home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

चूहे के काटने पर उसे अनदेखा न करें, अपनाएं ये फस्ट एड उपचार

चूहे के काटने पर उसे अनदेखा न करें, अपनाएं ये फस्ट एड उपचार

क्या आपको पता है कि चूहे का काटना, आपके लिए जानलेवा साबित हो सकता है। अगर नहीं पता है, तो हम आपको बता दें कि चूहे के काटने से कई तरह के बैक्टीरिया और वायरस हमारे शरीर में पहुंच जाते हैं। चूहे के काटने को रैट बाइट भी कहते हैं। इससे कई तरह की गंभीर बीमारी होने का भी खतरा होता है, जिनमें शामिल हैं: एलर्जिक रिएक्शन, हंटवायरस और रैड वायर फीवर आदि। रैट बाइट काफी खतरनाक होता है। ऐसा होने पर तुरंत डॉक्टर की सलाह लें। लेकिन सुरक्षा के तौर पर इससे पहले आप कुछ फस्ट एड उपचार भी अपना सकते हैं। इसके लिए इन बातों का ध्यान रखें, जैसे कि:

चूहे के काटने से होने वाली बीमारियां (Diseases From Rats)

चूहे के काटने या उसके मूत्र के कारण व्यक्ति को कई तरह की बीमारियां हो सकती हैं। रैट बाइट के कारण स्क्रिटाइफस नामक बीमारी हो सकती है। यह एक जानलेवा डिजीज है। रैट बाइट से वैसे तो कई बीमारी हो सकती है, लेकिन यह डिजीज सबसे ज्यादा प्रभावित करती है। इसके अलावा, कई चहूे रैबीज जैसी बीमारी से भी ग्रस्त होते हैं और ऐसे चूहों का काट लेना ज्यादा खतरनाक होता है। इनके काटने पर तीन दिनों के बाद ही सिर व जोड़ों में दर्द व उल्टी की शिकायत, रोगी को हो सकती है। इस इंफेक्शन को अनदेखा करने पर स्थिति और भी गंभीर हो सकती है। रोगी पर और भी कई बीमारी हावी हो सकती है, इसके कारण जैसे कि लैप्टोस्पायरोसिस, एंडोकार्डिटिस, मायोकार्डिटिस, पॉलीआर्थराइटिस, सिस्टेमेटिक वैस्कुलिटिस, नोडोसा, फोकल एब्सकेसेस, हेपेटाइटिस और अमिनियोटिस आदि रोग भी हो सकते हैं। यदि समय रहते इन गंभीर स्थितियों का इलाज न कराया जाए, तो रोगी की जान तक जा सकती है। इनमें से सबसे ज्यादा खतरनाक है, लैप्टोस्पायरोसिस की समस्या, इसके होने पर 24 घंटे के अंदर का समय मरीज के लिए ज्यादा गंभीर होता है।

और पढ़ें: क्या हैं इंफेक्शस डिजीज (Infectious diseases): इसके होने का कारण, इलाज और अन्य जानकारी के लिए पढ़ें

इसके अलावा, चूहों का काटना डायबिटीज के रोगियों के लिए अधिक खतरनाक साबित हो सकता है। इसके घाव के भरने की समस्या सबसे ज्याद देखी गई है। इनमें इसके लक्षण 3 दिनों में ही नजर आने लगते हैं। यानि कि सामान्य लोगों की तुलना में डायबिटीज वालों के लिए रैट बाइट के बाद रिस्क अधिक होता है। वैसे तो, हर किसी को ही अपनी हेल्थ को ध्यान में रखते हुए चूहों से बचकर रहना चाहिए, लेकिन मधुमेह रोगियों को अधिक सावधानी बरतने की आवश्यकता है। ऐसा इसलिए भी है, क्योंकि डायबिटीज के मरीज के कोई भी हेल्थ प्रॉब्लम जल्दी ठीक नहींं होती है।

और पढ़ें: वर्ल्ड हार्ट डे: हेल्दी हार्ट के लिए फॉलो करें ऐसा लाइफस्टाइल, कम होगा हार्ट डिजीज का खतरा

एलर्जी (Allergic reactions)

चूहे के काटने से आपको एलर्जी रिएक्शन भी हो सकते हैं, जैसे कि पूरे शरीर में खुजली की समस्या। हाथों में रैशेज भी हो सकते हैं। इसके लक्षण कुछ इस प्रकार हैं:

और पढ़ें: World Zoonoses Day : कोरोना जैसी बीमारी भी आती हैं जूनोटिक डिजीज में, जानें इनके बारे में

चूहें के काटने से बुखार आना (Rat-bite fever,RBF)

चूहों के काटने से होने वाले इंफेक्शन के कारण रोगी को बुखार भी हाे सकता है। यह दूसरे व्यक्ति में भी यह रोग फैल सकता है। चूहें के काटने के कारण हुए फीवर के लक्षण 3 से 10 दिनों में नजर आ सकते हैं। कुछ कारणों में किसी में 21 दिन का समय लग सकता है। कुछ इस तरह के लक्षण नजर आ सकते हैं, जैसे कि:

ऐसे में डॉक्टर की सलाह से चलें, जैसा वो कहें आप वैसा ही करें। ऐसे में डॉक्टर एंटीबॉयोटिक की सलाह देंगे। जिसे अपनाना बहुत जरूरी है।

और पढ़ें: कोविड-19 रिकवरी और हार्ट डिजीज का क्या है संबंध, जानिए एक्सपर्ट की राय

हंटवायरस (Hantavirus)

हंटवायरस एक दुर्लभ लेकिन संभावित रूप से घातक बीमारी है जो हिरण चूहों और सफेद पैरों वाले चूहों द्वारा फैलती है। इसकी मृत्यु दर 38 प्रतिशत है। इस वायरल संक्रमण के शुरुआती लक्षणों में शामिल हैं:

  • बुखार
  • चक्कर
  • घकावट
  • मासपेशियों में दर्द
  • जुकाम होना
  • डायरिया
  • एबडॉमिनल पेन

इंफेक्शन के 3 से 10 दिन में कुछ इस तरह के लक्षण नजर आ सकते हैं:

  • सांस लेने में दिक्कत
  • कफ ओर सर्दी जुकाम
  • फेफड़ों में पानी भर जाना

लिम्फोसाइटिक कोरियोमाइनाइटिस (Lymphocytic choriomeningitis)

लिम्फोसाइटिक कोरियोमाइनाइटिस (Lymphocytic choriomeningitis) एक प्रकार का वायरल डिजीज है, जोकि चूहे के काटने से होता है। यह रोगी के सलाइवा से दूसरे व्यक्ति में भी फैल सकता है। इसके लक्षणों में शामिल हैं:

इस इंफेक्शन का इलाज समय रहते बहुत जरूरी है, नहीं तो स्थिति गंभीर हो सकती है। इसका इंफेक्शन सपाइनल कॉर्ड और ब्रेन को भी प्रभावित कर कर सकता है।

और पढ़ें: Pelvic Inflammatory Disease: पेल्विक इंफ्लेमेटरी डिजीज क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

चूहे के काटने पर फस्ट एड उपचार

चूहें काटने पर फस्ट एड उपचार में इन बातों का रखें ध्यान:

  • आपको शरीर में जिस हिस्से में चहूे ने काटा है, सबसे पहले आप उसे गर्म पानी से तुरंत साफ करें।
  • फिर उसे अच्छे पोछकर ड्राय कर लें और कोई एंटीबायोटिक क्रीम तुरंत लगाएं। इसके बाद तुरंत डॉक्टर को दिखाएं। भलें ही आप में घाव न दिखें, लेकिन वायरस आप में पहुंच चुका है। इसलिए इसे हल्के में न लें। लेकिन यह आपके लिए जानलेवा बीमारी का कारण बन सकता है।
  • डॉक्टर आपका तुरंत सलाइवा टेस्ट करवाएंगे। आपको ठीक करनें के लिए डॉक्टर आपको एंटीबायोटिक्स प्रदान कर सकता है।
  • प्रभावित हिस्से पर सूजन होना, इंफेक्शन का संकेत हो सकता है। जिसे अंदखा न करें।

और पढ़ें: Heart Disease: हार्ट डिजीज बन सकती हैं मौत का कारण, रखें ये सावधानियां

घरों से ऐसे रखें दूर

इस बीमारी से बचने के लिए सबसे पहले आप उन सभी रास्तों को बंद करें, जिसके कारण घर में चूहे बसने लगते हैं। इसके लिए आप कई तरह के उपायों को अपना सकते हैं। सबसे पहले तो आप खिड़की या पर जाल लगाकर रखें। ताकि वो घर के अंदर न आ पाएं। इसके अलावा गेट के नीचे वाले हिस्से को भी कवर रखें किसी चीज से, नहीं तो कई बार चूहे वही से भी आ जाते हैं।

इसके आलावा, घर में कई ऐसे होल्स होते हैं, खासतौर पर दीवारों में, जहां से कोई तार लाया गया हो। वहां पर होने वाले होल से भी चूहों का घर में प्रवेश काफी आसान हो जाता है। इसलिए ऐसी जगाहों को किसी न किसी चीज सेस कवर रखें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Niharika Jaiswal द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 16/03/2021 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x