home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

क्या सचमुच विटामिन डी के सेवन से कम होगा कोरोना वायरस का खतरा?

क्या सचमुच विटामिन डी के सेवन से कम होगा कोरोना वायरस का खतरा?

लोग कोरोना वायरस से बचने के लिए सेल्फ आइसोलेशन, क्वारेंटाइन, मास्क और सैनिटाइजर का उपयोग आदि सभी चीजों का उपयोग कर रहे हैं। लेकिन, फिर भी कोरोना वायरस की महामारी खत्म होने का नाम नहीं ले रही है। लेकिन, अभी तक कोरोना वायरस की बीमारी कोविड- 19 का कोई इलाज या वैक्सीन नहीं मिल पाई है। ऐसे में सोशल डिस्टेंसिंग और पर्सनल हाइजीन रखना सबसे प्रभावशाली उपाय है। लेकिन, क्या कोरोना वायरस का खतरा कम करने में विटामिन डी की भूमिका भी अहम हो सकती है। ऐसा इसलिए पूछा जा रहा है, क्योंकि विटामिन डी का सेवन करने से इम्यून सिस्टम को मजबूती मिलती है और यह कई सामान्य रेस्पिरेटरी इल्नेस (Respiratory Illness) से सुरक्षा भी प्रदान करता है। आइए, जानते हैं कि क्या विटामिन डी का सेवन करने से कोरोना वायरस का खतरा कम किया जा सकता है?

यह भी पढ़ें: पालतू जानवरों से कोरोना वायरस न हो, इसलिए उनका ऐसे रखें ध्यान

विटामिन डी का सेवन करने से पहले इसके बारे में जानते हैं

विटामिन डी एक फैट सोल्यूबल विटामिन होता है, जो हमारे शरीर के लिए काफी जरूरी होता है। यह हमारे शरीर द्वारा कैल्शियम को अवशोषित करने में मदद करता है और हड्डियों की मजबूती और विकास में अहम भूमिका निभाता है। विटामिन डी का सेवन करने से मसल्स, नसों और इम्यून सिस्टम को भी फायदा पहुंचता है। विटामिन डी को त्वचा द्वारा, आहार में और सप्लीमेंट्स के रूप में लिया जा सकता है। आपके शरीर को सूर्य की रोशनी से प्राकृतिक रूप में विटामिन डी प्राप्त होता है और आप अंडे, साल्टवाटर फिश, दूध, अनाज आदि के द्वारा इसे आहार में भी शामिल कर सकते हैं। इसके अलावा, विटामिन डी के सप्लीमेंट्स भी उपलब्ध हैं और अगर आप विटामिन डी सप्लीमेंट्स का सेवन करना चाहते हैं, तो अपने हेल्थकेयर प्रोवाइडर से परामर्श कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें: कोरोना वायरस के 80 प्रतिशत मरीजों को पता भी नहीं चलता, वो कब संक्रमित हुए और कब ठीक हो गए

विटामिन डी का सेवन करने से इम्यून सिस्टम को मजबूती

हमारे शरीर द्वारा इंफेक्शन या बीमारी से लड़ने व बचाव के लिए इम्यून सिस्टम सबसे पहला सुरक्षा कवच होता है और इसके सही फंक्शन के लिए विटामिन डी बहुत जरूरी है। विटामिन डी में एंटी-इंफ्लेमेटरी और इम्यूनोरेगुलेटरी गुण होते हैं, जो कि इम्यून सिस्टम की प्रतिरोधक क्षमता के लिए बहुत जरूरी होता है। इस वजह से शरीर में विटामिन डी की कमी (Vitamin D Deficieny) के कारण हमें अक्सर इंफेक्शन, बीमारी या इम्यून सिस्टम से संबंधित डिसऑर्डर का सामना करना पड़ सकता है। इसके अलावा, विटामिन डी डेफिशियेंसी के कारण हमारे फेफड़ों की कार्यक्षमता कम हो सकती है, जिससे हमारे शरीर की रेस्पिरेटरी इंफेक्शन से लड़ने की ताकत कम हो जाती है।

यह भी पढ़ें: अगर जल्दी नहीं रुका कोरोना वायरस, तो ये होगा दुनिया का हाल

क्या विटामिन डी का सेवन करने से रेस्पिरेटरी इंफेक्शन का खतरा कम होता है?

देखिए जैसा कि हम जानते हैं कि, विटामिन डी हमारे इम्यून सिस्टम को मजबूती प्रदान करता है और उसकी कार्यक्षमता को सही रखता है। इसके अलावा, पर्याप्त विटामिन डी का सेवन करने से हमारे फेफड़ों का स्वास्थ्य सही रहता है और रेस्पिरेटरी डिजीज से बचाव मिलता है। क्योंकि, कई शोध में यह बात सामने आई है कि, जिन व्यक्तियों में विटामिन डी की कमी होती है, उनमें निमोनिया या इंफ्लुएंजा जैसी एक्यूट रेस्पिरेटरी इंफेक्शन के होने का खतरा ज्यादा होता है। इस वजह से विटामिन डी की शरीर में पर्याप्त मात्रा को कोरोना वायरस से बचाव में महत्वपूर्ण या अप्रत्यक्ष बचाव माना जा सकता है।

हाल ही में हुई एक रिसर्च के मुताबिक, 14 देशों के 11,321 प्रतिभागियों को विटामिन डी सप्लीमेंट्स देने के बाद एक्यूट रेस्पिरेटरी इंफेक्शन का खतरा कम देखा गया है। हालांकि, जिन लोगों में विटामिन डी की कमी थी, उनमें इसका प्रभाव साफ तौर पर देखा गया। इसके अलावा शोधकर्ताओं ने माना कि, विटामिन डी सप्लीमेंट्स का सेवन नियमित और छोटे अंतराल पर करने पर ज्यादा प्रभाव दिखता है।

यह भी पढ़ें: शरीर की इम्यूनिटी बढ़ाकर कोरोना वायरस से करनी होगी लड़ाई, लेकिन नींद का रखना होगा खास ध्यान

तो विटामिन डी का सेवन क्या सच में कोरोना वायरस से बचाव प्रदान करता है?

चूंकि, कोरोना वायरस एक इंफेक्शन है और यह रेस्पिरेटरी ट्रैक्ट को प्रभावित करने वाला है संक्रमण है, तो अप्रत्यक्ष रूप से इसके सेवन से कुछ सुरक्षा मिल सकती है। क्योंकि, विटामिन डी का सेवन करने से इम्यून सिस्टम भी मजबूत होता है और रेस्पिरेटरी इंफेक्शन का खतरा भी कम होता है। लेकिन, हमें यह बात भी जरूर और साफ तौर से ध्यान में रखना चाहिए, कि कोरोना वायरस की बीमारी कोविड- 19 का प्रभावशाली और प्रामाणिक इलाज अभी तक नहीं मिल पाया है और विशेषज्ञों द्वारा इससे बचाव में विटामिन डी की महत्वपूर्णता के बारे में भी पर्याप्त तथ्य नहीं दिए गए हैं। इसलिए, पूरी तरह से यह कह देना गलत होगा कि, विटामिन डी का सेवन करने से कोरोना वायरस का खतरा कम होता है। लेकिन, आप अपने स्वास्थ्य और इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाने के लिए विटामिन डी का सेवन कर सकते हैं और अगर आप में विटामिन डी की कमी है, तो अपने हेल्थ केयर प्रोवाइडर से परामर्श जरूर कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें: अगर आपके आसपास मिला है कोरोना वायरस का संक्रमित मरीज, तो तुरंत करें ये काम

विटामिन डी की कमी बताते हैं ये लक्षण

जब आपके शरीर में विटामिन डी की कमी होती है, तो आपका शरीर कई संकेत देता है, जिन्हें विटामिन डी की कमी के लक्षणों के रूप में जाना जा सकता है और सही समय पर विटामिन डी का सेवन शुरू किया जा सकता है। आइए, इन लक्षणों के बारे में जानते हैं।

  • जब विटामिन डी की कमी के कारण इम्यून सिस्टम कमजोर हो जाता है, तो आप बार-बार बीमार पड़ने लगते हैं।
  • विटामिन डी की कमी के कारण शरीर कैल्शियम का सही से अवशोषण नहीं कर पाता, जिससे हड्डियों में दर्द की समस्या होने लगती है। इसलिए, विटामिन डी का सेवन हड्डियों के स्वास्थ्य के लिए जरूरी होता है।
  • विटामिन डी आपके मूड को कंट्रोल करने में मदद करता है, जिस वजह से इसकी कमी के कारण आपको तनाव होने लगता है।
  • कई शोध में यह बात सामने आई है कि विटामिन डी की कमी के कारण आपके सिर के बाल झड़ने लगते हैं। इसके अलावा, विटामिन डी की कमी एलोपेसिया अरेटा नामक बीमारी का कारण भी बन सकता है, जिसमें सिर के साथ-साथ शरीर के बालों पर भी प्रभाव पड़ता है।
  • कई बार विटामिन डी की कमी आपके अंदर डिमेंशिया का भी कारण बन सकती है। इस समस्या में व्यवहार, याद्दाश्त और सोचने की क्षमता में बदलाव आने लगता है, हालांकि यह समस्या बुजुर्ग लोगों में ज्यादा देखी जाती है।

शरीर में विटामिन डी की कमी के लक्षण अन्य भी हो सकते हैं, जो कि यहां नहीं बताए गए।विटामिन डी और कोरोना के बारे में सही और पर्याप्त जानकारी के लिए अपने डॉक्टर से परामर्श करें। कोरोना वायरस से बचने के लिए हाइजीन का विशेष ख्याल रखें। साथ ही खाने में इम्यूनिटी को मजबूत करने वाले फूड को शामिल करें। वायरस के फैलाव से बचने के लिए मास्क का प्रयोग जरूर करें।कोरोना वायरस से बचने के लिए अवेयरनेस बहुत जरूरी है। कोरोना से सावधानी ही इस बीमारी का इलाज है।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

https://www.who.int/elena/titles/vitamind_infants/en/Vitamin D supplementation:

Coronavirus (COVID-19) – https://www.cdc.gov/coronavirus/2019-ncov/index.html – Accessed on 8/4/2020

Coronavirus (COVID-19) – https://www.nhs.uk/conditions/coronavirus-covid-19/ – Accessed on 8/4/2020

Coronavirus disease 2019 (COVID-19) – Situation Report – 78 – https://www.who.int/docs/default-source/coronaviruse/situation-reports/20200407-sitrep-78-covid-19.pdf?sfvrsn=bc43e1b_2 – Accessed on 8/4/2020

Novel Corona Virus – https://www.mohfw.gov.in/ – Accessed on 8/4/2020

Can Vitamin D Lower Your Risk of COVID-19? – https://www.healthline.com/nutrition/vitamin-d-coronavirus – Accessed on 8/4/2020

Vitamin D Deficiency and Acute Lower Respiratory Infections in Children Younger Than 5 Years: Identification and Treatment – https://www.jpedhc.org/article/S0891-5245(14)00279-X/fulltext – Accessed on 8/4/2020

लेखक की तस्वीर badge
Surender aggarwal द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 03/06/2020 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x