home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

पल्पिटेशन के लिए घरेलू उपाय: दिल की धड़कनों को संभालने के लिए आसान उपाय हैं यहां!

पल्पिटेशन के लिए घरेलू उपाय: दिल की धड़कनों को संभालने के लिए आसान उपाय हैं यहां!

पल्पिटेशन (Palpitation) … दिल से जुड़ी समस्या है। अगर इसे सामान्य शब्दों में समझें, तो दिल का तेजी से धड़कना। वैसे तो यह सामान्य शारीरिक परेशानी मानी जाती है, लेकिन अगर ऐसी स्थिति ज्यादा दिनों तक बनी रहे तो हार्ट डिजीज (Heart Disease) का खतरा बढ़ जाता है। इसलिए ऐसी परेशानियां आपसे दूर रहे या अगर आप हार्ट पल्पिटेशन (Heart Palpitation) की समस्या से परेशान हैं, तो पल्पिटेशन के लिए घरेलू उपाय (Home remedies for Palpitation) अपनाकर दिल का ख्याल रख सकते हैं।

पल्पिटेशन के लिए घरेलू उपाय जानने से पहले प्रति मिनट पल्पिटेशन कितनी होनी चाहिए ये जान लेते हैं।

और पढ़ें : Heartbeat Vector: तेज दिल की धड़कन? कहीं हार्ट बीट वेक्टर की राह में तो नहीं आप!

हार्ट पल्पिटेशन (Heart Palpitation)

अमेरिकन एकेडमी ऑफ पीडियाट्रिक्स (American Academy of Pediatrics) में पब्लिश्ड रिसर्च रिपोर्ट के अनुसार हार्ट पल्पिटेशन हर उम्र में अलग-अलग होती है। जैसे:

  • न्यू बॉर्न बच्चों (Newborn baby) में जगे रहने के दौरान प्रति मिनट 100 से 205 और सोने के दौरान 90 से 160 होनी चाहिए।
  • नवजात बच्चों (Infant) में जगे रहने के दौरान 100 से 180 और सोने के दौरान 90 से 160 होनी चाहिए।
  • 1 से 2 साल की आयु वाले बच्चों में ​जगे रहने के दौरान 98 से 140 और सोने के दौरान 80 से 120 होनी चाहिए।
  • 3 से 5 साल की आयु वाले बच्चों में जगे रहने के दौरान 80 से 120 और सोने के दौरान 65 से 100 होनी चाहिए।
  • 6 से 7 साल के आयु में जगे रहने के दौरान 75 से 118 और सोने के दौरान 58 से 90 होनी चाहिए।
  • 7 साल से ज्यादा की उम्र में जगे रहने के दौरान 60 से 100 और सोने के दौरान 50 से 90 होनी चाहिए।

किसी हेल्थ कंडिशन के कारण हार्ट रेट में बदलाव देखे जा सकते हैं।

और पढ़ें : Diuretics in Cardiomyopathy: कार्डियोपैथी में डाइयुरेटिक्स के फायदे तो हैं, लेकिन इसके सीरियस साइड इफेक्ट्स भी हो सकते हैं!

पल्पिटेशन के लिए घरेलू उपाय (Home remedies for Palpitation)

पल्पिटेशन के लिए घरेलू उपाय (Home remedies for Palpitation)

पल्पिटेशन के लिए घरेलू उपायों में निम्नलिखित आसान टिप्स को करें शामिल। जैसे:

1. खांसना (Coughing)- खांसने को पल्पिटेशन के लिए घरेलू उपाय में शामिल किया गया है। शायद खांसना आपको अटपटा लग सकता है, लेकिन खांसने से हार्ट पल्पिटेशन को कम करने में मदद मिल सकती है। खांसने के पीछे का साइंस यह है कि खांसने की वजह से सीने पर दबाव पड़ता है, जो हार्ट रेट को बैलेंस करने में मदद मिल सकती है। हालांकि साइनस (Sinus) के पेशेंट को पल्पिटेशन के दौरान जानबूझकर खांसने की सलाह नहीं दी जाती है।

2. डीप ब्रीदिंग (Deep breathing)- डीप ब्रीदिंग पल्पिटेशन के लिए घरेलू उपाय में सबसे आसान उपायों में एक है। रोजाना कुछ वक्त अपने लिए निकालें और रिलैक्स बैठकर लंबी-गहरी सांस लें। इस दौरान आप बॉडी पॉश्चर (Body posture) को सीधी रखें, आंखें बंद और आराम से सांस लें। कुछ देर डीप ब्रीदिंग करने के बाद आप महसूस करेंगे कि आप आपका तेज नहीं, बल्कि सामान्य गति से धड़कर रहा है।

और पढ़ें : हार्ट एरिदमिया को मैनेज कर सकते हैं इन एक्सरसाइजेज से, लेकिन रखना होगा कुछ बातों का ध्यान

3. रेग्यूलर एक्सरसाइज (Regular Exercise)- नियमित एक्सरसाइज को भी पल्पिटेशन के लिए घरेलू उपाय (Home remedies for palpitation) में शामिल किया गया है। अपने रूटीन में कार्डियो एक्सरसाइज (Cardio exercise), जॉगिंग (Joging), रनिंग (Running) या स्विमिंग को (Swimming) शामिल करने से पल्पिटेशन की परेशानी को दूर करने में मदद मिल सकती है और आप स्ट्रेस फ्री (Stress free) भी रह सकते हैं।

नोट: किसी भी एक्सरसाइज को करने से पहले डॉक्टर से सलाह जरूर लें ।

4. योग (Yoga)- नियमित योग में छिपा है स्वस्थ्य रहने का राज। वहीं दिल को स्वस्थ्य रखने के लिए ताड़ासन, उत्तानपादासन, कटिचक्रासन, धनुरासन, नौकासन, पवनमुक्तासन, अर्ध-हलासन और कैट पॉश्चर विशेष लाभकारी बताये गए हैं। पल्पिटेशन के लिए घरेलू उपाय (Home remedies for palpitation) में आप इन योगासनों को नियमित शामिल कर सकते हैं। अगर आपने पहले योग नहीं किया है, तो योग करने के तरीकों को समझें और फिर योग करें।

और पढ़ें : बायवेंट्रिकुलर हार्ट फेलियर : इस हार्ट फेलियर के लक्षणों को पहचानना क्यों है जरूरी?

4. फल (Fruits)- नैशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इन्फॉर्मेशन (National Center for Biotechnology Information) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार फलों का सेवन रोजाना करना चाहिए। वहीं हेल्दी हार्ट और पल्पिटेशन के लिए घरेलू उपाय में भी अलग-अलग फलों को शामिल किया गया है। इन फलों में शामिल है अनार (Pomegranate), केला (Banana), सेब (Apple), बेरी (Berry) एवं अन्य सिट्रस फ्रूट्स। इन फलों में मौजूद एंटीऑक्सिडेंट्स (Antioxidant), फ्लैवनॉइड्स, पॉलीफेनॉल और विटामिन दिल के लिए विशेष लाभकारी माने जाते हैं।

5. सब्जियां (Vegetables)- स्प्राउट्स, बीन्स एवं बैंगन को हार्ट के लिए फायदेमंद माना जाता है। ये सब्जियां बॉडी में कोलेस्ट्रॉल लेवल (Cholesterol level) को बैलेंस करने में सक्षम मानी जाती है। पल्पिटेशन के लिए घरेलू उपाय (Home remedies for palpitation) में इसे शामिल करें और सप्ताह में 2 या 3 दिन इनका सेवन लाभकारी हो सकता है।

6. साबुत अनाज (Whole grain)- साबुत अनाज के सेवन से दिल को स्वस्थ्य रखने के साथ-साथ संपूर्ण शरीर के लिए फायदेमंद माना गया है। इसलिए होल व्हीट आटा, ओटमील जैसे खाद्य पदार्थों का सेवन करना चाहिए। वहीं रिफाइंड फूड (Refined food) या प्रोसेस्ड फूड (Processed food) का सेवन नहीं करने की सलाह दी गई है।

और पढ़ें : पालक से शिमला मिर्च तक 8 हरी सब्जियों के फायदों के साथ जानें किन-किन बीमारियों से बचाती हैं ये

7. नट्स (Nuts)- नट्स को हेल्दी स्नैक्स के साथ-साथ पल्पिटेशन के लिए घरेलू उपाय (Home remedies for palpitation) में भी शामिल किया गया है। नट्स में मौजूद विटामिन्स और खनीज शरीर को पोषण प्रदान करने में सहायक माना गया है। इसलिए दिल को स्वस्थ्य रखने के लिए संतुलित मात्रा में बादाम (Almonds), अखरोट (Walnuts), काजू (Cashunuts) और पिस्ता (Pistachio) को शामिल किया जा सकता है।

8. ग्रीन टी (Green Tea)- ग्रीन टी की खासियत तो जग जाहिर है। दरअसल ग्रीन टी में मौजूद एंटीऑक्सिडेंट्स (Antioxidant) एक्स्ट्रा फैट को कम करने और बार-बार भूख लगने की समस्या को दूर रखने में सहायक है। वहीं नैशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इन्फॉर्मेशन (National Center for Biotechnology Information) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार ग्रीन टी कार्डियोवैस्कुलर डिजीज (Cardiovascular disease) को भी दूर रखने में मददगार है। ग्रीन टी का सेवन एक से दो बार दिन में किया जा सकता है।

9. सोया (Soya)- पल्पिटेशन के लिए घरेलू उपाय में सोया को भी शामिल किया गया है। सोया में मैजूद पॉलीअनसैचुरेटेड फैट्स, फाइबर (Fiber), विटामिन एवं खनीज ब्लड प्रेशर (Blood pressure) एवं कोलेस्ट्रॉल लेवल (Cholesterol level) को बैलेंस रखने में मददगार है, जो हार्ट (Heart) के लिए अच्छा माना जाता है।

और पढ़ें : Acute Decompensated Heart Failure: जानिए एक्यूट डीकंपनसेटेड हार्ट फेलियर के लक्षण, कारण और इलाज!

स्वस्थ्य रहने के लिए अपने दिनचर्या में नियमित योगासन शामिल करें। योग की शुरुआत करने से पहले नीचे दिए इस वीडियो लिंक पर क्लिक करें और योग के फायदे (Benefits of yoga) और योग करने के लिए क्या है सही तरीका इसे समझें। ध्यान रखें गलत तरीके से योग करने से शारीरिक परेशानी बढ़ सकती है।

और पढ़ें : वैलव्युलर हार्ट डिजीज: दिल से जुड़ी इस बीमारी की पूरी जानकारी जानें यहां!

हार्ट पल्पिटेशन को दूर रखने के लिए 5 आवश्यक टिप्स (5 Tips for to avoid Heart Palpitations)

  1. स्मोकिंग (Smoking) ना करें
  2. एल्कोहॉल (Alcohol) का सेवन ना करें।
  3. अन‍िद्रा (Sleeplessness) से बचें।
  4. तनाव (Tension) या स्ट्रेस (Stress) से दूर रहें।
  5. अनहेल्दी खान-पान (Unhealthy food) से दूर रहें।

अगर आप हार्ट पाल्पिटेशन (Heart Palpitations) से जुड़े किसी तरह के कोई सवाल का जवाब जानना चाहते हैं, तो आप हमें कमेंट बॉक्स में लिखकर पूछ सकते हैं। हमारे हेल्थ एक्सपर्ट आपके सवालों के जवाब देने की कोशिश करेंगे। हालांकि अगर आप हार्ट पाल्पिटेशन (Heart Palpitations) की समस्या से पीड़ित हैं, तो डॉक्टर से कंसल्टेशन करें, क्योंकि ऐसी स्थिति में डॉक्टर आपके हेल्थ कंडिशन (Health condition) को ध्यान में रखकर हार्ट पाल्पिटेशन का इलाज (Treatment for Heart Palpitations) शुरू करेंगे और पल्पिटेशन के लिए घरेलू उपाय (Home remedies for palpitation) अपनाने की सलाह देंगे।

आप दिल (Heart) का ख्याल क्या सही तरह से रख पाते हैं! जवाब और स्कोर जानने के लिए नीचे दिए इस क्विज को खेलें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Heart Palpitations/https://my.clevelandclinic.org/health/diseases/17084-heart-palpitations/Accessed on 12/08/2021

Heart Palpitations/https://www.mayoclinic.org/diseases-conditions/heart-palpitations/symptoms-causes/syc-20373196/Accessed on 12/08/2021

What are heart palpitations?/https://familydoctor.org/condition/heart-palpitations/Accessed on 12/08/2021

Heart Palpitations/https://www.nhlbi.nih.gov/health-topics/heart-palpitations/Accessed on 12/08/2021

Heart Palpitations/https://medlineplus.gov/ency/article/003081.htm/Accessed on 12/08/2021

Heart Palpitations/https://www.healthdirect.gov.au/heart-palpitations/Accessed on 12/08/2021

लेखक की तस्वीर badge
Nidhi Sinha द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 14/08/2021 को
और Admin Writer द्वारा फैक्ट चेक्ड
x