमने कोरोना वायरस लॉकडाउन फेज से संबंधित यह जानकारी खोजने के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन की वेबसाइट और ट्विटर अकाउंट खंगाल मारा, तो भी हमें इस तरह की कोई जानकारी नहीं मिली। इसका मतलब साफ है कि, सोशल मीडिया पर फैलाया जा रहा यह मैसेज, बिल्कुल फेक है और इस पर आपको बिल्कुल भी विश्वास नहीं करना है और न ही कोई दूसरा देश इस तरह की प्रक्रिया को अपना रहा है। आपको बता दें कि अगर ऐसी कोई भी प्रक्रिया जारी की जाती है, तो उसकी सूचना किसी सरकारी संस्था या आधिकारिक व्यक्ति द्वारा ही जारी की जाती है। इसलिए अफवाहों से बचें और समाज में बेवजह का डर न फैलने दें।

लॉकडाउन के समय को लेकर सरकार क्या कहती है?

जैसा कि आप सभी जानते हैं कि, भारत में जनता कर्फ्यू 22 मार्च को लगाया गया था। जिसके बाद 24 मार्च की रात 12 बजे यानी 25 मार्च से 21 दिनों के लिए कंप्लीट लॉकडाउन लगाया गया है। इस लॉकडाउन को खत्म होने में कुछ ही दिन बाकी रह गए हैं और हाल ही में कैबिनेट सचिव राजीव गौबा ने कहा था कि, कोरोना वायरस की वजह से हुए इस लॉकडाउन को बढ़ाने का सरकार का कोई प्लान नहीं है। हालांकि, 21 दिन खत्म होने के बाद 15 अप्रैल को यह लॉकडाउन खत्म होगा या फिर सरकार अगला कौन-सा कदम उठाएगी। इस बारे में पुख्ता तरीके से कोई जानकारी नहीं दी गई है।

यह भी पढ़ें: अगर जल्दी नहीं रुका कोरोना वायरस, तो ये होगा दुनिया का हाल

कोरोना वायरस से जुड़े अन्य झूठ

लॉकडाउन फेज की झूठी खबर की तरह ही कोरोना वायरस से जुड़ी और भी कई झूठी खबरे और पोस्ट सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। इन खबरों में इटली की सड़कों पर बिखरी लाशें या इटली की सड़कों पर बिखरी करेंसी, सूर्य की रोशनी में मौजूद अल्ट्रावायलेट रेज से कोरोना वायरस का खात्मा या फिर इटली के प्रेसिडेंट के रोने की खबरें शामिल हैं। सूर्य की रोशनी से जुड़ी वायरल खबर भी डब्ल्यूएचओ के हवाले से फैलाई जा रही थी। लेकिन, डब्ल्यूएचओ ने खुद इस बात का खंडन किया है कि, हमारी तरफ से ऐसी कोई जानकारी नहीं दी गई है और कोरोना वायरस को खत्म करने के लिए शरीर पर पैराबैंगनी किरणों का इस्तेमाल आपके लिए खतरनाक हो सकता है। इसलिए, आप कोरोना से बचाव या उसके ट्रीटमेंट से जुड़ी ऐसी किसी भी खबर पर विश्वास न करें।

यह भी पढ़ें: कोरोना वायरस के 80 प्रतिशत मरीजों को पता भी नहीं चलता, वो कब संक्रमित हुए और कब ठीक हो गए

कोरोना वायरस के भारत में मरीज (How many cases of coronavirus in India?)

भारत में स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के मुताबिक 6 अप्रैल 2020 को सुबह 9 बजे तक देश में 3666 कोरोना वायरस इंफेक्शन से संक्रमित मरीजों की पहचान कर ली गई है। जिसमें से 291 मरीजों को इलाज करने के बाद छुट्टी दे दी गई है, वहीं 109 लोगों की जान जा चुकी है। मंत्रालय की वेबसाइट के मुताबिक भारत में संक्रमित मरीजों की सबसे ज्यादा संख्या महाराष्ट्र में हो गई है, जहां 690 मामले दर्ज किए जा चुके हैं। इसके बाद तमिलनाडु 571 मामले और दिल्ली 503 केस का नंबर आता है।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Coronavirus – https://www.who.int/health-topics/coronavirus – Accessed on 6/4/2020

Coronavirus (COVID-19) – https://www.cdc.gov/coronavirus/2019-ncov/index.html – Accessed on 6/4/2020

Coronavirus (COVID-19) – https://www.nhs.uk/conditions/coronavirus-covid-19/ – Accessed on 6/4/2020

Coronavirus disease 2019 (COVID-19) – Situation Report – 76 – https://www.who.int/docs/default-source/coronaviruse/situation-reports/20200405-sitrep-76-covid-19.pdf?sfvrsn=6ecf0977_2 – Accessed on 6/4/2020

Novel Corona Virus – https://www.mohfw.gov.in/ – Accessed on 6/4/2020

FAKE ALERT: Viral message about lockdown in phases has nothing to do with WHO – https://timesofindia.indiatimes.com/times-fact-check/news/fake-alert-viral-message-about-lockdown-in-phases-has-nothing-to-do-with-who/articleshow/74995157.cms – Accessed on 6/4/2020

लेखक की तस्वीर badge
Surender aggarwal द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 03/06/2020 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड